विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 23 फ़रवरी 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 23 फ़रवरी

तीन निकाय क्षेत्रों में आटो दर सामान्य 


विदिशा जिले की तीन निकाय क्षेत्र क्रमशः विदिशा, सिरोंज, बासौदा में आटो परिवहन की दरे गत दिवस जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में तय की गई है। विदिशा सांसद श्री रमाकांत भार्गव, सागर सांसद श्री राजबहादुर सिंह की उपस्थिति में जिला पंचायत के सभागार में सम्पन्न हुई इस बैठक में कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन, विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन समेत अन्य सदस्यगणों के अलावा कलेक्टर डॉ पंकज जैन, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा तथा विभिन्न विभागो के अधिकारी मौजूद थे।  जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा ने आटो यूनियन से प्राप्त दरो के प्रस्ताव की जानकारी प्रस्तुत की। जिस पर द्वय सांसदो सहित समिति के अन्य सदस्यों ने विचार विमर्श उपरांत अनुमोदित की है। नवीन दरो के अनुसार विदिशा, बासौदा, सिरोंज निकाय क्षेत्रों में आटो से परिवहन करने पर प्रथम एक  किलोमीटर पर बीस रूपए इसके पश्चात् प्रत्येक किलोमीटर पर क्रमशः 15-15 रूपए की राशि सवारियों से लेने की सहमति व्यक्त की गई है।  विदिशा निकाय क्षेत्र में आटो स्टेण्डो के संबंध में भी विचार विमर्श कर निर्णय लिया गया है तदानुसार चिन्हित स्थलों पर सीमित संख्या में आटो पार्क किए जाएंगे जैसे-जैसे आटो स्टेण्ड में जगह खाली होती जाएगी दूसरे आटो पार्किंग स्थलों पर खडे होने लगेंगे।  आटो चालको की पहचान हेतु ड्रेस व परिचय पत्र चालको को प्रदर्शित करने होगे। ऐसे आटो जिनके मालिक कोई और है चलाने का कार्य किसी अन्य के द्वारा किया जा रहा है इस प्रकार के प्रकरणो मेंं अनुबंध की कॉपी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। बैठक में जिन बिन्दुओंं पर  चर्चा की गई उनमें जिले में चिन्हित किए गए ब्लैक स्पॉट स्थानो की जांच, ट्रेक्टर -ट्राली आदि वाहनो में रिफलेक्टर लगाए जाने, नियम विरूद्व, बेतरकीब पार्किंग के नियंत्रण पर चर्चा, शहर में घूम रहे आवारा पशुओं के नियंत्रण पर चर्चा, नदी-नालो एवं निर्माणाधीन सड़को पर सांकेतिक चिन्ह लगाने पर चर्चा, वाहन चलाते समय मोबाईल पर बात करने एवं शराब पीकर वाहन चलाने वालो के खिलाफ कार्यवाही करने एवं उनसे चालक लायसेंस निरस्तीकरण पर चर्चा, आटो रिक्शा से स्कूली बच्चों के अवैध परिवहन एवं पात्रता से अधिक संख्या में परिवहन तथा किराया निर्धारण पर चर्चा, दुर्घटनाओं में कमी हेतु कार्य योजना पर चर्चा, नगरपालिका क्षेत्र विदिशा एवं बासौदा में नगरीय परिवहन सेवा उपलब्ध कराए जाने पर चर्चा उपरांत निर्णय लिए गए है। 


उपार्जन के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित करें


vidisha news
रबी सीजन वर्ष 2021-22 अंतर्गत चिन्हित फसलों का समर्थन मूल्य पर क्रय करने हेतु जिले में पंजीयन कार्य जारी है। उपार्जन के संबंध में किए गए प्रबंधो की समीक्षा विदिशा सांसद श्री रमाकांत भार्गव ने सोमवार को जिला पंचायत के सभागार कक्ष में की। उक्त बैठक में सागर सांसद श्री राजबहादुर सिंह, कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन, विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा अन्य सदस्यगण मौजूद थे।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने गेंहू, चना, मसूर उपार्जन के लिए जिले में किए गए प्रबंधो पर प्रकाश डालते हुए उपार्जन केन्द्रों पर किसानो को मुहैया कराई जाने वाली सुविधाओं की जानकारी जारी गाइड लाइन के अनुरूप क्रियान्वित कराने से आश्वस्त कराया है। कॉ-आपरेटिव बैंक की सीईओ श्री विनय प्रकाश सिंह ने बताया कि जिले में इस वर्ष अब तक एक लाख छह हजार 152 किसानो के द्वारा पंजीयन कराया जा चुका है जबकि गतवर्ष कुल 90041 किसानो ने पंजीयन कराया था। इस वर्ष कुल पंजीयन में से गेंहू हेतु 91 हजार 882, चना के लिए 37 हजार 385 तथा मसूर हेतु 18 हजार 711 कृषकों के द्वारा पंजीयन कराया गया है। जिले में एक अपै्रल से गेंहू तथा 15 मार्च से चना फसल पंजीकृत कृषकों से समर्थन मूल्य पर क्रय करने का कार्य शुरू होगा। नागरिक आपूर्ति निगम के द्वारा समर्थन मूल्य पर गेंहू की तथा मार्कफेड के द्वारा चना व मसूर की खरीदी कार्य जिले में की जाएगी। शासन द्वारा गेंहू का समर्थन मूल्य एक हजार 975 रूपए तथा चना एवं मसूर का समर्थन मूल्य 5100 रूपए घोषित किया गया है। गतवर्ष गेंहू उपार्जन कार्य 199 केन्द्रो पर जबकि चना, मसूर का उपार्जन कार्य 62 केन्द्रों पर किया गया था जो इस वर्ष भी प्रस्तावित है।  विदिशा सांसद श्री भार्गव ने उपार्जन केन्द्रों की मेपिंग करने के दौरान दूरी का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने सीहोर मॉडल को अपनाने की पहल करते हुए तौल केन्द्रो पर किसी भी प्रकार की गड़बडी ना हो, किसानो की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाए। उपार्जन केन्द्रों की मेपिंग कार्य पूर्ण होने के उपरांत संबंधित क्षेत्र के विधायक के संज्ञान में सूची लाने के उपरांत उनसे लिखित सहमति प्राप्ति के उपरांत ही अंतिम रूप दिया जाए। उन्होंने कहा कि गतवर्ष उपार्जन कार्यो के दौरान कई बार मुझसे संपर्क कर अव्यवस्थाओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया गया था जिसकी पुनर्रावृत्ति इस वर्ष ना हो का पूरा ध्यान रखा जाए। उन्होंने प्रत्येक गांव-हाट बाजारो में मुनादी कर तेवड़ा विमुक्त चने की फसल लेने का संदेश किसानो तक अवश्य पहुंचे पर बल देते हुए कहा कि स्थानीय स्तर पर प्रचार-प्रसार के संसाधनो का उपयोग इस कार्य में किया जाए।  बैठक में बताया गया कि पंजीकृत किसानो को एसएमएस एनआईसी भोपाल के द्वारा प्रेषित किए जाएंगे जिसमें छोटे व बडे कृषकों को समाहित किया जाएगा। जिले में एक हेक्टेयर में 45 कि्ंवटल गेंहू का औसतन मान तय किया गया है अन्य राज्यों, व्यापारियों का गेंहू उपार्जन केन्द्रो पर विक्रय ना हो के लिए अभी से रणनीति तय कर वेरियरो पर चौकसी बढाने पर सहमति व्यक्त की गई है।


जन हितैषी निर्णयों का पालन पर सभी ने सहमति व्यक्त की क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक सम्पन्न 


कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव हेतु सोमवार को प्रदेश के गृह विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशो के अनुपालन में क्राइसेस मैनेजमेंट समिति की बैठक जिला पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई है। उक्त बैठक में विदिशा, सांसद श्री रमाकांत भार्गव, सागर सांसद श्री राजबहादुर सिंह, कुरवाई विधायक श्री हरिसिंह सप्रे, सिरोंज विधायक श्री उमाकांत शर्मा, बासौदा विधायक श्रीमती लीना जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री तोरण सिंह दांगी, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन, विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन के अलावा अन्य सदस्यगण मौजूद थे। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने गृह विभाग के द्वारा जारी नवीनतम दिशा निर्देशो की जानकारी से समिति के सदस्यगणो को अवगत कराते हुए बताया कि जिले मे कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने हेतु पूर्वानुसार मास्क लगाने, सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करने की आवश्यकता परलिक्षित हो रही है। उन्होंने बताया कि समीपवर्ती राज्य में कोविड 19 के प्रकरणो में तेजी से वृद्वि को ध्यानगत रखते हुए प्रदेश में रोकथाम एवं बचाव के संबंध में सीमावर्ती जिलो के साथ-साथ अन्य जिलो को दिशा निर्देश जारी किए गए है और उन्हे जिला क्राइसेस मैनजमेंट कमेटी की बैठक 23 फरवरी तक आवश्यक रूप से आयोजित कर कोविड 19 की रोकथाम के विषय पर चर्चा कर आवश्यक निर्णय स्थानीय परिस्थितियों अनुसार लिए जाए।  समिति के सदस्यों द्वारा मास्क का प्रयोग पर पुनः बल दिया गया है इसका पालन नही करने वालो के खिलाफ पूर्वानुसार चालानी कार्यवाही करने हेतु जिला प्रशासन को अधिकृत किया गया है। कलेक्टर डॉ जैन ने किए जाने वाले प्रबंधो से भी अवगत कराया। उक्त बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार के अलावा अन्य विभागो के अधिकारी मौजूद थे। 


जनसुनवाई कार्यक्रम में 145 आवेदन प्राप्त हुए


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा आज आहूत की गई जनसुनवाई कार्यक्रम में 145 आवेदको ने आवेदन प्रस्तुत कर अपनी व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया है।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा मौके पर 102 आवेदनो का निराकरण किया गया है शेष लंबित आवेदनों पर समय सीमा में कार्यवाही करने के निर्देश उनके द्वारा संबंधित विभागो को दिए गए है। कलेक्टर डॉ जैन ने विभागो के अधिकारियों को निराकरण की समुचित जानकारी उत्तरा पोर्टल पर दर्ज कराने हेतु निर्देशित किया है। 

आवेदकों तक सीधे पहुंचे कलेक्टर

जनसुनवाई कार्यक्रम मेंं कलेक्टर डॉ पंकज जैन सीधे आवेदकों के बैठक स्थलो पर पहुंचकर उनसे आवेदन प्राप्त कर निराकरण हेतु संबंधित विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए मार्क करने लगे, पूरी प्रक्रिया के दोरान आवेदकगण अपनी-अपनी चेयर पर बैठे रहें। कलेक्टर डॉ जैन के साथ जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग भी उपस्थित रहीं।  कलेक्टर डॉ जैन ने अनेक आवेदको को आवेदन प्राप्ति के उपरांत निराकरण की वस्तुस्थिति की जानकारी मौखिक दी है। आज प्राप्त अधिकांश आवेदन सेवानिवृत्त कर्मचारियों की पेंशन स्वीकृत ना होना, अतिक्रमण हटाने से संबंधित शिकायतो के अलावा, सीमांकन कराने, आवास, बिजली बिल कम कराने, मुआवजा की राशि दिलाने तथा स्वरोजगार योजनाओं से लाभांवित करने के अलावा पेंशन की राशि में वृद्वि करने के अलावा अन्य व्यक्तिगत हितार्थ पर आधारित आवेदन प्राप्त हुए है।  जिला पंचायत के सभागार कक्ष में आयोजित की गई जनसुनवाई कार्यक्रम में विदिशा तहसीलदार शहरी श्रीमती सरोज अग्निवंशी, ग्रामीण श्री केएन ओझा के अलावा विभिन्न विभागो के जिलाधिकारी मौजूद थे।


एम्पलाई सेल्फ सर्विस माडयूल का प्रशिक्षण आज 


एकीकृत कोषालयीन कम्प्यूटरीकृत परियोजना आईएफएमआईएस अंतर्गत एम्पलाई सेल्फ सर्विस (ईएसएस) मॉडयूल का प्रशिक्षण कार्यक्रम 24 फरवरी की प्रातः 11 बजे से नवीन कलेक्ट्रेट के ई दक्ष केन्द्र में आयोजित किया गया है।  जिला कोषालय अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि बुधवार को आयोजित होने वाले प्रशिक्षण में जिन 16 विभागो के अधिकारी, कर्मचारी शामिल होंगे उनमें खण्ड शिक्षा अधिकारी नटेरन, एनसीसी कार्यालय विदिशा, जिला शिक्षा प्रशिक्षण केन्द्र विदिशा के प्राचार्य, जिला एवं सत्र न्यायाधीश विदिशा, जिला जनसम्पर्क अधिकारी, सामाजिक न्याय विभाग, जिला उपभोक्ता फोरम विदिशा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, खण्ड शिक्षा अधिकारी ग्यारसपुर, कुटुम्ब न्यायालय विदिशा, आदिम जाति कल्याण विभाग, खाद्य विभाग, जिला पुरातत्व, मत्स्य, शासकीय नवीन महाविद्यालय विदिशा तथा महिला एवं बाल विकास विभाग शामिल है।  जिला कोषालय अधिकारी ने बताया कि प्रशिक्षणार्थियों को ईएसएस में किए गए परिवर्तन एवं प्रक्रिया की विभिन्न गतिविधियों को पुनः समझाने के लिए उपरोक्त एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित किया गया हैं जिसमें प्रत्येक आहरण एवं संवितरण कार्यालय से कम्प्यूटर कार्य करने वाले लेखापाल एवं स्थापना लिपिक को उक्त प्रशिक्षण प्राप्त करना अनिवार्य किया गया है।


औषधीय पौध खेती पर प्रशिक्षण आज


उद्यानिकी विभाग के द्वारा जिले में उद्यानिकी एवं औषधीय पौध खेती को बढावा देने के लिए हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे है विभाग के सहायक संचालक श्री केएल व्यास ने बताया कि उद्यानिकी फसलों से अवगत कराने हेतु किसानो के लिए हर स्तर पर प्रशिक्षण आयोजित किए जा रहे है। इसी कडी के तहत आईटीसी चौपाल सागर ढोलखेडी में 24 फरवरी की प्रातः 11 बजे से औषधीय पौधो से संबंधित प्रशिक्षण आयोजित किया गया है। उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक श्री व्यास ने बताया कि प्रशिक्षणार्थियों को अश्वगंधा व तुलसी की खेती कैसे करें इससे होने वाले मुनाफे तथा शासन स्तर से दी जाने वाली सुविधाओं की भी जानकारी दी जाएगी वहीं प्रशिक्षणार्थियों की औषधीय पौध खेती संबंधी जिज्ञासाओं का समाधान किया जाएगा। उन्होंने औषधीय खेती के इच्छुक कृषकबंधुओं से उक्त प्रशिक्षण में उपस्थित होने का आग्रह किया है।  सहायक संचालक श्री व्यास ने बताया कि विदिशा जिले में वर्ष 2021-22 में औषधीय खेती के अंतर्गत तुलसी व अश्वगंधा की खेती क्रमशः एक- एक हजार एकड़ क्षेत्र में विस्तार कार्यक्रम प्रस्तावित किया गया है। 


आपरेशन ग्रीन योजना तहत पचास प्रतिशत अनुदान उपलब्ध 


आत्म निर्भर भारत अभियान के अंतर्गत आपरेशन ग्रीन योजना का क्रियान्वयन विदिशा जिले में भी किया जा रहा है। ततसंबंध में उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के संज्ञान में लाया गया है कि प्रदेश की मंडियो में प्याज, आलू, टमाटर फसल के मूल्यों में पिछले तीन वर्षो के औसत मूल्यों में गिरावट होने के कारण ‘‘डिस्ट्रेस सेल’’ की स्थिति उत्पन्न होने की संभावना है।  उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक श्री केएल व्यास द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार आत्म निर्भर भारत अभियान के अंतर्गत योजना ‘‘आपरेशन ग्रीन’’ के दिशा निर्देशो तहत सभी फल, सब्जियों हेतु उनके भण्डारण एवं परिवहन पर पचास प्रतिशत अनुदान का लाभ फल प्रसंस्करण करने वाले एफपीओ, एफपीसी, सहकारी समितियां, कृषक लायसेंस वाले कमीशन एजेन्ट, निर्यातक राज्य विपणन, सहकारी संघ एवं रिटेलर्स ले सकेंगे। उक्त संस्थाएं प्रदेश के कृषकों से प्याज की खरीदी कर उसके भण्डारण एवं परिवहन पर अनुदान प्राप्त कर योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। 


सफलता की कहानी : मिनिटो में रानी की मंशा पूरी हुई 


vidisha news
जनसुनवाई कार्यक्रम में शामिल होने वाले आवेदको की समस्याओं के निराकरण हेतु विशेष पहल की जा रही हैं। आज सम्पन्न हुई जनसुनवाई कार्यक्रम में इसका प्रतीक बनी दिव्यांग आवेदिका रानी अहिरवार के चेहरे की प्रसन्नता से आंका जा सकता है।  मोहनगिरी विदिशा की दिव्यांग अस्थिबाधित आवेदिका रानी अहिरवार ने ट्रायसाइकिल प्रदाय कराने हेतु आवेदन प्रस्तुत किया था जनसुनवाई कार्यक्रम समाप्ति के पहले ही आवेदिका को सामाजिक न्याय विभाग के माध्यम से मौके पर ही ट्रायसाइकिल प्रदाय की गई है। हितग्राही रानी अहिरवार ने बताया कि जहां पहले मुझे अस्थिबाधित होने की पेंशन मिल रही थी अब ट्रायसाइकिल मिल जाने से घरेलू छोटे कार्यो के लिए बाहर जाने हेतु अब दूसरो पर आश्रित होने से मुक्ति मिली हैं। 


कृषक नहरो का पानी सिंचाई हेतु उपयोग ना करें  


विदिशा एवं रायसेन जिले के अंतर्गत सम्राट अशोक सागर परियोजना के कमाण्ड क्षेत्र में आने वाले समस्त कृषकों को जल संसाधन विभाग के माध्यम से सूचित किया गया है कि नहरो में से रबी सिंचाई हेतु पानी लेना बंद करें। वर्तमान में नहरो के माध्यम से विदिशा शहर के आम नागरिकों को पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित कराने हेतु सम्राट अशोक सागर (हलाली) डेम से पानी छोडा गया है। यदि कृषकगण रबी सिंचाई हेतु पानी लेते है तो उनके विरूद्व वैधानिक कार्यवाही की जाएगी जिसके लिए वे स्वंय जिम्मेदार होंगे।  कलेक्टर एवं जिला जल उपयोगिता समिति के अध्यक्ष डॉ पंकज जैन की अध्यक्षता में नौ अक्टूबर को सम्पन्न हुई बैठक में निर्णय लिया गया था कि सम्राट अशोक सागर परियोजना के कमाण्ड क्षेत्र में आने वाले समस्त कृषकों को रबी सिंचाई हेतु पलेवा एवं दो पानी की घोषणा की गई थी किन्तु 22 फरवरी की स्थिति में सम्राट अशोक सागर परियोजना का जल स्तर 54 मीटर है तथा 44.87 मिलियन घन मीटर पानी उपलब्ध है। विदिशा शहर के आम नागरिकों को पेयजल हेतु सम्राट अशोक सागर से आज 23 फरवरी को कालीदास बांध विदिशा तक नहरो के माध्यम से जल प्रवाहित किया गया है। उक्त नहरो के मार्ग संबंधी कृषकों से विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री आरके जैन ने आग्रह किया है कि पेयजल उपयोग हेतु डेम से प्रवाहित किया गया पानी का उपयोग सिंचाई के लिए कदापि ना करें।


अवैध मदिरा के चार प्रकरण पंजीबद्ध , एक लाख 29 हजार के मादक पदार्थ जप्त 


vidisha news
विदिशा जिले में अवैध मदिरा के क्रय विक्रय, परिवहन व भण्डारण पर सतत नजर रखी जा रही है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में आबकारी एवं पुलिस विभाग की संयुक्त कार्यवाही सतत जारी है।  जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि आज प्राप्त सूचनाओं के आधार पर कुरवाई थाना के ग्राम रूसिया, खिरिया, बागरी स्थित घरो व अड्डो में दी गई दबिश कार्यवाही में आबकारी अधिनियमों के तहत चार प्रकरण पंजीबद्ध किए गए है।  सहायक आबकारी अधिकारी श्री राहुल ढोंके के नेतृत्व में क्रियान्वित अभियान के तहत आज 225 लीटर हाथ भट्टी मदिरा एवं अवैध मदिरा निर्माण हेतु तैयार एक हजार छह सौ किलोग्राम महुआ लहान जप्त कर आबकारी अधिनियमों के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किए गए है बरामद मादक पदार्थो का बाजार मूल्य एक लाख 29 हजार आंकलित किया गया है। मुखबिरो की सूचना पर आबकारी एवं पुलिस विभाग के जिन अधिकारियों द्वारा कार्यवाही को आज अंजाम दिया गया है उनमें कुरवाई थाना प्रभारी श्री बृजेन्द्र मर्सकोले, आबकारी उप निरीक्षक सर्वश्री महेश विश्वकर्मा, श्री राजेश विश्वकर्मा, श्री सुनील चौहान, श्री पुष्पेन्द्र ठाकुर,श्रीमती अर्चना जैन के अलावा आबकारी बल के आरक्षक श्री शिवदयाल चिड़ार, श्री राहुल राठौर, श्री पवन गौर, श्री प्रदीप मालवीय, श्री रोशन भार्गव, श्री प्रवीण पण्डवी, श्री प्रमोद धुर्वे शामिल है।

कोई टिप्पणी नहीं: