सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 24 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 24 फ़रवरी

चुनाव कराए नहीं और पंचों की बिना सहमति से चुन लिया ग्राम प्रधान, षड्यंत्र रचने का पंचों ने लगाया चुनाव अधिकारी और सचिव पर आरोप, ग्राम पंचायत मुंगावली दोराहा का पूरा मामला  


sehore news
सीहोर। ग्राम पंचायतों में ग्राम प्रधान चुनने को लेकर विवादित स्थिति निर्मित होना शुरू हो चुकी है। चुनाव अधिकारियों और सचिवों के द्वारा नियमों और पंचों की सहमति असहमति को तांक पर रखकर सरपंचों के इशारों पर ग्राम प्रधान चुने जा रहे है। ग्राम पंचायत मुंगावली दोराहा के पंचों और ग्रामीणों ने संयुक्त रूप से बुधवार को कलेक्टर और जिला पंचायत मुख्य अधिकारी हर्ष सिंह को शिकायती पत्र देकर चुनाव अधिकारी हरीश राय और सचिव ओमप्रकाश नामदेव पर बिना चुनाव कराये बिना पंचों की राय लिए षड्यंत्र पूर्वक धोके से चंद्रकला पत्नि लक्ष्मीचंद गुर्जर को ग्राम प्रधान चुने जाने का आरोप लगाया है। पंचों और ग्रामीणों ने फर्जी तरीके  से बनाए  गए  ग्राम प्रधान चुने जाने की कार्रवाहीं की निष्पक्ष जांच कर निरस्त किए जाने और संबंधितों पर सख्त कार्रवाहीं करने की मांग की है। पंचों ने बताया की ग्राम पंचायत मुंगावली के ग्राम प्रधान का पद रिक्त है चुनाव कराने के लिए प्रशासन के द्वारा चुनाव अधिकारी हरीश राय एवं पंचायत सचिव ओमप्रकाश नामदेव को नियुक्त किया गया था। नियम के मुताबिक चुनाव पचों की राय के अनुसार हीं कराया जाना था। चुनाव कराने के लिये श्री राय ने 22 फरवरी को पंचायत भवन ग्राम मुंगावली में निर्वाचित पचों की बैठक आयोजित की। प्रत्याशी मोरबाई पत्नि भगवत सिंह गुर्जर ने भी नामांकन जमा किया। पंचों और ग्रामीणों ने चुनाव को लेकर अपनी सहमति जताई लेकिन चुनाव अधिकारी हरीश राय ने पंचायत सचिव के साथ रजिस्टर बगैरह ले जाकर बाहर चर्चा की और बिना चुनाव के हीं अचानक चंद्रकला पत्नि लक्ष्मीनारायण गुर्जर को ग्राम प्रधान घोषित कर दिया। किसी भी पंच के हस्ताक्षर भी नही कराये और चुनाव सम्पन्न करा दिए। पंचों और ग्रामीणों का आरोप है की चुनाव पारदर्शीता से नहीं कराए गए है।   कलेक्टोरेट में ग्राम पंचायत मुंगावली के पंच कुलदीप साह,ू मोर बाइर्, रीमा बाई, जगदीश गुर्जर, बद्री प्रसाद, सुनीता बाई, लज्जा बाई, पुष्पा बाई, अभिषेक जाट, आजाद गुर्जर, सोबान सिंह गुर्जर, लखन सिंह, सूरज सिंह, चंद्र गुर्जर, धीरज सिंह, जगदीश गुर्जर, गोविंद गुर्जर, राजेश जाट, रामप्रसाद गुर्जर, विशाल गुर्जर, युवराज सिंह मेहर आदि ने ज्ञापन दिया है। 

लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम (POCSO)-2012  का जिला स्तरीय प्रशिक्षण 26 फरवरी को


जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास ने जानकारी देते हुए बताया कि किशोर न्याय (बालकों की देखरेख एवं संरक्षण) अधिनियम-2015 एवं लैंगिक अपराधों से बालकों के संरक्षण अधिनियम (POCSO)-2012  पर एक दिवसीय जिलास्तरीय कार्यशाला। प्रशिक्षण का आयोजन जिला पंचायत सभाकक्ष में 26 फरवरी को प्रात- 11:30 बजे से किया गया है।   


1337 हेल्थ वर्कर को लगा कोविड का द्वित्तीय डोज, 15 फ्रंट लाईन वर्कर तथा 10 हैल्थ वर्कर को लगा प्रथम डोज


sehore news
बुधवार को शाम 5.30 बजे तक 1337 हैल्थ वर्कर को 14 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 का द्वित्तीय डोज लगाया गया। वहीं कोविड-19 का प्रथम डोज 15 फ्रंट लाईन वर्कर तथा 10 हैल्थ वर्कर को 07 टीककारण केन्द्रों पर लगाया गया। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. एम.चंदेल से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिन 14 स्वास्थ्य संस्थाओं में 1337 हैल्थ वर्कर को कोविड का सेकण्ड डोज लगाया गया जिनमें सिविल अस्पताल आष्टा में 129,सीएचसी जावर 71, पीएचसी कोठरी 63, पीएचसी सिद्धिकगंज 85, सीएचसी बुदनी में 143, पीएचसी बकतरा 48, सीएचसी इछावर 106, पीएचसी दिवडिया 84, पीएचसी अमलाहा 79, सिविल अस्पताल नसरूल्लागंज 108,सीएचसी श्यामपुर 115, सीएचसी दोराहा 96, पीएचसी बमूलिया 52,जिला चिकित्सालय सीहोर में 158 हैल्थ वर्कर को कोविड का सेकण्ड डोज लगाया गया है। आज 15 फ्रंट लाईन वर्कर  को कोविड-19 को प्रथम डोज लगाया गया जिसमें सीएचसी बुदनी में 03 तथा जिला चिकित्सालय में 12 एफएलडब्ल्यू शामिल है वहीं 10 हैल्थ वर्कर को इछावर में 1, अमलाहा में 2, श्यामुपर, दोराहा तथा बमूलिया में 1-1 एचसीडब्ल्यू को प्रथम डोज लगाया गया।

परंपरागत भारतीय खेल कबड्डी का अयोजन 25 फरवरी से 06 मार्च तक


मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्रामीण क्षेत्र की युवा पीढ़ी की उभरती उर्जा को सकारात्मक, रचनात्मक और सही दिशा में अग्रसर करने के उद्देश्य से जिलें में कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन सभी ग्राम पंचायतों में 25 फरवरी , क्लस्टर में 26 से 28 फरवरी के मध्य, विकासखंड स्तर पर 01 से 03 मार्च के मध्य एवं जिला स्तर पर 05 एवं 06 मार्च को कबड्डी प्रतियोगिता का अयोजन किया जायेगा। प्रतियोगिता में 14 वर्ष से अधिक एवं 20 वर्ष उम्र तक के प्रतिभागी ही भाग ले सकेंगे।


ई-उपार्जन पोर्टल पर 21.06 लाख किसानों ने कराया पंजीयन, खाद्य मंत्री श्री सिंह ने की उपार्जन पंजीयन की समीक्षा


रबी विपणन वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर गेहूँ बेचने के लिये 21 लाख 6 हजार किसानों ने ई-उपार्जन पोर्टल पर  पंजीयन कराया गया है जो कि विगत वर्ष की तुलना में एक लाख 59 हजार अधिक है। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह और सहकारिता मंत्री श्री अरविन्द भदौरिया अधिकारियों के साथ रबी उपज की समीक्षा की।


145 लाख मे.टन उपज के भंडारण का लक्ष्य

मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह ने बताया कि इस वर्ष 125 लाख  मेट्रिक टन गेहूँ, 20 लाख मेट्रिक टन दलहन और तिलहन के भंडारण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उपार्जन अनुमान के अनुसार अधिकारियों को अनाज के भंडारण, परिवहन, बारदाना और वित्तीय व्यवस्था की तैयारी विभाग द्वारा की जा रही है। उन्होंने बताया कि दलहन एवं तिलहन का उपार्जन प्राथमिकता से गोदाम स्तरीय केन्द्रों पर किया जाएगा, जिससे स्कन्ध का शीघ्रता से परिवहन एवं भंडारण कराया जा सके।


15 मई तक होगा उपार्जन

सहकारिता मंत्री श्री अरविंद भदौरिया ने कहा कि पंजीकृत किसानों से 15 मई तक उपार्जन पूरा करने का प्रयास किया जाएगा, ताकि वर्षा के पूर्व ही उपार्जित स्कन्ध को शीघ्रता से परिवहन किया जाकर भंडारण कराया जा सके। इससे वर्षा से होने वाली क्षति से बचा जा सकेगा। किसानों की सुविधा के लिये विगत वर्ष के अनुसार ही लगभग 4500 केन्द्रों पर गेहूँ का उपार्जन किया जाएगा।    प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज़ अहमद किदवई ने बताया कि किसान पंजीयन का कार्य प्रदेश के 3518 केन्द्रों पर किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त गिरदावरी किसान एप, कॉमन सर्विस सेन्टर, कियोस्क पर भी किसानों को पंजीयन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। विगत वर्ष 45 लाख 7 हजार हेक्टेयर रकबा गेहूँ के लिए पंजीकृत हुआ था। इस वर्ष अभी तक 42 लाख 87 हजार हेक्टेयर रकबा पंजीकृत हो चुका है। सभी किसानों का पंजीयन हो सके इसके लिए पंजीयन की तिथि 25 फरवरी तक की बढ़ाई गई है। बैठक में मंत्रीद्वय के अलावा प्रबंध संचालक मार्कफेड श्री पी. नरहरि, प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम श्री अभिजीत अग्रवाल, संचालक खाद्य  एवं प्रबंध संचालक वेयर हाऊससिंग लाजिस्टिक कापार्रेशन श्री तरूण पिथोड़े एवं सहकारिता विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।


जिलों में टेलेंट सर्च डीएसओ की जिम्मेदारी, कोई एक्सक्यूस नहीं चलेगा

  • विधायक कप पुन: प्रारंभ होगा खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने रायसेन सहित 23 जिलों के खेल अधिकारियों से की वर्चुअल चर्चा

खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया  ने कहा है कि खेल विभाग दो महत्वपूर्ण कम्पोनेन्ट पर विशेष रूप से कार्य कर रहा है। इसमें इन्क्लूसिव है राज्य में संचालित विभिन्न खेल अकादमियाँ और दूसरे एक्सक्लूसिव कम्पोनेन्ट है ग्रामीण परिवेश में टेलेंटर सर्च की। यह दोनों महत्वपूर्ण जिम्मेदारियाँ जिला खेल अधिकारियों की होगी। श्रीमती सिंधिया सोमवार को मंत्रालय स्थित एनआईसी कक्ष-23 में  रायसेन, ग्वालियर, भोपाल, विदिशा, गुना, सागर, टीकमगढ़, दमोह, पन्ना, जबलपुर, नरसिंहपुर, बालाघाट, मंडला, इंदौर, खरगौन, झाबुआ, धार, उज्जैन, बैतूल, रतलाम, सीधी, सिंगरौली और सीहोर जिले के जिला खेल अधिकारियों से वर्चुअल चर्चा कर रही थी। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि अब हर जिले के अधिकारियों के सहयोग के लिए पर्याप्त युवा समन्वयकों को जोड़ा गया है। उनसे अपेक्षा है कि अपने संबंधित जिले के हर तीन महीने, छरू महीने तथा साल भर की गतिविधियों की रिपोर्ट तैयार कर संचालनालय में प्रस्तुत करें। हर जिला खेल अधिकारी जिले में खेलों को लेकर नवाचार कर उन्हें क्रियान्वित भी करें।  


फिट इंडिया और खेलो इंडिया पर हो फोकस

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने निर्देश दिए कि हर जिले में फिट इंडिया कैम्पेन के तहत साइकलोथोन, मैराथान, वॉकथान और योग की प्रतियोगिताएँ आयोजित कर आम नागरिकों को स्वस्थ्य रहने का संदेश पहुँचाने में सक्रिय भूमिका निभाएँ। हर युवा कोरडिनेटर अपने क्षेत्र के 50 से 60 आयु वर्ष के  नागरिकों को सम्मिलित कर योग, स्ट्रेचिंग आदि के लिए प्रोत्साहित करें। उन्होंने कहा कि फिट इंडिया प्रधानमंत्री श्री मोदी की पहल है, जिसका उद्देश्य हर उम्र के लोगों को शारीरिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए प्रोत्साहित करना है।


विधायक कप पुन: होगा प्रारंभ

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि विभाग द्वारा विधायक कप पुन: प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने सभी जिला खेल अधिकारियों को अपने क्षेत्र में प्रचलित अथवा विधायक द्वारा चाहे गए खेल की रूपरेखा तैयार कर संचालक से समन्वय स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मैपिंग द्वारा विधानसभा क्षेत्र चिन्हित करें, उस क्षेत्र में क्या खेल अधोसंरचना है, स्टेडियम की स्थिति, इंडोर हॉल है या नहीं, इसकी जानकारी तत्काल संचालनालय को छायाचित्र के साथ भेजें।


नुक्कड नाटक के माध्यम से नशा मुक्ति अभियान चलाएँ

खेल मंत्री ने कहा कि युवाओं को नशे की लत से दूर रखना सामाजिक जिम्मेदारी है। जिला खेल अधिकारी नुक्कड नाटक के माध्यम से अपने क्षेत्र में युवाओं को नशे के बुरे परिणामों से अवगत कराएँ, उन्हें खेलों की ओर आकर्षित करें। युवा समन्वयक छोटे-छोटे ग्रुप बनाकर स्थानीय कलाकारों के साथ समन्वय कर युवाओं को प्रेरित करें।


मलखम्ब फीडर सेंटर प्रतियोगिता मार्च में होंगे

खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने बताया कि मार्च माह में प्रदेश के 11 मलखम्ब फीडर सेंटर के मध्य इंटर फीडर सेंटर प्रतियोगिता आयोजित किए जाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि 2005 में मलखम्ब को राज्य खेल घोषित किया गया था। इस प्रतियोगिता के आयोजन का मुख्य उद्देश्य मलखम्ब के स्तर की पहचान करना है। इसके दूसरे राज्यों के निर्णायकों को बुलाया जायेगा। अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कितने बच्चे अपना हुनर दिखा सकते हैं, इसकी मॉनिटरिंग की जा सकेगी। श्रीमती सिंधिया ने कहा जैसे संस्कृत सभी भाषाओं की जननी है, वैसे ही मलखम्ब हर खेल की जननी है। खेल मंत्री श्रीमती सिंधिया ने इस तरह के आयोजन हॉकी फीडर सेंटर के मध्य भी भविष्य में आयोजित किए जाने की बात कही।


टेलेंट सर्च की तैयारी अभी से करें

संचालक, खेल एवं युवा कल्याण श्री पवन कुमार जैन ने जिला खेल अधिकारियों को निर्देश दिए कि अप्रैल में होने वाले टेलेंट सर्च के लिए अभी से तैयारी करें। ग्राऊंड रख-रखाव का सुपरविजन करें। मूक दर्शक नहीं बने, खुद पहल करें। यह सुनिश्चित किया जाये कि प्रशिक्षक खिलाड़ियों को समय पर खेल सामग्री उपलब्ध करायें। उन्होंने कहा कि जिन जिलों में स्टेडियम बने है और उनके रख-रखाव की व्यवस्था नहीं है, तो उसकी जानकारी तत्काल संचालनालय को भेजी जाये।


पहले बड़े बकायादारों से करें बिजली बिल की वसूली-ऊर्जा मंत्री श्री तोमर

  • ऊर्जा मंत्री ने की मध्य एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के कार्यों की समीक्षा

विद्युत वितरण कम्पनी की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिये जरूरी है कि बिजली बिलों की वसूली में विशेष ध्यान दिया जाए। पहले बड़े बकायादारों से बिजली बिल की वसूली करें। जिस क्षेत्र में सामूहिक रूप से बिजली की चोरी की जा रही है, वहाँ के जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर बिजली सप्लाई रोकने के संबंध में भी विचार करें। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने यह निर्देश मध्य एवं पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनियों के कार्यों की समीक्षा के दौरान दिये।


उतने ही मीटर खरीदें, जितने लगाने की क्षमता हो

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि बजट की उपलब्धता के आधार पर ही विद्युत सामग्री खरीदी की प्राथमिकता तय करें। सामग्री खरीदी की गाइडलाइन बनायें और इनका सख्ती से पालन भी करें। उतने ही मीटर खरीदें जायें, जितने लगाने की क्षमता हो। उच्च क्षमता के ट्रांसफार्मर लगाये जाये, जिससे अधिक भार के कारण वह जले नहीं। जहाँ ओवरलोडिंग है, वहाँ तुरंत ट्रांसफार्मर बदले जाएँ। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि ग्रुप मीटर समय पर नहीं सुधारने पर कम्पनी को जुर्माना लगाने के साथ ही संबंधित सहायक और जूनियर इंजीनियर के विरूद्ध कार्यवाही की जाये। उन्होंने कहा कि इसके नोडल ऑफिसर के विरूद्ध जाँच के बाद कार्यवाही होनी चाहिए। श्री तोमर ने कहा कि ऐसी लापरवाही की पुनरावृति नहीं होना चाहिए। इस तरह का फार्मूला बनाया जाए कि सभी अधिकारियों को समान रूप से कार्य मिले।


निजीकरण रोकना है तो करें परिणाम मूलक कार्य

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि विद्युत वितरण कम्पनियों का निजीकरण रोकने के लिये जरूरी है कि हम सब मिलकर परिणाम मूलक कार्य करें। सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारी समझें और निष्ठापूर्वक उसका निर्वहन करें।


आकलित रीडिंग के आधार पर नहीं दे बिल

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि शहरों में किसी को भी आकलित रीडिंग के आधार पर बिजली बिल नहीं दिये जाएँ। सही बिल दें और उसकी वसूली भी करें। स्मार्ट मीटर के रिजल्ट का आंकलन किया जाए। मीटर रीडर का रोस्टर निर्धारित कर इसका निरीक्षण भी करें। मेंटेंनेंस बेहतर तरीके से करें, जिससे ट्रिपिंग कम हों। बैठक में प्रमुख सचिव ऊर्जा श्री संजय दुबे ने कहा कि ऊर्जा मंत्री द्वारादिये गये निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया जाए। इस मौके पर सीएमडी श्री आकाश त्रिपाठी, एमडी पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी श्री अमित तोमर, एमडी मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी श्री विशेष गढ़पाले (वर्चुअली) एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  .


शासन के आदेश से ही लगा सकेंगे नाईट कर्फ्यू- डॉ. राजौरा


अपर मुख्य सचिव गृह डॉ. राजेश राजौरा ने बताया है कि कोविड महामारी की रोकथाम के क्रम में कलेक्टरों द्वारा जिलों में नाईट कर्फ्यू लगाया जा सकेगा। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि किसी भी जिले द्वारा नाईट कर्फ्यू लगाने के पूर्व उसे मध्यप्रदेश शासन से अनिवार्य रूप से अनुमति लेना होगी। डॉ. राजौरा ने बताया कि मध्यप्रदेश के सीमावर्ती प्रदेश महाराष्ट्र में कोरोना के प्रकरणों अप्रत्याशित वृद्धि हुई है। मध्यप्रदेश में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये विभिन्न स्तरों पर विभिन्न स्तरों पर मॉनीटरिंग की जा रही है साथ ही आवश्कतानुसार निर्णय भी लिये जा रहे हैं।


महिला बाल विकास विभाग मैदानी अधिकारियों/कर्मचारियों को करेगा प्रोत्साहित, 'कर्मचारी ऑफ द मंथ' के रूप में मिलेगा सम्मान


महिला बाल विकास विभाग द्वारा मैदानी स्तर पर कार्यरत अधिकारियों/कर्मचारियों को उनके उत्कृष्‍ट कार्यों के लिये प्रोत्साहित करने का निर्णय लिया गया है। इसमें ओवर-ऑल परफॉरर्मेंस ग्रेडिंग के आधार पर आँगनवाडी कार्यकर्ता से लेकर परियोजना अधिकारी स्तर तक के उत्कृष्ट वर्कर्स को 'कर्मचारी ऑद द मंथ' के रूप में चयनित किया जायेगा। चयनित अधिकारी/कर्मचारी को प्रतिमाह विभागीय एम.आई.एस. पोर्टल के होम पेज पर प्रदर्शित किया जायेगा। विभाग द्वारा राज्य स्तर पर चयनित एक आँगनवाडी कार्यकर्ता और एक-एक पर्यवेक्षक और परियोजना अधिकारी को 'कर्मचारी ऑफ द मंथ' के रूप में चयनित किया जायेगा। संभाग स्तर पर एक-एक पर्यवेक्षक और परियोजना अधिकारी, जिला स्तर पर एक-एक आँगनवाडी कार्यकर्ता और पर्यवेक्षक तथा परियोजना स्तर पर 'आँगनवाडी कार्यकर्ता ऑफ द मंथ' के रूप में चयन किया जायेगा। परियोजना स्तर पर माह के उत्कृष्ट वर्कर का चयन संबंधित परियोजना अधिकारी द्वारा, जिला स्तर पर जिला कार्यक्रम अधिकारी द्वारा तथा संभाग स्तर के अधिकारी/कर्मचारी ऑफ द मंथ का चयन संबंधित संयुक्त संचालक द्वारा किया जाकर संचालनालय में प्रेषित किया जायेगा। राज्य स्तर पर चयनित उत्कृष्ट वर्कर्स की फोटो, नाम सहित एवं अन्य स्तर पर चयनित उत्कृष्ट वर्कर्स के नाम की सूची पूरे माह विभागीय एम.आई.एस. पोर्टल पर प्रदर्शित की जायेगी। परियोजना/जिला एवं संभाग स्तर के नोटिस बोर्ड पर भी उनके नाम प्रदर्शित किये जायेंगे।


आज 01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 23


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 01  व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। आष्टा के खामखेड़ा जत्रा से 01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई ।  वर्तमान में जिले में एक्टिव/पॉजिटिव की संख्या 23 है। आज 01 व्यक्ति रिकवर हुआ, अब तक कुल रिकवर की संख्या 2762  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 251 सैम्पल लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से 23, सैम्पल लिए गए,  नसरूल्लागंज 30, आष्टा से 52, इछावर से 30, श्यामपुर से 68,  बुदनी से 48 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2833 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2762 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 23 है। आज 251 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 73757 हैं जिनमें से 69875 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 80 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 979 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज पॉजिटिव मिले नये कन्टेनमेंट झोन सहित समस्त कन्टेनमेंट एवं बफर जोन मे स्वास्थ्य दलों द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है वहीं पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्ये कन्टेनमेंट जोन मे सर्वे के लिए जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-07562 226470 है एवं 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती हैं। जिला स्तर पर मोबाइल नंबर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होन कारोन्टाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हल्पलाईन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम कारान्टाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकॉलोजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है। 

कोई टिप्पणी नहीं: