टेस्ट कराया जाए तो 80 फीसदी से ज्यादा थानेदार रोज शराब पीते मिलेंगे : पप्पू - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 7 मार्च 2021

टेस्ट कराया जाए तो 80 फीसदी से ज्यादा थानेदार रोज शराब पीते मिलेंगे : पप्पू

80-percent-police-alcohalec-pappu-yadav
पटना : जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार में अपराध चरम पर है । रोज हत्याएं और लूट हो रही हैं। मुख्यमंत्री के गृह जिले नालंदा में पिछले एक हफ्ते में एक दर्जन से ज्यादा हत्याएं हो चुकी है। इससे राज्य की कानून व्यवस्था का अंदाजा लगाया जा सकता है । शराब तस्करी पर बोलते हुए जाप अध्यक्ष ने कहा कि शराबबंदी को लागू हुए पांच वर्ष से ज्यादा का समय हो चुका है, लेकिन शराब की तस्करी नहीं रूक रही है। यदि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इसे लेकर गंभीर है तो अपनी इच्छाशक्ति जगाएं और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करें। अगर बिहार के सभी थानेदारों का ब्लड टेस्ट कराया जाए तो 80 फीसदी से ज्यादा थानेदार ऐसे मिलेंगे जो रोज शराब पीते हैं। नीतीश जी ने 6 महीने में सजा देने की बात कही थी लेकिन आज तक किसी भी बड़े तस्कर को सजा नहीं मिली । जाप प्रमुख ने कहा कि सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं के पास एक दूसरे की आलोचना के अलावा कोई और दूसरा मुद्दा नहीं है। विपक्ष मुद्दाहीन दिख रहा है। जहरीली शराब से दलितों की मौत, भू और बालू माफिया, पलायन और अपराध का कोई जिक्र नहीं कर रहा है। बिहार जिन मुद्दों से प्रभावित हो रहा है उसकी चर्चा सदन में नहीं हो रही है। मुकेश सहनी के मुद्दे पर अनावश्यक रूप से विपक्ष हंगामा कर रहा है। मेरा आग्रह है कि रोजगार पर सदन में चर्चा हो । पप्पू यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि शराब की तस्करी से सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता अपनी-अपनी पार्टियों के लिए चंदा इकठ्ठा कर रहे हैं। जैसे पंचायत चुनाव लड़ने वालों से संपत्ति का ब्यौरा माँगा जा रहा है वैसे ही मुख्यमंत्री अपने नेताओं, पदाधिकारियों और उनके रिश्तेदारों की संपत्ति का ब्यौरा मांगे।

कोई टिप्पणी नहीं: