गया : सभी पंचायत जनप्रतिनिधियों तथा पदाधिकारियों के साथ बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 15 मार्च 2021

गया : सभी पंचायत जनप्रतिनिधियों तथा पदाधिकारियों के साथ बैठक

dm-gaya-meeting-with-panchayat-repersantative
गया। जिला पदाधिकारी गया श्री अभिषेक सिंह द्वारा  फतेहपुर प्रखंड अंतर्गत विभिन्न योजनाओं की समीक्षा के लिए सभी पंचायत जनप्रतिनिधियों तथा पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई। इस अवसर पर उन्होंने जनप्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए कहा कि पदाधिकारी तथा जनप्रतिनिधि अपने कार्यों/ कर्तव्यों के प्रति सजग रहें। उन्होंने कहा कि क्षेत्रों की समस्याएं मुख्य रूप से सड़क, अस्पताल, पेंशन योजना, पेयजल की समस्या, कृषि सिंचाई, विद्युत, विद्यालय का निर्माण सहित अन्य विकास योजनाओं का क्रियान्वयन कराना है। उन्होंने कहा कि उपरोक्त समस्याओं का निराकरण के लिए जिला प्रशासन द्वारा योजनाओं की जांच पदाधिकारियों द्वारा कराई जा रही तथा आप जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर क्षेत्र की समस्याओं से विस्तारपूर्वक रूबरू हो रहे हैं। जिला पदाधिकारी ने कहा कि कुछ समस्याएं स्थानीय हैं, जिनका निराकरण प्रखंड स्तर पर हो सकता है। कुछ समस्याएं ऐसी है जिसका निराकरण जिला स्तर पर किया जाएगा। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को कहा कि आपके अधिकार के साथ-साथ आपकी जिम्मेदारियां भी बढ़ी हैं। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से कहा कि आप योजनाओं का निर्माण तथा क्रियान्वयन स्वच्छ एवं पारदर्शी तरीके से करावें तथा वैसी योजनाएं ले, जो पूरी तरह जनहित में हो। उन्होंने जन प्रतिनिधियों से कहा की आप जन प्रतिनिधि के साथ साथ लोक सेवक भी हैं, इसे हमेशा ध्यान में रखे। उन्होंने निर्देश दिया कि योजनाओं से संबंधित अभियक को अच्छी तरह संधारित करें।  जन प्रतिनिधियों के साथ बैठक में पंचायतों के मुखिया, ज़िला परिषद सदस्य, पंचायत समिति सदस्य, सरपंच द्वारा अपने क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए अनुरोध किया। इन समस्याओं में मुख्य रूप से धांगर नदी पर पूल निर्माण, फतेहपुर बस स्टैंड में मूल भूत सुविधाएं यथा शौचालय, पेयजल, सफाई करवाने तथा पीसीसी ढलाई करवाने का अनुरोध किया।  जन प्रतिनिधियों में मुख्य रूप से ग्रामीण सड़कों के निर्माण पर ज़ोर दिया। साथ ही डुमरीचट्टी के मुखिया द्वारा उनके वार्ड में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा पेयजल योजना सुचारू रूप से नहीं चलने के बारे में बताया। कुछ जन प्रतिनिधियों ने चापाकल की मरम्मती कराने का अनुरोध किया। बैठक में बताया गया कि लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग द्वारा चापाकल मरम्मती दल प्रत्येक प्रखंड के लिए भेजा गया है। प्रखंड विकास पदाधिकारी तथा पीएचइडी के अभियंता इसे सुनिश्चित कराएंगे। मोरहे के पंचायत समिति सदस्य द्वारा बताया गया की वार्ड 09 में पानी मे फ्लोराइड की समस्या है। ज़िला पदाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता, पीएचइडी को त्वरित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। जयपुर पंचायत के जन प्रतिनिधि ने उनके पंचायत में कार्यरत अस्पताल में प्रसव सुविधा की व्यवस्था कराने का अनुरोध किया। साथ ही नहरों का जीर्णोद्धार का भी अनुरोध किया। बारा पंचायत के जन प्रतिनिधि ने कल्याणपुर से नवादा को जोड़ने वाले सड़क के निर्माण एवं बारा टांड से होते हुए पईन का मिट्टी उड़ाही के संबंध में अनुरोध किया। ज़िला परिषद सदस्य द्वारा बैठक में बताया गया कि 14 किलोमीटर सड़क निर्माण में वन विभाग की जगह जगह भूमि होने के कारण पूरी सड़क सही ढंग से नहीं बन पाया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में महिला चिकित्सक की आवश्कता के बारे में जन प्रतिनिधियों ने बताया। इस संबंध में जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि ज़िला प्रशासन द्वारा सड़कों के निर्माण के लिए वन विभाग से स्वीकृति हेतु प्रस्ताव भेजा गया है।  नोडिहा, सुल्तानपुर के जन प्रतिनिधि ने पेयजल की समस्या एवं राशन कार्ड की समस्या के बारे में बताया। ज़िला पदाधिकारी द्वारा अनुमंडल पदाधिकारी, सदर तथा जिला आपूर्ति पदाधिकारी को राशन कार्ड से संबंधित निराकरण करने का निर्देश दिया। उन्होंने पदाधिकारियों एवं जन प्रतिनिधियों को निर्देश दिया कि वे नल जल योजना के कार्य को प्रमुखता के साथ अनुश्रवण करना सुनिश्चित करें। ज़िला पदाधिकारी द्वारा प्रखंड कार्यालय, अंचल कार्यालय, आरटीपीएस काउंटर, डाटा सेन्टर का निरीक्षण कर आवश्यक निदेश दिए गए। उन्होंने कॅश बुक का निरीक्षण किया तथा बायोमेट्रिक अटेंडेंस के बारे में जानकारी प्राप्त किया। उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेश दिया कि जो योजना बंद हो चुकी है, उनके बैंक खाते को बंद करते हुए राशि को जमा कराना सुनिश्चित करें।  ज़िला पदाधिकारी द्वारा अंचल कार्यालय के निरीक्षण के क्रम में दाखिल खारिज, भू-लगान, एलपीसी, आपदा की राशि इत्यादि कार्यों की जानकारी प्राप्त किया।  ज़िला पदाधिकारी द्वारा फतेहपुर शहरी क्षेत्र में स्थित प्रोजेक्ट कन्या उच्च विद्यालय जाकर स्मार्ट क्लास का निरीक्षण किया तथा पुस्तकालय जाकर पुस्तकों के रख रखाव के संबंध में आवश्यक निर्देश दिया। उन्होंने चल रहे स्मार्ट क्लास का निरीक्षण करते हुए 09वीं वर्ग की छात्राओं से स्मार्ट क्लास की लाभ तथा उनकी समस्याओं के संबंध में जानकारी प्राप्त किया। छात्राओ ने बताया कि उन्हें स्मार्ट क्लास तथा पुस्तकालय से काफी लाभ मिल रहा है। छात्राओं ने बताया कि इंटरनेट के कारण स्मार्ट क्लास में समस्या होती है। उन्होंने कंप्यूटर शिक्षक को वैकल्पिक इंटरनेट प्रोवाइडर रखने का निर्देश दिया।  उप विकास आयुक्त एवं जिला स्तरीय पदाधिकारी द्वारा प्रखंड परिसर में मनरेगा के तहत वृक्षारोपण किया गया। तत्पश्चात उप विकास आयुक्त की अध्यक्षता में पदाधिकारियों के साथ बैठक करते हुए योजनाओं की जांच में गए पदाधिकारी से फीडबैक प्राप्त करते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए। बैठक में उप विकास आयुक्त श्री सुमन कुमार, अपर समाहर्त्ता, अपर समाहर्ता (लोक शिकायत) ज़िला पंचायत राज पदाधिकारी, ज़िला जन सम्पर्क पदाधिकारी, निदेशक, डीआरडीए, अनुमंडल पदाधिकारी, ज़िला आपूर्ति पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमंडल, पथ निर्माण विभाग, भवन निर्माण, वरीय उप समाहर्त्तागण, विशेष कार्य पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी, प्रखंड प्रमुख श्रीमती अनिता देवी सहित अन्य पदाधिकारी एवं पंचायत जन प्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: