मदरसा के छात्र भी लेंगे गीता और रामायण का ज्ञान - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 3 मार्च 2021

मदरसा के छात्र भी लेंगे गीता और रामायण का ज्ञान

  • 100 मदरसों में नया पाठ्यक्रम शुरू

gita-ramayan-in-madarsa
नई दिल्ली : शिक्षा मंत्रालय के अंतर्गत चलने वाला नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग प्राचीन भारतीय ज्ञान और परंपरा को लेकर 100 मदरसों में नया पाठ्यक्रम शुरू होने जा रहा है। यह पाठ्यक्रम नई शिक्षा नीति के अधीन है। एनआईओएस ने प्राचीन भारत के ज्ञान के संबंध में करीब 15 कोर्स तैयार किए हैं। इनमें वेद, योग, विज्ञान, संस्‍कृत भाषा, रामायण, गीता समेत अन्‍य चीजें शामिल हैं। यह सभी कोर्स कक्षा 3, 5 और 8 के की प्रारंभिक शिक्षा के समान हैं। एनआईओएस की चेयरमैन सरोज शर्मा ने कहा कि हम इस कार्यक्रम की शुरुआत 100 मदरसों में कर रहे हैं। बहुत जल्द हम इसे 500 मदरसों तक पहुंचाएंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि भारत प्राचीन भाषाओं, विज्ञान, कला, संस्‍कृति और परंपरा की खान है। अब देश अपनी प्राचीन परंपरा को पुनर्जीवित करके ज्ञान के क्षेत्र में सुपरपावर बनने को तैयार है। हम इन कोर्स के लाभ को मदरसों और विश्‍व में मौजूद भारतीय समाज तक पहुंचाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: