यूपी की तरह बिहार को पुलिस राज में तब्दील करना चाहती है नीतीश सरकार : माले - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 19 मार्च 2021

यूपी की तरह बिहार को पुलिस राज में तब्दील करना चाहती है नीतीश सरकार : माले

बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक, 2021 को विधानसभा से पारित ने होने देने की अपील, राज्यस्तरीय विरोध-प्रदर्शन में उतरेगी माले

mahboob-alam-attack-nitish-government
पटना 19 मार्च, भाकपा-माले ने आज बिहार विधानसभा में सरकार द्वारा पेश बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक, 2021 को काला विधेयक की संज्ञा देते हुए उसके खिलाफ विधानसभा के अंदर से लेकर बाहर तक चैतरफा विरोध करने की अपील की है. माले के राज्य सचिव कुणाल व माले विधायक दल के नेता महबूब आलम ने संयुक्त प्रेस बयान जारी करके कहा कि बिहार की नीतीश सरकार यूपी की फासीवादी योगी सरकार की तर्ज पर बिहार में लोकतंत्र का गला घोंट कर पुलिस राज में तब्दील कर देना चाहती है. यह विधेयक यदि कानून बन गया तो पुलिस को बिना वारंट के किसी भी व्यक्ति की तलाशी लेने और गिरफ्तार करने की शक्ति मिल जाएगी. जाहिर सी बात है कि इसका मकसद अपने राजनीतिक विरोधियों और गरीब जनता को बिना वजह जेल में डालकर प्रताड़ित करने में इस्तेमाल किया जाएगा. यह विधेयक गैर लोकतांत्रिक व दमनकारी है. माले राज्य सचिव ने कहा कि इस काले विधेयक को वापस लेने की मांग पर हम पूरी बिहार की जनता से प्रतिवाद आंदोलन में उतरने की अपील करते हैं. हमारी पार्टी पूरे राज्य में विरोध-प्रदर्शन को आयोजित करेगी.







live news, livenews, live samachar, livesamachar, 2good flipkart

कोई टिप्पणी नहीं: