बिहार : वार्ड पार्षदों को नहीं मिलेगा सरकारी ठेका - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 20 मार्च 2021

बिहार : वार्ड पार्षदों को नहीं मिलेगा सरकारी ठेका

no-tender-for-ward-councillor-bihar
पटना : बिहार में नगरपालिका अधिनियम संशोधन से वार्ड पार्षदों को गहरा झटका लगा है। इस संशोधन से सरकारी ठेकों में स्थानीय निकाय प्रतिनिधियों की दखलंदाजी खत्म हो जाएगी जानकारी हो कि बिहार सरकार ने नगरपालिका अधिनियम 2007 की धारा 53 में संशोधन कर दिया है। वहीं सरकार के इस निर्णय से वार्ड पार्षदों को गहरा झटका लगा है। सरकार के इस फैसले के बाद वार्ड पार्षद लाखों – करोड़ों का ठेका न तो खुद ले सकेंगे और न ही परिवार के किसी सदस्य को दिला सकेंगे। मालूम हो कि पिछले कुछ ऐसे कई मामले विभाग और सरकार तक भी पहुंचते रहे हैं। इन्हीं सबको देखते हुए राज्य सरकार द्वारा नगर पालिका विधेयक में कई संशोधनों में इसे भी शामिल किया गया है। अब कोई भी वार्ड पार्षद अब ऐसी किसी निविदा के निस्तारण संबंधी समिति की बैठक का हिस्सा नहीं बन सकेंगे, जिससे उन्हें या उनके परिवार के किसी सदस्य को सीधा लाभ पहुंचता हो। बता दें की इससे पहले ऐसा देखा जाता है कि कई मामलों में तो वार्ड पार्षद खुद या उनकी पत्नी या फिर बच्चे खुद ठेकेदारी कर रहे हैं। इस तरह लाखों-करोड़ों रुपये का बंदरबांट हो जाता है।काम भी सही तरीके से नहीं हो पाता है।







live news, livenews, live samachar, livesamachar, 2good flipkart

कोई टिप्पणी नहीं: