पलानीस्वामी ने स्टालिन पर पलटवार किया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 21 मार्च 2021

पलानीस्वामी ने स्टालिन पर पलटवार किया

palaniswami-attack-stalin
तिरुवन्नामलाई (तमिलनाडु), 21 मार्च, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने उनके खिलाफ टिप्पणी करने के लिए द्रमुक प्रमुख एम के स्टालिन पर पलटवार करते हुए रविवार को कहा कि विधायकों ने उन्हें मुख्यमंत्री पद के लिए चुना जबकि दिवंगत एम करुणानिधि दशकों पहले वीआर नेदुनचेझियान को ‘धोखा’ देकर पार्टी के शीर्ष पद पर पहुंचे थे। अन्नाद्रमुक नेता पलानीस्वामी ने इस जिले में प्रचार के दौरान आरोप लगाया कि द्रमुक के संस्थापक सीएन अन्नादुरै के 1969 में निधन के बाद सब उम्मीद कर रहे थे ‘नवलार’ नेदुनचेझियान मुख्यमंत्री बनेंगे लेकिन स्टालिन के पिता करुणानिधि ‘शॉर्ट कट’ के जरिए मुख्यमंत्री बन गए। मुख्यमंत्री पलानीस्वामी ने छह अप्रैल को होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी प्रत्याशियों का प्रचार करने के लिए अरानी और चेय्यर समेत अन्य जिलों का दौरा किया। उन्होंने कहा कि वह 2017 में इस तरह से मुख्यमंत्री नहीं बने, बल्कि पार्टी के विधायकों ने उन्हें इस पद के लिए चुना तो वह मुख्यमंत्री बने। पलानीस्वामी ने आरोप लगाया, “ करुणानिधि नवलार नेदुनचेझियान को धोखा देकर मुख्यमंत्री बने थे।” नेदुनचेझियान द्रमुक में वरिष्ठ नेता थे, वह पार्टी में अन्नादुरै के बाद दूसरे नंबर के नेता थे। बाद में नेदुनचेझियान ने द्रमुक छोड़ दी थी और अन्नाद्रमुक में शामिल हो गए थे। स्टालिन आरोप लगाते रहे हैं कि पलानीस्वामी अन्नाद्रमुक की दिवंगत प्रमुख जे जयललिता की करीबी सहयोगी वी के शशिकला के सामने “रेंगकर” मुख्यमंत्री बने हैं। पलानीस्वामी ने कहा, “ क्या मैं सांप या छिपकली हूं जो रेंगूंगा?” उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के लिए मंच तक चलकर गए थे।

कोई टिप्पणी नहीं: