सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 19 मार्च 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मार्च

अचल संपत्ति के मूल्यांकन संबंधी सुझाव एवं आपत्ति आमंत्रित


उप जिला मूल्यांकन समिति सीहोर,आष्टा, बुधनी, नसरूल्लागंज, इछावर तथा दोराहा द्वारा अचल सम्पत्ति मूल्यांकन संबंधी अंतिम दरों का प्रस्ताव 2021-22 मूल्यांकन समिति को प्राप्त हुए हैं। प्रस्तावित दरों के संबंध में जन साधारण अपने आपत्ति तथा सुझाव 20 मार्च से 21 मार्च तक जिला पंजीयक एवं संयोजक जिला मूल्यांकन समित के समक्ष प्रस्तुत कर सकते हैं। 

 

कोरोना के बचाव के लिए त्रि-आयामी प्रयास: मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • आर्थिक गतिविधियाँ नहीं रुकेंगीं, जनता का सहयोग चाहिए 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश में कोरोना से बचाव और उपचार व्यवस्था के संबंध में राज्य सरकार त्रि-आयामी प्रयास कर रही है। मुख्यमंत्री ने अपील की कि मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नागरिक पूरी सावधानियाँ बरतें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा आर्थिक गतिविधियाँ बंद नहीं होने दी जाएंगी। कोरोना से निपटने के लिए हर सावधानी आवश्यक है। प्रदेशवासियों से अपील है कि वे फेस मास्क के अनिवार्य उपयोग के साथ ही निर्धारित गाइडलाइन का पालन कर सहयोग करें। प्रदेश में वैक्सीनेशन कार्य भी चल रहा है। राज्य सरकार अधिक संक्रमण वाले जिलों में वैक्सीनेशन कार्य को प्राथमिकता देते हुए इसकी गति बढ़ाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि त्रि-आयामी प्रयासों के अंतर्गत सबसे पहले कोरोना से बचाव के लिए प्रचार-प्रसार और जागरूकता अभियान पर जोर दिया गया है। इसके बाद जिन जिलों में अधिक संक्रमण हो रहा है, उन जिलों में वैक्सीनेशन कार्य को प्राथमिकता और जो नागरिक संक्रमित हो जाते हैं ,उनके समुचित उपचार के प्रबंध का कार्य शामिल है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आमजन से इन सभी कार्यों में सहयोग का अनुरोध है। वायरस अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। संक्रमण से सभी को बचने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिक भीड़भाड़ वाले कार्यक्रम नहीं किए जाएं। जो कार्यक्रम हों वे कम उपस्थिति और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हों। इसके साथ ही जो गाइड लाइन बनाई गई है उसका सभी लोग पूरी तरह पालन करें।


लेखकों पाठकों को जोड़ने का कार्य किया बटुक जी ने : मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • साहित्यकार श्री बटुक चतुर्वेदी के निधन पर दु:ख व्यक्त 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वरिष्ठ साहित्यकार और लेखक संघ के संरक्षक श्री बटुक चतुर्वेदी के निधन पर दु:ख व्यक्त किया है। श्री चतुर्वेदी जनसंपर्क विभाग में प्रथम श्रेणी के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्व. श्री बटुक चतुर्वेदी ने लेखन के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान दिया। मध्यप्रदेश की आंचलिक संस्कृति पर उन्होंने निरंतर लिखा। उन्होंने साहित्यिक कार्यक्रमों के माध्यम से राजधानी में लेखकों को और पाठकों को जोड़ने का कार्य किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ईश्वर से दिवंगत स्व. चतुर्वेदी की आत्मा की शांति और उनके शोकाकुल परिजन को यह दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की है।


मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना से टेराकोट शिल्पी हो रहे है कला में परंपरागत, म.प्र. खादी ग्रामोद्योग बोर्ड का प्रशिक्षण आयोजित


आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार बनाने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा मुख्यमंत्री कौशल संवर्धन योजना (उन्नत हुनर सशक्त कल) के तहत टेराकोटा के शिल्पकारों को प्रशिक्षण आयोजित किया जा रहा है। प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षार्थियों द्वारा तैयार विभिन्न सजावटी टेराकोटा एवं मिट्टी की सामग्री को पकाने के लिए भट्टी के प्रज्ज्वलन करने और निर्मित सामग्री को पकाने की विधि सीखाई जा रही है। प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग श्री गौतम सिंह ने बताया कि टेराकोटा शिल्प में "उन्नत हुनर - सशक्त कल" के मूल सिद्धान्त पर शिल्पी चाक पर सुनहरे भविष्य को गढ़ते हुए आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। प्रशिक्षणार्थियों के लिए नि:शुल्क आवास एवं भोजन की व्यवस्था के साथ ही उन्हें छात्रवृत्ति का भी भुगतान किया जा रहा है। स्व-रोज़गार योजना से जोड़ते हुए स्वयं का रोज़गार स्थापित करने के बाद उनसे मिट्टी की विभिन्न सजावटी वस्तुओं एवं अन्य दैनिक उपयोगी वस्तुओं का निर्माण करवाया जाएगा, जिससे युवक स्वयं आत्म-निर्भर होकर स्वयं का सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान कर जीवन-यापन कर सकेंगे। प्रशिक्षक श्री हेमंत प्रजापति ने प्रशिक्षणार्थियों को मिट्टी की कलात्मक वस्तुओं को पकाने तापमान संतुलन से लेकर समय के महत्व के बारे में भी बताया। उन्होंने तापमान एवं वस्तु के पकने की टेस्टिंग के तरीके भी सिखाये। उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश माटी कला बोर्ड, भोपाल द्वारा प्रायोजित एवं उद्यमिता विकास केंद्र, मध्यप्रदेश (सेडमैप) द्वारा आयोजित इस प्रशिक्षण में 35 प्रतिभागियों द्वारा हिस्सा लिया जा रहा है।


बिना पेनिक करें हमें कोरोना को परास्त करना है : मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • प्रदेश को 5 लाख टीकाकरण प्रति दिवस की स्थिति में लाना है
  • मुख्यमंत्री ने की कोरोना संक्रमण और टीकाकरण पर कलेक्टर्स-कमिश्नर्स से वीडियो कॉन्फ्रेंस 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण पुन: तेजी से फैल रहा है। इसके नियंत्रण के‍लिए आर्थिक गतिविधियों पर रोक नहीं लगाई जा सकती। व्यापार और रोजगार में कोरोना से बचाव की सावधानियों का कड़ाई से पालन करें, नहीं तो सरकार कड़ाई करेगी। यह प्रदेश में गुड गवर्नेंस की पुन: परीक्षा है। बिना पेनिक करें हमें कोरोना को परास्त करना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान प्रदेश में कोरोना की स्थिति पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त कमिश्नर्स-कलेक्टर्स तथा मेडिकल कॉलेज के डीन आदि से चर्चा कर रहे थे। इस वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी सम्मिलित हुए।


रात्रि 10 बजे से प्रात: 6 बजे तक बाजार बंद रहेंगे

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने ग्वालियर, जबलपुर सहित प्रदेश के सर्वाधिक प्रभावित जिलों उज्जैन, सागर, बैतूल, बुरहानपुर, खरगोन, रतलाम और‍छिंदवाड़ा में भी रात्रि 10 बजे से प्रात: 06 बजे तक व्यावसायिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रखने के निर्देश दिए।


महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों पर रोक

महाराष्ट्र में बनी कोरोना की विस्फोटक स्थिति को देखते हुए महाराष्ट्र से आने-जाने वाली यात्री बसों के आवागमन पर 20 मार्च से रोक लगाने के निर्देश भी दिए गए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना वेक्सीन टीकाकरण में प्रदेश को 5 लाख डोज प्रति दिवस की स्थिति में लाने के लिए तत्काल आवश्यक व्यवस्थाएँ करने के निर्देश भी दिए।


कोरोना नियंत्रण के लिये हरसंभव प्रयास करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण पुन: फैलना आरंभ हुआ है। इस पर नियंत्रण के लिए हरसंभव प्रयास अभी से आरंभ करना आवश्यक है। इसके साथ ही प्रदेश को कठिनतम परिस्थितियों से निपटने के लिए भी तैयार भी रहना होगा। बैठक में जानकारी दी गई कि पिछले सात दिनों में इंदौर में 1778, भोपाल में 1170, जबलपुर में 358, ग्वालियर में 185, उज्जैन में 187, रतलाम में 162, छिंदवाड़ा में 147, बुरहानपुर में 130, बैतूल में 110 और खरगोन में 92 कोरोना पॉजिटिव प्रकरण दर्ज किए गए हैं। ग्वालियर मेले की अवधि के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप निर्णय लें।


जनप्रतिनिधियों, समाज-सेवियों, धर्म गुरूओं का सहयोग लें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानियों के लिए अभियान में जनप्रतिनिधियों, समाज-सेवियों और धर्म गुरूओं का सहयोग लें। साथ ही जन-जन को मास्क का उपयोग करने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने और टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। कोरोना के कारण हमें होली सावधानी से निकालनी होगी। होली के जुलूसों, गेर और मेलों आदि का आयोजन नहीं हो सकेगा। सामाजिक और बड़े आयोजनों में भी सतर्कता बरतना होगी।


श्रमिकों के लिए रोजगार की व्यवस्था करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि होली त्यौहार में बड़ी संख्या में श्रमिक साथी अपने पैतृक ग्रामों और नगरों में लौटेंगे। उन्होंने मनरेगा तथा अन्य योजनाओं में पर्याप्त रोजगार देने की व्यवस्था करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि ग्रामों में पर्याप्त रोजगार के अवसर सृजित किए जाएँ ताकि श्रमिक भाई संक्रमण प्रभावित शहरों की ओर जाने के लिए मजबूर न हों।


इलाज की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जाए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना से प्रभावित व्यक्तियों के इलाज की पुख्ता व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। होम आइसोलेशन में टेली कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा उनको पर्याप्त इलाज, सुझाव देने और सतर्क निगरानी की व्यवस्था हो। इसके साथ ही छोटे घरों में जहाँ आइसोलेशन संभव नहीं हैं, वहाँ शासकीय अस्पतालों में पृथक वार्ड बनाकर आइसोलेशन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। निजी अस्पतालों की क्षमताओं का उपयोग करते हुए उन्हें एप पर जोड़कर वहाँ आ रहे मरीजों की जानकारी और उनकी स्थिति से भी जिला प्रशासन लगातार अवगत रहे। निजी अस्पतालों के लिए जारी गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जाए तथा यह सुनिश्चित किया जाए कि कोई भी निजी अस्पताल मरीजों से मनमानी वसूली न करें।


निजी कार्यालयों में भी थर्मल स्क्रीनिंग और सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन हो

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भोपाल, इंदौर आदि शहरी क्षेत्रों में कार्यालयों में संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए शासकीय के साथ-साथ निजी कार्यालयों में भी थर्मल स्क्रीनिंग और सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराया जाए।


कलेक्टर जबलपुर का हाल जाना मुख्यमंत्री ने

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, रतलाम, छिंदवाड़ा, बुरहानपुर, बैतूल, खरगोन, खण्डवा और सागर के कलेक्टर्स से बात कर कोरोना संक्रमण की स्थिति और उसके नियंत्रण के लिए किए जा रहे उपायों की जानकारी ली। जबलपुर कलेक्टर श्री कर्मवीर शर्मा स्वयं कोरोना पॉजिटिव हैं, फिर भी वे कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सम्मिलित हुए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेते हुए उन्हें पर्याप्त सावधानी बरतने का सुझाव दिया।


माझा परिवार - माझा होली

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जन-जागरण के लिए किए जा रहे बुरहानपुर के नवाचार की सराहना करते हुए कहा कि अन्य जिलों के कलेक्टर भी इसका अनुसरण करें अथवा स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार नवाचार करें। कलेक्टर बुरहानपुर ने जानकारी दी कि होली पर कोरोना के कारण सावधानी बरतने के लिए लोगों को प्रेरित करने के उद्देश्य से 'माझा परिवार-माझा होली' के स्लोगन का प्रचार-प्रसार कर लोगों को परिवार में होली मनाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। कलेक्टर खरगोन ने आदिवासी समाज की सहमति और उन्हें विश्वास में लेते हुए भगोरिया तथा अन्य मेला गतिविधियों को सीमित करने, खण्डवा कलेक्टर ने जन-जागरण में सामाजिक संगठनों, एनसीसी, एनएसएस और जन अभियान परिषद का सहयोग लेने की बात कही। सागर कलेक्टर ने बताया कि जिले में रोको-टोको अभियान के अंतर्गत कार्यवाहियाँ जारी हैं।


भोपाल में तीन दिन में हुए 5 हजार चालान

भोपाल कलेक्टर ने बताया कि 42 फीवर क्लीनिक संचालित किए जा रहे हैं। मास्क लगाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। पिछले 3 दिन में 5 हजार चालानी कार्यवाहियाँ की गई हैं। रात्रि कर्फ्यू का कड़ाई से पालन किया जा रहा है।


वेक्सीन के वेस्टेज को रोकना होगा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोविड टीकाकरण कार्यक्रम का तेजी से विस्तार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रदेश को 5 लाख डोज प्रति दिवस के उपलब्धि पर लेकर जाना होगा। इसके लिए प्रत्येक जिले को दिए गए लक्ष्य के अनुसार सभी जिला कलेक्टर अपने-अपने स्तर पर हरसंभव प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोविड टीकाकरण की वेस्टेज को रोकना होगा। यह नेशनल वेस्टेज है। जो टीका वेस्ट होता है वो किसी को लग सकता था। इस तरह कोविड टीके को वेस्ट करने से हम किसी का हक मारते हैं। यह बचाने का वैक्सीन है, अत: इसके लिए जिला स्तर पर प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए। कोविड टीकाकरण अभियान को जन-जन का अभियान बनाने के लिए समाज-सेवी संगठनों, सामाजिक संगठनों और राजनैतिक दलों का भी सहयोग लिया जाए। चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने वी.सी. वर्चुअली शामिल होकर कोविड के इलाज में निजी अस्पतालों का सहयोग लेने और तेन्दूपत्ता संग्रहण के लिए महाराष्ट्र से आने वाले व्यक्तियों के संबंध में आवश्यक सतर्कता बरतने संबंधी सुझाव दिए। मुख्य सचिव श्री बैंस ने जिला कलेक्टर्स को कहा कि वर्तमान समय में कोविड संक्रमण को रोकना और कोविड टीकाकरण राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसमें किसी प्रकार का समझौता नहीं होगा।


आकांक्षा योजना से इस वर्ष जन-जातीय वर्ग के 346 विद्यार्थियों को मिली सफलता

  • कोचिंग संस्थानों के विद्यार्थियों की फीस की प्रतिपूर्ति विभाग द्वारा 

प्रदेश के जन-जातीय विद्यार्थियों को उच्च व्यावसायिक शिक्षा जैसे आईआईटी, एम्स, नीट, क्लेट जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिये जन-जातीय कार्य विभाग की आर्थिक सहायता से संचालित कोचिंग संस्थाओं के माध्यम से प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की गई है। यह संस्थाएँ प्रदेश के 4 संभागीय मुख्यालय भोपाल, इंदौर, जबलपुर एवं ग्वालियर से संचालित की जा रही हैं। इस वर्ष इन कोचिंग केन्द्रों से आकांक्षा योजना में जेईई मेन्स में 122, जेईई एडवांस में 34, नीट में 86 एवं क्लेट में 104 जन-जातीय विद्यार्थियों को प्रवेश पाने में सफलता मिली है। इस वर्ष इन केन्द्रों में 800 जन-जातीय विद्यार्थियों को कोचिंग दिलाये जाने का कार्यक्रम विभाग द्वारा तैयार किया गया है। इसके लिये वर्ष 2021-22 के बजट में 10 करोड़ 30 लाख रुपये का प्रावधान किया गया है। इन कोचिंग संस्थानों में प्रवेश लेने वाले जन-जातीय वर्ग के विद्यार्थियों की फीस देने का कार्य जन-जातीय कार्य विभाग द्वारा किया जाता है।


लोक अदालत के सफल आयोजन हेतु बैंक अधिकारी रूचि लेकर गंभीरतापूर्वक कार्य करें - जिला न्यायाधीष 

          

sehore news
माननीय जिला न्यायाधीश एवं अध्यक्ष महोदय श्री राजवर्धन गुप्ता सर के मार्गदर्शन एवं गरिमामय उपस्थिति में दिनांक 19/03/2021 को ए.डी.आर भवन के सभागृह सीहोर में  दिनांक 10 अप्रैल 2021 को आयोजित होने वाली नेषनल लोक अदालत को सफल बनाने हेतु बैंक अधिकारियों के साथ बैठक का आयोजन किया गया। उक्त बैठक में श्री एस0के0 नागोत्रा अपर जिला न्यायाधीश/ सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, श्री अनीस उद्दीन अब्बासी जिला विधिक सहायता अधिकारी एवं लगभग 14 बैंको के शाखा प्रबंधक सम्मिलित हुए। उक्त बैठक में माननीय जिला न्यायाधीष एवं अध्यक्ष महोदय श्री राजवर्धन गुप्ता द्वारा उपस्थित बैंक अधिकारियों को शीघ्रातिषीघ्र नेषनल लोक अदालत के नोटिस जारी करने हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देष दिये गये। जिला न्यायाधीष महोदय द्वारा सभी बैंक अधिकारियों को नेषनल लोक अदालत का कार्य रूचि लेकर और गंभीरतापूर्वक करने के निर्देष सम्प्रसारित किये।  श्री एस0के0 नागोत्रा अपर जिला न्यायाधीश/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर द्वारा सभी बैंक अधिकारियों को अपने स्तर पर नेषनल लोक अदालत का प्रचार-प्रसार करने और अधिक-से-अधिक लोगो को जागरूक कर उनके बैंको से सम्बंधित प्रकरण नेषनल लोक अदालत के माध्यम से निराकृत कराये जाने का अनुरोध किया।


चेक बाउंस होने पर आरोपी को 11 लाख 9 हजार आठ सौ, सताइस रूपये चुकाने के साथ 6 माह के कारावास की सजा


sehore news
सीहेार। माननीय न्यायिक दण्डाचिकारी प्रथम श्रेणी सुश्री के.शिवानी के द्वारा यूको बैंक सीहोर का ऋण समय पर ना चुकाने और चेक बाउंस होने पर आरोपी को आठ लाख सत्ताइस हजार चार सौ रुपये के 9 प्रतिशत वार्षिक ब्याज के साथ 11 लाख 9 हजार आठ सौ- सताइस रूपये प्रतिकर चुकाने के साथ 6 माह के कारावास की सजा सुनाई है। बरिष्ठ अधिवक्ता रामकृष्ण शर्मा द्वारा परिवाद प्रस्तुत किया था जिसमे आरोपी अभियुक्त चांद सिंह मेवाडा आ. केसर सिंह मेवाडा निवासी ग्राम रायपुरा, तहसील व जिला सीहोर ने बैंक से  5 लाख 20 हजार रूपये के ऋण लिया था ऋण को समय पर नहीं चुकाया गया। आरोपी के द्वारा दिया गया आठ लाख सत्ताइस हजार चार सौ रूपये का चेक भी बाउंस हो गया। समय पर ऋण ना चुकाने के कारण 5 लाख 20 हजार रूपये के ऋण पर मय ब्याज आठ लाख सत्ताइस हजार चार सौ रूपये अदा करने और 6 माह की सजा के आदेश पारित किए है।


20 मार्च को 102 टीकाकरण केन्द्रों पर किया जाएगा टीकाकरण

  • 45  से 59 वर्ष आयु के चिन्हित 20 बीमारी वाले नागरिक तथा 60 वर्ष से अधिक आयु के हितग्राहियों का होगा टीकाकरण
  • हेल्थ केयर वर्कर एवं फ्रंट लाईन वर्कर का भी टीकाकरण किया जाएगा

शतप्रतिशत टीकाकरण के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत, सभी  एसडीएम, तथा समस्त बीएमओ को व्यापक कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि कार्ययोजना के अनुरूप यह सुनिश्चित करें कि कोइ भी व्यक्ति टीकाकरण से वंचित न रहे। उन्होने बताया कि 20 मार्च को जिले के 102 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 का टीकाकरण। उन्होन ग्राम पंचायत के सचिव, सहायक सचिव, ग्राम कोटवार, आंगनबाडी कार्यकर्ता, आशा एवं एएनएम सहित स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमले को लक्षित व्यक्तियों के शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए जिम्मेदारियां सोंपी । कलेक्टर ने लक्षित समस्त हितग्राहियों से संबंधित टीकाकरण केन्द्रों पर पहुंचकर टीका लगवाने की अपील की है।  मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्यय अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि जिला स्तर पर जिला चिकित्सालय स्थित डीईआईसी भवन टीकाकरण केन्द्र पर सीहोर शहरी क्षेत्रों के हितग्राहियों का टीकाकरण किया जाएगा।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्यामपुर

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र श्यामपुर के 24 टीकाकरण केन्द्रों पर टीका लगाया जाएगा। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बमुलिया, पीएचसी अहमदपुर, सीएचसी श्यामपुर, सीएचसी बिलकिसगंज, सीएचसी दोराहा, उप स्वास्थ्य केन्द्र खण्डवा, खेरी, बरखेडा हसन, महाडिया, मुण्डलाकला, मुंगावली, बिजलोन, सिलखेडा, निपानियाकला, हथियाखेडा, पाटन, सांठी, डोबरा, बरखेड़ा खरेट, चरनाल, चांदबढ़ जागीर, गढीबगराज तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र लसुडिया परिहार में कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इछावर

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इछावर अंतर्गत 18 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 का टीका लगेगा। सीएचसी इछावर, पीएचसी भाउखेडी, पीएचसी रामनगर, पीएचसी दिवडिया, पीएचसी वीरपुरडैम, पीएचवी आबिदाबाद, पीएचसी अमलाहा, उप स्वास्थ्य केन्द्र खैरी, झालकी, बोरदीकलां, मोलगा, दौलतपुर, गोलुखेडी, लसुडिया गोयल, ढाबला राय, गाजीखेडी, पांगरा तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र ढाबलामाता में टीकाकरण किया जाएगा।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बुदनी

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बुधनी अंतर्गत 20 टीकाकरण केन्द्रों पर टीकाकरण होगा। सीएचसी बुदनी, सीएचसी रेहटी, पीएचसी बकतरा, पीएचसी बायां, पीएचसी मरदानपुर, पीएचसी शाहगंज के अलावा उप स्वास्थ्य केन्द्र बगवाडा, महुकला, मछवाई, सरदारनगर, मोगरा, डोबी, जहांजपुरा, जवाहरखेडा, जैत, नांदनेर, गादर तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र बरखेडी एवं मधुबन हास्पिटल बुदनी में कोविड-19 टीका लगाया जाएगा। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नसरूल्लागंज के अंतर्गत 20 टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा। सिविल अस्पताल नसरूल्लागंज, पीएचसी इटावा-इटारसी, पीएचसी बाईबोरी, पीएचसी चकल्दी, पीएचसी लाड़कुई के अलावा उप स्वास्थ्य केन्द्र मुहाई, सिंगपुर, सिलकंठ, चिंच, तिलाडिया, गिल्लौर, भिलाई, सोयत, सतराना, डीगवाढ़, छीपानेर, वसुदेव, नंदगांव तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र अमीरगंज में टीका लगाया जाएगा। सिविल अस्पताला आष्टा के अंतर्गत 19  टीकाकरण केन्द्रों पर कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा। सिविल अस्पताल आष्टा, सीएचसी जावर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोठरी, पीएचसी मैना, पीएचसी सिद्धिकगंज, उप स्वास्थ्य केन्द्र गवाखेडा, बोरखेडा, हकीमाबाद, खामखेडा बैजनाथ, सेवदा, पगारियाहाट, खजुरिया कासम, मुंगावली, भंवरा, नौगांव, खडी, कन्नौद मिर्जी तथा उप स्वास्थ्य केन्द्र बागेर में टीकाकरण किया जाएगा।


यात्रिगण यात्रा करते समय कोविड-19 के नियमों का पालन अवश्य करें- परिवहन मंत्री  


कोरोना (कोविड-19 ) के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह ने जिला क्राइसिस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक में कोराना से बचाव के लिए निर्देश जारी किये । उन्होन निर्देश दिये कि समस्त बस ड्राइवर एवं कंडेक्टर मास्क का प्रयोग करें। यात्रियों को थर्मल स्क्रीनिंग एवं मास्क होने पर ही बस में को बैठया जाये। यात्रियों के लिए पर्याप्त मात्रा में मॉस्क की व्यवस्था की जाना सुनिश्चित की जाये। श्री सिंह ने निर्देश दिये कि यात्रियों को जागरूक करने के लिए बसों में "सदैव मास्क का प्रयोग करें" तथा "सैनिटाइजर का उपयोग करें" आदि स्लोगन के स्टिकर को बसों में लगाया जाये। नियमों का पालन न होने पर नियमानुसार कार्यवाही सुनिश्चित की जाये।      


हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा (नियमित/स्वाधायी) वर्ष 2021 परीक्षा कार्यक्रम में आंशिक संशोधन


माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा संचालित हाईस्कूल एवं हायर सेकेण्डरी सर्टिफिकेट परीक्षा (नियमित/स्वाध्यायी) वर्ष 2021 के परीक्षा कार्यक्रम की तिथियों में आंशिक संशोधन किया गया है। नवीन संशोधित परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार अब हाईस्कूल परीक्षा 30 अप्रैल से 19 मई 2021 एवं हायर सेकेण्डरी परीक्षा एक मई से 21 मई, 2021 तक आयोजित की जायेगी। इसी प्रकार माध्यमिक शिक्षा मण्डल की वर्ष 2021 की हाईस्कूल/हायर सेकेण्डरी/हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक पाठयक्रम परीक्षा/शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षण एवं विद्यालय पूर्व शिक्षा में डिप्लोमा (डीपीएसई) के परीक्षा कार्यक्रम में भी संशोधन किया गया है। संशोधित परीक्षा कार्यक्रम अनुसार हाईस्कूल परीक्षा अब 30 अप्रैल से 19 मई 2021 तथा हायर सेकेण्डरी परीक्षा एक मई से 21 मई, 2021 तक संचालित की जाएगी। संशोधित परीक्षा कार्यक्रम मण्डल की वेबसाइट <www.mpbse.nic.in>  पर भी देखा जा सकता है।


धान मिलर्स को प्रोत्साहन राशि 100 रुपये करने पर विचार, मंत्री-मण्डलीय उप-समिति की बैठक सम्पन्न


खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में उपार्जित धान की मिलिंग/निस्तारण के लिये विभिन्न विकल्पों पर विचार के लिये बनाई गई मंत्री-मण्डलीय उप-समिति की बैठक मंत्रालय में सम्पन्न हुई। बैठक में समिति के सदस्यों में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहूलाल सिंह, वाणिज्यिक कर, वित्त, योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री श्री जगदीश देवड़ा तथा आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं राज्य मंत्री जल-संसाधन श्री रामकिशोर काँवरे उपस्थित थे। बैठक में मिलर्स को प्रोत्साहन राशि बढ़ाने के प्रस्ताव पर समिति ने प्रोत्साहन राशि 25 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये किये जाने पर विचार किया। विभाग द्वारा वर्तमान में प्रोत्साहन राशि 25 रुपये से बढ़ाकर 50 रुपये किये जाने के बाद भी मिलर्स द्वारा मिलिंग में कोई रुचि नहीं दिखाई थी। अतरू इस राशि को 50 से 100 रुपये किये जाने का प्रस्ताव रखा गया। प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम श्री अभिजीत अग्रवाल द्वारा प्रदेश में मिलिंग की विगत तीन वर्षों की धान उपार्जन, मिलिंग की तिथि एवं मिलिंग की अवधि सहित मिलिंग की शेष उपलब्धता पर डिजिटली विवरण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया। समिति के सदस्य एवं मंत्री श्री रामकिशोर काँवरे ने कहा कि केप गोदामों को कवर्ड गोदाम में बदला जाना चाहिये, जिससे मौसम से होने वाले नुकसान से उपज को बचाया जा सके। इसके साथ ही मुख्य सड़क से गोदाम तक सड़क के निर्माण किये जाने का प्रस्ताव भी उन्होंने समिति के समक्ष रखते हुए कहा कि इससे परिवहन में सहूलियत होगी। श्री अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश में 750 राइस मिल हैं, जिनमें 35 हजार मीट्रिक टन मिलिंग प्रतिदिन की जा सकती है। भारत सरकार द्वारा सौरटेक्स आधारित मिलिंग को प्राथमिकता दी जाती है। प्रदेश में अभी 15 से 20 प्रतिशत सौरटेक्स मिल्स ही उपलब्ध हैं। विगत तीन वर्षों में सबसे ज्यादा धान का उपार्जन वर्ष 2020-21 में 37 लाख 26 हजार मीट्रिक टन किया गया। वर्ष 2017-18 में सबसे कम उपार्जन 16 लाख 60 हजार मीट्रिक टन किया गया था। वर्ष 2018-19 में धान की मिलिंग 15 मई, 2019 तक पूर्ण कर ली गई थी। शेष वर्षों में धान की मात्रा शेष थी। बैठक में प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज़ अहमद किदवई एवं प्रबंध संचालक नागरिक आपूर्ति निगम श्री अभिजीत अग्रवाल भी उपस्थित थे।


सहकारिता मंत्री के निर्देश पर संविदा और आउटसोर्स कर्मचारियों की सेवा अवधि 6 माह बढ़ाई


सहकारिता मंत्री डॉ. अरविन्द भदौरिया के निर्देश पर जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों में सीबीएस कार्य के लिये संविदा, आउटसोर्स पर रखे गये कम्प्यूटर ऑपरेटर एवं एल-1 इंजीनियर की सेवा अवधि में वृद्धि कर दी गई है। संयुक्त आयुक्त ने निर्देश जारी किए हैं कि सीबीएस कार्य के लिये रखे गए जिन कर्मचारियों की सेवा अवधि 28 फरवरी को समाप्त हो चुकी थी उनकी सेवा अवधि को 20 जिलों के सहकारी केन्द्रीय बैंकों से प्राप्त परीक्षणोपरांत आगामी 6 माह के लिये बढ़ा दिया गया है।


विशेष अवसरों पर निकलने वाले चलसमारोह, जूलूस-जलसों पर प्रतिबंध का निर्णय

  • कोविड-19 का पालन करते हुए जारी रहेंगी आर्थिक गतिविधियां, सार्वजनिक स्थलों पर थूकने पर 250 रूपये जुर्माना

sehore news
कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए प्रभाव को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता की अध्यक्षता में जिला क्राइसेस मेनेजमेंट ग्रुप की बैठक आयोजित की गई । बैठक में कलेक्टर श्री गुप्ता ने केरल तथा पड़ोसी राज्य महाराष्ट्र में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण पर चिंता जाहिर करते हुए जिले में कोविड-19 की गाइडलाईन का सख्ती से पालन करने की बात कही। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने कहा कि आर्थिक गतिविधियां आवश्यक हैं। सभी आर्थिक गतिविधियां कोवडि-19 की गाइटलाईन का पालन करते हुए जारी रहेंगी ।


सभी तरह के जूलूस-जलसों पर प्रतिबंध

बैठक में सभी धार्मिक, सामाजिक तथा अन्य सभी तरह के जुलूस-जलसों पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है । सभी पर्व  मनाये जायेंगे लेकिन इस  दौरान चल समारोह नहीं निकलेंगे और न ही सार्वजनिक स्थानों पर लोग एकत्रित होंगे। 


मास्क नहीं लगाने वाले लोगों पर फाईन

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि मास्क नहीं लगाने वाले लोगों पर 50 रूपये का फाइन लगाया जायेगा । सख्ती के साथ पूरे जिले में फाईन की कार्यवाहीं किये जान का निर्णय लिया गया है।  कोविड की गाईडलाईन का पालन न करने वाले वाले दुकानदारों पर 250 रूपये फाईन लगाने का निर्णय लिया गया । बैंक एवं अन्य व्यावसायिक संस्थान अपने यहां पर आने वाले ग्राहकों के लिए निर्धारित दूरी के अंतर में गोले बनाने तथा मास्क लगवाना सुनिश्चित करेंगे। सार्वजनिक स्थानों में थूकने पर 250 रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा।           


विशेष अवसरों पर सामुहिक स्नान प्रतिबंधित    

जिले में विशेष धार्मिक अवसरों पर पवित्र नदियों में बड़ी संख्या में लोगों द्वारा स्नान किया जाता है। ऐसे सभी अवसरों पर होने वाले सामुहिक स्नान पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही आगामी भगोरिया पर्व नहीं मनाये जाने का निर्णय लिया गया है।

            

कोविड का टीका लगवाने की अपील

बैठक में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने उपस्थित सभी जिला क्राइसिस मेनेजमेंट ग्रुप के सदस्यों से अनुरोध किया है कि सभी सदस्य आम लोगों से कोविड टीकाकरण की अपील करें और उन्हें टीकाकरण केन्द्र लाने लेजाने में सहयोग करें।

            

बैठक में यह थे उपस्थिति

जिला क्राइससे मेनेजमेंट की बैठक में जनपद अध्यक्ष आष्टा श्री धारासिंह पटेल, जिला भाजपा प्रवक्ता श्री राजकुमार गुप्ता, पूर्व जिला भाजपा जिलाध्यक्ष श्री सीताराम यादव, नगर पुरोहित पं. प्रथ्वीवल्लभ दुबे सहित समिति के अनेक सदस्य संबंधित जिलाधिकारी उपस्थित थे।


आज 02 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 66


पिछले 24 घंटे के दौरान 02 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के चाणक्यपुरी तथा इन्द्रा कॉलोनी से 01-01  व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में एक्टिव/पॉजिटिव की संख्या 66 है। अब तक कुल रिकवर की संख्या 2804  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 257 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 50,  नसरूल्लागंज 50, आष्टा से 29, इछावर से 15, श्यामपुर से 78,  बुदनी से 35 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2918 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2804 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 66 है। आज 257 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 79487 हैं जिनमें से 75311 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 199 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1187 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज पॉजिटिव मिले नये कन्टेनमेंट झोन सहित समस्त कन्टेनमेंट एवं बफर जोन मे स्वास्थ्य दलों द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है वहीं पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्ये कन्टेनमेंट जोन मे सर्वे के लिए जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-07562 226470 है एवं 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती हैं। जिला स्तर पर मोबाइल नंबर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होन कारोन्टाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हल्पलाईन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम कारान्टाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकॉलोजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है।


कोविड-19 गाइडलाईन का पालन सुनिश्चित करें- कलेक्टर


तेजी से बढ़ रहे करुणा संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी संबंधित अधिकारियों को कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए है। संबंधित अधिकारियों द्वारा व्यवसायिक संस्थानों के सामने गोले बनवाने तथा मास्क लगाना सुनिश्चित किया जा रहा है।







live news, livenews, live samachar, livesamachar, 2good flipkart

कोई टिप्पणी नहीं: