विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 16 मार्च 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मार्च

जनसुनवाई कार्यक्रम में 127 आवेदन प्राप्त हुए, मौके पर 65 आवेदनों का निराकरण 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा आज आहूत की गई जनसुनवाई कार्यक्रम में 127 आवेदको ने आवेदन प्रस्तुत कर अपनी व्यक्तिगत तथा सार्वजनिक समस्याओं की ओर ध्यान आकर्षित कराया है।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा मौके पर 65 आवेदनो का निराकरण किया गया है शेष लंबित आवेदनों पर समय सीमा में कार्यवाही करने के निर्देश उनके द्वारा संबंधित विभागो को दिए गए है। कलेक्टर डॉ जैन ने विभागो के अधिकारियों को निराकरण की समुचित जानकारी उत्तरा पोर्टल पर दर्ज कराने हेतु निर्देशित किया है। 

आवेदक बैठे रहे, कलेक्टर खडे़ होकर सुनते रहे

जनसुनवाई कार्यक्रम मेंं कलेक्टर डॉ पंकज जैन सीधे आवेदकों के बैठक स्थलो पर पहुंचकर उनसे आवेदन प्राप्त कर निराकरण हेतु संबंधित विभाग के अधिकारी को निर्देशित करते हुए मार्क करने लगे, पूरी प्रक्रिया के दोरान आवेदकगण अपनी-अपनी चेयर पर बैठे रहें। कलेक्टर डॉ जैन के साथ जिला पंचायत सीईओ, एसडीएम, श्री गोपाल सिंह वर्मा, डिप्टी कलेक्टर व नोडल अधिकारी श्रीमती अमृता सहित अन्य विभागो के अधिकारी उपस्थित रहें। कलेक्टर डॉ जैन ने अनेक आवेदको को आवेदन प्राप्ति के उपरांत निराकरण की वस्तुस्थिति की जानकारी मौखिक दी है। आज प्राप्त अधिकांश आवेदन श्रम विभाग से संबंधित थे जिसमें संबंल योजना का लाभ दिलाए जाने, आवास दिलाए जाने के अलावा ऊर्जा विभाग के विद्युत बिल की देयक राशि कम करने, डीपी बदलने तथा कब्जा भूमि का पट्टा दिलाने, भरण पोषण तहत कार्यवाही करने के प्राप्त हुए है इसके अलावा अतिक्रमण हटाने से संबंधित शिकायतो के अलावा, सीमांकन कराने, मुआवजा की राशि दिलाने तथा स्वरोजगार योजनाओं से लाभांवित कराने के आवेदन प्राप्त हुए है। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में आयोजित की गई जनसुनवाई कार्यक्रम में विभिन्न विभागो के जिलाधिकारी मौजूद थे।


अनुपयोगी प्लास्टिक को उपयोगी कैसे करें मॉडल बनाकर प्रदर्शित किया, कलेक्टर ने विद्यार्थियों का हौंसला अफजाई किया 


vidisha news
अनुपयोगी प्लास्टिक का पुनः उपयोग कैसे करें के क्षेत्र में स्कूली विद्यार्थियों को विशेष प्रेरणादायी नवाचार सीख देने के लिए अमेरिकन इंडियन फाउंडेशन के द्वारा सपोर्ट माई स्कूल, मिशन रिसायकिंल के तहत जिले के छह विकासखण्डो के 860 शासकीय स्कूलो के विद्यार्थियों को प्रशिक्षित किया जा रहा है। इन स्कूलों के विद्यार्थियों द्वारा तैयार किए गए विभिन्न मॉडलो का प्रदर्शन आज विदिशा जिला मुख्यालय पर किया गया है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने स्कूली विद्यार्थियों के द्वारा बेकार अनुपयोगी प्लास्टिक का पुनर्चक्रण और पुनः उपयोग कैसे करें का संकेत विभिन्न प्रकार के माडलो से प्रदर्शित किया है। उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि उनके द्वारा इस उम्र में तैयार किए गए मॉडल प्रेरणादायी है। कलेक्टर डॉ जैन ने बच्चो से अपेक्षा व्यक्त करते हुए कहा कि जो मॉडल बनाया गया है उसके कार्य प्रणाली का आधारित सिद्धांत भी प्रदर्शित करें ताकि आमजन सुगमता से मॉडल की उपयोगिता से अवगत हो सकें। उन्होंने अपना फीडबैंक देते हुए सुधार कार्यो की ओर रेखांकित करते हुए शिक्षकों से अपेक्षा व्यक्त की कि जो कमियां उन्हें दूर करने में मदद करें। कलेक्टर द्वारा प्रत्येक मॉडल आधारित सिद्धांत, प्रस्तुति और बाजार में आमजनों के उपयोग की सार्थकता का रेखांकन अनिवार्यतः किया जाए। जालोरी गार्डन में सम्पन्न हुए उक्त मॉडल प्रदर्शन में जिले के 150 विद्यार्थियों द्वारा सहभागिता निभाई गई है। उत्कृष्ट प्र्रदर्शन मॉडल  बनाने वाले छात्रो  को पुरस्कृत  किया गया। जिसमें प्रथम पुरस्कार सिरोंज टीम को तथा स्पेशल पुरस्कार कुरवाई  टीम को प्रदान किया गया हैं। अमेरिकन इंडियन फाउण्डेशन के कार्यो को अंजाम देने वाली एनजीओ के पदाधिकारियों द्वारा आयोजन के उद्धेश्यों पर गहन प्रकाश डाला है। इस अवसर पर जनप्रतिनिधियों के अलावा शैक्षणिक संस्थाओं के गुरूजन व विद्यार्थी तथा आगंतुक दर्शक मौजूद रहें।


सार्थक उपस्थिति एप संचालन प्रक्रिया से प्रशिक्षित हुए  


vidisha news
सार्थक उपस्थिति एप के माध्यम से कब जिले में पदस्थ अधिकारी, कर्मचारी अपनी उपस्थिति दर्ज करेंगे ताकि एप के माध्यम से कभी भी कहीं भी क्रास मानिटरिंग की जा सकें। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा सोमवार को टीएल बैठक में दिए गए निर्देशो के अनुपालन में सार्थक उपस्थिति एप के संचालन प्रक्रिया से मंगलवार को विभिन्न विभागो के जिलाधिकारियों के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित किया गया था।  मास्टर ट्रेनर्स श्री अमित अग्रवाल के द्वारा जिला पंचायत के सभागार कक्ष में पावर प्रेजेन्टेशन के माध्यम से जनसुनवाई कार्यक्रम के पूर्व, विभिन्न विभागो के अधिकारियों को सार्थक अटेण्डन्ेस सिस्टम  की कार्य प्रणाली एवं दर्ज करने की प्रक्रिया जिसमें डेस्क बोर्ड डिपार्टमेंटवार रिपोर्ट प्राप्त करना, उपस्थिति, अनुपस्थित की रिपोर्ट, लॉगिग पेज के अलावा सभी जिलाधिकारी को पासवर्ड आईडी प्रदाय करने की प्रक्रिया से अवगत कराया है।  गौरतलब हो कि जिले में पदस्थ सभी अधिकारी, कर्मचारियों को सार्थक उपस्थिति एप में कार्यालय में मौजूद रहकर अपनी हाजिरी अंकित करनी होगी। मानिटरिंग के लिए जिले में एक नोडल अधिकारी (एडमिन) को नामित कर मेपआईटी को एक मेल प्रेषित किया जाएगा जिसमें नोडल अधिकारी का नाम, पदनाम, मोबाइल नम्बर और ईमेल आईडी की जानकारी होगी। मेप आईटी जिले के नोडल अधिकारी को जिन बिन्दुओं पर प्रशिक्षित की है उनमें सार्थक एप्लीकेशन (बेव और मोबाइल एप्लीकेशन) की विशेषताएं, संबंधित विभाग अथवा जिले के अधिकारी को सार्थक में रजिस्टर्ड करना, मेपआईटी द्वारा संबंधित विभाग के अधिकारियों को आज प्रशिक्षित किया गया है। डेस्टबोर्ड के माध्यम से जिलाधिकारियों द्वारा उपस्थिति रिपोर्ट की नियमित निगरानी की जाएगी। जिला पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुए उक्त प्रशिक्षण में जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर, एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार समेत विभिन्न विभागो के जिलाधिकारी मौजूद थे।


जिला रोजगार अधिकारी निलंबित


सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतो को गंभीरता से निराकरण नही कराने, मुख्यालय पर निवास नही करने तथा बैठको में अनुपस्थित रहने पर जिले के रोजगार अधिकारी के खिलाफ कार्यवाही करने का प्र्रस्ताव कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा भोपाल संभागायुक्त को प्रेषित किया गया था। भोपाल संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने विदिशा कलेक्टर के प्राप्त प्रस्ताव पर त्वरित कार्यवाही करते हुए विदिशा जिले में पदस्थ व रायसेन जिले का अतिरिक्त प्रभारी जिला रोजगार अधिकारी श्री एवी खॉन को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया है। निलंबन अवधि में श्री खॉन का मुख्यालय कलेक्टर कार्यालय विदिशा नियत किया गया है। उन्हें उक्त अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता प्राप्त करने की पात्रता होगी। 


छात्रवृत्ति पोर्टल 31 मार्च तक खुला रहेगा 


अनुसूचित जनजाति वर्ग के विद्यार्थी जो वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 में प्रथम, द्वितीय वर्ष में अध्ययनरत है। उन्हें पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति किनही कारणो से एमपीटॉस पोर्टल पर एप्लाई नही कर पाए थे। ऐसे सभी विद्यार्थियो के लिए पोर्टल पुनः 19 मार्च से 31 मार्च तक खोला गया है।  जनजातीय कार्य विभाग के जिला संयोजक श्री नरेन्द्र अवस्थी ने बताया कि पूर्व उल्लेखित वर्ष के विद्यार्थी को आवेदन भरने में यदि कोई तकनीकी समस्या आती है तो विभाग की हेल्पडेस्क या ई मेल आईडी helpdesk.tribal@mo.gov.in पर अवगत कराना अनिवार्य होगा। उक्त तिथि पश्चात् एमपीटॉस पोर्टल पर विगत शैक्षणिक सत्र के लिए कोई भी आवेदन एप्लाई नही कर सकेंगे। अतः जिले के आदिवासी, छात्र-छात्राएं एवं संस्थाओं के आवेदन निर्धारित दिनांक 19 मार्च से 31 मार्च तक पोर्टल पर दर्ज कराना सुनिश्चित करें।


live news, livenews, live samachar, livesamachar

कोई टिप्पणी नहीं: