सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 29 अप्रैल 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल

कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ाई गई, अब 08 मई की सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा कोरोना कर्फ्यू


कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत समस्त सीहोर जिले में कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ाई गई है। समस्त जिले में 08 मई 2021 को सुबह 06  बजे तक किया गया है। जो कि पूर्व में 30 अप्रैल 2021 निर्धारित थी।  कोरोना कर्फ्यू के दौरान किरान दुकान खोलने संबंधी छूट 01 मई एवं 05 मई को प्रात: 09 बजे से 11 बजे तक रहेगी। इसके साथ ही 01 मई एवं 05 मई को प्रात:09 बजे से 11 बजे तक फसलों में डालने वाली कीटनाशक दवाईयां एवं आटा चक्की की दुकानें खोली जाएगी। अत्यावश्यक सेवाओं में छूट एवं प्रतिबंध पूर्व में जारी आदेश के अनुसार ही प्रभावशील रहेंगे।


जिले में राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा कराया जा रहा है कोरोना कर्फ्यू का पालन


sehore news
कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश पर राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा जिले में कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा लोगों को समझाइश दी जा रही है कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग रखना एवं हाथों को बार-बार साबुन से धोना चाहिए। बिना किसी अतिआवश्यक कार्य के घर से बाहर नहीं निकलें। बहुत आवश्यक कार्य हो तो ही बाहर निकलें। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर प्रशासनिक अमले द्वारा चालानी कार्यवाही की जा रही है।



संभाग आयुक्त श्री कियावत ने किया नसरुल्लागंज में कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण, ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए जा रहे क्वारेंटाइन सेंटरों की ली जानकारी


sehore news
भोपाल संभाग आयुक्त श्री कविन्द्र कियावत ने गत रात्रि नसरुल्लागंज शासकीय छात्रावास स्थित कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के उपरान्त बैठक आयोजित कर क्षेत्र में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लये की जा रही गतिविधियों की समीक्षा की। साथ ही उन्होंने ग्राम  पंचायतों में बनाये जा रहे कोरेन्टाइन सेंटरों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कोविड केयर सेंटर एवं कोरेंटाइन सेंटर कोविड मरीजों के स्वास्थ्य का द़ष्टिगत रखते हुए सकारात्मक वातावरण बनाने के लिये कहा ताकि भर्ती मरीज शीघ्र स्वथ्य हो सकें। उन्होंने कहा कि को योग और प्रणायम कराया जाये इससे रिकवर होने में मदद होगी। श्री कियावत ने डोर टू डोर सर्वे के संबंध में कहा कि इसकी नियमित मानीटरिंग की जाये। कोविड सेंटर एवं कोरेंटाइन सेंटर्स में सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। बैठक में एसडीएम श्री डीएस तोमर सहित सभी संबधित अधिकारी उपस्थित थे।


कलेक्टर ने की सभी नागरिकों से घरों में रहने की अपील, शासकीय सेवक ड्यूटी के दौरान परस्पर एक दूसरे का करें उत्साहवर्धन


sehore news
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने कोरोना कर्फ्यू में दिए जा रहे सहयोग के लिए सभी नागरिकों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन ब्रेक करने के लिये वर्तमान कर्फ्यू को 8 मई की सुबह 06 बजे तक के लिये आगे बढ़ाया गया है। श्री गुप्ता ने इस अवधि में पूर्व की भांति नागरिकों से सहयोग की अपील की है। कलेक्टर श्री गुप्ता ने सभी जिलेवासियों से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए घरों में रहने की अपील की है। उन्होंने कहा कि अतिआवश्यक कार्य होने पर ही घरों से बाहर निकलें तथा कोरोना कर्फ्यू में छूट की अवधि में दुकान से सामग्री क्रय करते समय मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिग का पालन अवश्य करें।


ड्यूटी के दौरान परस्पर एक दूसरे का उत्साहवर्धन करें

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने कोविड के विरूद्ध लड़ाई में दिन-रात काम कर रहे सभी शासकीय सेवकों के कार्य की सराहना की है। उन्होंने कहा कि बीते दिनों में सभी ने कोविड ड्यूटी में अपने दायित्व का निर्वहन पूरी निष्ठा और लगन से किया है। श्री गुप्ता ने कोविड ड्यूटी में लगे सभी विभागों के अधिकारी-कर्मचारियों से ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमण से स्वयं का भी बचाव करने का अग्रह किया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, पुलिस तथा कोविड कार्य में सेवा दे रहे वालेंटियर, समाजसेवियों तथा मीडिया प्रतिनिधियों सहित उन सभी लोगों का स्वस्थ रहना जरूरी है जो कोविड के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे है। उन्होंने कोविड के विरूद्ध लड़ाई में लगे सभी से कोविड गाइड का पालन करने की अपील की है। साथ ही ड्यूटी के दौरान सभी से परस्पर एक दूसरे का उत्साह वर्धन करने के लिए कहा।


बेटी के जन्मदिवस पर स्वास्थ्य विभाग को प्रदान किए 2 आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर, शीघ्र ही 3 और ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर प्रदान करने का वादा किया


sehore news
संजय मेडिकल सीहोर के संचालक श्री मुकेश मालवीय द्वारा अपनी पुत्री आन्या के जन्मदिवस पर 29 अप्रैल को सीएमएचओ कार्यालय पहुंचकर 02 आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया को भेंट किए। उनके द्वारा  03 और आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर विभाग को एक-दो दिन में दिए जाएंगे। इस अवसर पर उनकी पत्नी श्रीमती मुक्ति मालवीय और पुत्र उपस्थित थे। यह आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर उन कोविड-19 से पीड़ित मरीजों के लिए उपयोग किए जाएंगे जिन्हें आक्सीजन की सख्त जरूरत है। 5-5 लीटर क्षमता वाले उक्त आक्सीजन कंसेन्ट्रेटर से एक साथ 02 इस प्रकार कुल 04 पेसेंट को ऑक्सीजन की पूर्ति की जा सकेगी। श्री मुकेश मालवीय ने 03 और ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर प्रदान किए जाने का वादा किया है इसके आर्डर उन्होंने कंपनी को दिए है जो एक-दो दिन में उपलब्ध हो जाएंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने श्री मुकेश मालवीय को कोविड-19 की इस आपदा में स्वास्थ्य  सेवा के लिए विभाग की ओर से धन्यवाद दिया।


कोरोना से मृत्यु पर मंडी कर्मचारियों के परिजनों को मिलेंगे 25 लाख रूपए-मंत्री श्री पटेल

  • मंडी के 31 कर्मचारियों के परिजनों को मिलेगी सहायता राशि इलाज के लिये मिलेगी अग्रिम राशि

किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने बताया है कि कोरोना संक्रमण काल में मंडी बोर्ड के 31 कर्मचारी अपने कर्त्तव्यों को पूर्ण करते हुए महामारी के काल के गाल में समा गये। उन्होंने मृतक कर्मचारियों को श्रद्धासुमन अर्पित किये हैं। उन्होंने कहा कि मृतकों के परिजनों को 25-25 लाख रूपये की सहायता दी जायेगी, साथ ही मंडी बोर्ड एवं समितियों के कर्मचारियों के परिजनों को इलाज के लिये अग्रिम राशि भी दिये जाने के निर्देश दिये गये हैं। श्री पटेल ने कहा कि समस्त मृतक कर्मचारियों के परिजनों को 25-25 लाख रूपये की सहायता राशि मंडी बोर्ड की ओर से प्रदान की जायेगी। सहायता राशि प्रदान करने में किसी प्रकार का पक्षपात नहीं किया जायेगा। चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी के परिजनों को भी 25 लाख रूपये की राशि प्रदान की जायेगी। श्री पटेल ने कहा कि मंडी बोर्ड और समिति सदस्यों ने अपनी जान को जोखिम में डालकर उपार्जन का कार्य किया है। उन्होंने बताया कि मृतक कर्मचारियों के परिजनों को सहायता राशि उपलब्ध कराने के निर्देश एम.डी. मंडी बोर्ड सुश्री प्रियंका दास को दिये गये हैं।


कोविड -19 संक्रमित होम आईसोलेटेड रोगियों हेतु संशोधित मेडिसिन किट की उपलब्धता


राज्य शासन के निर्देशानुसार होम आइशोलेशन में इलाज करा रहे लोगो को घरों में ही इलाज के लिए मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जा रही है। जिसमे अलग अलग प्रकार की दवाइया रखी गई है। स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने प्रदेश के सभी कलेक्टर , समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ,समस्त सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि होम आईसोलेशन में स्थित कोविड रोगियों के घर पर ही कोविड -19 के स्व - प्रबंधन के लिए आवश्यक औषधि किट उपलब्ध कराई जाए। मुख्य नगर पालिका अधिकारी, नगर पालिका परिषद, नगर परिषद तथा पंचयात एवं ग्रामीण विकास विभाग के नामांकित अधिकारियों को होम आईसोलेटेड रोगियों के घर पर वितरण हेतु होम आईसोलेशन किट के लिए आवश्यक औषधियाँ निम्नानुसार उपलब्ध कराई जाए।। टैब अज़िथ्रोमायिन 500 10D x 5 दिन,  5 टैब्स- टैब मल्टीविटामिन I OD x 10 दिन, 1 स्ट्रिप 1x10 टैब्स,   टैब Cetrizine 10 मिलीग्राम x 10 (SoS उपयोग के लिए)।  1 स्ट्रिप 1x10 टैब्स  I टैब पेरासिटामोल 500 मिलीग्राम x 10 (एसओएस उपयोग के लिए)।  1x10 टैब्स का 1 स्ट्रिप, रैनिटिडिन 150 मिलीग्राम 1 ओडी x 10 दिन   1x10 टैब्स का 1 स्ट्रिप, टैब जिंक 20 मिलीग्राम 1 ओडी  x10 दिन,  1x10 टैब्स का 1 स्ट्रिप, टैब विट  C 1000 mg 1 OD x 10 दिन।  1 x 1 टैब्स का स्ट्रिप। उपरोक्त अनुसार औषधियों को किट में परिवर्तित करने की व्यवस्था नगरीय क्षेत्रों के रोगियों हेतु नगरीय विकास एवं आवास विभाग तथा ग्रामीण क्षेत्रीय रोगियों के लिए पंचयात एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा सुनिश्चित किया जाए है।


जीवन अमृत योजना : आयुष पद्धति अपनाकर बढ़ाएँ रोग-प्रतिरोधक क्षमता


आयुष पद्धति अपनाकर कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा सकती है। इसके लिये आयुष विभाग द्वारा लोगों को जागरूक किया जा रहा है। साथ ही जीवन अमृत योजना के तहत काढ़े का वितरण किया जा रहा है। रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिये आयुर्वेदिक चिकित्सा अनुसार एक चुटकी, हल्दी और नमक के साथ गर्म पानी से गरारे किये जाने चाहिये। प्रतिमर्स नस्य- नाक के प्रत्येक नथुने में प्रतिदिन सुबह अणु, तिल तेल की 2-2 बूँद डाली जा सकती है। अश्वगंधा चूर्ण के एक से तीन ग्राम चूर्ण को लगातार 15 दिन तक गर्म पानी के साथ लिया जा सकता है। सशंमनी वटी/गुड़ुची/गिलोय घनवटी 500 मिली ग्राम दिन में दो बार ले सकते हैं। त्रिकटु पाउडर एक ग्राम, तुलसी 3 से 5 पत्तियाँ एक गिलास पानी में उबालकर पीने से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। तुलसी की पत्तियाँ, दालचीनी, शुण्डी और कालीमिर्च का काढ़ा भी उपयोगी है।


कोविड -19 पुष्ट रोगियों के रिकवरी उपरान्त कोविड टीकाकरण


स्वास्थ्य आयुक्त सह सचिव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, श्री आकाश त्रिपाठी ने प्रदेश के समस्त कलेक्टर, समस्त अधिष्ठाता, शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय, समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, समस्त सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि राज्य स्तरीय संज्ञान में आया है कि कोविड -19 के उत्तरजीवियों एवं जिलो के स्वास्थ्य अमलों के मन में यह संशय है कि कोविड -19 पुष्ट रोगियों के रिकवरी उपरान्त कोविड टीकाकरण कब कराया जाना उचित है। यह साक्ष्य आधारित है कि कोविड -19 संक्रमण के इतिहास वाले रोगियों को भी रोग प्रतिरोधक क्षमता के पर्याप्त विकास हेतु कोविड टीकाकरण की आवश्यकता है। वर्तमान में कोविड संक्रमण के उपरान्त रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकास की जानकारी एवं सुरक्षा अवधि प्रमाणित नहीं है , कोविङ -19 पुष्ट रोगियों का लक्षण समाप्ति,  रिकवरी के 4-8 सप्ताह के उपरान्त कोविड टीकाकरण सुनिश्चित किया जा सकता है । अद्यतन परिस्थिति में , कोविड संदिग्ध (Suspect ) अथवा कोविड संक्रमण की पुष्टि होने पर ( COVID Confirmed ) संक्रमित व्यक्ति का टीकाकरण स्थगित किया जाये।


नगरों में जल्द स्थापित करें विद्युत/गैस शवदाह गृह- मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह


नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री भूपेन्द्र सिंह ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि नगर की जनसंख्या के अनुरूप नगर में विद्युत/गैस शवदाह गृह बनाने की कार्यवाही तत्काल प्रारंभ करें। पाँच लाख और उससे अधिक जनसंख्या के शहरों में आवश्यकानुसार एक से अधिक शवदाह गृह बनाये जा सकते है। एक लाख से 5 लाख तक की आबादी के शहरों में कम से कम एक विद्युत/गैस शवदाह गृह बनाने का लक्ष्य रखा जाये। श्री सिंह ने कहा है कि किसी नगर में स्थापित विद्युत/गैस आधारित शवदाह गृह कार्यशील नहीं है, तो अतिशीघ्र उसे क्रियाशील करवायें। प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास श्री नीतेश व्यास ने कहा है कि विद्युत/गैस शवदाह गृह पर्यावरण, स्वच्छाता तथा वायु प्रदूषण कम करने की दृष्टि से उपयोगी कदम है। इन शवदाह गृहों को स्थापित करने के लिए निकाय स्वयं की निधि, 15वें वित्त आयोग की वायु प्रदूषण/स्वच्छता हेतु प्रावधानित राशि और विधायक/सांसद निधि का उपयोग कर सकते हैं। इस कार्य के लिए कई सामाजिक संस्थाएँ भी सहायता के लिए तत्पर रहती है। इन संस्थाओं के माध्यम से भी विद्युत/गैस शवदाह गृह स्थापित करने के लिए जन सहयोग प्राप्त करने का प्रयास किया जाए।


शहरी पथ व्यवसायियों के खाते में डाले जायेंगे एक-एक हजार रुपये


कोविड-19 के परिपेक्ष्य में राहत के उद्देश्य से मध्यप्रदेश शासन ने प्रत्येक शहरी पथ व्यवसायियों के खातें में रुपये एक हजार की राशि अंतरित किए जाने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शहरी पथ व्यवसायियों से 30 अप्रैल को अपरान्ह 3 बजे संवाद करेंगे। जिला मुख्यालय पर अधिकतम पांच शहरी पथ व्यवसायियों को मुख्यमंत्री के संबोधन सुनने के लिए एनआईसी केन्द्र में उपस्थित रहेंगे।


बीते 24 घंटे 241 व्यक्ति स्वस्थ हुए जिले में 198 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले

  • वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 1088, 2 संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु, कुल मृत्यु संख्या 86

पिछले 24 घंटे के दौरान 198 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। इनमें सीहोर शहरी क्षेत्र के 39 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। जो पंचवटी कॉलोनी, गंज, इंग्लिशपुरा, कोतवाली चौराहा, रेलवे कॉलोनी, नीजामत रोड़, दोहर मोहल्ला, चाण्क्यपुरी, गल्ला मंडी, कस्बा, कोर्ट कैम्पस, पुलिस लाईन, शारदा स्कूल, नेहरु कॉलोनी, भोपाल नाका, देवनगर कॉलोनी, गंज बजरिया, भोपाल फाटक, स्वदेश नगर, गंगा आश्रम, हाउसिंग बोर्ड, शीतल विहार, ब्रहमपुरी, पुराना कलेक्ट्रेट रोड़, पॉवर हाउस चौराहा, मंडी के निवासी हैं इसी प्रकार नसरुल्लागंज क्षेत्र से 15 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो चकल्दी, लाड़कुई, सिंहपुर, नसरुल्लागंज वार्ड नंबर 14, 16, निपानिया, सीएच नसरुल्लागंज, रुजनखेड़ी, नीलकंठ, मंडी, नसरुल्लागंज मामा कॉलोनी के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अन्तर्गत 21 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है जो सेवनिया, कालापीपल, इछावर के वार्ड नंबर 08, 02, 13, 07, 01, 02, 06, 03, नयापुरा, गुराड़ी, भाउंखेड़ी, पालखेड़ी, सीएचसी इछावर, आमलानवाबाद, दुदलई, रामपुरा, नीनीखेड़ी, पांगराकाठी, जामली, हर्राजखेड़ा, नीलबड़ के निवासी हैं। श्यामपुर अन्तर्गत 15 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं जो रायपुरा, चरनाल, श्यामपुर, बिलकिसगंज, भंडेली, पाडलिया, अहमदुपर, खजूरिया, दोराहा, श्यामपुर, धर्वेगांव, बिलहारी, झरखेड़ा, बिछिया के निवासी हैं। बुदनी क्षेत्र से 22 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो सीएचसी कैम्पस, रेहटी, रतनपुर, कोसमी, नेहलाई, भड़कुल, बुदनी के वार्ड नंबर 03, 04,, बोरदी, तालपुरा, माता मंटिटीसी बुदनी, शाहगंज के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 86 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो सिकंदरनगर, रामपुरा, मंडली, लोरास खुर्द, खाचरोद, अलीपुर, अरनियाराम, डोडी, नजरगंज, पटारिया गोयल, पुष्प कल्याण क्षेत्र, सीएचसी आष्टा, सेमनरी रोड़, जैन मंदिर रोड़, जावर, मैना, मानस भवन रोड़, काजीखेड़ा, बुधवारा, अलीपुर, मुंडला, सिद्धिकगंज, बमूलिया खिंची, इदगाह कॉलोनी, कुरावर, साईं कॉलोनी, शोभाखेड़ी, आष्टा गंज, पार्वती थाना रोड़, श्रीराम कॉलोनी, गंगापुरा, जावर, बैरागढ़ खुमान, ग्वाला, ग्वाली, तिलवाड़ा, बमूलिया भाटी, रॉयल कॉलोनी, आईटीआई आष्टा, कॉलोनी चौराहा, अरडिया, मैना, विवेकानंद कॉलोनी, जताखेड़ा, सेकड़ाखेड़ा के निवासी हैं।  पिछले 24 घंटे के दौरान 02 कोरोना पॉजिटिव की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। जिला चिकित्सालय स्थित डेडिकेटेट कोविड हेल्थ सेंटर (डीसीएचसी) से 2 कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु हो गई। मृतकों में दोनो पुरुष हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में एक्टिव पॉजिटिव 1088 हैं। आज 241 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 5215 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 86 है । आज 809 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 122, श्यामपुर से 132, विकासखंड नसरुल्लागंज से 147, आष्टा से 144 एवं बुदनी विकासखंड से 170 तथा इछावर से 94 सेंपल लिये गए हैं। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 6389 है जिसमें से 86 की मृत्यु हो चुकी है। 5215 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 1088 है। आज 809 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 102088 हैं जिनमें से 94814 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 939 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 814 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।     


कोरोना की दवाइयों एवं कोरोना पीड़ितों के नाम पर ऑनलाईन वित्तीय ठगी से बचाव के लिए राज्‍य सायबर पुलिस ने जारी की एडवाइजरी


अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक राज्‍य सायबर श्री योगेश चौधरी ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि वर्तमान कोरोना महामारी का फायदा उठाते हुये सायबर अपराधी विभिन्न सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों से कोरोना की दवाईयों व कोरोना पीडितों के नाम पर ऑनलाईन वित्तीय ठगी कर धोखाधड़ी को अंजाम दे रहे हैं। अपराधी अपने मोबाईल नम्बर को विभिन्न प्रचार माध्यम, सोशल मीडिया तथा सर्च परिणाम के द्वारा प्रचारित करते है तथा कोरोना के इलाज में युक्त दवाईयाँ, इंजेक्शन की आपातकालीन प्रदाय करने वाली संस्था होने का दावा करते है। उस नम्बर पर बात करने पर सामग्री प्रदाय हेतु राशि एडवांस में किसी एकाउंट में डलवाकर, सामग्री न प्रदाय कर पीड़ित व्यक्ति के साथ ठगी की जाती है। अपराधी किसी कोरोना पीडित व्यक्ति की तस्वीर व्हाट्सएप ग्रुपों में डालकर यह बताते हैं कि यह उनके मां-पिता या भाई-बहन हैं, इनके उपचार के लिये उनके पास पैसा नहीं है और खाते की जानकारी देकर पैसा मांगते हैं। ऐसा देखने में आया है कि कई लोग सेवाभाव में ऐसे अकाउंट में पैसा डाल देते हैं, जबकि ऐसा कोई व्यक्ति कहीं किसी अस्पताल में भर्ती होता ही नहीं है। वे सोशल मीडिया के माध्‍यम से लोगों को बताते है कि उनके पास आक्सीजन कंसन्ट्रेटर व आक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है और वे शीध्र डिलीवरी आप तक पहुंचाने की जवाबदारी लेकर आपसे किसी अन्‍य अकॉउट में पैसे डलवा लेते हैं तथा संपर्क से बाहर हो जाते है। ऐसे कई माध्यमों से लोगों के साथ आर्थिक धोखाधड़ी के अपराध बढ़ रहे हैं। श्री चौधरी ने कहा कि इन प्रकार की धोखाधड़ी से बचने के लिए कुछ साव‍धानी बरतें। उन्‍होंने कहा कि जब तक की आपको पुष्टी न हो जाये कभी भी किसी अन्जान व्यक्ति के अकॉउंट में पैसे ट्रासफर न करें। न ही ऐसे किसी व्यक्ति द्वारा भेजी गयी किसी लिंक पर क्लिक करें। सोशल मीडिया अथवा अन्य संचार माध्यमों से ऑक्‍सीजन, लॉजिस्टिक दवाइयाँ तथा इजेक्शन के लिये सर्च करने पर दिखाई देने वाले किसी भी नम्बर पर विश्वास न करें एवं राशि जमा करने के पूर्व उस संस्था तथा दावे का सत्यापन कर लेना उचित है।  किसी भी प्रकार की दवाइयां / इंजेक्शन, कंसन्ट्रेटर, आक्सीजन आदि ऑनलाइन मंगाने के लिये उनकी कंपनी के नाम वाले अकॉउंट में ही पैसा डालें, किसी भी व्‍यक्ति के पर्सनल खाते में नहीं। हो सके तो कैश ऑन डिलीवरी ऑप्शन ही चुनें। पहले पुष्टि कर लें कि ऐसा कोई व्यक्ति किसी अस्पताल में वाकई एडमिट है या नहीं। ऐसा करने के लिये आप उस अस्पताल की वेबसाइट पर जाकर उस पर दिये नम्बरों पर बात करके जानकारी ले सकते हैं। यदि आपके साथ ऐसा कोई अपराध हो तो उसकी शिकायत अपने नजदीकी पुलिस थाने में या www.cybercrime.gov.in या Toll Free नम्बर 15526 पर करें।  (https://www.updatempcg.com/)


हल्का सर्दी-जुकाम होने पर घबराएं नहीं, कोरोना गाइड से समझिए कब मरीज को घर पर रहना है और किन स्थितियों में अस्पताल जाना जरूरी


अगर हल्के लक्षण हों तो घर पर ऐसे आसोलेशन में रहें, बुखार ज्यादा तेज न हो, हल्के लक्षण हों। फिजिकल डिस्टेंसिंग रखें, घर में मास्क पहनकर रखें, हाथों को साफ करते रहें। सेंप्टोमेटिक मेनेजमेंट पर ध्यान दें। आवश्यक दवाएं जैसे बुखार के लिए, मल्टीविटामिन लें, हाइड्रेट होते रहें। अपने फिजिशियन के सम्पर्क में रहें। शरीर का तापमान-ऑक्सीजन चेक करते रहें। अगर पांच दिन से अधिक समय तक सांस लेने में परेशानी हो रही हो, तेज बुखार हो, सीवियर कफ हो तो तत्काल डाक्टर को दिखाएं।


ऑक्सीजन 93 के नीचे हो, तब ही अस्पताल में जाना जरूरी

जब प्रति मिनट सांस लेने की रफ्तार 24 और ऑक्सीजन का स्तर 90-93 हो। ऑक्सीजन सपोर्ट दिया जाए। चेस्ट टेस्ट करवाएं। नॉन रिब्रिदिंग फेस मास्क का इस्तेमाल हो। वक्त-वक्त पर ऑक्सीजन थेरेपी दी जाए। जरूरत पड़ने पर लंग्स का एचआरसीटी और अन्य टेस्ट करवाएं। अस्पताल में भर्ती मरीज की हालत गंभीर है, तो उसे रेमडेसिविर दी जाए। घर पर आइसोलेट या अस्पताल में बिना ऑक्सीजन बैड के भर्ती मरीजों को रेमडेसिविर न दी जाए।


"आईसीयू तब ही जरूरी, जब ऑक्सीजन 90 के नीचे हो"

सांस लेने की दर प्रति मिनट 30 से अधिक हो। ऑक्सीजन लेवक 90 से कम हो जाए। 60 वर्ष से अधिक के लोग, तनाव, कार्डियोवस्कुलर डिजीज, डायबिटीज, लंग/किडनी/लीवर की बीमारी, सेरेब्रोवस्कुलर डिजीज या मोटापे से ग्रसित गंभीर संक्रिमितों के लिए यह ज्यादा जरूरी है। वेंटिलेटर का इस्तेमाल प्रोटोकाल के तहत किया जाए। मरीज की गंभीर स्थिति में इसका इस्तेमाल हो। रिपोर्ट कोरोना निगेटिव और बाकी सारी जांचें सही पाए जाने पर उसे डिस्चार्ज किया जाए।


"इन 4 बातों का ध्यान हमें रखना है"

कोविड मरीज ऑक्सीजन लेवल मानिटर करते रहें। 93 से कम होने पर हॉस्पिटल जाएं। सभी मरीजों की रेमडेसिविर, प्लाज्मा, इवरमेक्टिन, ब्लड थिनर्स जैसी चीजों की जरूरत नहीं। बैड ऑक्सीजन सिलेण्डर और आइसीयू उन मरीजों के लिए हैं जो कोविड के गंभीर मरीज हैं। वैक्सीन लगवाने पर जोर दें। ज्यादा लोगों का टीकाकरण होगा अस्पताल पर बोझ कम होगा।


बीते चौबीस घंटे में 241 लोगों ने कोरोना को हराया


बीते चौबीस घंटे में जिले के 241 व्यक्तियों ने कोरोना को हरा दिया। एक दिन में स्वस्थ्य होने वाले लोगों का अब तक का बडा आंकड़ा है। आज पॉजिटव लोगों की संख्या से ज्यादा संख्या स्वथ्य होने वालों की है। यह सभी कोविड के मरीज जिले के विभिन्न कोविड केयर सेंटर तथा होम आईसोलेशन में रहकर में इलाज करवा रहे थे। यह 241 कोरोना योद्धा त्वरित और बेहतर इलाज और दृढ़ इच्‍छा शक्ति से पूर्णत: स्वस्थ्य हो गये। स्वस्थ्य हुए श्री सुरेश पंवार, श्री जितेन्द्र सिंह तथा हुकुम सिंह ने बताया कि जब हमारी तबियत खरीब हुई तो हमने सीधे चिकित्सालय पहुंचे। वहां जांच के बाद पता चला कि हमारी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटव आयी है। डॉक्टर ने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है, आप बिल्कुल सही समय पर आये हैं, अब आपको कुछ नहीं होगा। हमें कोविड केयर सेंटर में भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया। कोविड केयर सेंटर में भर्ती होने के बाद रोज समय पर डॉक्टर जांच करते और दवा भी समय समय पर खिलाई जाती थी। यहाँ नास्ते एवं भोजन की व्यवस्था अच्छी है। स्वादिष्ट और पौष्टिक भोजन दिया जाता है। ड्यूटी स्टाफ पूरे समय उपलब्ध रहता है। हमारी छोटी-छोटी चीजों का ध्यान रखा जाता है। कोई समस्या होने पर बुलाते ही तत्काल स्टॉफ आ जाता है। कोविड केयर सेंटर के सभी डयूटी करने वालों का व्यवहार बहुत अच्छा है। होम आईसोलेन में इलाज ले रहे रमेश ने बातया कि घर में हमेशा मास्क लगा कर रखता हूं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया। उन्होंने बताया कि जिला मुख्यालय के कोविड कमॉड सेंटर से मोबाइल पर नियमित हमारे स्वास्थ्य की जानकारी ली जाती। सांस लेने में कोई दिक्कत तो नहीं है, समय पर दवा ली या नहीं आदि। हमें कोई भी दुविधा होती तो फोन लगाकर पूछ लेते थे। इन्होंने स्वथ्य होने पर चिकित्सकों और अस्पताल के पूरे चिकित्सा स्टॉफ को धन्यवाद दिया।


30 अप्रैल को प्रस्तावित समस्त टीकाकरण सत्र निरस्त


मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में 30 अप्रैल को प्रस्तावित कोविड-19 टीकाकरण के समस्त सत्र निरस्त किये गए हैं। इसमें मेडिकल कॉलेज एवं जिला अस्पताल भी, सम्मिलित है। टीकाकरण निरस्त करने का मुख्य कारण 1 मई से प्रारंभ होने वाले 18 वर्ष से 44 आयु वर्ग के नागरिकों के टीकाकरण सत्रों की पुनर्रचना (अस्पताल को छोड़कर अन्य स्थलों पर) की प्रक्रिया, टीम सदस्यों का प्रशिक्षण एवं अवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा सके। वर्तमान में टीकाकरण के ड्राय रन प्रक्रिया पूर्ण की जा रही है।


दीवारों पर संदेश लिखकर लोगों को कर रहे जागरूक


sehore news
कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए जन जागरूकता की अहम भूमिका है। जिले के कोरोना वालेंटियर जन-जागरूकता के लिए दीवार पर संदेश लिख कर संक्रमण से बचाव के सन्देश दे रहे है। स्वास्थ्य विभाग से कोरोना संक्रमण से बचाव व सावधानियां के बारे में उपलब्ध आवश्यक जानकारी कोरोना वालेन्टियर नारे लिख कर जनता को जागरूक कर रहे है। जिले के नसरुल्लागंज अन्तर्गत ग्राम डिमावर में कोरोना वालेंटियर ग्रामों में दीवारों पर कोरोना से बचाव की सावधानियां रखने के नारे, जैसे, मेरा मास्क, मेरी सुरक्षा, जिला कोविड कंट्रोल कमांड सेंटर, हेल्पलाइन नम्बर की जानकारी आदका, दीवार संदेश लिखकर जनता को जागरूक कर रहे हैं।


एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय चयन परीक्षा-आवेदन की अंतिम तिथि 30 अप्रैल


एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय में शैक्षणिक पदों के लिये आवेदन-पत्र आमंत्रित किये गये है।उक्त संस्था द्वारा राज्यों से एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालयों (ईएमआरएस) के लिये शिक्षण स्टॉफ जैसे प्राचार्य (प्रिंसिपल), उप प्राचार्य (वाइस-प्रिंसिपल), पीजीटी और टीजीटी की भर्ती के लिये ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। आवेदन 30 अप्रैल 2021 तक जमा कराये जा सकते हैं। ईटीएसएसई 2021 के लिये ऑनलाइन आवेदन, शैक्षिक योग्यताएँ, शिक्षण अनुभव और अन्य पात्रता मानदण्ड आदि के संबंध में ब्योरे सूचना बुलेटिन <https://recruitment.nta.nic.in> पर उपलब्ध हैं।


51763 किसानों से 4 लाख 16 हजार 488 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी


sehore news
जिले में आज 51763 किसानों से 4 लाख 16 हजार 488 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी जिले के उपार्जन केन्द्रो द्वारा की गई। अधिकारियो द्वारा उपार्जन केन्द्रों का सतत निरीक्षण किया जा रहा है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे उपार्जन केन्द्रों का सतत निरीक्षण करें और यह देखें की किसानों को फसल बेचने में किसी प्रकार की कोई भ्री असुविधा न हो। 

कोई टिप्पणी नहीं: