सीतामढी़ : एफसीआई बचाओ दिवस पर घेराव, धरना-प्रदर्शन - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 6 अप्रैल 2021

सीतामढी़ : एफसीआई बचाओ दिवस पर घेराव, धरना-प्रदर्शन

protest-to-save-fci
सीतामढी़। आज एफसीआई कार्यालय, सीतामढी़ (पुनौरा)पर किसानों ने धरना तथा प्रदर्शन किया।एफसीआई का बजट बढाया जाए।बिहार के किसानों की उपज भी एफसीआई खरीद करें।एफसीआई को कमजोर कर निजी क्षेत्र को सौंपने तथा एम एसपी पर खरीद तथा जनवितरण व्यवस्था को कमजोर करने की सरकारी साजिश के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा। अखिलभारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आह्वान पर एआईकेएससीसी सीतामढी़ के तत्वावधान में कार्यक्रम संपन्न हुआ।उपस्थित किसान-मजदूरों ने एफसीआई बेचना बंद करो,एम एसपी को कानूनी सुरक्षा दो,गेहूं की सरकारी खरीद शुरु करो,सभी अस्थायी कर्मचारियों को स्थायी करो के नारे लगा रहे थे। इस मौके पर एफसीआई के जिला प्रबंधक के मारफत भारत सरकार के उपभोक्ता मामलों के मंत्री के नाम एक सात सूत्री मांगपत्र भी सौंपा गया।मांगों में एम एसपी को कानूनी सुरक्षा देते हुए सभी किसान,मजदूर तथा बटाईदारों के कृषि उत्पादों की गांव-गांव से खरीद की गारंटी करने,बिहार मे भी एफसीआई के मारफत खरीद सुनिश्चित कराने,एफसीआई का बजट बढ़ाने तथा खरीद केन्द्र बढा़ने,बिहार के सभी प्रखण्डों के जर्जर एफसीआई गोदाम का जीर्णोद्धार कराने,बिहार मे गेहूँ की सरकारी खरीद अविलंब शुरु कराने तथा एफसीआई मे कार्यरत सभी ठेका तथा अस्थायी कर्मियों को स्थायी करने का मांग शामिल है। धरनास्थल पर हीं एक सभा किसान सभा के अध्यक्ष बैधनाथ हाथी की अध्क्षता में हुई। किसानों को संबोधित करते हुए किसान नेताओं ने बताया कि विश्वव्यापार संगठन के इशारे पर केन्द्र सरकार किसान-मजदूरों तथा गरीबों के हित की संस्था एफसीआई को कमजोर कर रही है।क्रय केन्द्र घटाई जा रही है साथ हीं बजट मे भी बढोतरी नही की जा रही है जिससे 6%किसानों के ही कृषि उपज की खरीद हो रही है।इस साल किसान आन्दोलन के दबाव मे खरीद थोडा़ बढा़ है परन्तु किसानों को एम एसपी पर कानूनी सुरक्षा चाहिए जिससे किसानों को न्यूनतम मूल्य पाने की गारंटी हो सके। एफसीआई के मुख्य द्वार पर हीं एआईकेएससीसी के घटक संगठन किसान सभा,संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा,अभाकिसान सभा,जय किसान आन्दोलन के नेताओं ने सभा को सबोधित किया। किसान नेता डा.आनन्द किशोर,जयप्रकाश राय ,जलंधर यदुबंशी,विश्वनाथ बुन्देला,ओमप्रकाश, चन्द्रदेव मंडल,संजय कुमार,उमाशंकर सिंह,आलोककुमार सिंह,आफताब अंजुम,शशिधर शर्मा, मो.मुर्तजा,शिवचंद्र प्र.यादव,नवीन कुमार सिंह,सुखाडी राम,विश्वनाथ साह,रामदेव मुखिया, रामसुन्दर ठाकुर,लालबाबू महतो,रामकलेबर राम,बैधनाथ ठाकुर, जग्रनाथ महतो,कैलाश ठाकुर, लक्ष्मी ठाकुर,बुधन महतो,छट्ठू बैठा,सत्यनारायण महतो,सोनेलाल साह,दखा राम,राजन कुमार, फेकन राउत,सकलदेव साह,गंभीरा राय सहित अन्य किसान-मजदूरों ने किसानों को संबोधित किया तथा जमकर नारेबाजी की।

कोई टिप्पणी नहीं: