बिहार : कोरोना प्रोटोकॉल बनाने पर कांग्रेस ने दिया जोर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 18 अप्रैल 2021

बिहार : कोरोना प्रोटोकॉल बनाने पर कांग्रेस ने दिया जोर

  • *राज्यपाल के सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस ने प्रदेश कार्यालयों को आइसोलेशन सेंटर के रूप में देने की पेशकश

madan-mohan-jha
पटना। बिहार के राज्यपाल द्वारा आहूत सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने लोकहित में आमजनों और छोटे व्यापारियों और मजदूरों का ख्याल रखते हुए कोविड गाइडलाइन बनाने की मांग की। उन्होंने कहा कि बिहार कांग्रेस लोकहित में अपने सभी जिला कार्यालयों सहित प्रदेश मुख्यालय को कोरोना के लिए आइसोलेशन सेंटर के रूप में देने की पेशकश भी राज्यपाल के समक्ष की। उन्होंने कहा कि सभी अनुमंडलों से लेकर जिला मुख्यालयों के अस्पतालों में जीवनरक्षक दवाईयों और ऑक्सीजन आदि की जरूरतों को पूरा करने में सरकार ध्यान दें  जिससे आमजन को कोरोना संक्रमण से समय रहते बचाने में मदद मिल सकें।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि कोरोना की मौजूदा हालात को देखते हुए सरकारों द्वारा लॉकडाउन और कर्फ्यू की घोषणा तेजी से हो रही है लेकिन बिहार में पिछली बार की तर्ज पर इस बार अनियोजित लॉकडाउन नहीं थोपा जाएं। दैनिक मजदूरों और छोटे व्यापारियों के हितों को ध्यान में रखकर ही कोरोना कर्फ्यू आदि का अनुपालन कराया जाये। उन्होंने कहा कि बिहार में अनियंत्रित होते कोरोना के हालातों ने एक बार फिर से लोगों में डर का माहौल बना दिया है। समय रहते सरकार द्वारा यदि तदर्थ कार्य न हो तो स्थिति और भयावह होने से इनकार नहीं किया जा सकता ।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ मदन मोहन झा ने कहा कि बिहार कांग्रेस जनहित में सरकार के प्रत्येक फैसले का स्वागत करेगी लेकिन प्रशासनिक स्तर पर सरकार की खामियों को गिनाने में भी पीछे नहीं हटेगी। जिस राज्य में चिकित्सकों की भारी कमी के बावजूद सरकार उनकी बहाली नहीं कर रही है वैसे राज्य में कोरोना के प्रकोप को कम करना बहुत कठिन कार्य है। इसलिए सरकार अपने अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर विशेष ध्यान देकर आमजन को सुविधाओं के अभाव में दर-दर की ठोकरें खाने से बचाएं।

कोई टिप्पणी नहीं: