झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 29 अप्रैल 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 29 अप्रैल

इन्होंने कोरोना महामारी को अपने हौंसले ओर जज्बे के बल पर दी मात, सकारात्मकता कोरोना के हराने की महत्वपूर्ण जड़ी-बूटी, आईसोलेषन से डिस्चार्ज होने के बाद जाहिर की खुषी, क्या दिया संदेष पढ़े पूरी खबर ... !


jhabua news
झाबुआ। जिला चिकित्सालय के आईसोलेषन वार्ड मंें भर्ती कोरोना संक्रमित तीन मरीजांे ने पूरी तरह स्वस्थ होकर घर लौटने पर खुषी जाहिर की। साथ ही जिलेवासियांे को अपने संदेष में कहा कि कोरोना महामारी का वर्तमान में जरूर अब तक कोई स्थायी ईलाज नहीं है, लेकिन हम अपने हौंसले और जज्बे के बल पर इसे मात दे सकते है। कोरोना के हराने की सबस बड़ा मूल मंत्र है -सकारात्मकता बरकरार रखना। जिला चिकित्सालय के आईसोलेषन वार्ड से छुट्टी ले रहे अजय पिता नाडु उम्र 24 वर्ष निवासी रंभापुर, जो बीते 16 अप्रेल को एडमिट हुए थे। अजय ने बताया कि अचानक से उनका आॅक्सीजन लेवल कम होने हो गया था। आॅक्सीजन लेवल 70-80 के बीच आ गया था। जिसके बाद उन्होंने जिला चिकित्सालय मंे चिकित्सक को दिखवाया। बाद कोरोना की पुष्टि होने पर उन्हें आईसोलेषन वार्ड में भर्ती किया गया। जहां उन्होंने नियमित एव समय पर उपचार लिया। मन में कभी घबराहट या चिंता नहीं आने दी। जिसके कारण आज वह स्वस्थ हो गए है और इनका आॅक्सीजन लेवल बढ़कर 99 हो गया है।


14 दिनांे में स्वस्थ होकर घर लौटी सन्नू डामोर

इसी प्रकार मेघनगर विकाससखंड के ग्राम उमरादरा निवासी सन्नू पति मेरूसिंह डामोर उम्र 30 वर्ष ने बताया कि वे 13 अप्रेल को कोरोना पाॅजिटीव पाई गई। जिसके बाद 18 अप्रेल को आईसेलेषन कक्ष मंे भती हुई। उन्हें कफ और फीवर की षिकायत थी। इस दौरान उनका आॅक्सीजन लेवल आईसोलेट होने से पूर्व 70-75 था, जो अब बढ़कर 82-86 तक आ गया है। वह 27 अप्रेल को डिस्चार्ज हुई। उन्होंने बताया कि होने के लगातार कोविड नियमांे का पालन किया और डेली चेकअप तथा ट्रीटमेंट होने से वह स्वस्थ होकर घर लौट रहंी है।


आक्सीजन लेवल अचानक से घट गया, पर अब स्वस्थ

आलीराजपुर निवासी कविता डावर ने बताया कि विगत 13 अप्रेल को अचानक से उनके शरीर का आॅक्सीजन लेवल घटकर 70-80 तक हो गया। इसके बाद उन्होंने आलीराजपुर सरकारी चिकित्सालय में बताया, तो वहां से प्राथमिक ट्रीटमेंट कर जिला चिकित्सालय झाबुआ के लिए रेफर किया। जहां आईसोलेट होने के बाद निरंतर ट्रीटमेंट लेने और सकारात्मकता बरकरार रखने पर अब पूरी तरह से स्वस्थ हो गई है और आॅक्सीजन लेवल भी बढ़ गया है।


चिकित्सक, नर्सेस और वार्ड बाॅय दे रहे सराहनीय सेवाएं

इन सभी ने अपने व्यक्तत्व ने यह बात मुख्य रूप से कहीं कि इनके स्वस्थ होने की मुख्य वजह आईसोलेन कक्ष में एडमिट होने के दौरान जिला चिकित्सालय प्रभारी एवं सेवाभावी चिकित्सक डाॅ. सावनसिंह चैहान द्वारा इनका समय-समय पर स्वास्थ्य का अपग्रेषन लेना तथा वार्ड मंे पदस्थ नर्सेस, वार्ड बाॅय और समस्त स्टाॅफ द्वारा समय पर उपचार करने से लेकर सारी व्यवस्थाएं चाॅक चैबंद रखने के चलते सकारात्मक माहौल मिलने वे स्वस्थ हो सके है। जिलेवासियों को भी संदेष दिया है कि कोविड होने पर आप घबराए नहीं। होम आईसोलेषन होकर या अपने समीपस्थ सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर जाकर आईसोलेट होकर पूर्ण उपचार ले। नियमित चिकित्सकों का परामर्ष ले। अपने अंदर हौंसले और जज्बे को बरकरार रखे। हमेषा सकारात्मक रहे तो कोरोना जैसी महमारी से हम जीत हासिल कर सकते है। जीतेगा झाबुआ, हारेगा कोरोना .... ।


राजपूत समाज के आव्हान पर सर्व समाज के 75 से अधिक महिला-पुरूषांे ने लगवाया टीका, सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष श्री राठौर एवं रजक महासंघ की महिला प्रदेष अध्यक्ष श्रीमती चैहान ने भी टीका लगाकर जिलेवासियों को दिया जागरूकता का संदेष


jhabua news
झाबुआ। राजपूत समाज झाबुआ द्वारा 29 अप्रेल, गुरूवार को सुबह 10 बजे से स्थानीय लक्ष्मीनगर स्थित अंबा पैलेस पर टीकाकरण षिविर का आयोजन किया गया। जिसमें शहर के 45 वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक महिला-पुरूषों को षिविर स्थल पर आकर टीका लगवाने का आव्हान किया गया था। जिस पर करीब 4 घंटे में 75 से अधिक लोगों ने वेक्सीन लगवाकर जागरूकता का परिचय दिया। इस अवसर पर सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं रजक समाज की महिला प्रदेष उपाध्यक्ष श्रीमती चेतना चैहान के भी 45 वर्ष पूर्ण होने पर उन्होंने प्रथम टीका लगाकर जिलेवासियों को कोरोना महामारी से रोकथाम के दृष्टिगत आवष्यक रूप से टीका लगवाने के लिए प्रेरित किया। शिविर सुबह 10 बजे से आरंभ हुआ। जिसमें स्वास्थ्य विभाग की ओर जिला चिकित्सालय के टीकाकरण केंद्र में पदस्थ सेवाभावी नर्सेस संगीता बघेल, पायल राणे एवं शहिन मंसूरी ने सभी को टीके लगाए। कोविड से रोकथाम हेतु टीका लगवाने के प्रति पुरूषों के साथ महिलाआंे मंे भी अत्यधिक उत्साह नजर आया। षिविर को सफल बनाने में विषेष सहयोग राजपूत समाज के कार्यकारी अध्यक्ष रविराजसिंह राठौर, लोकेन्द्रसिंह पंवार, विक्रमसिंह चैहान, योगेष पंवार, गणेष, अनिल बोराना, अजयसिंह पंवार आदि ने प्रदान किया। यह षिविर भाजपा जिला उपाध्यक्ष एवं भाजपा की ओर से बनाए जिला कोविड प्रभारी अजय पोरवाल के विषेष प्रयासों से आयोजित हुआ। षिविर दोपहर 2 बजे तक सत्त चला। इस दौरान सर्व समाज, जिसमें राजपूत समाज, रजक समाज, जैन समाज, ब्राम्हण समाज सहित अन्य समाज के महिला-पुरूषांे ने सहभागिता कर वेक्सीनेषन करवाया।


टीका लगवाकर जीवन को सुरक्षित बनाने का करे प्रयास

राजपूत समाज के 75 वर्षीय रूपसिंह राठौर निवासी मारूति नगर एवं वयोवृद्ध शांताबाई ने भी वेक्सीन लगाकर जागरूक नागरिक होने फर्ज अदा किया वहीं सकल व्यापारी संघ अध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं रजक महासंघ की महिला प्रदेष अध्यक्ष श्रीमती चेतना चैहान ने 45 वर्ष पूर्ण होने पर प्रथम वेक्सीन लगाकर अपने संदेष में जिलेवासियांे को कहा है कि केंद्र और मप्र सरकार के साथ जिला प्रषासन और स्वास्थ्य विभाग का यह विषेष प्रयास है कि भारत मंे 18 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगांे का टीकाकरण हो सके, ताकि कोरोना जैसी जानलेवा और खतरनाक महामारी से काफी हद तक बचाव होने के साथ हम अपने जीवन को सुरक्षित कर सके।


अफवाहों में ना आए, वेक्सीन पूरी तरह सुरक्षित

श्री राठौर एवं श्रीमती चैहान ने आगे बताया कि जिले में कुछ कथितजनांे द्वारा यह अफवाह फैलाई जा रहंी है कि यह वेक्सीन मानव शरीर के लिए हानिकारक है, यह अफवाह या टिप्पणी पूरी तरह से गलत है। टीका लगवाना पूरी तरह सुरक्षित है। हमे डरने की नहीं, बल्कि अपने जीवन को सुरक्षित करने के प्रयास के क्रम में आवष्यक रूप से वेक्सीन लगवाकर एक जिम्मेदार नागरिक होने का परिचय देना है। दोनो ने जिले की जनता से अपील की है कि आगामी 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के प्रत्येक महिला-पुरूष वैक्सीन जरूर लगवाए। इसके लिए सरकार द्वारा जारी पोर्टल पर अपना पूर्व पंजीयन करवाकर समय आने पर इसका लाभ उठाए।


अब सब्जी और फल-फ्रूट की दुकाने सुबह 6 से दोपहर 11 बजे तक ही रहंेगी खुली, इसके बाद बाजारों मंे बेवजह घूमने वालों पर होगी सख्ती से कार्रवाई, जिला कलेक्टर ने सभी एसडीएम को जारी किए मौखिक आदेष


झाबुआ। जिले में लगे संपूर्ण लाॅकडाउन के बीच अब बाजारों मंे सब्जी और फल-फ्रूट आदि की ठेलागाड़ियां और दुकाने प्रतिदिन सुबह 6 से दोपहर 11 बजे तक ही खुल सकेगी। इसके बाद यदि उक्त किसी व्यवसायी की दुकाने खुली दिखाई देती है, तो प्रषासन और पुलिस द्वारा इन पर कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उक्त समय के बाद जिले के बाजारों मंे बेवजह घूमने वाले लोगांे पर भी प्रषासन और पुलिस अत्यधिक सख्ती बरतेगी। जिला कलेक्टर सोमेष मिश्रा द्वारा उक्ताषय के आदेष जिले के बाजारांे में इन दिनों बेवजह बढ़ रहंी भीड़ को देखते हुए सभी अनुभाग के एसडीएम को मौखिक रूप से जारी किए गए है। जिला कलेक्टर सोमेष मिश्रा से चर्चा करने पर उन्होंने बताया कि वर्तमान में संपूर्ण लाॅकडाउन में भी देखने में आ रहा है कि जिले में लोग तरह-तरह का बहाना बनाकर बाजारों में घूमने के लिए निकल जाते है। इस कारण बाजार में भीड़ बढ़ जाती है। प्रायः लोग सब्जी या फल आदि खरीदने की बात कहकर प्रषासन और पुलिस के अधिकारियों को गुमराह करते है। जिसे देखते हुए उनके द्वारा जिले के सभी एसडीएम को निर्देषित किया गया है कि वे अपने-अपने अनुभाग में 29 अप्रेल, गुरूवार को बाजारों में लगने वाली सब्जी, फल आदि की ठेलागाड़ियां और दुकाने सुबह 6 से 11 बजे तक खुली रहने दे। 12 बजे बाद सख्ती बरती जाए। जो लोग बाजारांे में बेवजह घूमते पाए जाते है, या तो उनके चालान बनाए जाए तथा फिर अस्थायी जेल भेजने की व्यवस्था सुनिष्चित की जाए। इसके अलावा इमरजंेसी सामग्रीयांे की होम डिलेवरी पूर्व की तरह ही जारी रहने दी जाएगी। साथ ही मेडिकल तथा पेट्रोल पंप भी पूर्व आदेषानुसार ही खुले रहेंगे।


झाबुआ के बाजारों मंे पुलिस ने बंद करवाई दुकाने

जिसके बाद जिला पुलिस कप्तान आषुतोष गुप्ता एवं एसडीएम झाबुआ सोहनसिंह कनास के निर्देष पर थाना प्रभारी सुरेन्द्रसिंह गाडरिया के नेतृत्व में पुलिस बल द्वारा जिला मुख्यालय झाबुआ पर बाजारांे में सब्जी, फल-फू्रट आदि की ठेलागाड़ियों को दोपहर 11 बजे तक बंद करवाय। जिसके बाद बाजारांे में भीड़ भी कम नअर आई।


आगामी 10 मई जिले में संपूर्ण लाॅकडाउन

जिला कलेक्टर श्री मिश्रा के आदेष पर जिले में कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के दृष्टिगत पूर्व निर्धारित 30 अप्रेल की अवधि से लाॅकडाउन बढ़ाते हुए अब आगामी 10 मई को सुबह 6 बज तके किया गया है। इस अवधि में बसों का परिवहन, ट्रांसपोर्टेषन सेवाएं साथ ही हाईवे मार्गों पर भी वाहनांे का आवागमन आदि निर्बाध रूप से जारी रहेगा।


दिगंबर जैन समाज झाबुआ ने माधोपुरा मुक्तिधाम के लिए 41 हजार रू. की सहयोग राषि प्रदान की, भगवान महावीर स्वामी के सिद्धांतों को किया अंगीकार


jhabua news
झाबुआ। ‘‘मानव सेवा ही माधव सेवा है‘‘ प्रथम तीर्थंकर भगवान श्री महावीर स्वामीजी के इस सिद्धांत को सार्थक करते हुए महावीर जयंती के शुभ अवसर पर दिगंबर जैन समाज झाबुआ की ओर से कोरोना काल में हो रहीं अकाल मृत्यु के कारण स्थानीय मुक्तिधाम पर लकड़ी की कमी को देखते हुए समाज की ओर से  माधोपुरा मुक्तिधाम में सहयोग के लिए 41 हजार रू. की राषि प्रदान की गई है। इसके साथ ही समाजजनांे ने 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर का जन्म कल्याणक भी सादगीपूर्ण तरीके से मनाया। दिगंबर जैन समाज ने शासन-प्रषासन के निर्देशों का पालन करते हुए अपने-अपने घरों से ही भगवान की पूजा-अर्चना की तथा सोषल डिस्टेनसिंग को ध्यान में रखते हुए जीवदया के कार्य किए। यह दूसरा अवसर रहा जब भगवान के जन्म के दौरान कोई बड़ा आयोजन नहीं हुआ। लोगों ने घरों पर ही भक्ति नृत्य करके भगवान का जन्म कल्याणक मनाया। भगवान महावीर स्वामीजी के पांचो महाव्रत अहिंसा, सत्य, अपरिग्रह, अस्तेय, ब्रह्मचर्य, इस महामारी के समय में बहुत ही उपयोगी हैं।


कोरोना महामारी से रोकथाम हेतु अनुष्ठान किए

भूमिका आशीष डोशी ने बताया कि प्रातःकाल स्थानीय दिगंबर जैन मंदिर में अभिषेक, शांतिधारा के साथ सारी विधि-विधान पूर्वक पूजा की गई। लॉक डाउन का पालन करते हुए 2-3 लोगों ने ही मंदिर में पहुंच कर सारी क्रिया विधि की...। इनके अलावा समाज के सभी जनों ने अपने-अपने घरों में ही जाप एवं पाठ किए तथा घंटानाद किए। समाज के लोगों ने थाली-मंजीरे बजा कर भगवान के जयकार लगाते हुए भगवान का पृथ्वी पर आगमन पर स्वागत किया तथा कोरोना महामारी से सभी जीवों की रक्षा हो, ऐसी भावना के साथ अनुष्ठान किए।


घरांे को रांगोली और दीपकों से सजाया

सभी ने जीव दया कर ‘‘जियो और जीने दो तथा एक दूसरे की जितनी हो सके उतनी सहायता करो’’ का संदेश दिया। सायंकाल भगवान की आरती की गई एवं कोरोना वायरस की समाप्ति हेतु विशिष्ट जाप किए गए। घरों को रंगोली एवं दीपकों से सजाया गया तथा सकारात्मकता का प्रचार किया। सकल दिगंबर जैन समाज ने भगवान महावीर के बताए मार्ग पर चलने की शपथ भी ली।


कोरोना महामारी का देष से अंत करने के लिए उमापति महादेव मंदिर पर चल रहा महामृत्युंजय अनुष्ठान और संपुटित रूद्राभिषेक, युवा ज्योतिष षिरोमणि पं. द्विजेन्द्र व्यास सत्त कर रहे उक्त धार्मिक क्रिया


झाबुआ। कोरोना जैसी जानलेवा और खतरनाक महामारी का भारत से अंत करने के लिए झाबुआ के प्रतिष्ठित युवा ज्योतिष षिरोमणि आचार्य एवं राष्ट्रीय तथा अंर्तराष्ट्रीय स्तर पर ज्योतिष के क्षेत्र मंे सम्मानित पं. द्विजेन्द्र व्यास स्थानीय विवेकानंद काॅलोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर पर पिछले 5 दिनों से सत्त महामृंत्युजय का अनुष्ठान एवं संपुटित रूद्राभिषेक की क्रिया में लीन है। पं. द्विजेन्द्र व्यास ने बताया कि झाबुआ जिले, मप्र सहित देष में कोरोना महामारी ने फिर से पैर पसारे लिए है और इससे वर्तमान में बड़ी संख्या मंे लोग संक्रमित होने के साथ इस महामारी की चपेट में आने से कई लोग असमय काल के गाल में भी समाहित हो रहे है। जो लोग कोरोना महामारी से वर्तमान मंे संक्रमित है, वह जल्द स्वस्थ हो एवं इस महामारी का पूरे भारत से समूल जड़ से नाष हो, इस हेतु जगत के पालनहार और रक्षाकर्ता उमापति महादेवजी से पं. द्विजेन्द्र व्यास महामृंत्युजयं का अनुष्ठान एवं जटिल संपुटित रूदाभिषेक कर यह प्रार्थना कर रहे है।


देष मंे पुनः सुख-समृद्धि का वातावारण निर्मित करने हेतु प्रार्थना

इसके साथ ही देष में पुनः सुख-षांति का वातावरण निर्मित होकर पूर्व की तरह सारी व्यवस्थाए ंचाॅक-चैबंद हो, इसके लिए भी युवा षिरोमणी पं. व्यास भगवान षिवजी से प्रार्थना कर रहे है। चूंकि वर्तमान में संपूर्ण लाॅकडाउन लगा होने एवं कोविड के नियमांे के चलते मंदिर में वह अकेले ही षिवलिंग के सम्मुख बैठकर यह धार्मिक क्रिया कर रहे है, जो पिछले 5 दिनांे से जारी है। पं. व्यास के अनुसार कोरोना महामारी के भारत से पूर्णतः अंत होने यह अनुष्ठान जारी रहेंगे।


किल कोरोना अभियान 


झाबुआ । कोविड 19 के सक्रमण के बढने से प्रांरभिक स्तर पर केस का पता लगाने हेतु किल कोरोना अभियान चलाया जा रहा है ताकि प्राथमिक स्तर पर ही मरीज को ईलाज दिया जा सके इस हेतु इस अभियान के तहत डोर डू डोर सर्वे कार्य किया जा रहा है इस हेतु आशाकार्यकर्ता आंग नवाडी कार्यकर्ता एवं ए.एन. एम. कार्यकर्ता घर-घर जाकर घर के सभी सदस्योकी जानकरी ले रही है व थर्मल स्केनर से फीवर तथा आक्सीमीटर से आक्सीजन लेवल भीचेक किया जा रहा है एवं संभावित मरीज को जांच हेतु व्यवस्था की जा रही है तथा घर मेंआइसोलेट मरीजों का भी फालोअप लिया जा रहा है ।साथ ही उक्त कार्यकर्ताओं द्वारा कोविड 19 के सक्रमण से बचाव के लिये जागरूक किया जारहा है जैसे:-

1. सभी घर में रहे भीड-भाड में न जाये जरूरी हो तो ही घर से बाहर निकले ।

2. मास्क लगाकर ही घर से निकले ।

3. दो हाथ की दूरी का पालन करें ।

4. हाथों को साबुन व पानी से धोयें (सेनेटाइज का प्रयोग करे)


कोविन ओर आरोग्य एप पर टीकाकरण पंजीयन अनिवार्य । 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को लगेगें टिके ।


झाबुआ । 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं के टीकाकरण के लिये वैक्सीन सेंटर बढाये जावेगेइसके लिये 28 अप्रैल 2021 को टीकाकरण का पंजीयन शुरू होगा ।18 वर्ष से लेकर 44 वर्ष की आयु के व्यक्ति को टीका हेतु अनिवार्य रूप से कोविनपोर्टल अथवा आरोग्य सेतु एप पर पंजीयन करवाना आवश्यक होगा ।पंजीयन के पश्चात ही निकटतम टीकाकरण केंद्र पर टीका लगवा सकते है।रजिस्ट्रेशन की काॅपी टीकाकरण केन्द्र पर लेकर जाना आवश्यक है यदि रजिस्ट्रेशन की काॅपी नहीं होने पर टीकाकरण नहीं किया जावेगा टीकाकरण अधिकारी डाॅ0 राहुल गणावा द्वारा बताया गया कि अब 01 मई से 18 वर्षसे 44 वर्ष तक के नागरिकों को टीका पंजीयन उपरांत टीके लगाये जावंेगे । तथा 45 वर्ष सेअधिक आम वर्ग के नागरिकों का टीकाकरण पूर्व में भी किया जावेगा ।अफवाहों पर ध्यान न दे । टीका सुरक्षा कवच है। कोविड वेक्सीन कोरोना सक्रमण सेरोकथाम में प्रभावी साबित हुआ है । वेक्सीनेशन उपरांत संक्रमित हुवे मरीजो का रिकवरी रेटअन्य मरीजों की तुलना में बेहतर है। वे घरो में ही हल्का फुल्का इलाज लेकर ठीक हो गयेकोरोना उनका कुछ भी नही बिगाड पाया । आओ हम सब वेक्सीनेशन कराये एक बार फिरकोरोना को भगाये । एवं जो गुजरात, राजस्थान बाहर मिलांे से आ रहे है उन्हे भी घर मेंरहना जरूरी है । हिदायत दी जा रही है । घर के अन्य सदस्यों से दुरी बना कर रखे ।थोडी भी अस्वस्थता खासी सर्दी बुखार आदिलगे तो आशा आगनवाडी कार्यक्रर्ता को सुचितकरे ।सर्वे कार्य की प्रतिदिन रिपोर्ट प्रस्तुत की जा रही है तथा साथ ही टिकाकरण के बारेमें समझाईश भी दी जा रही है ।


सम्पूर्ण जिले की राजस्व सीमा क्षेत्र के लिए 10 मई 2021 प्रातः 6 बजे तक कोरोना कफ्र्यू (लाॅकडाउन)अंतर्गत (धारा-144 दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973) के तहत सम्पूर्ण जिल में प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


झाबुआ,। जिला दण्डाधिकारी श्री सोमेश मिश्रा ने मध्य प्रदेश शासन गृह विभाग भोपाल के निर्देशानुसार जिले में कोविड-19 (कोरोना वायरस) के बढते संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए उसकी रोकथाम एवं संक्रमण से बचाव तथा जन सामान्य के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक शांति बनाये रखने के लिये कार्यालयीन आदेश क्रमांक 2577/जे.सी./2021/झाबुआ दिनांक 15 अपै्रल 2021 द्वारा जिले में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के अंतर्गत सम्पूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र मंे दिनांक 16 अपै्रल 2021 से 26 अपै्रल 2021 तक कोरोना कफ्र्यू /लाॅकडाउन आदेश जारी किया गया है। दिनांक 21 अपै्रल 2021 को जिला आपदा प्रबंधन की बैठक में निर्णय अनुसार कार्यालयीन आदेश क्रमांक 2665-2666/जे.सी./2021/झाबुआ, दिनांक 23 अपै्रल 2021 द्वारा जिले में दिनांक 26 अपै्रल 2021 से दिनांक 30 अपै्रल 2021 तक कोरोना कफ्र्यू (लाॅकडाउन) लगाया गया है। दिनांक 28 अपै्रल 2021 को जिला आपदा प्रबंधन की बैठक में प्राप्त  सुझाव एवं लिए गये निर्णय अनुसार जिले में कोरोना संक्रमण के मरीजों की संख्या में वृद्धि को दृष्टिगत रखते हुए उसे नियंत्रित करने के साथ-साथ मानव जीवन की सुरक्षा एवं लोकशांति व कानून व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से झाबुआ जिले की सम्पूर्ण राजस्व सीमा क्षेत्र में दिनांक 10 मई 2021 प्रातः 6 बजे तक कोरोना कफ्र्यू लाॅकडाउन लगाया जाता है। पूर्व में जारी प्रतिबंधात्मक आदेश में उल्लेखति निर्देशों के अतिरिक्त निम्न निर्देश जारी किये जाते है।

(1) जिले में विवाह कार्यक्रम 1 मई 2021 से 15 मई 2021 रात्रि 12 बजे तक पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। (2) होटल पूर्णतः प्रतिबंधित रहेंगे। (3) जिले में सरपंच, तड़वी, सचिव, कोटवार अपने-अपने ग्राम में विवाह की सूचना प्राप्त होने पर विवाह पर तत्काल रोक लगाने संबंधी कार्यवाही करेंगे तथा उल्लंघन पाये जाने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। (4) जिले में इलेक्ट्रीशियन, कारपेंटर, प्लंबर को अपने कार्य हेतु संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से अनुमति प्राप्त करना अनिवार्य होगा। यह आदेश दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144(1) के अंतर्गत यह आदेश एक पक्षीय पारित किया जा रहा है। कोई भी व्यक्ति इस संबंध में अपनी आपत्ति/आवेदन दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 (5) के अंतर्गत प्रस्तुत कर सकता है। इस आदेश का निर्वहन सामान्य जन एवं संबंधितों को व्यक्तिशः कराया जाना संभव नहीं है। एसी स्थिति में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 134 (2) के अंतर्गत समस्त समाचार पत्रों के माध्यम से जन सामान्य/संबंधितों को उक्त आदेश से अवगत कराया जाए। संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारी इस आदेश से सामान्य जन एवं संबंधितों को अवगत कराएगें। इस आदेश का उल्लघंन पाये जाने पर भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 188, 269, 270 एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 की धारा-51, 60 एवं अन्य वैधानिक प्रावधानों के अंतर्गत विधिसम्मत कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।


कोविड-19 की दूसरी लहर को नियंत्रित करने हेतु जिले में किल कोरोना अभियान शुरू


झाबुआ। कोविड-19 की दूसरी लहर को नियंत्रित करने हेतु जिले में किल कोरोना अभियान शुरू किया गया है। इस किल कोरोना अभियान के तहत आज विकासखंड पेटलावद के ग्राम झकनावदा में बीएमओ पेटलावद के नेतृत्व में डोर टू डोर सर्वे का वृहद अभियान चलाया गया। ग्रामीण क्षेत्रों निवासियों को कोरोना के प्रति जागरुक बनाने और कोरोना के संभावित मरीजों चिन्हित करने हेतु झकनावदा में सर्वे का आयोजन किया गया था। इस दौरान ग्राम के 229 घरों के निवासियों की स्क्रीनिंग की गई। जिनमें से किसी भी व्यक्ति में लक्षण नहीं दिखे तथा 2 व्यक्तियों को सामान्य बुखार एवं 4 को सर्दी खाँसी के लक्षण होने पर दवाई प्रदाय की गई। साथ ही सर्वे के दौरान कोरोना से बचाव हेतु मास्क की उपयोगिता सामाजिक दूरी एवं बार बार हाथ धोना के बारे में भी बता कर आमजन को जागरूक करने का भी प्रयास किया गया। सर्वे के दौरान लोगों को कोविड टीकाकरण अभियान अंतर्गत टीका लगवाने के लिए प्रेरित करने का भी प्रयास किया गया। इस सर्वे के दौरान स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पंचायत विभाग और महिला बाल विकास विभाग द्वारा संयुक्त रुप से सामंजस के साथ कार्य किया गया। उक्त सर्वे में बीएमओ रामा कम्युनिटी हेल्थ ऑफीसर धांधलपुरा, हेल्थ, सुपरवाइजर, पटवारी, पंचायत, सचिव, जेआरएस एएनएम आशा कार्यकर्ता आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कोटवार आदि सभी लोगों का सहयोग प्राप्त हुआ।


मेरी सुरक्षा मेरे साथ जीतेगा पेटलावद हारेगा कोरोना


झाबुआ, । मेरा नाम अंगुर बाला मकवाना है और मैं नर्सिंग कॉलेज मंदसौर की स्टूडेंट हूं। हॉस्पिटल में पेशेंट के साथ रहना यह हमारी दिनचर्या है। लेकिन जब से कोविड-19 के बारे में सुना है मन ही मन में एक डर सा लगा रहता था के पेशेंट्स के साथ रहने में हम संक्रमित न हो जाएँ, जब हमें पता चला के वैक्सीन आई है और सबसे पहले अस्पताल से कर्मचारियों को लगाया जाएगा। तब मेरे मन में एक सुकून तो था ही पर साथ में घबराहट भी थी। हम वैक्सीन लगाने गए और अंदर ही अंदर डर लगने की वजह से मैं सबसे पीछे लाइन में चली गई थी, और मेरी एक फ्रेंड को वैक्सीनेशन जब लगा तो हमने पूछा कि कैसा लगा लगा। तो उसने बताया कि कुछ नहीं बस ऐसा लगता है कि चींटी काटी हो, ऐसा सुनने के बाद हमें थोड़ा भरोसा हुआ और मेने वैक्सीन लगाया। टीका लगाने के बाद 30 मिनट के लिए हमें ऑब्जर्वेशन में रखा गया फिर हम सब अपने-अपने रूम में आ गए थे हमें  मेडिसिन  पेरासिटामोल दिया गया था और हमें कहा गया था कि आप को हल्का सर दर्द और फीवर हो सकता हैै। हमें डर था कि कहीं हमें फीवर अधिक ना हो जाए इसलिए हमने रूम में जाने के बाद नाश्ता लेने के बाद टेबलेट लेकर सो गए थे । हम 5 फ्रेंड एक दूसरे को देख रहे थे कि सबसे पहले किसको फीवर आता है। मेरी फ्रेंड को सबसे पहले फीवर आया उसके बाद हम पांचों को फीवर आ चुका था एवं हल्का सा सिर दर्द रहा था। यह 3 से 4 दिन तक रही बाकी सब नॉर्मल था, उसके बाद कुछ दिन बाद सब नॉर्मल हो चुका था। 42 दिन बाद हमारा सेकंड डोज लगा तो हमें किसी प्रकार की कोई प्रॉब्लम  नहीं आई और हमें यह भी माना कि हमें अगर कोविड-19 से बचना है तो हमारे लिए एक वैक्सीन ही एकमात्र सहारा है जिससे बचा जा सकते है। वैक्सीनेशन लगने के  बाद हमें कोविड- वार्ड में ड्यूटी के लिए भेज दिया गया था और आज हम कोविड के पेशेंट को देख रहे हैं और बिल्कुल स्वस्थ हैं। सभी से अपील है के आप भी आगे आके टीकाकरण करवाएं।


केवल 29 और 30 अप्रैल को नहीं लगेंगे कोरोना के टीके (शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में कोविड टीकाकरण के सभी सत्र निरस्त)


झाबुआ,। मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के निर्देशानुसार झाबुआ जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में केवल 29 एवं 30 अप्रैल को कोविड-19 टीकाकरण के समस्त सत्र निरस्त कर दिये गये हैं। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ राहुल गणावा के अनुसार 29 एवं 30 अप्रैल को कोरोना वेक्सीनेशन कार्य को निरस्त करने के पीछे 1 मई से प्रारंभ होने वाले 18 वर्ष से 44 आयु वर्ग के नागरिकों के टीकाकरण सत्रों की पुनर्रचना(अस्पताल को छोड़कर अन्य स्थलों पर) की प्रक्रिया, टीम सदस्यों का प्रशिक्षण एवं आवश्यक अपेक्षित प्रोटोकॉल की व्यवस्था सुनिश्चित करना प्रमुख उद्देश्य है। जिला टीकाकरण अधिकारी ने बताया कि एक मई से प्रारम्भ हो रहे कोरोना टीकाकरण के तीसरे चरण के लिये सभी व्यवस्थाओं के पर्यवेक्षण की जिम्मेदारी सीएमएचओ एवं जिला टीकाकरण अधिकारी को दी गई है।


ट्रक चोर झाबुआ पुलिस गिरफ्त मेंष्


jhabua news
झाबुआ । दिनांक 27.04.2021 की दोपहर को विश्वसनीय मुखबीर द्वारा सूचना मिली कि कालीदेवी तरफ से ट्रक क्रं. डच्-14 ळठ-2386 में दो व्यक्ति शराब लेकर झाबुआ तरफ आ रहे है। मुखबीर सूचना पर थाना कोतवाली की पुलिस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए पारा फाटा झाबुआ पर ट्रक क्रं. डच्-14 ळठ-2386 को आता देख स्टापर लगाकर रोका गया, जिसमें से एक व्यक्ति गाड़ी से कुदकर भाग गया व ट्रक चालक को पकड़ने में सफलता प्राप्त की व उसका नाम पता पुछने पर अपना नाम दिनेश पिता पुनमचंद शर्मा निवासी इन्दरा कॉलोनी कालीदेवी का होना बताया। ट्रक को चेक करने पर उसके कैबिन के अंदर तीन कैनों में देशी महुआ हाथ भट्टी की महुआ शराब होना पाई गई जिसे जप्त किया गया। भागे गये व्यक्ति का नाम पता पुछने पर उसका नाम नौशाद पिता अकबर खान निवासी मरीमाता मंदिर के पास झाबुआ का होना बताया। जिस पर थाना कोतवाली में अपराध क्रं. 382ध्2021 धारा 34(2),36 आबकारी एक्ट का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। आरोपी दिनेश को थाने लाकर पुछताछ करने पर उसने बताया की दिनांक 19.04.2021 को उसनेव आरोपी नॉशाद ने झाबुआ से ट्रक क्रं. डच्-45 भ्-0318 को चोरी करना बताया जिसे आरोपियों द्वारा कटवाने हेतु छोटा उदयपुर (गुजरात) में हिन्दुस्थान पेट्रोल पंप के सामने खड़ा कर रखा है। जिसेथाना कोतवाली पुलिस टीम द्वारा जप्त किया गया।


आरोपियों द्वारा की गई वारदात

थाना कोतवाली, जिला झाबुआ रू- फरियादी इरफान अली द्वारा बताया गया कि दिनांक 18.04.2021 को शाम 06रू00 बजे उसका ट्रक उसके भाई शब्बीर ने दिलीपसिंह भूरिया प्रतिमा स्थल वाले मैदान, मेघनगर नाका झाबुआ पर खड़ा किया था। उक्त ट्रक को आखरी बार दिनांक 19.04.2021 की शाम को देखा गया था। दिनांक 20.04.2021 को क्लीनर संतोष कुमार ने सुबह फरियादी को फोन कर बताया कि उसका ट्रक जहाँ खड़ा थावहॉ नहीं दिख रहा है। फरियादी द्वारा जाकर देखने पर उसका ट्रक वहॉ नहीं था।  दिनांक 19-20.04.2021 की दरमियानी रात्री में फरियादी का ट्रक क्रं. डच्-45 भ्-0318 को कोई अज्ञात बदमाश चुराकर ले गया है, जिस पर थाना कोतवाली में अपराध क्रं. 374ध्2021 धारा 379भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। 


आरोपियों से जप्त सामग्री रू-

1. 60 लीटर कच्ची महुआ हाथ भट्टी किमती 12,000ध्-रू.

2. ट्रक क्रं. डच्-14 ळठ-2386 किमती 8,00,000ध्-रू.

3. ट्रक क्रं. डच्-45 भ्-0318 किमती 14,00,000ध्-रू.

कुल किमती जप्त मश्रुका 22,12,000ध्-रू. 


आरोपियों के नाम

1. दिनेश पिता पुनमचंद शर्मा निवासी इन्दरा कॉलोनी कालीदेवी

2. नौशाद पिता अकबर खान निवासी मरीमाता मंदिर के पास झाबुआ(फरार)


सराहनीय कार्य में योगदान

संपूर्ण घटना का खुलासा करने में थाना प्रभारी कोतवाली निरी. सुरेन्द्र सिंह गाडरिया, सउनि जगदीश नायक, प्रआर. 152 रमेश मिनावा का सराहनीय योगदान रहा। उक्त टीम को पुलिस अधीक्षक द्वारा पुरस्कृत करने की घोषणा की। 

कोई टिप्पणी नहीं: