आत्मविश्वास बढा, लेकिन अंतिम लक्ष्य ओलंपिक पदक : मनप्रीत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 15 अप्रैल 2021

आत्मविश्वास बढा, लेकिन अंतिम लक्ष्य ओलंपिक पदक : मनप्रीत

manpreet-happy-to-argentina-won
ब्यूनस आयर्स, 15 अप्रैल, भारतीय पुरूष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने कहा कि ओलंपिक चैम्पियन अर्जेंटीना के खिलाफ मिली सफलता से टीम का मनोबल बढा है लेकिन तोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने के लिये अभी कई कमजोरियों से पार पाना होगा । आठ बार की चैम्पियन भारतीय हॉकी टीम के इरादे ओलंपिक में चार दशक से चला आ रहा पदक का सूखा खत्म करने के है ।भारतीय हॉकी टीम ने आखिरी बार 1980 के मॉस्को ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीता था । मनप्रीत ने कहा ,‘‘ इसमें कोई शक नहीं कि अर्जेंटीना जैसी मजबूत टीम को उसके मैदान पर हराने से आत्मविश्वास बढा है लेकिन हमें इसे बहुत ज्यादा तूल नहीं देना चाहिये ।’’ उन्होंने कहा ,‘‘ हमें अपनी कमजोरियों पर मेहनत करते रहना होगी । जब तक हम तोक्यो में पदक नहीं जीत लेते, हमारा काम पूरा नहीं होगा ।’’ बुधवार को खत्म हुए अर्जेंटीना दौरे पर भारत ने दो चरण के प्रो लीग मुकाबले में मेजबान को हराया । इसके अलावा चार अभ्यास मैचों में से दो जीते, एक ड्रॉ खेला और एक गंवाया । मनप्रीत ने कहा ,‘‘ उन मैचों के बाद हमें लगा कि कुछ पहलुओं पर काम करने की जरूरत है ।हमने एक टीम के रूप में निर्णायक क्षणों में भी अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन हमें शुरू ही से अच्छा खेलना होगा । इसके अलावा विरोधी टीम को दबाव में बनाये रखना जरूरी है ।’’ भारत को अब आठ और नौ मई को लंदन में ब्रिटेन से प्रो लीग के मुकाबले खेलने हैं ।इसके बाद 15 और 16 मई को वालेंशिया में स्पेन से खेलना है ।जर्मनी से 22 और 23 मई को हैम्बर्ग में मैच हैं ।

कोई टिप्पणी नहीं: