रूस से 100 ऑक्सीजन सांद्रक जयपुर पहुंचे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 मई 2021

रूस से 100 ऑक्सीजन सांद्रक जयपुर पहुंचे

100-russian-oxygen-cylinder-reach-jaipur
जयपुर, आठ मई, कोरोना वायरस संक्रमितों के इलाज के लिए सभी जरूरी उपकरण जुटाने की कोशिश कर रही राजस्थान सरकार ने रूस व चीन सहित अनेक देशों से ऑक्सीजन सांद्रक खरीदना शुरू दिया है। रूस से 100 ऑक्सीजन सांद्रकों की पहली खेप शनिवार को यहां पहुंची। राज्य सरकार इस महीने और 28,000 सांद्रक खरीदेगी। चिकित्सा मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा ने बताया कि विदेशों से खरीदे जा रहे ऑक्सीजन सांद्रकों की पहली खेप में रूस से 100 ऑक्सीजन सांद्रक जयपुर पहुंच गए हैं। उन्होंने बताया कि रूस से कुल 1250 सांद्रक मंगाए गए हैं, बाकी 9, 14 और 16 मई को यहां पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में संक्रमितों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराने की हरसंभव कोशिश की जा रही है। उन्होंने बताया कि राज्य ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट लगाने के अलावा 28 हजार 645 को कार्यादेश जारी कर दिए हैं। शर्मा ने बताया कि महामारी के कारण अस्पतालों में ऑक्सीजन की देशव्यापी कमी के बावजूद राजस्थान सरकार ने अग्रगामी कदम उठाते हुए सीधे विदेशों से संपर्क साध कर ऑक्सीजन सांद्रक मंगाने की व्यवस्था की है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दूरगामी निर्णय करते हुए 30 अप्रैल को अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल के नेतृत्व में प्रीतम वी. यशवंत और टीना डाबी की समिति गठित की। उन्होंने बताया कि इस कमेटी ने बहुत कम समय में ही 13 देशों की 62 कंपनियों से समन्वय स्थापित किया और करीब एक सप्ताह में ही रूस से पहली खेप के रुप में 100 ऑक्सीजन सांद्रक प्राप्त हुए हैं। उन्होंने बताया कि चीन से 1900 ऑक्सीजन सांद्रक 15 से 25 मई के बीच और चीन से ही 5 हजार ऑक्सीजन सांद्रक 25 मई को प्राप्त हो जाएंगे। इस तरह रूस और चीन से ही 8150 ऑक्सीजन सांद्रक 25 मई तक जयपुर आ जाएंगे। उन्होंने बताया कि रूस में भारत के दूत वेंकटेश्वर वर्मा ने ऑक्सीजन सांद्रक भारत पहुंचाने में खासी मदद की। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि मेडिकल शिक्षा विभाग द्वारा 2495 ऑक्सीजन सांद्रकों की आवश्यकता बतायी गयी है जिनमें से 125 सांद्रक वितरित कर दिए गए हैं और 2370 सांद्रक 15 मई तक प्राप्त होने की संभावना है। स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग द्वारा 8 हजार ऑक्सीजन सांद्रक के आदेश दिए जा चुके हैं जिनकी आपूर्ति जल्द शुरू हो जाएगी। उन्होंने बताया कि जिलों में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए करीब 3500 ऑक्सीजन सांद्रक जिला अस्पतालों में भेजे जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: