मधुबनी : जिले के सभी चिकित्सक होने जा रहे होम आइसोलेट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 12 मई 2021

मधुबनी : जिले के सभी चिकित्सक होने जा रहे होम आइसोलेट

docters-home-isolate-madhubani
मधुबनी : जिला आयुष चिकित्सक एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष डॉ० गजेंद्र पांडेय, जिला संयोजक डॉ० डी०के० राय ने बताया कि मानदेय बढ़ाने तथा सेवा नियमित करने की मांग को लेकर 12 मई तक काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगे। इसके बाद भी मांग पूरा नहीं होने पर 15 मई से आयुष चिकित्सक होम आइसोलेट हो जाएंगे। उन्होंने बताया कि एमबीबीएस चिकित्सकों की तरह दो वर्ष पूर्व सरकार द्वारा आयुष चिकित्सकों का मानदेय 65 हजार रुपये प्रतिमाह करने का निर्णय लिया गया। इसके बाद भी प्रतिमाह 44 हजार रुपये का भुगतान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार संविदा पर कार्यरत आयुष चिकित्सकों की अनदेखी की जा रही है। आयुष मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन के राज्यव्यापी निर्णय के आलोक में सदर अस्पताल सहित जिले के विभिन्न पीएचसी में कार्यरत 105 आयुष चिकित्सक मानदेय बढोत्तरी सहित अन्य मांगों को लेकर मंगलवार को दूसरे दिन भी काला बिल्ला लगाकर कार्य किया। वहीं, आयुष मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन, बिहार के आह्वान पर आयुष चिकित्सक काला बिल्ला लगा कर अस्पताल में चिकित्सा कार्य कर रहे हैं। झंझारपुर कोविड केयर सेंटर में कोविड मरीजों की सेवा में लगे अमसा, मधुबनी के जिला सचिव डॉ० पवन कुमार ने बताया कि एसोसिएशन के आह्वान पर आयुष चिकित्सकों के द्वारा 10 से 12 मई तक काला बिल्ला लगा कर चिकित्सा कार्य को अंजाम दिया जाएगा। 15 मई से सभी आयुष चिकित्सक होम आइसोलेशन में चले जाएंगे। उन्होंने मांगों के बारे में बताया कि छह सूत्री मांग को लेकर यह आंदोलन प्रारंभ किया गया है। जिसमें प्रति माह मानदेय 65 हजार करने के अलावा 3270 आयुष चिकित्सकों की बहाली, संविदा पर कार्यरत आयुष चिकित्सक स्थाई करने आदि मांग शामिल है। मांग पूरी होने तक आंदोलन जारी रहेगी। काला बिल्ला लगाकर कार्य करने वालों में डॉ. रमेश पासवान, डॉ. डीके निराला, डॉ. मृत्युंजय सिंह, डॉ. पवन कुमार, डॉ. मनोज कुमार, डॉ. अखलाकूर रहमान, डॉ. आफताब आलम, डॉ. अब्दुल गफ्फार, डॉ. रामरूप, डॉ. नंदनी कुमारी, डॉ. आफरीना, डॉ. उषा कुमारी, डॉ. अनुपम कुमारी, डॉ. संजीव कुमार, डॉ. रामकुमार, डॉ. अमित कुमार, डॉ. रवि चौधरी, डॉ. गणेश साह, डॉ. अनूप, डॉ. श्याम कुमार, डॉ. गोपाल प्रसाद राय, डॉ. महेन्द्र शर्मा, डॉ. सुधीर कुमार सहित अन्य चिकित्सक शामिल है।

कोई टिप्पणी नहीं: