बिहार : चिकित्सा जगत को हिलाकर रख दी है चिकित्सकों की मौत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 22 मई 2021

बिहार : चिकित्सा जगत को हिलाकर रख दी है चिकित्सकों की मौत

doctors-death-shoking-ima
पटना. बिहार में 2478 लोगों की मौत हो गई, जिसमे 96 डॉक्टर है. इतनी बड़ी तादाद में डॉक्टरों की हुई मौत ने बिहार के चिकित्सा जगत को हिलाकर रख दिया है. यही वजह है कि बिहार आईएमए ने मौत की जांच के लिए एक कमेटी के गठन कर दिया है. जांच के लिए 8 सदस्यीय कमेटी बनाई गई है, आईएमए के नेशनल प्रेजिडेंट इलेक्टेड डॉ सहजानन्द को जांच कमेटी के चैयरमैन बनाया गया है. इसके अलावा जांच कमिटी में डॉ.अजय कुमार ,डॉ. कैप्टन सिंह, डॉ. मंजू गीता मिश्रा, डॉ. बसंत सिंह, डॉ. डीपी सिंह, डॉ. राजीव रंजन और डॉ. सुनील कुमार को शामिल किया गया है. जांच कमेटी को जल्द से जल्द जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है. स्टेट सेक्रेटरी डॉ. सुनील को डॉक्टरों की मौत से जुड़े इनपुट्स उपलब्ध कराने के  निर्देश दिए गए हैं. जांच रिपोर्ट पूरी होने के बाद आईएमए इसे सरकार को सौंपेगी, ताकि सुरक्षात्मक उपाय अपनाए जा सकें.  बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर में देश में सबसे ज्यादा डॉक्टर की मौतें बिहार राज्य में हुई है. बिहार आईएमए की मानें तो जितने डॉक्टरों की मौत हुई है लगभग सभी ने वैक्सीन के दोनों डोज ले रखे थे. ऐसे में डॉक्टर्स के मन में भी अब सवाल उठ रहे हैं.

कोई टिप्पणी नहीं: