मधुबनी : वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड की विस्तृत समीक्षा बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 22 मई 2021

मधुबनी : वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड की विस्तृत समीक्षा बैठक

covid-meeding-madhubani
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता)  जिला पदाधिकारी, मधुबनी एवं पुलिस अधीक्षक, मधुबनी के द्वारा माननीय प्रभारी मंत्री, श्रीमति लेशी सिंह के अध्यक्षता में covid -19 रूपी वैश्विक महामारी की जिले में अद्यतन स्थिति जिला प्रशासन द्वारा इसके रोकथाम हेतु किए जा रहे प्रयासों  एवं जिले के अन्य सभी महत्वपूर्ण कार्यों के संबंध में वीडियों काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विस्तृत समीक्षा बैठक की सम्पन्न हुई। इस दौरान माननीय मंत्री, श्री संजय झा, माननीय मंत्री, श्रीमति शीला देवी, माननीय मंत्री श्री रामप्रित पासवान, माननीय सांसद श्री अशोक यादव, माननीय सांसद, श्री रामप्रित मंडल एवं माननीय सभी विधायकगण, विधान पार्षद् सदस्यगण तथा जिले के सभी वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थें। बैठक के दौरान जिला पदाधिकारी, मधुबनी ने जिले के वैश्विक महामारी से संबंधित सभी पहलूओं को प्रस्तुत करते हुए बैठक में उपस्थित सभी गन्यमान सदस्यों को अवगत कराते हुए कहा कि मधुबनी जिलान्तर्गत कुल 8739 कोरोना संक्रमण मामला में से 2199 मामला सक्रिय है। साथ हीं 6467 व्यक्ति कोरोना जैसे महामारी को मात देकर अपने घर वापस लौट गये है। एवं सबसे ज्यादा सक्रिय मामला सदर अनुमण्डल अंतर्गत रहिका प्रखण्ड में है। जिले में कुल 68 फिसदी मामला पुरूष की है जबकि 32 फिसदी महिलाओं की है। जिले में कुल-593 कन्टेन्मेंट जोन बनाए गये थे जिसमें से 338 कन्टेन्मेंट जोन अभी भी सक्रिय है। जिले में अब तक टीकाकरण का प्रथम खुराक कुल-3,02,212 व्यक्तियों को दिया जा चुका है, जबकि द्वितीय खुराक कुल-79,903 व्यक्यिों को दिया गया है। इस प्रकार जिले में कुल-382115 व्यक्ति टीकाकरण से अच्छादित हो चुके है। जिले में अभी तक कुल-05 कोविड केयर केन्द्र संचालित है। जिसमें की सभी प्रकार की व्यवस्था दुरूस्त है। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को आॅनलाईन के माध्यम से डाॅक्टरों के द्वारा परामर्श एवं उचित सलाह भी दी जाती है। साथ हीं होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को ए.एन.एम. के माध्यम से प्रत्येक दिन उनके आॅक्सिजन एवं तापमान की जाँच की जाती है और उसको हीट एप्प के माध्यम से उनकी जानकारी शत-प्रतिशत अपलोड की जाती है। जिससे की होम आइसोलेशन में रह रहे सभी मरीजों की स्थिति पर कड़ी निगरानी रखी जाती है। साथ हीं उपस्थित सभी सदस्यों के द्वारा आपेक्षित सुझाव दिए गये, जिसपर की माननीय प्रभारी मंत्री द्वारा भी सहमति प्रदान की गई एवं जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक महोदय को उनसभी सुझावों पर नियमानुकुल कार्रवाई करने का निदेश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: