सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 9 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 09 मई

सार्थक पोर्टल की शर्तों का पालन करने के दिये निर्देश पालन नहीं करने वाले निजी  अस्पतालों एवं नर्सिंग होगी कार्यवाही


जिले ऐसे निजी अस्पताल एवं नर्सिंग होम जो कोविड मरीजों का इलाज कर रहे है उन्हें को सार्थक पोर्टल की शर्तों का पालन करना होगा। पालन नही करने वालो के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा श्रीवास सनोबर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिए हैं। जिन अस्पतालों के पास द्वारा कोविड के इलाज के लिए पर्याप्त संसाधन उपलब्ध नहीं है तो उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही के निर्देश दिए है।  अपर कलेक्टर द्वारा जारी  निर्देश के तहत ऐसे निजी अस्पताल, नर्सिंग होम जो कोविड-19 के संक्रमित मरीजों का उपचार कर रहे हैं और उनके पास पर्याप्त संसाधन उपलब्ध है तो ऐसे निजी अस्पताल, नर्सिंग होम के पंजीकरण की कार्यवाही सार्थक पोर्टल के माध्यम से कराए जाने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। जिले में कोविड-19 के संक्रमित मरीजों के उपचार करने वाले निजी अस्पताल/नर्सिंग होम जो सार्थक पोर्टल पर पंजीकृत है उनको आयुष्मान भारत योजना अन्तर्गत संबंद्ध/पंजीयन कराया जाए। जिससे कि आयुष्मान भारत योजना के पात्र हितग्राहियों का इलाज भी हो सके।  


डोर टू डोर सर्वे के संबंध में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से चर्चा


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा गत दिवस बुधनी, शाहगंज एवं नसरुल्लागंज भ्रमण के दौरान शाहगंज में किल कोरोना अभियान के अन्तर्गत डोर टू डोर सर्वें के संबंध में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं से जानकारी ली। उन्होंने अभियान को ग्रामीण क्षेत्रों में तीव्र गति से एवं निरंतर चलाने के निर्देश दिए। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास विभाग श्री प्रफल्ल खत्री ने जानकारी दी कि संभाग आयुक्त श्री कविन्द्र कियावत एवं कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश अनुसार महिला एवं बाल विकास विभाग की कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं द्वारा डोर टू डोर सर्वे का प्रशिक्षण दिया जाकर एक साथ डोर टू डोर व जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है। जिससे लोगों में कोविड-19 से बचाव के प्रति जागरुकता आ रही है। उन्होंने बताया कि अभियान के दौरान कोविड-19 के सामान्य लक्ष्ण वाले मरीज को स्वास्थ्य केन्द्र में भेज कर प्राथमिक उपचार भी करवाया जा रहा है।


हितग्राहियों के सत्यापन एवं अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करने की प्रक्रिया निर्धारित


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देशानुसार प्रदेश में कोरोना कर्फ्यू के चलते गरीब परिवारों को पात्रतानुसार खाद्यान्न वितरण की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। इस संबंध में पात्रता पर्ची विहीन और छूटे हुए गरीब परिवारों को खाद्यान्न वितरण के लिये हितग्राहियों के सत्यापन एवं अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करने की प्रक्रिया निर्धारित की गई है। प्रमुख सचिवए खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण श्री फैज अहमद किदवई ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा अस्थाई पात्रता पर्ची के लिये निर्धारित की गई प्रक्रिया सभी कलेक्टर्स को भेजते हुए त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये हैं।


पात्रता श्रेणी- हितग्राहियों के सत्यापन एवं पात्रता पर्ची जारी करने और छूटे हुए हितग्राहियों के सत्यापन में एनएफएसएए 2013 अंतर्गत निर्धारित 24 श्रेणियों के पात्रता संबंधी दस्तावेज उपलब्ध न होने पर हितग्राही द्वारा संबंधित श्रेणी में होने का आवेदन सह-घोषणा-पत्र स्थानीय निकाय में प्रस्तुत करना होगा। स्थानीय निकाय द्वारा आवेदन सह-घोषणा-पत्र के पर्याप्त प्रिन्ट/छायाप्रति पंचायत एवं वार्ड कार्यालय में उपलब्ध कराये जायेंगे। स्थानीय निकाय में प्राप्त आवेदन सह-घोषणा-पत्रों की पंजी संधारित की जायेगी। परिवार की समग्र आईडी होना अनिवार्य है, यदि परिवार की समग्र आईडी जारी नहीं हुई है, तो तत्समय ही स्थानीय निकाय द्वारा समग्र परिवार आईडी निर्मित की जायेगी। नवीन आवेदक को परिवार के सदस्यों के आधार नंबर उपलब्ध कराने की अनिवार्यता नहीं है। परिवार के जिन सदस्यों के आधार नंबर उपलब्ध होंए उनकी प्रविष्टि पोर्टल पर की जायेगी।

सत्यापन- स्थानीय निकाय द्वारा हितग्राही से प्राप्त आवेदन का निर्धारित बिन्दुओं पर परीक्षण किया जाएगा। आवेदक संबंधित ग्रामध्वार्ड का निवासी है। परिवार एनएफएसए की पात्रता श्रेणी के अंतर्गत अर्हता रखता है। आवेदन में परिवार के एक सदस्य का सही मोबाईल नंबर उपलब्ध कराया गया है। आवेदक परिवार या उसके किसी भी सदस्य का नाम पूर्व से जारी पात्रता पर्ची में शामिल नहीं है। समग्र परिवार आईडी सही अंकित की गई है एवं आवेदन तथा समग्र आईडी डाटा में उल्लेखित परिवार के वितरण का मिलान हो रहा है। सत्यापन की कार्यवाही अधिकतम दो कार्य दिवस में पूर्ण की जायेगी। वार्ड प्रभारी/ ग्राम पंचायत सचिव द्वारा उक्तानुसार आवेदन का परीक्षण उपरांत जानकारी सही पाये जाने पर राशन मित्र पोर्टल पर आपदा खाद्यान्न राहत मॉड्यूल में आवेदक की जानकारी प्रविष्ट की जायेगी तथा हितग्राही को अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करने के लिये आवेदन जनपदध्नगरीय निकाय को अग्रेषित किया जावेगा। जनपद पंचायत/नगरीय निकाय के प्राधिकृत अधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत/वार्ड कार्यालय से अग्रेषित आवेदनों का परीक्षण उपरांत स्वीकृत/अस्वीकृत करने की कार्यवाही राशन मित्र पोर्टल पर की जायेगी। आवेदन को अस्वीकृत करने की दशा में अस्वीकृत करने का कारण अंकित करना होगा। वास्तविक पात्र हितग्राहियों को अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करने का उत्तरदायित्व स्थानीय निकाय/सत्यापनकर्ता अधिकारी का होगा।

अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करना- स्थानीय निकाय द्वारा आपदा खाद्यान्न राहत श्रेणी अंतर्गत परिवार के सत्यापन उपरांत एनआईसी द्वारा साप्ताहिक रूप से अस्थाई पात्रता पर्ची जारी की जायेगी। जारी पात्रता पर्ची में अस्थाई पात्रता पर्ची का उल्लेख किया जायेगा, जो कि आगामी तीन माह तक वैध होगी। तीन माह की समयावधि में हितग्राही द्वारा पात्रता संबंधी दस्तावेज एवं परिवार के सभी सदस्यों के आधार नंबर उपलब्ध कराने पर स्थाई पात्रता पर्ची जारी की जा सकेगी। अस्थाई पात्रता पर्ची राशन मित्र पोर्टल पर उपलब्ध कराई जायेगीए जिसका प्रिन्ट स्थानीय निकाय द्वारा हितग्राही को उपलब्ध कराया जायेगा। अस्थाई पात्रता पर्ची जारी होने की सूचना हितग्राही के पंजीकृत मोबाईल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से दी जायेगी।

खाद्यान्न का आवंटन- निर्धारित की गई प्रक्रिया के तहत जोड़े गए नवीन परिवारों के लिये एनण्एफण्एसण्ए अंतर्गत अतिरिक्त खाद्यान्न गेहूँ एवं चावल का आवंटन जारी किया जायेगा। उचित मूल्य दुकान पर आवंटित खाद्यान्न के प्रदाय की प्रत्याशा में दुकान पर उपलब्ध स्टाक में से हितग्राही को खाद्यान्न का वितरण कराया जायेगा। योजना अंतर्गत खाद्यान्न प्रदाय की प्रतीक्षा किये बगैर हितग्राही को खाद्यान्न वितरण कराया जायेगा।

वितरण- अस्थाई रूप से जोड़े गए नवीन हितग्राहियों को पीओएस मशीन से खाद्यान्न का वितरण किया जायेगा। इसके लिए आपदा खाद्यान्न राहत श्रेणी अंतर्गत पृथक से पीओएस मशीन पर प्रदर्शित होंगे। पात्र हितग्राही को अस्थाई पात्रता पर्ची जारी होने के माह से खाद्यान्न प्राप्त करने की पात्रता होगी। परिवार को 5 किलोग्राम प्रति सदस्य प्रतिमाह के मान से खाद्यान्न वितरण किया जायेगा। इसके अतिरिक्त पीएमजीकेएवाय अंतर्गत माह मई एवं जूनए 2021 का कुल 10 किलोग्राम खाद्यान्न भी निःशुल्क वितरण किया जायेगा। हितग्राही को खाद्यान्न वितरण करते समय पीओएस मशीन से जारी पावती आवश्यक रूप से उपलब्ध कराई जाए।

प्रचार-प्रसार एवं निगरानी- नवीन परिवारों को जोड़ने एवं उनको खाद्यान्न वितरण के संबंध में स्थानीय स्तर पर व्यापक प्रचार.प्रसार कराने के निर्देश दिये गये हैं। साथ ही जन-प्रतिनिधियों को भी इस संबंध में अवगत कराया जाये। प्राप्त आवेदनों के सत्यापनए पोर्टल पर प्रविष्टि, अस्थाई पात्रता पर्ची जारी करने एवं खाद्यान्न वितरण की प्रतिदिन पंचायतवार/निकायवार मॉनिटरिंग की जाये। हितग्राहियों से आवेदन प्राप्त करने एवं राशन वितरण में कोविड.19 के बचाव के लिये निर्धारित प्रोटोकॉल एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराये जाने के भी निर्देश दिये गये हैं। श्री किदवई ने कहा कि अस्थाई रूप से जोड़े गए परिवारों द्वारा निर्धारित अवधि में पात्रता संबंधी दस्तावेज उपलब्ध न कराने पर उनको जारी अस्थाई पात्रता पर्ची आमान्य कर दी जायेगी।


निजी स्वास्थ्य संस्थाएँ घोषित पैकेज के अनुसार करें कोरोना का इलाज- मुख्य सचिव


मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस ने कहा है कि प्रदेश में विभिन्न निजी स्वास्थ्य संस्थाओं द्वारा कोविड-19 का इलाज किया जा रहा है। इन अस्पतालों द्वारा चिकित्सा पर होने वाले व्यय के स्वतरू घोषित पैकेजेस राज्य शासन के पोर्टल http:/sarthak.nhmmp.gov.in/covid  में प्रदर्शित हैं। निजी अस्पतालों से अपेक्षा है कि वह इन पैकेजेस के अनुरूप मरीजों की बिलिंग करें। मुख्य सचिव श्री बैंस ने बताया है कि इस संबंध में अस्पताल प्रबंधन के विरुद्ध शिकायत प्राप्त होने पर उसकी जाँच करने तथा आवश्यक समाधान करने के लिये एक समिति गठित की गयी है। समिति में प्रमुख सचिव श्री संजय दुबे, श्री प्रतीक हजेला और सचिव श्री संजय गोयल को शामिल किया गया है। समिति इस संबंध में शिकायतें प्राप्त करने, उनकी जाँच करने एवं यथोचित कार्यवाहियाँ करने की सम्पूर्ण व्यवस्था करेगी। 


खेल वृति आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 मई


म.प्र. शासन खेल एवं युवा कल्याण विभाग द्वारा खिलाडियों को दी जाने वाली खेल वृति के आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 मार्च निर्धारित है। जिला खेल अधिकारी ने बताया कि अधिकृत राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में स्वर्ण, रजत, कांस्य पदक प्राप्त किया हो, वरीयता राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में पदक अर्जित करने वाले खिलाडियों को दी जाएगी। खेलवृति का उद्देश्य राज्य स्तरीय पदक विजेता खिलाडियों को पुरस्कृत कर जिले के खिलाडियों को प्रोत्साहित करना है। खेल वृति वाले वर्ष में 01 अप्रैल 2020 को खिलाडी की आयु 19 वर्ष से अधिक नहीं होना चाहिए, खिलाडियों को म.प्र. का मूल निवासी होना अनिवार्य है। आवेदक की विगत वर्ष के 01 अप्रैल 2020 से वर्तमान वर्ष के 31 मार्च 2021 तक अर्थात 01 वित्तीय वर्ष के खेल उपलब्धियों की गणना की जाएगी। खेल वृति हेतु आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 मई 2021 नियत है।


घर में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए एडवाईजरी


देश-प्रदेश के साथ-साथ जिले में लगातार बढ़ रहे संक्रमितों के आंकड़ों के बाद और मरीजों को संस्थागत क्वारेंटाइन में आने वाली समस्या को ध्यान में रखते हुए लक्षण रहित कोरोना पॉजिटिव मरीज जिनकी संख्या काफी अधिक रहती है, अपनी रिपोर्ट आने के बाद से ही घर पर रहकर ही अपना इलाज करायें। होम क्वारेंटाइन में रह रहे व्यक्ति एवं उसके देखभालकर्ता का यह प्रथम दायित्व होगा की मरीज को सांस लेने में कठिनाई, निरंतर दर्द, छाती में दबाव, भारीपन, मानसिक भ्रम या सचेत होने में कठिनाई, होंठ, चेहरे का नीला पड़ना आदि लक्षण होने पर होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति तत्काल मोबाईल मेडिकल यूनिट के डॉक्टर अथवा 104 पर चिकित्सीय सहायता के लिये सम्पर्क करें। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति द्वारा सदैव ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये एवं मॉस्क के भीगने, गंदा होने पर मॉस्क बदला जाये। मॉस्क को एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से विषाणमुक्त करके ही निपटान किया जाये। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति, घर के अन्य वृद्धजन, उच्च रक्तचाप, दिल, गुर्दे के रोग से ग्रस्त सदस्यों से दूर, अपने कक्ष में ही रहे। होम आईसोलेशन के दौरान संक्रमित व्यक्ति द्वारा समुचित आराम किया जाये एवं पर्याप्त पेय पदार्थों व संतुलित आहार का सेवन किया जाये। खाँसते-छींकते समय मुँह को टिशूरुमाल, तौलिया, दुपट्टा, गमछा आदि से ढांका जाये तथा हार्थों को साबुन पानी से बार-बार धोया जाये। किसी भी परिस्थिति में व्यक्तिगत वस्तुओं को अन्य सदस्यों के उपयोग के लिये साझा न किया जाये। औषधियों के सेवन के लिये चिकित्सीय परामर्श का अनुपालन किया जाये। सम्पर्क में आने वाले सतहों (टेबल,दरवाजे के हैण्डल,लाइट बटन,मोबाइल आदि) की विषाणुमुक्ति एक प्रतिशत सोडियम हाइपोक्लोराइट से नियमित रूप से साफ किया जाये। कोविड-19 केस के देखभालकर्ता द्वारा सदैव संक्रमित व्यक्ति के कक्ष में उपस्थिति के दौरान ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये। मॉस्क, मुँह व चेहरे को छूने से बचा जाये तथा मॉस्क के भीगने या गंदा हो जाने पर तत्काल बदला जाये। संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने अथवा उपयोग की हुई सतहों के सम्पर्क में आने पर साबुन पानी से हाथ धोया जाये। भोजन पकाते समय, खाने के पूर्व व शौचालय के उपयोग के बाद साबुन पानी से न्यूनतम 40 सेकेण्ड तक हाथ धोया जाये अथवा उनको अल्कोहल युक्त सेनेटाइजर से साफ किया जाये। संक्रमित व्यक्ति से सम्पर्क दौरान दस्ताने का उपयोग किया जाये। संक्रमित वस्तुओं जैसे बर्तन, तौलिया, चादर आदि को सीधे छूने से बचा जाये एवं इस दौरान ग्लब्स एवं ट्रिपल लेयर मेडिकल मॉस्क का उपयोग किया जाये। ग्लब्स उतारने के बाद हाथ अच्छे से धोकर साफ टिशू तौलिये से पोंछा जाये। कोविड-19 संक्रमित व्यक्ति को भोजन उसके कक्ष में ही परोसा जाये व उपयोग किये गये बर्तनों को ग्लब्स पहनकर साबुन पानी से अच्छे से साफ किया जाये। संक्रमित व्यक्ति को समस्त निर्देशित औषधियाँ सेवन कराने का दायित्व देखभालकर्ता का होगा। देखभालकर्ता एवं अन्य सभी निकट सम्पर्क द्वारा अपना दैनिक तापमान तथा अन्य कोविड लक्षण जैसे बुखार, खाँसी,सांस लेने में कठिनाई की निगरानी की जाना अनिवार्य है एवं दैनिक रूप से इसका अपडेट सार्थक एप पर किया जाये। कोई भी लक्षण उत्पन्न होने पर नियत सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी को सूचित किया जाये। होम आइसोलेशन अवधि की समाप्ति- होम आइसोलेशन में निगरानीबद्ध व्यक्ति को लक्षण उत्पति दिनांक, सेम्पल दिनांक से विगत 10 दिनों से लक्षण रहित होने तथा 3 दिनों से बुखार रहित होने पर डिस्चार्ज किया जाये। तत्पश्चात आगामी 7 दिवस तक उक्त व्यक्ति द्वारा घर पर अपने स्वास्थ्य की स्व-निगरानी सुनिश्चित की जायेगी। कोविड संक्रमित व्यक्ति की जाँच में संक्रमण से मुक्ति पुष्ट होने पर एक लक्षण रहित स्थिति को आंकलित कर, सर्वेलेंस चिकित्सा अधिकारी द्वारा होम आइसोलेशन समाप्ति का लिखित प्रमाण-पत्र दिया जायेगा।   


अंतर्राज्जीय बस परिवहन सेवा 15 मई तक स्थगित


राज्य शासन ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए लोकहित में मध्यप्रदेश में उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्य से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को 7 मई तक स्थगित किया गया था। सचिव, राज्य परिवहन प्राधिकारी एवं अपर परिवहन आयुक्त ने बताया कि उक्त राज्यों से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को स्थगित करने की अवधि बढ़ाकर 15 मई, 2021 कर दी गई है। इस संबंध में आदेश जारी कर दिये गये हैं। 


चिकित्सा शिक्षा एवं कोविड प्रभारी मंत्री श्री सारंग ने सीहोर, इछावर एवं दिवड़िया के कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण किया, श्री सारंग त्वरित और समुचित उपचार के दिए निर्देश  


sehore news
चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं जिले के कोविड प्रभारी मंत्री श्री विश्वास सारंग ने ग्राम पंचायत दिवडिया, इच्छावर तथा सीहोर स्थित कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों को सभी आवश्यक सुविधाओं की उप्लवधता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कोविड संक्रमित मरीजों का त्वरित एवं समुचित उपचार के चिकित्सकों को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इलाज के लिए आने वाले मरीजों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो। श्री सारंग ने जिला चिकित्सालय का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने कोविड संक्रमित मरीजों केइलाज के संबंध में जानकारी ली। साथ ही चिकित्सालय में भर्ती मरीज के परिजनों से इलाज एवं अस्प्ताल की व्यवस्थाओं की जानकारी ली। मरीज के परिजन से बात करके व्यवस्थओं से संतुष्ट नजर आए। मंत्री श्री सारंग ने सिंधी कॉलोनी स्थित कोविड सहायता केन्द्र में पहुंचकर उपस्थित स्टाप से कोविड सहायता  में दी जाने वाली सुविधाओं पर विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यहां पर आने वाले सर्दी, जुखाम, बुखार के मरीजों को त्वरित उपचार प्रदान करें जिससे कि संभावित लक्ष्ण वाले मरीज कोविड-19 से संक्रमित होने से बच सकें।


यह थे उपस्थित

इस अवसर पर विधायक इछावर श्री करण सिंह वर्मा, एसपी श्री एसएस चौहान, सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, एसडीएम सीहोर, इछावर, श्री रवि वर्मा, श्री रवि मालवीय, श्री राजकुमार गुप्ता, श्री सीताराम यादव, श्री प्रिंस राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।   


आष्टा रोको टोको अभियान अन्तर्गत किया जा रहा लोगों को जागरुक


sehore news
जिले में कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिले में कोरोना वालेंटियर द्वारा रोकों टोको अभियान चलाया जा रहा है। आष्टा में रोको टोको अभियान के अन्तर्गत कोरोना वालेंटियर वेवजह घर से निकलने वाले लोगों कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय बता रहे हैं। साथ ही बिना मास्क वालों को मास्क वितरण किए जा रहे हैं। कोरोना वालेंटियर लोगों को समझाया जा रहा हैं कि कोरोना हमेशा मास्क लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें एवं अपने हाथों को बार-बार साबुन से धोएं। कोई भी व्यक्ति बिना किसी अतिआवश्यक काम के घर से बाहर न निकलें। कोरोना कर्फ्यू के दौरान शासन द्वारा जारी गाइड लाइन का पालन करें।


18 से 44 वर्ष आयु वर्ग टीकाकरण के लिए 10 मई को शाम 4 बजे प्रारंभ होगी ऑनलाईन बुकिंग


18 से 44 वर्ष आयु वर्ग वालों के कोविड-19 टीकाकरण के लिए सोमवार 10 मई को ऑनलाईन बुक्रिंग शाम 4 बजे खुलेगी। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.के.चंदेल ने जानकारी दी कि ऑनलाईन बुकिंग 12 मई, 13 मई तथा 15 मई 2021 को आयोजित होने वाले कोवडि-19 टीकाकरण सत्रों के लिए प्रारंभ होगी। 18 से 44 आयु के जिन हितग्राहियों का ऑनलाईन पंजीयन होगा उनके द्वारा चिन्हित किए गए टीकाकरण केन्द्रों पर उन्हीं व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा जो ऑनलाईन पंजीयन की रिसिप्ट प्रस्तुत करेंगे। 


जनप्रतिनिधि गांवों एवं वार्डों में समिति गठित कर लोगों को जागरूक करें- श्री सारंग

  • चिकित्सा शिक्षा मंत्री ने जिले में कोरोना  संक्रमण की समीक्षा की

sehore news
चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं जिले के कोविड प्रभारी मंत्री श्री विश्वास सारंग ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ली जा रही वीडियो कांफ्रेंस में भाग लिया। तत्पश्चात अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों के साथ कोविड-19 के उपचार एवं इससे बचाव के लिए किए जा रहे उपाय एवं व्यवस्थाओं पर विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने सीएमएचओ को निर्देश दिए कि जिला चिकित्सालय स्थित कोविड आईसीयू वार्ड में स्थित बिस्तरों की संख्या बढ़ाई जाए अथवा एक 10-12 बिस्तरों वाला आईसीयू वार्ड अलग से शुरू करवाएं। उन्होंने कहा कि इस आईसीयू वार्ड के लिए जो संसाधनों की आवस्यकता होगी उसे शीघ्र ही पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। मंत्री श्री सारंग ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से कहा कि प्रत्येक गांवों और वार्डों में जनजागरुकता समितियों का अतिशीघ्र गठन करें। इन समितियों में ग्रामसेवक, जनप्रतिनिधि, प्रतिष्ठितजनों और धर्मगुरुओं को शामिल किया जाए। ग्राम स्तर पर बनी समिति के यह सदस्य घर-घर जाकर आमजनों को जागरुक करें और उन्हें उचित मार्गदर्शन दें। इससे हमें इस महामारी को रोकने में सहायता मिल सकेगी। बैठक में मंत्री श्री सारंग ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कोरोना के संदिग्ध लक्ष्णों वाले मरीजों का तुरंत परीक्षण कर लिया जाए तथा तत्काल उपचार शुरू कर दिया जाए।  प्रारंभिक स्तर पर ही कोरोना संक्रमण का पता चल जाए तो घर पर ही इलाज कर स्वस्थ किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की सतत मॉनिटरिंग की जाए। घर पर पर्याप्त स्थान न हो तो पंचायतों में बने कोरेंटाइन सेंटर में रखा जाए। पंचायतों में नियमित योग एवं प्राणायाम कराया जाए ताकि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद मिले।


बैठक में यह थे उपस्थित

एसपी श्री एसएस चौहान, सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह, एसडीएम श्री रवि वर्मा, सीएमएचओ डॉ सुधीर कुमार डेहरिया, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री रवि मालवीय, श्री राजकुमार गुप्ता, श्री सीताराम यादव, श्री प्रिंस राठौर सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थे।


जिले में 180 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 1318


पिछले 24 घंटे के दौरान 180 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 33 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं। जो माझीपुरा, बड़ियाखेड़ी, अवधपुरी, पुलिस लाइन, चाण्क्यपुरी, इंदौर नाका जी-1 कॉलोनी, महाराणा प्रताप नगर, गंज, राठौर मोहल्ला, कस्बा, डीडी स्टेट, बग्गीखाना, दशहरा बाला बाग, गुलाब विहार, लेब कॉलोनी, चाण्क्युपरी, गंगा आश्रम, भोपाली फाटक, स्वदेश नगर, नरेन्द्र नगर, जेल रोड़, ब्रहमपुरी, भोपाल नाका, कोतवाली चौराहा, गुलजारी का बगीचा, पारस विहार, रेलवे फाटक रोड़ के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 35 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो लाड़कुई, गोपालपुर, नीमखेड़ी, चकल्दी, पीपलकोटा, धकनी, कलवाना, इटारसी, बागवाड़ा, सिवनी मालवा रोड़, सिंहपुर, अंबा, लाचौर, नीमखेड़ी, नसरुल्लागंज, वार्ड नंबर 02, 14, वासुदेव, शास्त्री नगर, बोरखेड़ा, चकल्दी, सिराड़ी, कॉलोनी के पास के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अंतर्गत 18 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति कांकरखेड़ा, अमलाहा, दिवड़िया, नयापुरा, विशनखेड़ीख्‍ भाउखेड़ी, लसुड़िया गोयल, पांगराखाती, इछावर के वार्ड नंबर 07, 01, 08, तथा ढाबलामाता के निवासी हैं।  श्यामपुर क्षेत्र से 22 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति दोराहा, बिजोरी, झरखेड़ा, चांदबढ़, नापलाखेड़ी, मगरलोड, श्यामपुर, अहमपुर, चौकी एरिया, निपानिया, चरनाल, मगरखेड़ा, धनखेड़ा, करंजखेड़ा, दुपाड़िया, मोगराराम के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से तो 30 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो पटवा कॉलोनी, कल्याणपुरा, सिलेगना, शाहगंज, हथनौरा, इतवारी, हथनोरी, मछवाई, नीमटोन, बुधनी के वार्ड नंबर 12, 09, 08, गोंडी गुराड़िया, डोंगरी, नयागांव, बकतरा, बासनिया, वर्धमान कॉलोनी, खितवाई, थाना एरिया, पीलीकरार, रेहटी, सेमरी कॉलोनी के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 42 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो अरनियाखुर्द, बजरंग कॉलोनी, अरनिया जोहरी, बोरदा, हर्राजखेड़ी, दुपाड़िया भील, सीएचसी इछावर, बिजलोन, डोडी, मुगली, बड़ा बाजार, पार्वती थाना, दादाबाड़ी, चनोटा, कोर्ट के सामने, सुभाष नगर, कुरावर, फुडरा, दरखेड़ा, हरनावदा, मैना, पाड़लिया, इंदिरा कॉलोनी, अंजनीनगर, पटावारी कॉलोनी, जावर, खजूरिया कासम, भंवरा, अवधपुरी, नजरगंज, बुध्वारा के निवासी हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्तमान में जिले में एक्टिव पॉजिटिव 1318 हैं। आज 63 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 6777 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 104 है । आज 842 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 111, श्यामपुर से 100, विकासखंड नसरुल्लागंज से 200, आष्टा से 214 एवं बुदनी विकासखंड से 149 तथा इछावर से 68 सेंपल लिये गए हैं। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 8199 है जिसमें से 104 की मृत्यु हो चुकी है। 6777 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है। तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 1318 है। आज 842 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 110130 हैं जिनमें से 101000 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 634 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 860 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: