विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 09 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 9 मई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 09 मई

अतिशीघ्र CT स्केन मशीन स्वीकृत


विदिशा I वर्तमान करोना रूपी गंभीर आपदा के समय मे स्थानीय मेडिकल कॉलेज एवं जिला चिकित्सालय मे उपचार रत, एवं अन्य सभी जिले, एवं आस-पास के पीड़ित मरीजों- परिजनों की परेशानी एवं महती आवश्यकता को द्रष्टिगत रखते हुए अतिशीघ्र CT स्केन मशीन स्वीकृत- स्थापित कराने की मांग जन हित मे प्रदेश कांग्रेस महासचिव, एवं समाज सेवी- पत्रकार - इंजी. अजय दांतरे, एवं आम जनों ने प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री एवं, मान. स्वास्थ्य मंत्री जी से की है I अपने भेजे गये अनुरोध पत्र मे कहा  गया कि जैसा कि विदिशा को कुछ समय पूर्व ही प्राप्त सर्व सुविधा युक्त नवीन जिला चिकित्सालय, एवं मेडिकल कॉलेज इस भयंकर करोना रूपी आपदा के समय मे न सिर्फ स्थानीय विदिशा, जिले के लोगों को ही, बल्कि आस-पास के जिले के लोगों को भी मंहगे निजी उपचार से बचाव के साथ वरदान जैसे ही सवित हो रहे हैं I किन्तु ऐसा भी देखने मे आता रहा है कि करोड़ों  रुपये खर्च कर बनाये गये ये संस्थान भी कुछ आधार भूत- मूल भूत कमियों से भी जूझ रहे हैं जिनको कि निश्चित तौर पर तत्परता के साथ ही स्थानीय पशासन एवं प्रबंधन द्वारा प्राथमिकता से दूर करा भी जा रहा है I किन्तु साथ ही जैसा कि विदित है कि वर्तमान करोना की वीमारी मे मरीज के शरीर- लंग्स पर हुए प्रभाव की जाँच हेतु एवं आगे सही उपचार हेतु, एवं बाद मे भी इलाज का प्रभाव देखने हेतु भी मरीज के CT स्केन जाँच की आवश्यकता होती है, जोकि विदिशा मे सिर्फ एक ही निजी संस्था के पास उपलब्ध है, एवं अत्यधिक मांग -दवाब के कारण वहां भी कई दिनों की प्रतीक्षा तक का सामना करना पड़ रहा है, बल्कि बीच मे ख़राब होने के कारण भोपाल ही इस टेस्ट हेतु – सही इलाज हेतु जाना एक मज़बूरी बन जाती है. या फिर देखने मे ये भी आ रहा है कि कई बार शायद इसी बजह से सही इलाज कराने मे देरी की बजह से परिजनों को न सिर्फ बाहर निजी चिकित्सालयों मे इलाज के लिए मजबूर होना पड़ता है, बल्कि मरीज की जान तक से हाथ धोना पड़ रहा है, जोकि अत्यंत अफ़सोस जनक है I  अतः उपरोक्त परिस्थीयों को द्रष्टिगत रखते हुए विदिशा के आम जनों की ओर से मांग करते हुए अतिशीघ्र CT स्केन – MRI मशीन की राशि स्वीकृत कर मशीन स्थापित कराने की मांग की है I साथ ही किसी बजट के अभाव या अन्य प्रशासनिक प्रक्रिया मे देरी होने की स्थिति मे PPP मोड पर या, स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर सभी जन प्रतिनिधियों, समाज सेवियों, संस्थाओं, एवं आम जन के सहयोग से भी इसकी स्थापना किये जा सकने का विकल्प भी देते हुए स्वयं के ओर से भी प्रारंभिक सहयोग राशि देने का प्रस्ताव भी दिया है I जैसा कि विदित है कि कई जरुरी उपकरणों के साथ ही ओक्सीजन की कमी से जूझ रहे इन संस्थानों हेतु भी कई ओक्सीजन- कांस्त्रेटर प्राप्त भी हुए हैं, एवं- लाखों रूपये के कई और भी नए ओक्सीजन- कांस्त्रेटर दान मिलने के प्रस्ताव भी हैं, किन्तु अतिशीघ्र ही  नवीन निर्माणाधीन ओक्सीजन प्लांट चालू होने से अब इन उपकरणों की बहुत अधिक आवश्यकता नही रहेगी, अतः इस तरह के नवीन दान-प्रस्तावों का पैसा भी शासकीय स्वीकृति मे बिलंब होने पर आवश्यकता अनुसार अभी की महती आवश्यकता CT- स्केन मशीन लगाने मे उपयोग किया जा सकता है I साथ ही पत्र मे हाल ही मे समीप के रायसेन चिकित्सालय मे कट स्केन-MRI मशीन की स्वीकृति होने की जानकारी लगने पर उसके साथ ही माननीय मुख्यमंत्री जी के प्रारंभ से ही विशेष लगाओ बाले विदिशा को भी तुरंत ही यह स्वीकृति देने , या फिर जन सहयोग के साथ ही तुरंत मशीन स्थापना कराने का भी अनुरोध किया है I 


पात्र पर्ची  विहीन गरीब परिवारों को खाद्यान  देने हेतु  पात्रता पर्ची देने की प्रक्रिया निर्धारित 


कोरोना  संक्रमण के कारण लाकडाउन अवधि में गरीब परिवारों की खाद्य सूरक्षा सुनिष्चित करने हेतु शासन द्वारा निर्देष दिये गये है कि ऐसे पात्र पर्चीविहीन/छुटे हुयें गरीब परिवार की पात्रता संबंधी दस्तावेज जारी नही होने अथवा दस्तावेज पूर्ण ना होने तथा परिवार के सभी सदस्यों के आधार नंबर नही बन पाने के कारण हितग्राहियों के सत्यापन एवं पात्रतापर्ची जारी करने में कठिनाई उत्पन्न हो रही है ऐसे परिवारो का सत्यापन एवं अस्थाई पात्रता पर्ची जारी कर उन्हें शासकीय उचित मूल्य की दुकान से राषन सामग्री गेहूं चावल वितरण किया जाए । ऐसे गरीब हितग्राहियों को  नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत में अस्थाई पात्रता पर्ची के लिये आवेदन करने तथा पात्रता पर्ची प्राप्त करने हेतु निम्न प्रक्रिया निर्धारित की गई है:- 


➡️ राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत निर्धारित 24 श्रेणियाॅ (पात्रता श्रेणी1 -ए.ए.वाय 2-बी.पी.एल 3सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के पेंशनर 4-भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मण्डल कार्ड धारक, 5-मजदूर सुरक्षा कार्ड धारक, 6-वनधिकार प्राप्त पट्टाधारी, 7-साइकिल रिक्शा हाथ ठेला चालक कार्ड धारक, 8-शहरी घेरुलू कामकाजी महिला कार्ड धारक, 9-होकर (फेरीवाला) कार्ड धारक, 10-बीड़ी श्रमिक, 11-भूमिहीन कोटवार, 12-बुनकर एवं शिल्पी, 13- केशशिल्पी कार्ड धारक, 14-एचआईवी (एड्स) संक्रमिक व्यक्ति, 15-रेलवे में पंजीकृत कुली, 16-बंद पड़ी मिलों में पूर्ब नियोजित श्रमिक, 17-एमआर/ एमडी, 18-हम्माल एवं तुलावटी योजना कार्ड धारक, 19-वृद्धाश्रम, 20-अनाथ आश्रम, 21-अनुसूचित जनजाति, 22-अनुसूचित जाति, 23-चालक परिचायक  24-मत्स्य पालन कार्ड धारक) के पात्रता संबंधी दस्तावेज उपलब्ध न होने पर हितग्राही द्वारा संबंधित श्रेणी में होने का निर्धारित आवेदन सह-घोषणा पत्र   नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत में प्रस्तुत करना होगा। हितग्राहियों की सुविधा के लिये प्रत्येक   नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत में निर्धारित आवेदन सह-घोषणा पत्र उपलब्ध रहेंगे। 

➡️ परिवार की समग्र आईडी होना अनिवार्य है, यदि परिवार की समग्र आई जारी नही हुई है तो सत्समय की   नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत द्वारा समग्र आईडी निर्मित की जावेगी। 

➡️ नवीन आवेदक परिवार के सदस्यों के आधार नंबर उपलब्ध कराने की अनिवार्यता नही है। परिवार के जिन सदस्यों के आधार नंबर उपलब्ध होंगे वे आधार नंबर उपलब्ध कराने होंगे। आवेदन आवेदन सह-घोषणा पत्र के साथ में परिवार के एक सदस्य का  सही मोबाईल नंबर उपलब्ध कराना होगा। 

➡️ अस्थाई पात्रता पर्ची के लिये वे परिवार अपात्र होंगे जो राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत निर्धारित उक्त 24 प्रकार की पात्रता श्रेणी अंतर्गत आर्हता नही रखते हो, नवीन आवेदक परिवार या उसके किसी भी सदस्य का नाम पूर्व से जारी पात्रता पर्ची में नाम शामिल हो। 

 ➡️   नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत द्वारा हितग्राहियों से प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों का निर्धारित बिन्दुओं में 2 दिवस में सत्यापन का कार्य पूर्ण कर एम राषन मित्र पोर्टल पर दर्ज किया जावेगा।

 ➡️ ऐसे नवीन आवेदक परिवार जो   नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद/ ग्राम पंचायत के सत्यापन में पात्र पाये जाते है उनकी अस्थाई पात्रता पर्ची आपदा खाद्यान्न राहत श्रेणी अंतर्गत एनआईसी द्वारा साप्ताहिक रूप से अस्थाई पात्रता पर्ची जारी की जावेगी। अस्थाई पात्रता पर्ची 3 माह तक के लिये वैध होगी। 3 माह की समयावधि में हितग्राही द्वारा को पात्रता संबंधी दस्तावेज एवं परिवार के सभी सदस्यो के आधार नंबर उपलब्ध कराने पर उन्हे स्थाई पात्रता पर्ची जारी की जा सकेगी।

 ➡️ ऐसे नवीन आवेदक परिवार को अस्थाई पात्रता पर्ची जारी होने की सूचना हितग्राही के पंजीकृत मोबाईल नंबर पर एमएमएस के माध्यम से दी जाएगी।

 ➡️ ऐसे नवीन अस्थाई पात्रता पर्चीधारी हितग्राहियों को शासकीय उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से अस्थाई पात्रता पर्ची जारी हाने के माह से राषन की पात्रता होगी। परिवार को 5 किलोग्राम प्रति सदस्य के मान से राषन वितरण किया जाएगा तथा इसके अतिरिक्त पीएमजीकेएवाय योजनान्तर्गत अंतर्गत माह मई एवं जून, 2021 का कुल 10 किलोग्राम राषन निषुल्क वितरण किया जावेगा। 

 ➡️ हितग्राहियों को आवेदन प्राप्त करने एवं राषन वितरण में कोविड-19 के बचाव हेतु निर्धारित प्रोटोकाल एवं सोषल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। क्रमांक  52


जागरूकता के संदेश विभिन्न संसाधनों से 


vidisha news
मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद के सदस्यों तथा में कोरोनावायरस तहत पंजीकृत सदस्यों के द्वारा आज विदिशा शहर में नीम ताल चौराहे पर आम जनों को जागरूक करने खासकर कोरोना वायरस के संक्रमण को कैसे रोके और बचाव के उपाय से सभी को अवगत कराने के उद्देश्य विभिन्न संसाधनों के माध्यम से जागरूकता का संदेश प्रसारित किया है। मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद की जिला समन्वयक श्रीमती पूजा श्रीवास्तव ने बताया कि आज रविवार को कोरोना महामारी की विकट परिस्थितियों में एस एस एल जैन पीजी कॉलेज के स्वयंसेवक द्वारा अपना योगदान देकर आम जनों को जागरूक करने हेतु उपयोगी नारे लिखने का कार्य किया गया है । वहीं मास्क का उपयोग क्यों आवश्यक है, से अवगत कराया है। इस दौरान कोरोनावायरस के बचाव उपायों का प्रदर्शन चित्रों के माध्यम से भी किया गया है। दल के सदस्यों द्वारा नीम ताल चौराहे पर ही रोको टोंको अभियान का भी क्रियान्वयन कर आम जनों को जागरूक करने का कार्य किया है। खासकर ऐसे लोग जो बेवजह घूम रहे थे ।उन्हें समझाइश देकर अपने अपने घरों में सुरक्षित रहने की सीख दी गई है ।  जन अभियान परिषद की तरफ से प्रोफेसर शिवेंद्र शर्मा के नेतृत्व में तथा जिला समन्वयक पूजा श्रीवास्तव एवं कार्यक्रम अधिकारी डॉ जयश्री बोराना   वरिष्ठ स्वयंसेवक आदित्य राजोरिया के अलावा स्वयंसेवक अंकिता जाटव जमुना मालवीय विकास शर्मा मिलन सूर्यवंशी राजा बाबू अहिरवार विजय मालवीय  यश ठाकुर तथा राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के विद्यार्थियों ने सहभागिता निभाई है। 

कोई टिप्पणी नहीं: