विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 24 मई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 24 मई

अब एक बैग यूरिया आधा लीटर की बोतल में


vidisha news
सहकारिता के क्षेत्र में भारत का गौरव इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोआपरेटिव लिमिटेड(इफको) भोपाल द्वारा दिनांक 25.05.2021 ( मंगलवार) को सुबह 11 बजे से 12.10 बजे तक  किसान भाइयों के लिए इफको नैनो यूरिया तरल “उपयोग एवं फसल उत्पादन में महत्व " विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है।  उपरोक्त  वेबिनार में विश्व  में पहली  बार निर्मित नैनो यूरिया तरल के बारे में कृषि वैज्ञानिकों  द्वारा चर्चा की जायेगी। कार्यक्रम में  डा़.एस.के. राव,  कुलपति  राजमाता विजयाराजे सिंधिया  कृषि विश्वविधालय,  ग्वालियर, श्री योगेन्द्र कुमार,  विपणन निदेशक, इफको,  नई दिल्ली,  एवं डा. रमेश रालिया, महाप्रबंधक (नैनो टेक्नोलाँजी),  इफको, कलोल संबोधित करेंगे।


जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्या. विदिशा की शाखाये बंद होेने के कारण  किसानों  की उपज के भुगतान नहीं होने के संबंध में यथाशीघ्र कार्यवाही की जाये - शशांक भार्गव


विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने कलेक्टर विदिशा एवं प्रभारी अधिकारी जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्या. शाखा विदिशा को पत्र लिखकर किसानों को गेहूॅ की उपज समर्थन मूल्य पर विक्रय करने के उपरांत यथाशीघ्र राशि का भुगतान किये जाने एवं आ रही कठिनाईयों को दूर किये जाने की बात कही। उन्होने कहा कि पिछले 10-12 दिन से जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्या. विदिशा की अधिकांश शाखाए बंद होने की बजह से संपूर्ण जिले के किसान परेशान है, गेहूॅ की फसल का पैसा खाते में आने के बाबजूद किसान अपना पैसा निकालने से वंचित है, कोरोना महामारी के दौरान यह भी देखा गया है कि कई किसान भाईयों के परिजन पैसों के अभाव में काल के गाल में समा गये। किसानों के कर्ज के पेटे बैंक द्वारा आदेश जारी किया गया है कि कर्ज का आधा पैसा खाते में से काटा जायेगा और आधे पैसे का आहरण किसान स्वयं कर बाॅकी के  कर्जे की रकम सौसायटी में जमा कर अपना खाता क्लियर करेगा, उन्होंने सुझाव दिया है कि सोसायटी के सचिव को डेविड वाउचर उपलब्ध कराये जावे और एक डेविड वाउचर के जरिये पूरे कर्जें की रकम कर्ज खाते में ट्रांसफर कर बाॅकी की रकम निकालने की ईजाजत एक बार में ही दे दी जाये व जिन किसानों का कर्ज खाता बेवाक हो जाये, उसके तीन दिवस में पुनः नया कर्ज उनके सी.सी. खाते में डायरेक्ट पेड कर आहरण करने की अनुमति दे दी जाये, जिससे कर्मचारियों एवं किसान दोनो का समय बचेगा। किसान भाईयों का समय बचने के साथ साथ वह समय पर खरीफ की फसल के सीजन हेतु खाद्य बीज की खरीद कर सकेगा, साथ ही उन्होंने कहा विसंगति यह है कि ब्रांच खुलने के बाद एक दिन में मात्र 50 लोगों को टोकन देकर भुगतान किया जा रहा है जबकि ब्रांच में किसान सदस्यों की संख्या 1500 से 2000 है इस मान से किसान खरीफ की बोनी के लिये साधन नहीं जुटा पायेगे, मेरे द्वारा जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक विदिशा के प्रभारी श्री विनय प्रकाश जी से पूर्व में आग्रह किया गया था कि ऋण वितरण का काम सोसायटी स्तर पर किया जाये। अगर आपको ब्रांच खोलने में केाई तकलीफ है तो इस पर उन्हांेने जबाव दिया कि सोसायटी स्तर पर रकम का लेन देन करेगें तो हमारी सोसायटी लुट जायेगी यह जबाव सुनकर में आश्चर्यचकित हूॅ, इस जबाव से यह भी प्रतीत होता है कि विदिशा जिले में पुलिस प्रशासन नाम की कोई चीज नहीं है या विसंगतिपूर्ण आदेश जारी कर किसानों को अकारण परेशान करने की मंशा है। इस संबंध में उन्होने किसानों के हित में तत्काल ही भुगतान किये जाने की बात कही एवं भुगतान की प्रक्रिया में किसानों की सुविधा अनुसार सुधार किये जाने की बात भी रखी।


कोविड-19 के अंतर्गत विदिशा जिले में हुई मृत्यु के संबंध में मिथ्या जानकारी देने के आरोप में मुख्यमंत्री म.प्र. शासन, कलेक्टर विदिशा एवं डीन मेडिकल काॅलेज के खिलाफ प्रकरण कायम किया जाये  थाना प्रभारी कोतवाली को कांग्रेस नेताओं ने सौंपा आवेदन


vidisha news
विदिशाः- जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमल सिलाकारी, विदिशा विधायक शशांक भार्गव, पूर्व विधायक बासौदा निशंक जैन, पूर्व विधायक मेहताबसिंह यादव सहित प्रतिनिधी मण्डल द्वारा शहर कोतवाली विदिशा पहुॅचकर कोविड-19 के अंतर्गत विदिशा जिले में हुई मृत्यु के संबंध में मिथ्या जानकारी दिये जाने के खिलाफ मुख्यमंत्री मं.प्र. शासन श्री शिवराजसिंह चैहान, कलेक्टर विदिशा डाॅ. पंकज जैन, मेडिकल काॅलेज विदिशा डीन डाॅ. सुनील नंदेश्वर के खिलाफ बिन्दुवार अनियमित्ताओं को लेकर अपराधिक प्रकरण कायम किये जाने हेतु संयुक्त हस्ताक्षरयुक्त आवेदन शहर कोतवाली थाना प्रभारी वीरेन्द्र झा को सौपते हुये प्रकरण कायम किये जाने की मांग की। विदिशा मेडिकल काॅलेज में कोविड-19 का ईलाज आम जनता के मरीजों का किया जा रहा है। उसमें प्रतिदिन कई मरीजों की मृत्यु होती है। कोविड-19 की मृत्यु की दर को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान के इशारों पर कलेक्टर विदिशा डाॅ. पंकज जैन एवं मेडिकल काॅलेज के डीन डाॅ. सुनील नंदेश्वर द्वारा मार्च 2020 से 19.05.2020 तक संचालनालय स्वास्थ्य सेवाए सतपुडा भवन भोपाल के माध्यम से जानकारी दी है कि विदिशा में कुल 169 मरीजों की कोविड-19 से मृत्यु होना बताया है, जबकि कोरोना की दूसरी लहर 01.04.2021 से शुरू हुई, हमारे द्वारा विदिशा मुक्तिधाम, प्रशासन द्वारा बनाया हुआ नया मुक्तिधाम भौरघाट एवं मेेडिकल काॅलेज से निकाले हुये शव जिन्हे नगरपालिका विदिशा द्वारा दोनो मुक्तिधामों पर एवं कब्रिस्तान में पहुॅचाने का काम किया गया। इन सभी जगह के आॅकडों से उपरोक्त संख्या में भिन्नता है, इस बात की जांच कर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान, विदिशा कलेक्टर डाॅ. पंकज जैन एवं मेडिकल काॅलेज के डीन डाॅ. सुनील नंदेश्वर पर एफ.आई.आर दर्ज कर कार्यवाही की जावे। 01.04.2021 से 19.05.2021 तक विदिशा शहर के दोनो शमशानघाट एवं कब्रिस्तान पर कुल अंतिम संस्कारों की संख्या 900 है, जिसमें से 01.04.2021 से 19.05.2021 तक अटल विहारी मेडिकल काॅलेज विदिशा से 471 शव अंतिम संस्कार के लिये नगरपालिका विदिशा द्वारा ले जाये गये, जिसमें से 165 शवों का भौरघाट मुक्तिधाम पर अंतिम संस्कार किया गया एवं 306 शवों का अंतिम संस्कार बेतवाघाट मुक्तिधाम संमिति पर किया गया। साथ ही विदिशा नगर में पिछले कई सालों का एवरेज आॅकडा 80 से 90 अंतिम संस्कार प्रतिमाह का है। इस बात की भी जांच की जावे की 01.04.2021 से 19.05.2021 तक 900 लोगों की मृत्यु विदिशा शहर में कैसे हुई। ये सच है कि 900 में से 471 लोगों की कोविड के ईलाज के दौरान मृत्यु हुई बांकि 429 लोगों में से सामान्य आॅकडे के अनुसार 44 दिन में करीब 125 लोगों की मृत्यु होना थी, लेकिन ऐसी कौन सी महामारी थी जिसमें इस समय अंतराल में शहर के 304 और लोगों को काल के गाल में समा दिया। इस बात की भी जंाच की जावे। म.प्र. शासन द्वारा कोरोना काल में हुई मृत्यु में आमजन को ये सुविधा दी गई है कि किसी परिवार में अलग कोरोना से ईलाज के दौरान मृत्यु होती है तो परिवार को एक लाख रूपये की राशि सरकारी की ओर से प्रदाय की जावेगी एवं मुख्यमंत्री कल्याण योजना में सरकार द्वारा जो बच्चे अनाथ हो गये उनको 5000 रूपये प्रतिमाह की राशि एवं स्वास्थ्य चिकित्सा व शिक्षा 21 वर्ष तक के लिये सरकार की ओर से मुफ्त रहंेगी। इन सब योजनाओं का लाभ मृतकों के परिजनों एवं अनाथों को न मिल सके इसलिये म.प्र. सरकार के मुखिया श्री शिवराजसिंह चैहान के इशारों पर विदिशा कलेक्टर डाॅ. पंकज जैन एवं मेडिकल काॅलेज डीन डाॅ. सुनील नंदेश्वर के खिलाफ धारा 193-201 एवं 420 भारतीय दण्ड विधान का प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जावे। इस अवसर पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष कमलसिलाकारी ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी पर एफ.आई.आर किया जाना दुर्भाग्यपूर्ण एवं असंवैधानिक है। विधायक शशांक भार्गव ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह जी चैहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दर्ज करवाना बंद करे और उनमें नैतिक साहस है तो विदिशा जिले में हुई मौतों को छिपाने के प्रयास के आरोपियों कलेक्टर विदिशा, डीन मेडिकल काॅलेज विदिशा पर एफ.आई.आर दर्ज करवाकर विदिशा के नागरिकों को न्याय दिलवाये। पूर्व विधायक निशंक जैन ने कहा कि जब जनता पर मुसीबत आई तो भाजपा के नेतागण, मंत्रीगण मैदान से गायव थे, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी एवं कांग्रेेस के सिपाही जनता की सेवा में जुटे रहे। भाजपा सरकार द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी पर एफ.आई.आर दर्ज कर भय का महोल बनाने का प्रयास किया जा रहा है।  इस अवसर पर प्रकरण कायम किये जाने की मांग करने वालों में प्रमुख रूप से देवेन्द्रसिंह राठौर, मोहित रघुवंशी, प्रकाश मिश्रा, अजय कटारे, नरेन्द्र रघुवंशी, जिनेश जैन टिंगी, कमलंिसह नरवरिया, मोहम्मद अदनान, अरूण अवस्थी, सुनील रघुवंशी, दशन सक्सेना, राजकुमार डीडोत उपस्थित रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं: