विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 29 जून 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 जून

 रैक पाइंट शीघ्र ही सौराई मेंं शिफ्ट होगा 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन की अध्यक्षता में आज बैठक आयोजित की गई थी इस बैठक में भारी मालवाहक वाहनो की शहर में आवाजाही कम करने की ओर सार्थक पहल कर निर्णय लिए गए है। जिससे विदिशा शहर के अंदर यातायात व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित हो इसके लिए किए जाने वाले प्रबंधो के तहत रैक पाइंट को सौराई में शिफ्ट करते हुए शीघ्र संचालित करने के प्रबंध सुनिश्चित हुए है ततसंबंध में कलेक्टर द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए गए है।  कलेक्टर चेम्बर में सम्पन्न हुई इस बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है कि सबसे पहले खाद के ट्रको को रैक पाइंट सौरई में भण्डारण हेतु भेजा जाएगा इसके लिए तमाम प्रबंध पूरे किए जा चुके है। इस बैठक में इफको, कृभको, नॉन, एफसीआई, ट्रक  एसोशिएशन के अध्यक्ष सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहें। संबंधित विभागो के अधिकारियों के अलावा ट्रक एसोशिएशन के पदाधिकारियों ने रैक पाइंट सौरई का भ्रमण कर स्थलीय व्यवस्थाओं के प्रबंधो का अवलोकन किया है। विदिशा ट्रक एवं ट्रांसपोर्टर एसोशिएशन के पूर्व अध्यक्ष श्री संजय भण्डारी ने ठेकेदारो की ओर से पूर्ण सहयोग आश्वस्त कराते हुए कहा कि सौरई मालगोदाम पर कार्य प्रचलन हेतु भारतीय खाद निगम एवं उर्वरक खाद प्रदाय कंपनियों के प्रतिनिधियों से संवाद किया गया है। बैठक में भारतीय खाद निगम, ईफको के वरिष्ठ प्रबंधक श्री अवनीश खरे, कृभको के क्षेत्रीय प्रतिनिधि श्री वशिष्ठ नायक, वरिष्ठ परिवहन ठेकेदार श्री राजेन्द्र भण्डारी भी मौजूद रहें। इफको के प्रतिनिधि सहित अन्य के द्वारा सौरई मालगोदाम का जाकर मुआयना किया गया और रेल्वे द्वारा उपलब्ध कराई गई सुविधाओं की पूछताछ व निरीक्षण किया है।   


जिला ग्रंथालय शीघ्र ही नवीन भवन में शिफ्ट होगा 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में शासकीय जिला ग्रंथालय शीघ्र ही पुरानी डाइट कार्यालय परिसर में शिफ्ट होगा। उक्त परिसर में पुस्तकालय भवन को सुसज्जित किया जा रहा है। गौरतलब हो कि ग्रंथालय भवन के जीर्णोद्वार कार्य छह लाख की लागत आरइएस के द्वारा किया जा रहा है। विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री शरद तंतुवाय ने बताया कि पुस्तकालय भवन में टाइल्स लगाने के अलावा छत पर बाटर प्रोफिंग कार्य किया गया है वही शौचालय का भी जीर्णोद्वार कार्य पूर्ण किया गया है।  विदिशा जिले के प्रबुद्ध नागरिको को शीघ्र ही शासकीय जिला ग्रंथालय की नवीन भवन परिसर में संचालित होने की सुविधाओं से लाभांवित किया जाएगा। जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा ततसंबंध में आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित कराए गए है।


आज टीकाकरण सत्र नही होंगे


जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा ने बताया कि बुधवार 30 जून को विदिशा जिले के किसी भी विकासखण्ड में कोविड 19 टीकाकरण सत्रों का आयोजन नही किया जाएगा।


कर्मचारियों के दावो के भुगतान हेतु प्रतिबद्ध -संभागायुक्त 

  • अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणों का निराकरण अभियान के रूप में

vidisha news
भोपाल संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने आज संभाग के जिलो में अनुकम्पा नियुक्ति के लंबित प्रकरणों की समीक्षा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से की है। उन्होंने समस्त जिलो के अधिकारियों से कहा है कि कोविड से मृत्यु होने या सामान्य मृत्यु होने पर देय अनुकम्पा नियुक्ति के अलावा रेग्युलर अनुकम्पा नियुक्ति  या कोविड अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणो का निराकरण अभियान के रूप में क्रियान्वित कर शीघ्रतिशीघ्र निराकरण करने की कार्यवाही सम्पादित की जाए। ऐसे विभाग जिनमें अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरण लंबित है उन विभागो में सबसे पहले स्थानीय विभागीय जिला, इसके पश्चात् विभाग के संचालनालय द्वारा प्रदेश में विभाग के किसी भी जिले में अनुकम्पा नियुक्ति कार्यवाही संपादित की जाए यदि इसके बाद भी पद की उपलब्धता नही होती है तो कलेक्ट्रेट कार्यालय को अनुकम्पा नियुक्ति प्रकरण प्रेषित किया जाए।  संभागायुक्त श्री कियावत ने 29 जून 2021 की स्थिति में भोपाल संभाग के सभी जिलो में अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणो की जानकारी प्रेषित करने के निर्देश कलेक्टर को दिए है। जिसमें मुख्य रूप से कोविड से मृत शासकीय सेवक अथवा सामान्य मृत्यु से मृत शासकीय सेवकों के अनुकम्पा नियुक्ति प्रकरण की जानकारी प्रेषित करने हेतु निर्देशित किया गया है। इसके लिए कोविड 19 से मृत शासकीय सेवक के अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरण जिसमें नियमित, कार्यभारित एवं आकस्मिकता अंतर्गत, संविदा तथा दैनिक वेतनभोगी, कलेक्टर दर, आउटसोर्सेस या मानदेय कर्मचारी को अनुकम्पा नियुक्ति के आवेदन प्राप्त कर शासन की बेवसाइट पर अपलोड करने है। बैठक में बताया गया कि विदिशा जिले में एक अपै्रल 2019 से पांच जून 2021 तक मृत कर्मचारियों की अनुकम्पा नियुक्ति के कुल 161 प्रकरण थे जिसमें से 51 प्रकरणों का निराकरण पूर्व में किया जा चुका है। विभिन्न कारणो से 13 प्रकरण विभागों के वरिष्ठ कार्यालय को प्रेषित किए गए है जबकि 78 प्रकरणो में पीपीओ जारी किया गया है 26 प्रकरण विभिन्न कारणो से विभाग स्तर पर लंबित है। जिले के दो विभागो द्वारा अब तक लंबित पेंशन प्रकरणो का ब्यौरा अप्राप्त है जिसमें जिला जेल विदिशा के स्वर्गीय श्री बृज यादव तथा सीएमएचओ कार्यालय के श्री अन्नीलाल का प्रकरण लंबित है उक्त दोनो प्रकरण जिला कार्यालय पर लंबित है। जिला पेंशन अधिकारी श्री उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि जिले में 131 पेंशनो के प्रकरणो में पांच करोड 70 लाख रूपए का भुगतान संबंधितों को किया जा चुका है।मध्यप्रदेश शासन के एमपीई सर्विस पोर्टल पर दर्ज की जाने वाली बिन्दुओं की प्रायोगिक जानकारी दी गई। अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के चैम्बर में आयोजित वीडियो कांफ्रेसिग के दौरान संयुक्त कलेक्टर श्री रोशन राय, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा जिला पेंशन अधिकारी तथा अन्य विभागो के अधिकारी मौजूद थे। 


हितग्राहियों को समय पर योजना का लाभ दिलाना सुनिश्चित करें-कलेक्टर 

जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति की बैठक सम्पन्न 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन की अध्यक्षता में आज जिला स्तरीय सतर्कता एवं मानिटरिंग समिति की बैठक सम्पन्न हुई। अनुसूचित जाति, जनजाति अधिनियम (अत्याचार निवारण) योजना के नियमों के तहत गठित उक्त समिति की बैठक में कलेक्टर डॉ जैन ने संबंधित विभागो के अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिए है कि अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के हितग्राहियों को अधिनियम के तहत समय पर योजना का लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित करें इस कार्य में किसी भी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नही की जाएगी। उन्होंने कहा कि जाति प्रमाण पत्र के अभाव में प्रकरण लंबित ना रहे इस ओर विभागो के अधिकारी ध्यान देंगे। समीक्षा बैठक में जिन ऐजेण्डा बिन्दुओं पर चर्चा कर निर्णय लिए गए है उनमें अनुसूचित जाति, जनजाति अधिनियम (अत्याचार निवारण) योजना नियम के तहत इस वर्ष के माह अपै्रल से 20 जून तक स्वीकृत राहत राशि एवं वितरण, आकस्मिकता योजना के तहत भेजे जाने वाले प्रतिवेदन, इसी योजना के तहत पीडित व्यक्तियों एवं साक्षियों को दिया जाने वाला यात्रा भत्ता, भरण पोषण व्यय, आहार व्यय तथा मजदूरी के भुगतान की समीक्षा की गई। इसके अलावा बैठक में पुलिस विवेचना में लंबित प्रकरणो, विशेष न्यायालय विदिशा में निराकृत एवं लंबित प्रकरणो की भी समीक्षा की गई। 


सेवा पुस्तिका की जांच हेतु दल गठित 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका की जांच हेतु जिला स्तर पर दल गठित किया गया है। जारी उक्त आदेश में उल्लेख है कि जिले में पेंशन प्रकरण एवं अनुकम्पा नियुक्ति के प्रकरणो का त्वरित निराकरण का कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित कर हर रोज विभागवार कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका संबंधी जांच का प्रतिवेदन जिला कार्यालय को प्रस्तुत करना सुनिश्चित करेंगे। कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा सेवा पुस्तिका की जांच हेतु जिला स्तर पर गठित दल तदानुसार संयुक्त कलेक्टर श्री रोशन राय एवं अधीनस्थ अन्य कर्मचारियों के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, जिला कोषालय, जेल, आरईएस, खनिज, जिला पंजीयक, परिवहन, पशु चिकित्सा, लोक निर्माण विभाग, महिला सशक्तिकरण एवं उद्यानिकी विभाग से सेवानिवृत्तो की सेवा पुस्तिकाओं की जांच कार्य को सम्पादित करेंगे। डिप्टी कलेक्टर श्री कुमार शानू देवडिया, नायब तहसीलदार अंकिता यदुवंशी को जिन विभागो के कर्मचारियों की सेवा पुस्तिका की जांच का दायित्व सौंपा गया है उनमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय, जिला चिकित्सालय, तहसील कार्यालय विदिशा, नगर तथा ग्राम निवेश, आयुष विभाग, आबकारी तथा आदिम जाति कल्याण विभाग शामिल है। डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग तथा नायब तहसीलदार श्रीमति रितु मुद्गल के लिए कृषि विभाग, भूमि संरक्षण, नदी घाटी परियोजना, कृषि यंत्रीय, शासकीय कन्या महाविद्यालय विदिशा, 14वीं बटालियन, जनपद पंचायत विदिशा एवं जिला पंचायत तथा वन विभाग के कर्मचारियों की पेंशन प्रकरण एवं अनुकम्पा नियुक्ति का त्वरित निराकरण हेतु संबंधित कर्मचारी की सेवा पुस्तिका की जांच हेतु दायित्व सौंपा गया है। 


चैक लिस्ट

शासकीय सेवकों की सेवा पुस्तिका की जांच कार्य हेतु चेकलिस्ट जारी की गई है इन बिन्दुओं के आधार पर ही प्रत्येक कर्मचारी की सेवा पुस्तिका की जांच कार्य सम्पादित की जाएगी। चैक लिस्ट में मुख्य रूप से जिन बिन्दुओं पर विशेष प्रकाश डाला जाएगा उनमें शासकीय कर्मी की नियुक्ति होने पर उसकी सेवा पुस्तिका तैयार कर ली जाना चाहिए। जिसमें सर्वप्रथम प्रथम पेज की पूर्ति की जाना चाहिए, जन्मतिथि प्रमाणित एवं टेप लगी हुई हो, शासकीय कर्मी के नामांकन पूर्ण रूप से भरे हो इसका ध्यान कार्यालय प्रमुख को रखना चाहिए। सेवा पुस्तिका का कार्यालय प्रमुख द्वारा समय-समय पर भौतिक सत्यापन किया जाना चाहिए। शासकीय कर्मी की प्रथम नियुक्ति की प्रविष्टि स्पष्अ होना चाहिए। जिससे यह ज्ञात हो सकें कि शासकीय कर्मी की नियुक्ति नियमित अथवा तदर्थ नियुक्ति है। यदि तदर्थ नियुक्ति दी गई है तो नियमित कब हुए। प्रत्येक वित्तीय वर्ष (01 अपै्रल से 31 मार्च की स्थिति) सेवा सत्यापन होना अनिवार्य है। सेवा अभिलेख में अवकाश लेखा प्रत्येक छह माह में पूर्ण किया जाना चाहिए। सेवा अभिलेख में वेतन उन्नयन होने पर वेतन निर्धारण की जांच कराई जाकर कोष एवं लेखा अथवा पेंशन अधिकारी का प्रमाणीकरण होना आवश्यक है। जिससे कोई वेतन निर्धारण त्रुटि पूर्ण होने पर वसूली से बचा जा सकता है। प्रत्येक वर्ष शासकीय कर्मी के कालम नम्बर आठ में हस्ताक्षर कराए जाने चाहिए जिससे वह सेवा पुस्तिका का अवलोकन कर सकें। व्यक्तिगत नस्ति एवं सेवा पुस्तिका एक साथ रहना चाहिए। सेवा अभिलेख में दर्ज प्रत्येक प्रविष्टियों से संबंधित अभिलेख व्यक्तिगत नस्ती में होना चाहिए।


एक जुलाई तक दस्तावेंज अपलोड करें


स्कूल शिक्षा विभाग के अंतर्गत उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक शिक्षक की सीधी भर्ती के तहत प्रावधिक चयन/प्रतीक्षा सूची में जिन अभ्यर्थियों का नाम शामिल है और उनके द्वारा एक भी दस्तावेंज अपलोड नही किए गए है ऐसे अभ्यर्थी एक जुलाई तक वैध दस्तावेंज अपलोड करने के लिए अंतिम अवसर मुहैया कराया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुद्गल ने बताया कि जिन अभ्यर्थियों द्वारा 29 जून एक जुलाई तक एमपी ऑन लाइन पोर्टल पर दस्तावेंज अपलोड किए जाएंगे। उन अभ्यर्थियों द्वारा दस्तावेंज सत्यापन हेतु चयनित जिले के सत्यापन केन्द्र पर उपस्थित होकर सत्यापन अधिकारी से दस्तावेंजो का सत्यापन कार्य पांच जुलाई तक अनिवार्य रूप से कराया जाना सुनिश्चित करें अन्यथा अभ्यर्थिता निरस्त मानी जाएगी।


जनसंख्या स्थिरता माह का आयोजन 


vidisha news
11 जुलाई विश्व जनसंख्या दिवस से 11 अगस्त जनसंख्या स्थिरता माह मनाया जाएगा। कोविड 19 के संक्रमण को देखते हुए आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी सक्षम राष्ट्र और परिवार की जिम्मेदारी पर केन्द्रित जनसंख्या स्थिरता माह अंतर्गत आयोजित होने वाले कार्यक्रमों के संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि राज्य स्तर से प्राप्त दिशा निर्देशो के अनुपालन अनुसार मासांत तक जनसंख्या स्थिरता संबंधी गतिविधियों का संचालन आयोजित किया जाएगा। विश्व जनसंख्या दिवस की गतिविधियों को दो भागो में विभाजित किया गया है जिसके अनुसार दाम्पत्ति सम्पर्क पखवाडा और सेवा प्रदाय माह के तहत संपादित होने वाले कार्यो पर बल दिया गया है। विदिशा जिले में 27 जून से 10 जुलाई तक दाम्पत्ति सम्पर्क पखवाडा का आयोजन किया जा रहा है जिसके तहत चिन्हित लक्ष्य दम्पत्तियों से सम्पर्क कर उन्हें परिवार कल्याण के संसाधनो की जानकारी व उपयोग हेतु अभिप्रेरित करना मुख्य उद्धेश्य है। शादी की उम्र में देरी, जन्म के अंतराल, प्रसव पश्चात परिवार नियोजन की सेवाएं तथा परिवार नियोजन में पुरूषो की सहभागिता और दीर्घकालिक गर्भनिरोधक साधन हेतु प्रेरित करना इत्यादि कार्य सम्पादित किए जाएंगे। जनसंख्या स्थिरता माह अंतर्गत सेवा प्रदायगी कार्य सम्पादित किए जाएंगे। जिसके तहत समस्त हितग्राहियों को परिवार नियोजन के बारे में परामर्श देकर उनका उपयोग करने की सलाह दी जाएगी ताकि हितग्राही स्वेच्छानुसार संसाधनो का उपयोग कर चुनाव कर सकें। वही मासांत के दौरान लघुकालीन, गर्भनिरोधक साधनो की भी जानकारी दी जाएगी जिसमें मुख्य रूप से ओरल पिल्स, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली आपातकालीन गोलियों की उपलब्धता, दीर्घकालीन गर्भ निरोधक साधन जैसे आईयूसीडी एवं अंतरा पर विशेष ध्यान देते हुए उपलब्धता सेवाएं एवं फालोअप किया जाएगा। स्थायी परिवार नियोजन के दौरान नसबंदी सेवाएं मुहैया कराए जाने हेतु हितग्राहियों का पूर्व पंजीयन कर संक्रमण रोकथाम प्रोटोकाल का पालन करते हुए निश्चित सेवा दिवस उन ही संस्थाओं पर आयोजित किया जाएगा जहां आपरेशन थियेटर की सुविधा उपलब्ध हो। जिला चिकित्सालय में मिनी लेप सुविधा उपलब्ध कराई जाएगीं समस्त स्वास्थ्य संस्थाओं में परिवार नियोजन के साधनो का आंकलन कर कम से कम तीन माह के स्टॉक की उपलब्धता की जाएगी। उपरोक्त कार्यक्रम का सुव्यवस्थित रूप से आयोजन व क्रियान्वयन हो इसके लिए जिला व विकासखण्ड स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे। 


पीएम आदर्श ग्राम में संचालित कार्यो का जायजा 


vidisha news
प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के तहत विदिशा विकासखण्ड में चिन्हित पीएम आदर्श ग्राम खरबई में संचालित कार्यो का आज जिला पंचायत सीईओ श्रीमती नीतू माथुर  ने भ्रमण कर जायजा लिया है।  जिपं सीईओ श्रीमती माथुर ने ग्रामीण विकास विभाग के माध्यम से आदर्श ग्राम में संपादित किए जाने वाले कार्यो के संबंध में स्थानीय रहवासियों से संवाद कर उन्हें जल संचय और पौधरोपण के कार्यो हेतु प्रेरित किया है। जिपं सीईओ ने ग्राम में निर्माणाधीन स्कूल भवन व तालाब के कार्यो का मौके पर पहुंचकर अवलोकन किया है। ग्रामवासियों की मांग पर जिपं सीईओ द्वारा मौके पर ही ग्रेवल सड़क स्वीकृति पर सहमति व्यक्त करते हुए जनपद सीईओ को निर्देश दिए है कि ग्रेवल सडक का निर्माण कार्य यथाशीघ्र शुरू कराएं ताकि ग्रामवासी बारिश के दौरान आवागमन हेतु किसी भी प्रकार की दिक्कतो का सामना ना करना पडें।  जिपं सीईओ श्रीमती माथुर  ने सडको के किनारे किसी भी प्रकार अतिक्रमण नही करने की समझाईंश देते हुए जिले में सडको के शोल्डरो पर अतिक्रमण को हटाने की कार्यवाही से अवगत कराया है। भ्रमण के दौरान विदिशा जनपद सीईओ श्री केजी मालवीय, जिला पंचायत के परियोजना अधिकारी समेत अन्य खण्ड स्तरीय अधिकारी साथ मौजूद रहें।


तीन तहसीलो में वर्षा दर्ज हुई


मंगलवार को विदिशा जिले की तीन तहसीलो में वर्षा दर्ज हुई है अधीक्षक भू-अभिलेख श्री राजेश राम ने बताया कि मंगलवार को जिले में 5.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है जिले की जिन तीन तहसीलो में वर्षा दर्ज हुई है उनमें ग्यारसपुर मे 32 मिमी, लटेरी में 13 मिमी तथा शमशाबाद तहसील में 12.2 मिमी वर्षा दर्ज हुई है शेष अन्य तहसीलो में मंगलवार को वर्षा नगण्य रही।


किसान मित्र की आयु अब न्यूनतम 25 वर्ष निर्धारित


आत्मा योजना अन्तर्गत वर्ष 2021-22 में कृषि मित्र का चयन किया जाना है। मध्यप्रदेश शासन किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के प्रावधान अनुसार ग्रामीण स्तर पर कृषक एवं प्रसार तंत्र के बीच जीवन्त संबंध स्थापित करने की दृष्टि से दो आबाद ग्राम पर एक कृषक मित्र का चयन किए जाने के निर्देश जारी किए गए थे। जारी निर्देशानुसार कृषक मित्र की आयु 40 वर्ष या इससे अधिक चाही गई थी। जिसमें संशोधन कर अब किसान मित्र की न्यूनतम आयु 25 वर्ष कर दी गई है। शेष शर्ते यथावत् रहेंगी। परियोजना संचालक आत्मा किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि पात्रतानुसार आवेदनकर्ता कृषक आवेदन फार्म निहित शर्तो के अनुरूप पूर्ण कर आगामी आयोजित ग्राम सभा में चर्चा के लिए प्रस्तुत करेंगे। ग्राम सभा से हुई चर्चा के आधार पर पात्र किसान मित्र का चयन  जिला स्तर पर परियोजना संचालक आत्मा द्वारा परीक्षण कर अंनतिम सूची तैयार कर कलेक्टर की अध्यक्षता में आत्मा गवर्निंग बोर्ड एवं प्रभारी मंत्री से अनुमोदन प्राप्त कर अंतिम चयन सूची जारी की जाएगी। अधिक जानकारी एवं आवेदन फार्म के लिए कृषक विकासखण्ड स्तर पर वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ब्लॉक तकनीकी प्रबंधक परियोजना आत्मा से सम्पर्क कर सकते है।


213 गौवंश को गौ-शालाओ में शिफ्ट किया गया


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में ऐसे गौवंश जो चौराहो अथवा सडक के किनारे बैठे या विचरण करते हुए पाए जा रहे है उन गौवंशो को गौ-शालाओं में शिफ्ट कराने की कार्यवाही तीव्र गति से संचालित की जा रही है। पशु चिकित्सा सेवाएं विभाग के उपसंचालक ने बताया कि वर्षाकाल में सडक पर विचरण्र कर रहे निराश्रित गौ-वंशो को गौ-शालाओं में स्थानांतरित करने व टेगिंग करने का कार्य संबंधित नगरपालिका एवं ग्राम पंचायत के सहयोग से संपादित किया जा रहा है। जिले में अब तक 213 गौवंशो को नजदीक की गौ-शालाओं में शिफ्ट किया जा चुका है। निकायवार गौ-शालाओं में शिफ्ट किए गए निराश्रित गौ-वंश के संबंध में बताया गया कि विदिशा नगरपालिका परिसर क्षेत्र से 43, बासौदा नगरपालिका क्षेत्र के 81, इसके अलावा जनपद पंचायत ग्यारसपुर के 15, नटेरन के 30, नगर पंचायत कुरवाई के 20 तथा नगरपालिका परिषद सिरोंज के 24 गौवंशो को शिफ्ट किया गया है। 


उचित मूल्य दुकान सील्ड


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा जिले में संचालित उचित मूल्य दुकानो के माध्यम से प्रदाय की जाने वाली सामग्री की जांच हेतु दल गठित किए है। जांच दल के सदस्यों के द्वारा मंगलवार 29 जून को शासकीय उचित मूल्य दुकान हिनोतियां की जांच की गई। यहां विभिन्न प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर व मौके पर विक्रेता उपस्थित नही होने के फलस्वरूप उक्त उचित मूल्य दुकान को जांच दल के सदस्यों द्वारा सील्ड करने की कार्यवाही की गई है। जांच दल में शामिल नायब तहसीलदार श्री सुनील गढवाल, सहकारिता निरीक्षक श्री एमएस भदौरिया, कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी श्री हुमा हुजूर के द्वारा अंतरिम प्रतिवेदन तैयार किया गया है जिसमें उल्लेख है कि शासकीय उचित मूल्य दुकान हिनोतिया में उपस्थित उपभोक्ताओं के ब्यान दर्ज कर नियमानुसार दुकान का संचालन विक्रेता द्वारा नही करना पाया जाने पर उपरोक्त उचित मूल्य दुकान को जांच दल के सदस्यो द्वारा सील्ड कर प्रतिवेदन जिला कार्यालय को प्रेषित किया गया है। 


अंकुर कार्यक्रम से आनलाइन जुड़ सकते है


राज्य के हरित क्षेत्र में वृद्धि करने के उद्देश्य से मध्यप्रदेश शासन द्वारा  अंकुर कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। जिसमें जन सहभागिता द्वारा वृहद वृक्षारोपण अभियान शुरू किया जाना है। इसके अंतर्गत जिले में इसके व्यापक प्रचार प्रसार एवं प्रोत्साहन की दृष्टि से कार्यक्रम के संपूर्ण नियम एवं मोबाइल एप वायुदूत की लिंक https://play.google.com/store/apps/details?id=com.mpssdi.epcoplantation द्वारा प्राप्त की जा सकती है। 


राज्य स्तरीय वार्षिक जैव विविधता पुरस्कार-2021 के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई निर्धारित


मध्यप्रदेश राज्य जैव विविधता बोर्ड द्वारा प्रदेश में जैवविविधता संरक्षण को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से “राज्य स्तरीय वार्षिक जैवविविधता पुरस्कार योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में जैवविविधता संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर रहे लोगों की पहचान करना एवं उन्हें प्रोत्साहित करना है। मध्यप्रदेश राज्य जैवविविधता बोर्ड द्वारा राज्य स्तरीय वार्षिक जैव विविधता पुरस्कार-2021 हेतु 31 अप्रैल 2021 तक प्रविष्टियाँ आमंत्रित की गई थीं। कोविड महामारी के कारण कोरोना कर्फ्यू की स्थिति में राज्य जैवविविधता बोर्ड को प्रविष्टियों प्राप्त नहीं हो पाई हैं। इस स्थिति को ध्यान में रखते हुये राज्य स्तरीय वार्षिक जैवविविधता पुरस्कार-2021 हेतु प्रविष्टियों आमंत्रित करने की अवधि में वृद्धि करते हुए 31 जुलाई 2021 तक निर्धारित की गई है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी बोर्ड की वेबसाईटू www.mpsbb.nic.in पर प्राप्त की जा सकती है।  



कोई टिप्पणी नहीं: