सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 1 जुलाई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 जुलाई

मीसाबंदी परिजनों से मिले महापौर , शोक व्यक्त कर परिवार को सांतवना दी


sehore news
सीहोर। गंगा आश्रम डॉक्टर कॉलोनी में निवासरत मीसाबंदी जनसंघी परिवार में पहुंचकर भोपाल नगर निगम के महापौर आलोक शर्मा भाजपा सीहोर जिला अध्यक्ष रवि मालवीय, विधायक सुदेश राय, पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष सीताराम यादव,नगर मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष नरेश मेवाड़ा,जिला सोशल मीडिया प्रभारी महिला मोर्चा  सुनीता राठौर के द्वारा त्रिलोक सिंह राजपाल की धर्मपत्नी और भाजपा मंडल उपाध्यक्ष युवा नेता सन्नी सरदार की माता श्री अमरजीत कौर राजपाल के चित्र पर माल्यार्पण पुष्प अर्पित कर विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की गई। 


शोक व्यक्त किया और मीसाबंदी जनसंघी परिवार को सांतवना दी।

भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा मीसाबंदी परिवार से जुड़ी श्रीमती  राजपाल को ईश्वर अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें प्रार्थना की गई। मीसाबंदी जनसंघ की परिवार ने वरिष्ठ भाजपा नेताओं का आत्मीयता से स्वागत किया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम में विशेष रुप से विजय तिवारी, नितिन शर्मा सहित भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


राष्ठ्र्रीय डॉक्टर दिवस के अवसर पर सेवादल कांग्रेस ने किया डॉक्टरों का सम्मान

  • कोरोना महामारी में डॉक्टर फ्रंट योद्धा के रूप में सामने आए है, इस लिए डॉक्टरों को भगवान कहा जाता है- पूर्व नापध्यक्ष राकेश राय

sehore news
सीहोर। सेवादल कांग्रेस द्वारा गुरूवार को जिला चिकित्सालय परिसर में राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस पर कार्यक्रम आयोजित किया गया। डॉक्टरों का शॉल श्री फल एवं पुष्प मालाएं गुलदस्ता प्रदान कर कोरोना महामारी में उनकी महान सेवाओं के लिए सम्मान किया गया। सेवादल कांग्रेस के प्रदेश सचिव पूर्व नपाध्यक्ष राकेश राय के मुख्य अतिथि में तथा डॉक्टर बलवीर तोमर जिलाध्यक्ष कांग्रेस कमेटी की अध्यक्षता तथा जिला कांग्रेस कार्यवाहक अध्यक्ष नईम नबाव सेवादल कांग्रेस सीहेार जिला प्रभारी विजय चौहरी, वरिष्ठ कांग्रेस नेता दर्शन सिंह वर्मा, जिला कांग्रेस अ,जा जिला विभाग सीताराम भारती, डॉ अनीस खान राजाराम बडेभाई, प्रीतमदयाल चौरसिया, सुनील दुबे, सुरेश साहू मून्ने मियां के विशेष अतिथिय में कार्यकम आयोजित हुआ। सर्वप्रथम देश के महान चिकित्सक और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री स्वतंत्रता सांग्राम सेनानी चिकित्सक शिक्षक महात्मा गांधी के साथ असयोग आंदोलन में शामिल रहे डॉ विधानचंद्र राय के चित्र पर सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले एवं अतिथि गाणों तथा डॉक्टरों के द्वारा माल्यापण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सेवादल कांग्रेस प्रदेश सचिव पूवज़् नपाध्यक्ष श्री राय कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्री तोमर ने जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ अशोक मांझी, डॉ बीके चतुवेदज़्ी, डॉ आर के वर्मा, डॉ नवीन मेहर,डॉ अनीस खान, डॉ सूधीर श्रीवास्तव, यूके श्रीवातव डॉ प्रशांत श्रीवास्तव, डॉ उमेश श्रीवारस्तव, डॉ पीएस एमआरमो, डॉ मालती आयज़्, डॉ अचज़्ना राजपूत, डॉ शिलपा परमार, तरूणनिमा पटेल सहित समस्त डॉक्टरों का शॉल श्री फल एवं पुष्प मालाएं गुलदस्ता प्रदान कर कोरोना महामारी में उनकी महान सेवाओं के लिए सम्मान किया गया। श्री राय ने कहा की कोरोना जैसी घातक महामारी के बीच कई ऐसे वीर डॉक्टर फ्रंट योद्धा के रूप में सामने आए है जो हमें घातक वायरस से बचाने के लिए मानव जाती के प्रति उनके योगदान के लिए उन्हे धन्याबाद और सलाम करने के लिए राष्ट्रीय डॉक्टर दिवस मनाया जाता है। अध्यक्षता कर रहे डॉ श्री तोमर ने कहा की डॉ जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहे मरीजों का न सिर्फ इलाज करते है बल्की उन्हे एक नया जीवन भी देते है। विशेष अतिथियों ने कहा की डॉक्टरों के समर्पण और इमानदारी के प्रति सम्मान जाहिर करने के लिए हर साल एक जुलाई को राष्ठ्रीय डॉक्टर दिवस मनाया जाता है पूरी दुनिया में डॉक्टर दिन रात एक कर के लाखों की तादात में कोरोना के मरीजों को ठीक करने के काम में लगे हुए है। डॉक्टर प्रेम और सेवाभाव से उनका उपचार कर रहे है। कार्यक्रम का संचालन ब्लाक सेवादल कांग्रेस अध्यक्ष मांगीलाल टिमरई द्वारा किया गया तथा मून्नालाल मालवीय के द्वारा आभार व्यक्त गया। कार्यक्रम में क्षेत्रीय पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले, सेवादल महिला कांग्रेस अध्यक्ष गायत्री चंद्रवंशी,सेवादल युवक कांग्रेेस अध्यक्ष इंजिनियर जितेंद्र सिंह, डॉ जितेंद्र चंद्रवंशी, ब्लाक महिला कांग्रेय अध्यक्ष मीरा रेकवार आशा मुप्ता, नीतू सिंह, शेलेंद्र शेल, धनश्याम जाटव, कमल सूर्यवंशी मधुसुधन अग्रवाल, अनिल गबाठिया, देवकरण जांगडे इत्यादी शामिल रहे।


नेषनल लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरणों का निराकरण हो- श्री राजवर्धन गुप्ता


sehore news
माननीय उच्च न्यायालय जबलपुर के अंतर्गत संस्था माननीय राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देषानुसार एवं माननीय प्रधान जिला न्यायाधीष/अध्यक्ष महोदय श्री राजवर्धन गुप्ता की गरिमामय उपस्थिति में आज दिनांक 01 जुलाई 2021 समय 02ः00 बजे से नेषनल लोक अदालत के सम्बंध में बैठक आयोजित हुई, जिसमें जिला न्यायालय मंे पदस्थ न्यायिक अधिकारी ए.डी.आर सेंटर में भौतिक रूप से व तहसील न्यायालय आष्टा, नसरूल्लागंज, बुदनी एवं इछावर में पदस्थ न्यायाधीषगण विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सम्मिलित हुए।  उक्त बैठक में श्री मुकेष कुमार दांगी अपर जिला न्यायाधीष/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा उपस्थित समस्त न्यायाधीषगण से नेषनल लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरण रैफर करने और उनका निराकरण कराये जाने का प्रयास करने का आग्रह किया। नेषनल लोक अदालत में प्रिलिटिगेषन प्रकरण के अधिक से अधिक निराकरण हेतु सम्बंधित विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित करने हेतु निर्देषित किया गया।  उक्त बैठक में माननीय प्रधान जिला न्यायाधीष/अध्यक्ष महोदय श्री राजवर्धन गुप्ता, माननीय प्रधान न्यायाधीष सुश्री नीना आषापुरे, माननीय विषेष न्यायाधीष श्री सुरेष सिंह, अपर जिला न्यायाधीष/सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री मुकेष कुमार दांगी, प्रथम अपर जिला न्यायाधीष श्री संजय कुमार शाही, द्वितीय अपर जिला न्यायाधीष श्री अषोक भारद्वाज, मुख्य न्यायिक मजिस्टेªट श्रीमती किरण तुमराची धुर्वे, न्यायिक मजिस्टेªट प्रथम श्रेणी श्रीमती जागृति एस. चंद्रिकापुरे, श्रीमती रिनी खान शेख, कु. इकरा मिन्हाज, कु. के. षिवानी, श्री वैभव पटेल, श्री अविनाष छारी, श्री अनिरूद्ध कुमार, कु. तनु गर्ग, श्रीमती शालिनी मिश्रा एवं विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से तहसील न्यायालयों में पदस्थ समस्त न्यायिक अधिकारी उपस्थित रहे।  


जिला स्तरीय निगरानी दल ने किया निरीक्षण, किसानों को दी गई उचित सलाह


कृषि विभाग के जिला स्तरीय निगरानी दल के अधिकारियों एवं कृषि वैज्ञानिकों ने जिलें के सीहोर और आष्टा विकासखण्ड के चितावलिया, लाखा,  चितावलियावन,  पचपीपलिया,  भटौनी, मुस्करा,बफापुर,  मुगली,  पिरानाखेड़ी,खाचरौद,बराड़ीकलां,  खशामदा,  दोराहा,  महुआखेडा,अहमदपुर,  चरनाल,   छतरपुरा,  पड़ियाला,  बमुलिया,सुल्तापुरा,  श्यामपुर, बिछिया,  झरखेड़ा के 22 कृषकों के खेतों का निरीक्षण किया। कृषि उपसंचालक श्री रमाशंकर जाट ने जानकारी दी कि निरीक्षण के दौरान यह पाया गया कि, कुछ कृषकों की सोयाबीन फसल में आंशिक रूप से डेम्पिंग आफ कालरराट के लक्षण पाये गये।  जिसके प्रभावी नियंत्रण के लिये थायोफिनाईल मिथाईल 70 प्रतिशत डब्ल्यूपी की 400 एम.एल. मात्रा प्रति एकड़ उपयोग करने की सलाह दी गई। कुछ क्षेत्रों में अधिक तापमान एवं नमी के कारण सोयाबीन के पौधे मुरझाने जैसी स्थिति पाई गई जिसके निदान के लिए वैज्ञानिकों द्वारा उचित सलाह दी गई।


जिले में अब तक 283.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 1.6 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 01 जुलाई 2021 तक 283.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में हुई औसत वर्षा से 1.6 मिलीमीटर कम है। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 01 जुलाई 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 271.6  मिलीमीटर, श्यामपुर में 211.0, आष्टा में 213.0, जावर में 195.0, इछावर में 225.0,  नसरुल्लागंज में 280.0, बुधनी में 289.0, रेहटी में 168.0 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 1.6 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रातः 08 बजे तक 1.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0, श्यामपुर में 0.0, आष्टा में 0.0, जावर में 0.0, इछावर में 0.0, नसरुल्लागंज में 0.0, बुधनी में 0.0, रेहटी में 0.0, मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


अब आशा सहयोगी, आशा पर्यपेक्षक कहलाएंगी, अब आशा सहयोगी आशा पर्यवेक्षक के पदनाम से जानी जाएंगी


मिशन संचालक, एन.एच.एम. मध्यप्रदेश श्रीमती छवि भारद्वाज ने इस संबंध में निर्देश जारी किए है। आशा कार्यकर्ताओं द्वारा किये गये कार्यों व मूल्यांकन, अनुश्रवण एवं सहयोगी मार्गदर्शन के लिये आशा सहयोगी 10 से 12 आशाओं के क्षेत्र में कार्यरत है तथा आशाओं के कार्यों का समग्र रूप से पर्यवेक्षण करती है। उक्त के दृष्टिगत आशा सहयोगी के नाम में परिवर्तन कर आशा पर्यवेक्षक किया गया है।


नवीन पशुधन बीमा योजनांतर्गत बीमा कराने की अपील


पशुपालक अपने पशुधन का बीमा करायें। राष्ट्रीय पशुधन मिशन अंतर्गत नवीन पशुधन बीमा योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। योजना में पशुपालकों को पशु की मृत्यु होने पर हुई आर्थिक हानि में राहत मिलती है। योजना में समस्त पशुधन जैसे गाय, भैंस, घोड़ा, बकरी आदि को शामिल किया गया है। योजनांतर्गत प्रति परिवार अधिकतम पांच पशुओं का बीमा करा सकते हैं। बीमे की अधिकतम राशि 55 हजार रूपये तक हो सकती है तथा प्रीमियम दर एक वर्ष के लिए 2.92 प्रतिशत है जिसमें सामान्य वर्ग के लिए 50 प्रतिशत अनुदान तथा बीपीएल, एससी, एसटी के लिए 70 प्रतिशत अनुदान शासन द्वारा दिया जाता है। पशुपालक अधिक जानकारी के लिए अपने निकटतम पशु चिकित्सालय प्रभारी से संपर्क कर सकते हैं। 


सेवानिवृत्त शासकीय सेवक अनुभवों का खजाना है।

  • विधायक श्री मालवीय ने सेवानिवृत्त हुए शासकीय सेवकों के स्वस्थ एवं सुदीर्घ जीवन की कामना की, अनेक विभागों के सेवानिवत्त हुए कर्मचारियों का किया गया सम्मान

जिला पंचायत सभाकक्ष में अनेक विभागों के सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के सम्मान में कार्यक्रम आयोति किया गया। इस कार्यक्रम में आष्टा विधायक श्री रघुनाथ मालवीय ने सेवानिवृत्‍त हुए 62 शासकीय सेवकों को शाल-श्रीफल प्रदान कर सम्मानित किया तथा पीपीओ प्रदान किया। इस अवसर पर विधायक श्रीमालवीय ने  सभी सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों के स्वस्थ्य औरसुदीर्घ जीवन की कामना करते हुए कहा कि आप सभीने अपने सेवाकाल में उतकृष्ट कार्य किया जो आपकी कार्य कुशलता को दर्शाता है।सभी सेवानिवृत्त कर्मचारी अपने जीवन के सबसे महत्वपूर्ण और सबसे ज्यादा समय कार्यालय या शासकीय कार्यों में बिताते हैं । शासकीय सेवा में आने के बाद सेवा निवृतित तक  पूरी निष्ठा और लगन से अपनी जिम्मेदारी का रिनर्वहन किया है। उन्होनें कहा कि शासकीय सेवाक अनुभवों का खजाना है। सेवानिवृत्ति के बाद आपके अनुभवों का समाज को लाभ मिलेगा। जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री हर्ष सिहं ने उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आपकी सेवाए विभाग के लिए सदैव स्मणीय रहेगी। जरूरत पडने पर आपकी सेवाओं का लाभ लेंगे। इस अवसर पर एडीएम श्रीमती गुंचा सनोबर, जिला पेंशन अधिकारी आर.के. जाटव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


नेशनल लोक अदालत में अधिक से अधिक निराकरण हो - श्री राजवर्धन गुप्ता


आगामी 10 जुलाई को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत सफल बनाने संबंध में जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष श्री राजवर्धन गुप्ता की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में समस्त न्यायाधीशों से कहा कि लोक अदालत में अधिक से अधिक प्रकरणों का निराकरण हो। अपर जिला न्यायाधीश, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री मुकेश कुमार दांगी ने समस्त न्यायाधीशों से अधिक से अधिक प्रकरण रेफर करने और उनके निराकरण कराने का आग्रह किया। बैठक में, प्रधान न्यायाधीश सुश्री नीना आशापुरे, विशेष न्यायाधीश श्री सुरेश सिंह, अपर जिला न्यायाधीश श्री मुकेश कुमार दांगी सहित अनेक न्यायाधीश उपस्थित थे। साथ ही विडियो कांफ्रेसिंग में तहसील न्यायालयों में पदस्थ न्यायि‍क अधिकारी शामिल हुए।


डॉक्टर्स के लिए जन-जन में तुम रक्षक काहू को डरना का भाव विकसित हुआ

  • कोरोना की संभावित तीसरी लहर के लिए सरकार की पूरी तैयारी- मुख्यमंत्री श्री चौहान
  • मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डॉक्टर्स डे पर किया डॉक्टर्स से संवाद और उनका सम्मान

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है, कि कोरोना के संकट काल में डॉक्टर साथियों द्वारा की गई त्याग, तपस्या, सेवा और समर्पण के परिणामस्वरूप डॉक्टर्स के लिए जन-जन में यह भाव विकसित हुआ कि तुम रक्षक काहू को डरना। यह डॉक्टर्स के निरंतर परिश्रम का ही परिणाम था कि कोरोना की विकट परिस्थितियों में डॉक्टर की उपस्थिति से लोग संकट कटे, हरे सब पीड़ा का अनुभव करने लगते थे। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण डॉक्टर्स और पेरामेडिकल स्टाफ के प्रयासों के परिणामस्वरूप ही संभव हो पाया। आज डॉक्टर्स डे के अवसर पर प्रदेशवासियों की ओर से मैं डॉक्टर्स का आभार मानता हूँ और उनका अभिन्नदन करता हूँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना वैज्ञानिकों द्वारा व्यक्त की गयी है। इस लहर का सामना करने, बचाव और रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार पूरी तरह तैयार है। राज्य सरकार इस ओर निरतंर सक्रिय है। डॉक्टर्स को भी तीसरी लहर से प्रदेश को बचाने के लिये सभी उपाय करने है। मुख्यमंत्री श्री चौहान डॉक्टर्स डे पर आयोजित संवाद एवं सम्मान कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर सीहोर कलेक्ट्रेड के एनआईसी कक्ष में सीएमएचओ डॉ.सुधीर डेहरिया, डॉ. जोगेश्वर कोरी, डॉ. सिविल सर्जन अशोक मांझी सहित अन्य डॉक्टर्स उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा प्रमाण-पत्र वितरित

मिंटो हॉल में कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने चिकित्सकों के साथ संवाद किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा चिकित्सकों को सम्मानित किया गया। कोरोना काल में सेवाएँ देने वाले चिकित्सकों को मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा डिजिटल प्रमाण-पत्र भी वितरित किए गए। कार्यक्रम से प्रदेश के सभी शासकीय और अशासकीय मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल के चिकित्सक ऑनलाइन जुड़े थे। कार्यक्रम में चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग और लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभु राम चौधरी सहित वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. एन. पी. मिश्रा और डॉ. एच. एस. त्रिवेदी उपस्थित थे। कार्यक्रम मध्यप्रदेश गान से आरंभ हुआ। इससे पहले मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मिंटो हॉल परिसर में पीपल का पौधा भी लगाया।


प्राणों की आहूति देने वाले डॉक्टर्स का किया स्मरण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना महामारी के कठिन समय में अपनी असीमित सेवाओं और कर्त्तव्य-परायणता से मानव-सेवा करते हुए अपने प्राणों की आहूति देने वाले डॉक्टर्स का स्मरण करते हुए उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डॉक्टर बिधान चन्द्र राय का भी स्मरण किया। डॉ. राय के जन्म दिवस पर ही एक जुलाई को डॉक्टर्स डे मनाया जाता है।


शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं पर लोगों का विश्वास कई गुना बढ़ा

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं पर लोगों का विश्वास कई गुना बढ़ा है। कोरोना संक्रमण का सामना करने में शासकीय के साथ-साथ निजी अस्पतालों का भी बहुत सहयोग रहा। राज्य शासन द्वारा निजी अस्पतालों के लिए कोरोना इलाज की विशेष दरें निर्धारित की गईं। जिससे आयुष्मान भारत योजना का लाभ बड़ी संख्या में लोगों को मिला। आत्म-निर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण के क्रम में स्वास्थ्य अधो-संरचना को सशक्त करने के लिए कार्य जारी है। मेडिकल कॉलेजों की संख्या में भी वृद्धि हो रही है। आयुर्वेद, होम्योपैथी और योग को जोड़ते हुए लोगों को स्वस्थ जीवन शैली अपनाने के लिए भी प्रेरित करना होगा। 


टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिस प्रकार डॉक्टर साथियों ने कोरोना संक्रमण नियंत्रण में भूमिका निभाई है उसी प्रकार टीकाकरण के लिए लोगों को प्रेरित करने में भी आपसे सहयोग की अपेक्षा है। टीकाकरण के संबंध में व्याप्त भ्रम और भय दूर करने में डॉक्टरों का जन-सामान्य से संवाद महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने डॉक्टर्स से सोशल मीडिया पर इस संबंध में लोगों में जागरूकता फैलाने की अपील की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण अभी गया नहीं है। इंग्लैंड और अन्य कुछ देशों में पुनरू लॉकडाउन की स्थिति बन हो रही है। इस परिस्थिति में प्रदेश-वासियों को कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए प्रेरित करना होगा। इसमें प्रदेश के सभी डाक्टर हर संभव सहयोग प्रदान करें।


कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने तैयार है सरकार

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना वायरस की तीसरी लहर से बचाव के लिए राज्य सरकार सतर्क है। प्रदेश में प्रतिदिन बड़े पैमाने पर टेस्ट हो रहे हैं। उद्देश्य यह है कि तीसरी लहर की आहट मिलते ही तत्काल नियंत्रण के उपाय आरंभ किए जाएँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मेरे लिए यह सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसीलिए कोरोना वायरस की समीक्षा बैठकें नियमित हो रही हैं। तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयारियाँ लगातार जारी हैं। अस्पतालों की क्षमता बढ़ानेए ऑक्सीजन उत्पादनए आवश्यक सामग्री, उपकरण व दवाइयों की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है। डॉक्टरोंए पैरामेडिकल स्टाफ का प्रशिक्षण भी जारी है। यूरोप के कुछ देशों में लॉकडाउन की स्थिति पुनः बन रही है। इसको देखते हुए हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है।


आपने हर चुनौती को किया स्वीकार, आपकी आभारी है मध्यप्रदेश सरकार

चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने कहा कि डॉक्टर्स का सेवा.भावए मानवता के प्रति लगन हमें डॉक्टरों के प्रति कृतज्ञ बनाती है। राज्य सरकार के आभार के भाव को व्यक्त करते हुए मंत्री श्री सारंग ने कहा कि आपने हर चुनौती को किया स्वीकार, आपकी आभारी है मध्यप्रदेश सरकार। लोक स्वास्थ एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा एक डॉक्टर को स्वास्थ्य विभाग का मंत्री बनाना डॉक्टरों का सम्मान है। मुख्यमंत्री श्री चौहान की नेतृत्व क्षमताए कर्मठता और स्पष्ट रणनीति के परिणामस्वरूप ही प्रदेश में कम समय में कोरोना पर नियंत्रण संभव हो पाया। कार्यक्रम को डॉ. एच.एस. त्रिवेदी और डॉ. अपूर्व पौराणिक ने भी संबोधित किया। 


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने किया डॉक्टर्स को सम्मानित

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने चिकित्सा सेवा और सामाजिक दायित्वों के निर्वहन के लिए डॉ. एम. पी. मिश्रा, डॉ. एच. एस. त्रिवेदी, डॉ. निर्भय श्रीवास्तव, डॉ. संजय दीक्षित, डॉ. अनूप निगम, डॉ. योगेन्द्र श्रीवास्तव, डॉ. सत्पथी, डॉ. ललित श्रीवास्तव आदि का सम्मान किया।


सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों को सभी क्लेम समय पर मिले-संभागायुक्त श्री कियावत

  • पेंशन प्रकरणों का समय पर निराकरण करें

सभी सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों को सभी क्लेम समय पर मिले यह निर्देश संभाग आयुक्त श्री कवीन्द्र कियावत ने नगर निगम कमिश्नर श्री के.व्ही एस कोलसानी चौधरी को दिए। उन्होंने कहा कि सेवानिवृत्ति के समय मिलने वाले सभी क्लेम और पेंशन प्रकरण की तैयारी सेवानिवृत्ति के पर्याप्त समय पूर्व तैयार किये जाएं ताकि सेवा निवृत्ति के तुरंत बाद पेंशन मिलने लगे। शत-प्रतिशत प्रकरणों में सेवानिवृत्ति के दिन ही शासकीय सेवकों को पीपीओ का वितरण किया जाए। संभागायुक्त श्री कियावत ने कहा कि जिन शासकीय सेवकों को पेंशन मिलने लगी है उनका जीआईएफ, जीपीएफ, डीपीएफ ग्रेच्यूटी लीव एनकैशमेंट में से किसी एक का भी भुगतान रुकना नहीं चाहिए। किसी भी स्थिति में सेवानिवृत्त शासकीय सेवकों को भटकना ना पड़े और उन्हें उनके अधिकार के सभी स्वत्व समय पर मिलें। श्री कियावत ने कहा कि अनुकंपा नियुक्ति के प्रकरणों में कोरोना काल में हुई मृत्यु के कारण अनुकंपा के संशोधित नियमों को ध्यान में रखकर ही कार्रवाई की जाए। शासन द्वारा अनुकंपा नियुक्ति के दायरे का अधिक व्यापक किया गया है। संभाग आयुक्त श्री कियावत ने कहा कि उपयुक्त सभी प्रकरणों को प्राथमिकता के आधार पर निराकरण होना चाहिए। सेवानिवृत्ति शासकीय सेवक हमारे वृहद परिवार का ही एक हिस्सा है और उन्हें या उनके परिजनों को इन सबके निराकरण के लिए कार्यालयों के चक्कर न लगाना पड़े। उनका शासकीय व्यवस्थाओं पर विश्वास बना रहे। सभी दिन ही शासकीय सेवक को पीपीओ का वितरण किया जाए। साथ ही लंबित प्रकरणों का निराकरण त्वरित गति से किया जाए। 


जिले में आज एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नही मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पाजिटिव की संख्या 02


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज एक भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नही मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10131 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 02 हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10014 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है। आज 1280 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 301, श्यामपुर से 300, विकासखंड नसरुल्लागंज से 148, आष्टा से 253,  बुधनी से 104 तथा इछावर से 174 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 174364 हैं जिनमें से 162482 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 1114 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1280 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 00 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारंटाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि%शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


डाक्टर्स डे पर जिला प्रशिक्षण केन्द्र में किया गया पौधारोपण, डाक्टर्स डे पर किया गया चिकित्सा अधिकारियों का सम्मान


डाक्टर्स डे के पर जिला मुख्यालय मण्डी स्थित जिला प्रशिक्षण केन्द्र में सीएमओ श्री सुधीर कुमार डेहरिया सहित अनेक चिकित्सकों द्वारा पौधरोपण किया गया। प्रांगण में औषधी पौधों के साथ ही गूगल, मुनगा, एलोवेरा,अमरूद एवं आंवला सहित कई प्रजाति के पौधे लगाए गए। साथ ही रोटरी क्लब द्वारा चिकित्सा अधिकारियों का सम्मान


शाल तथा श्रीफल देकर सम्मान किया गया।

इस अवसर पर सीएमएचओ डा. डेहरिया ने कहा-पर्यावरण को शुरू और बेहतर रखने के लिए अधिक से अधिक पौधारोपण किया जाना जरूरी है कोविड के इस दौर में उत्पन्न हुई आक्सीजन की कमी ने पूरी दुनिया को पर्यावरण और पौधारोपण का महत्व समझा दिया है। जिला प्रषिक्षण केन्द्र के प्रांगण में अयोजित पौधरोपण कार्यक्रम में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा.टीआर उईके, जिला प्रशिक्षण अधिकारी डा.जेडी कोरी, सिविल सर्जन डा.अशोक कुमार मांझी, आरएमओ डा.सुधीर श्रीवास्तव, प्रशिक्षण केन्द्र व्यवस्थापक श्री आरके तुली, सहित अनेक चिकित्सकों एवं स्टाफ ने पौधारोपण किया।


कोरोना वॉलिंटियर्स द्वारा वैक्सीन सेंटर पर रजिस्ट्रेशन में किया गया सहयोग


sehore news
मध्यप्रदेश जन अभियान परिषद मैं कोरोना वालंटियर्स द्वारा नगर के वैक्सीनेशन सेंटर पर सहयोग प्रदान किया जा रहा है। नगरवासियों को पीले चावल देकर वैक्सीनेशन सेंटर के लिए आमंत्रित  किया जा रहा है एवं वैक्सीन लगवाने  पर कोरोना वॉलिंटियरों ने तिलक लगा कर स्वागत एवं रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया में सहयोग किया जा रहा है ।  जन अभियान परिषद के ब्लॉक समन्वयक प्रदीप सेंगर ने बतया कि वालेंटियर को नगर के 10 वैक्सीनेशन सेंटरों पर 20 कोरोना वालंटियर्स ने अपने दायित्व का निर्वाहन किया । जिसमें रमिला परमार, नम्रता बरेठा, ब्रजेन्द्र जायसवाल, सहित अनेक कोरोरना वालेंटियर लगातार वैक्सीनेशन सेंटर पर सहयोग कर रहे है ।


कबीर बुनकर प्रोत्साहन पुरस्‍कार कार के लिए प्रविष्टियां आंमत्रित


मध्यप्रदेश में हाथकरघा क्षेत्र के उत्‍कृष्ट एवं परम्परागत संस्‍कति के संरक्षण करने वाले बुनकरों को प्रोत्साहित करने के लिए कबीर बुनकर प्रोत्साहन योजनान्तर्गत वर्ष 2020-2021 के हाथकरघा बुनकरों द्वारा स्वयं उत्पादित उत्‍कृष्ट प्रविष्टिया जिलें के बुनकरों से हाथकरघा कार्यालय, सीहोर में 20 जुलाई 2021 सायं 6 बजे तक स्वीकार की जावेगी। योजना में प्रथम पुरस्‍कार एक लाख रूपये, द्वितीय पुरस्‍कार पचास हजार रूपये एवं त़तीय पुरस्‍कार पच्चीस हजार रूपये, प्रतीक चिन्ह तथा श्रीफल प्रदान किया जाएगा।


तीन जुलाई को लगेगी कोविशिल्ड एवं कोवैक्सीन की सिर्फ सेकेण्ड डोज


तीन जुलाई शनिवार को कोविषिल्ड एवं कोवैक्सीन की सिर्फ सेकेण्ड डोज ही लगाई जाएगी। जिन हितग्राहियों की सेकेण्ड डोज के लिए समयावधि पूर्ण हो चुकी है वे कोविड वैक्सीनेशन के लिए पात्र होंगे। यह निर्देश मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा वीडियो कांफ्रेस के माध्यम से समस्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा जिला टीकाकरण अधिकारियों को दिए गए। जिला टीकाकरण अधिकारी डा.एमके चंदेल ने जानकारी दी कि जिले में कोविशिल्ड के 45 हजार 242 तथा कोवैक्सीन के 9 हजार 906 चिन्हित हितग्राही छूटे हुए हैं। वैक्सीन का प्रथम डोज लगने के उपरांत द्वित्तीय डोज कोविशिल्ड के लिए 84 दिवस तथा कोवैक्सीन के लिए 28 दिन की समयावधि निर्धारित है।


महाअभियान के तहत शाम 6 बजे तक 28306 लोगों ने लगवाया कोविड का टीका

  • शाम पांच बजे तक प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार टीकाकरण में आज सीहोर जिला प्रदेश में तीसरे स्थान पर रहा, हर वर्ग के लोगों का टीका लगवाने दिखा उत्साह

sehore news

जिले में आज कोविड टीकाकरण महाअभियान में हर वर्ग हर समाज के लोगों ने भारी उत्साह दिखाया। जिले में टीकाकरण महाअभियान के तहत 28306 लोगों को कोविड का टीकाकरण किया गया। शाम 6 बजे जारी प्रदेश स्तरीय टीकाकरण रिपोर्ट के अनुसार सीहोर जिला प्रदेश में तीसरे स्थान पर था। लक्ष्य 


कलेक्‍टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने पूरी टीम के साथ ही जनप्रतिनिधियों,

समाजसेवियों, कोरोना वालेंटियर्स सहित सक्रिय भूमिका निभाने वाले सभी नागरिकों को बधाई दी। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने बताया कि जिले को टीकाकरण के लिए मिले 26470 के लक्ष्य से अधिक लोगों का टीकाकरण किया गया। जिले में शाम 6 बजे तक 28306लोगों ने कोविड का टीका लगाया। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों, कोरोना वालेंटियर्स, मीडिया, रचनाकारों, प्रबुद्ध नागरिकों, खिलाड़ियों के सक्रिय सहयोग से अभियान के पहले दिन टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य से अधिक टीकाकरण किया गया। इसके लिए उन्होंने सभी आभार व्यक्त किया।सुबह 08 बजे से ही बड़ी संख्या में लोग कोविड का टीका लगवाने के लिए टीकाकरण केन्द्र पहुंचने लगे। लोगों की सुविधा की दृष्टि से अनेक टीकाकरण केन्द्र बनाये गए। पिछले कुछ दिनों से नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार चलाए जा रहे जनजागरुकता अभियान का परिणाम है कि लोग घरों से बाहर निकले और उत्साह पूर्वक टीका लगवाने के लिए टीकाकरण केन्द्र पहुंचे। टीकाकरण अभियान के पहले दिन 18 वर्ष के युवा से लेकर 90 वर्ष तक बुजुर्गो ने उत्साह पूर्वक टीका लगवाया और उन सभी टीका लगवाने की अपील की है।


जिले में जनपदवार टीकाकरण की स्थिति

जिले में कुल 28306 नागरिकों का टीकाकरण किया गया। जिले के सभी विकास खंडों में कुल 124 टीकाकरण सत्र आयोजित किए गए।आष्टा में 7616, बुधनी में 2717, इछावर में 4852,  नसरुल्लागंज में 2663, श्यामपुर में 7362 तथा सीहोर शहरी क्षेत्र मे3096 नागरिकों का टीकाकरण किया किया गया।


जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों ने लोगों से टीका लगवाने की अपील

जिले में अलग-अलग स्थानों पर बनाए गए टीकाकरण केन्द्रों पर पहुंचे जनप्रतिनिधियों ने टीकाकरण पर पहुंचे लोगों का स्वागत किया गया। जनप्रतिनिधियों एवं समाजसेवियों ने टीकाकरण कराने केन्द्रों पर पहुंचे लोगों को उनके परिजनों को भी टीका लगवाने की अपील की।  इस मौके पर उन्होंने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग कोविड का टीका अवश्य लगवाएं एवं अपने आसपास के लोगों को भी टीकाकरण केन्द्रों पर लेकर आएं और उन्हें भी कोविड का टीका लगवाएं।


टीका लगवाने नागरिकों में भारी उत्साह

टीकाकरण महाअभियान के दौरान जिले भर में कोविड टीकाकरण को लेकर नागरिकों में भारी उत्साह देखा गया। टीकाकरण करवाने के लिए सभी वर्ग, सभी समुदाय के लोगों की सक्रिय भागीदारी रही।  युवाओं से लेकर बुजुर्गो तक में कोविड के टीके को लेकर उत्साह बना रहा। बुजुर्गो ने अपने परिजनों के साथ पहुंचकर कोविड का टीका लगवाया। सुबह 8 बजे से ही युवक-युवतियों, महिला पुरुषों की लंबी कतारें देखी गई। लोगों अपने आवश्यक कार्य छोड़ सर्वप्रथम कोविड का टीका लगवाने टीकाकरण केन्द्र पहुंचे और टीका लगवाया।


सीहोर नगर की पीली मस्जिद के पास भारी भीड दिखी

सीहोर नगर स्थित पीली मस्जिद के पास बनाए गए टीकाकरण केन्द्र में बडी संख्या में लोगों ने कोविड का टीका लगवाया। इसमें हर समुदाय के लोगों के साथ ही मुस्लिम समुदाय के लोगों की बडी संख्या थी इस केन्द्र में 609 लोगों ने टीका लगवाया। टीका लगवाने वाली श्रीमती आबिदा  ने कहा कि टीका कोविड से बचाव का कारगार उपाय है। सभी को कोविड की तीसरी लहर रोकने के लिए टीका लगवाना चाहिए।


टीकाकरण केन्द्रों को सजाया गया

टीकाकरण महाअभियान के शुभारंभ अवसर पर जिले में बनाए गए टीकाकरण केन्द्रों को सजाया गया कि लोग आकर्षित हो जाएं। टीकाकरण केन्द्रों को बैलून और फूलों से सजाया गया। जो दिनभर आकर्षण का केन्द्र बने रहे।


नसरुल्लागंज खातेगांव मार्ग जल मग्नीय पुल- दक्षता जाँच के बाद ही प्रारंभ होगा


लोक निर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव ने कहा है कि नसरुल्लागंज के पास सीप नदी पर बने पुल का कार्य पूर्ण होने और विभाग द्वारा टेस्टिंग उपरांत ही यातायात की अनुमति दी जाएगी। उससे पूर्व जबरन वाहन निकालना शासन के नियमों के विपरीत है। यह आमजन के लिए जानलेवा भी हो सकता है। लोक निर्माण विभाग सेतु संभाग के कार्यपालन यंत्री ने बताया कि सीहोर जिले में नसरुल्लागंज खातेगांव मार्ग पर सीप नदी पर जल मग्नीय पुल का निर्माण लगभग पूर्णता की और है। अभी स्ट्रक्ट्रल क्रांक्रिट कार्य पर क्योरिंग अंतिम स्टेज पर है। अभी उसका ट्रैफिक लोड टेस्टिंग होना बाकी है। यह कारवाही पूर्ण होने के बाद ही इसे विधिवत शुरू किया जा सकता है। नियमानुसार पुल पर अभी ट्राफिक भी शुरू नहीं होना चाहिए। वैसे भी मुख्य पुल के स्ट्रक्ट्रल कैंक्रिट कार्य पर क्योरिंग पूर्ण नहीं हुआ है। मुख्य पुल में कंक्रीट कार्य 2 जून को पूर्ण कर उसके स्ट्रक्चरल कैंक्रिट कार्य का कम से कम 28 दिन तक क्योरिंग किया जाना तकनीकी रूप से आवश्यक है। इसे देखते हुए पुल का उपयोग नहीं किया जा सकता क्योंकि इससे पुल को क्षति हो सकती है। कार्यपालन यंत्री ने बताया कि बुधवार को दोपहर पश्चात कतिपय व्यक्तियों ने पुल के दोनों ओर से लगाए गए बैरिकेट्स को हटाकर दो वाहनों को पार किया गया है जो नियमानुसार गलत होकर कदापि उचित नहीं कहा जा सकता है। वैसे भी तकनीकी रूप से इस तरह की कार्रवाई निर्मित सरंचना को नुकसान पहुंचा सकती है।


पुल की जानकारी

उल्लेखनीय है कि इस पुल के निर्माण के लिए 3 करोड़ 74 लाख 99 हजार रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति 8 सितंबर 2020 को जारी की गई थी। पुल की लंबाई 72 मीटर एवं चौड़ाई 8.40 मीटर है। मुख्य पुल में कांक्रीट कार्य 2 जून को पूर्ण किया गया और अभी क्योरिंग जारी है। पुल पर ट्रैफिक लोड टेस्ट अभी किया जाना है जो संतोषजनक पाए जाने पर ही पुल को शुरू किया जाएगा। इसके लिए कार्यपालन यंत्री सेतु संभाग भोपाल को आवश्यक कार्रवाई प्रारंभ करने के निर्देश दिए गए हैं।


शिक्षा का अधिकार अधिनियम स्कूलों में अब आवेदन 9 तक, ऑनलाइन लाटरी 16 को होगी


शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत सत्र 2021-22 में निजी स्कूलों की प्रथम कक्षा में निःशुल्क प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन अब 9 जुलाई 2021 तक किए जा सकेंगे। पूर्व में यह तिथि 30 जून निर्धारित थी। छात्र-हित को ध्यान में रखते हुए सत्र 2021-22 के निःशुल्क प्रवेश की गतिविधियों के लिए संशोधित समय-सारणी जारी की गयी है। पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन एवं त्रुटि सुधार के लिए विकल्प 9 जुलाई 2021 तक, ऑनलाइन आवेदन के पश्चात पोर्टल से पावती डाउनलोड कर तथा मूल दस्तावेजों से सत्यापन केन्द्रों मे सत्यापनकर्ता अधिकारियों से सत्यापन 10 जुलाई तक कराना, रेण्ड़म पद्वति से ऑनलाईन लॉटरी द्वारा स्कूल का आवंटन और चयनित आवेदको को एसएमएस द्वारा सूचना 16 जुलाई 2021 तक दी जाएगी। जिस बच्चे को ऑनलाइन लॉटरी के माध्यम से स्कूल आवंटन हुआ है, उसके द्वारा पोर्टल से आवंटन पत्र डाउनलोड कर आवंटित स्कूल में प्रवेश हेतु उपस्थित होकर प्रवेश प्राप्त करना प्रवेश की तिथि 16 से 26 जुलाई 2021 तक रहेगी। आरटीई पोर्टल  www.educationportal.mp.gov.in/Rte पर ऑनलाइन आवेदन पत्र का प्रारूप उपलब्ध है।


शुद्ध खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने की दिशा में एमआईएस सिस्टम और हेल्प डेस्क कारगर साबित होगी - स्वास्थ्य मंत्री श्री डॉ. चौधरी


प्रदेश के नागरिकों को मिलावट रहित शुद्ध खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने की दिशा में मिलावट से मुक्ति अभियान चलाया जा रहा है। इस कड़ी में एमआईएस सिस्टम और हेल्प डेस्क को खाद्य प्रशासन विभाग द्वारा शुरू करना महत्वपूर्ण पहल है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने खाद्य सुरक्षा एवं नियंत्रण, खाद्य एवं औषधि प्रशासन के ईदगाह हिल्स स्थित कार्यालय में एमआईएस सिस्टम और हेल्प डेस्क का शुभारंभ करते हुए यह बात कही। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि हेल्प डेस्क के माध्यम से एक ओर जहाँ विभागीय गतिविधियों, योजनाओं की जानकारी के संबंध में मार्गदर्शन प्राप्त किया जा सकेगाए वहीं दूसरी ओर आम नागरिक अपनी बात भी विभाग तक पहुँचा सकेगा। एमआईएस सिस्टम के माध्यम से विभाग के कार्य में कसावट आएगी। जिलावार और अधिकारीवार कार्यों को सीधे पोर्टल पर प्रदर्शित किया जायेगा, जिससे विभागीय कार्यों की निगरानी, नियंत्रण और समीक्षा के माध्यम से विभागीय कार्यों में तेजी लायी जायेगी। कौन अधिकारी कितने सेम्पल कलेक्ट कर रहा है, किस जिले से कितने सेंपल कलेक्ट हुए आदि की विस्तृत जानकारी इसमें होगी। एमआईएस सिस्टम मेन्यूअल सर्विलेंस सेम्पल एवं चलित खाद्य प्रयोगशाला के माध्यम से जाँच हेतु लिये जाने वाले खाद्य पदार्थों के सर्विलेंस नमूनों की संख्यात्मक जानकारी को भी पोर्टल पर दर्ज करेगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता में की जाने वाली सभी प्रकार की गतिविधियों को भी एमआईएस सिस्टम में सम्मिलित किया गया है। जिला स्तर पर एमआईएस सिस्टम में डाटा एंट्री मुख्यालय खाद्य सुरक्षा अधिकारी और समस्त खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा दर्ज की जायेगी। दर्ज सभी प्रकार की जानकारी का डाटा डेशबोर्ड पर पाई चार्ट, बार चार्ट, लाइन चार्ट के रूप में रहेगा, जो प्रभावी मॉनिटरिंग में सहायक होगा। इस डेटा को पोर्टल पर संभागवार, जिलावार और खाद्य सुरक्षा अधिकारी वार पृथक- पृथक दर्शाया जायेगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने शिकायत एप के संबंध में बताया कि यह एक वेब आधारित एप है, जिस पर वेबसाइट के माध्यम से कोई भी आम नागरिक अपनी पहचान बताये बिना किसी खाद्य पदार्थ के दूषित होने, मिलावटी खाद्य पदार्थ संबंधी शिकायत अथवा अधिनियम के किसी अन्य प्रावधान के पालन नहीं होने की अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत दर्ज होने पर संबंधित जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, पदेन उप संचालक खाद्य एवं औषधि प्रशासन और मुख्यालय खाद्य सुरक्षा अधिकारी के पंजीकृत ई-मेल पर एमआईएस सिस्टम के द्वारा कार्यवाही के लिये नोटिफिकेशन भेजा जायेगा। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि खाद्य पदार्थों में मिलावट के विरूद्ध चलाये गये मिलावट से मुक्ति अभियान में अब तक 11 हजार 638 नमूनों की जाँच की गई। मिलावट पाये जाने वालों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए 288 मिलावटखोरों के विरूद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज किये गये। इनमें 32 के लिए एनएसए की कार्यवाही की गई। अब तक मिलावटखोरों से 2 करोड़ 3 लाख 97 हजार का अर्थदंड भी वसूल किया गया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने बताया कि विभागीय प्रयासों से राज्य प्रयोगशाला की जाँच क्षमता 500 सेंपल प्रतिमाह से बढ़ाकर 1700 सेंपल प्रतिमाह की गई है। औषधि प्रयोगशाला की जाँच क्षमता को भी 200 सेंपल से बढ़ाकर 450 सेंपल प्रतिमाह किया गया है। उन्होंने कहा कि सेंपल की विश्लेषण क्षमता बढा़ने के लिये इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में 3 नई प्रयोगशालाओं का निर्माण कार्य किया जा रहा है। इन प्रयोगशालाओं को इस वर्ष के अंत तक प्रारंभ करने का लक्ष्य तय किया गया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि आम नागरिकों को खाद्य पदार्थों में की जाने वाली मिलावट के संबंध में जागरूक और प्रशिक्षित करने के लिये विभाग द्वारा 9 चलित खाद्य प्रयोगशाला जिलों में संचालित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि विभाग को जल्दी ही 3 नई चलित प्रयोगशाला मिलने वाली हैं। चलित प्रयोगशाला में आम नागरिक खाद्य पदार्थों की जाँच नाम मात्र की 10 रूपये की शुल्क देकर करा सकते हैं। एमआईएस सिस्टम और हेल्प डेस्क शुभारंभ कार्यक्रम में स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी और नियंत्रक खाद्य एवं औषधि प्रशासन श्री पी. नरहरि ने एमआईएस सिस्टम और हेल्प डेस्क के संचालन के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। 

कोई टिप्पणी नहीं: