विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 27 जुलाई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 26 जुलाई

लंबित आवेदनों की समीक्षा 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज विभिन्न विभागो में लंबित आवेदनों की समीक्षा नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में की। उन्होंने श्रम विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि जिले में कही भी बाल मजदूर श्रम करते ना पाए जाए। उन्होंने विशेष अभियान चलाकर ढाबो और होटलो की सघन जांच पडताल कर वहां कार्य करने वाले लडको पर नजर रखने के निर्देश दिए है। व्यवसायिक संचालकों को भी इस बात की जानकारी अनिवार्य रूप से व्यक्तिगत सम्पर्क कर दी जाए कि बच्चो से काम कराना कानूनन अपराध है अतः इससे स्वंय बचे और दूसरो को भी बचने की प्रेरणा दें।  कलेक्टर डॉ जैन ने मशीनरी उपकरणों की सूचियां विकासखण्ड स्तर पर संधारित करने के निर्देश दिए है ताकि आपदा के दौरान बचाव कार्य हेतु आवश्यक मशीनरी उपकरण जैसे जेसीव्ही, पोकलेन एवं हाइड्रा इत्यादि स्वामित्वों के नाम, पते, सम्पर्क नम्बर संधारित किए जाएं।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि वर्षाकाल के दौरान जिन सड़क मार्गो की पुल पुलियों पर जलबहाव होता है उन क्षेत्रों में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। उन्होंने संबंधित सड़क निर्माण विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए है कि लोहे के बेरिकेट का ही उपयोग किया जाए। पुल पुलियों के दोनो छोरो पर सुरक्षा के मद्देनजर तैनात किए जाने वाले विभागीय अमले की जानकारी पुलिस, एसडीएम और कोटवार को भी दी जाए ताकि आवश्यकता पडने पर उन सभी से मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क किया जा सकें।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि नदी, जलाश्यों को देखने के लिए आमजन पहुंचते है ऐेसे समय सुरक्षा के प्रबंध अनिवार्य रूप से किए जाएं। उन्होंने खासकर हलाली डेम के विभिन्न पर्यटन स्थलों पर सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए है।  लंबित समीक्षा बैठक में शिक्षा, स्वास्थ्य, खाद्य, कॉ-आपरेटिव बैंक, वित्त, ऊर्जा, पीडब्ल्यूडी, पीएचई, आदिम जाति कल्याण, महिला एवं बाल विकास विभाग, श्रम, खनिज, पशु चिकित्सा, मार्कफेड, सामाजिक न्याय, जिला योजना इत्यादि विभागो के अधिकारियों द्वारा भी लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाही से अवगत कराया है। उक्त बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अमृता गर्ग के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी उपस्थित रहें।


सौराई रैक पाइंट तक सड़क की मरम्मत कार्य 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो पर की गई कार्यवाही से अवगत कराते हुए लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री हेमंत राजपूत ने बताया कि सौराई रैक पाइंट पर मालवाहक वाहनो का सुगमता से आवागमन हो सके इसके लिए पूर्व दिक्कतो का समाधान करते हुए सडको की मरम्मत कार्य को पूर्ण किया गया है। लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री राजपूत ने बताया कि सौराई रैक पाइंट जंक्शन पर ट्रको आवागमन सुगमता से हो इसके लिए पूर्व त्रुटियों का निराकरण कर सड़को का चौडीकरण कार्य किया गया है ताकि सुगमता से मालवाहक वाहन टर्न हो सकें। रहें।


पुस्तकालय का संचालन शुरू हुआ 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में नवीन जिला पुस्तकालय के संचालन हेतु पूर्व डाइट कार्यालय परिसर में तमाम प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। आंगतुक पाठको को नए वातावरण में पठनीय कार्यो में सुगमता हो को ध्यानगत रखते हुए फर्नीचर के अलावा अन्य बुनियादी आवश्यकताएं जिसमें प्रकाश हेतु लाइट की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल मुदगल ने बताया कि जिला पुस्तकालय का संचालन कार्य शुरू हो गया है। उन्होंने नगर के पाठको से आग्रह किया है कि दो पालियों में संचालित होने वाले पुस्तकालय में उपस्थित होकर बहुमूल्य पुस्तकों के अलावा अन्य सामाजिक सरोकारो पर आधारित पुस्तकों, दैनिक अखबारो सहित अन्य प्रकार की प्रचार-प्रसार सामग्री का निःशुल्क पठन कर लाभ उठाएं। 


स्थानांतरण प्रस्ताव जमा कराने के निर्देश 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने समस्त विभागो के जिलाधिकारियों को निर्देश दिए है कि जिले के अंदर स्थानांतरण संबंधी प्रस्ताव प्रभारी मंत्री जी के अनुमोदन हेतु प्रेषित किए जाने है अतः ऐसे विभागों के अधिकारी जो अपने अधीनस्थ अमले का जिले में ही स्थानांतरण की आवश्यकता महसूस करते है तो प्रमुख कारणो सहित प्रस्ताव जिला कार्यालय में जमा कराना सुनिश्चित करें।  कलेक्टर डॉ जैन ने जिला स्थानांतरण बोर्ड हेतु निर्धारित मापदण्डों का पालन सुनिश्चित करते हुए प्रस्ताव तैयार करें जिसमें इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि स्थानांतरित स्थल पर शासकीय कार्यो के संपादन हेतु क्या प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे है का उल्लेख स्थानांतरित प्रस्तावों में अनिवार्य रूप से अंकित करें। जिले से बाहर के प्रस्ताव कदापि जमा ना कराए जाएं।  


सीएम हेल्पलाइन के आवेदको से संवाद की पहल


सीएम हेल्पलाइन के तहत लंबित आवेदनों का निराकरण शीघ्र हो इसके लिए प्रत्येक विभाग अपने-अपने स्तर पर कार्ययोजना तय कर उसका क्रियान्वयन करें ताकि उसका मूल्य उद्धेश्य समय सीमा में कराया जाना सुनिश्चित हो।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के तहत सौ दिन से अधिक के लंबित आवेदनों के संबंध में संवाद प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। जिसके तहत आवेदकों को संबंधित विभागो के अधिकारियों द्वारा स्वंय ही कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में उपस्थित कराना सुनिश्चित किया जाएगा साथ ही आने जाने और भोजन के भी प्रबंध संबंधित विभागो के अधिकारियों को ही व्यय करने होंगे। कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन के आवेदको से संवाद प्रक्रिया के तहत दस-दस आवेदको आमंत्रित किया जाएगा जिसकी सूचना संबंधित विभाग के अधिकारी आवेदकों को देकर बैठक में शामिल होने के प्रबंध सुनिश्चित करेंगे।  कलेक्टर डॉ जैन ने सीएम हेल्पलाइन के ऐसे आवेदन जिसमें जिला स्तर पर निराकरण की कार्यवाही अंकित करने हेतु एल वन व एल टू अधिकारी अधिकृत है और उनके द्वारा निराकरण के संबंध में टीप अंकित नही की गई है ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। ं।


त्रुटिसुधार उपरांत हितग्राही को चेक प्रदाय 


लाल पठार में कुंए पर घटित दुर्घटना के पीडित व परिजनों को मुख्यमंत्री जी द्वारा की गई घोषणा के अनुपालन में राशि के चेक प्रदाय किए गए थे किन्तु दो हितग्राहियों को प्रदाय चेको का भुगतान नहीं होने के कारणो को संज्ञान में लेते हुए जिला प्रशासन के द्वारा दोने हितग्राहियों को सोमवार 26 जुलाई को नवीन चेक प्रदाय किए गए है।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि लाल पठार में घटित दुर्घटना में मृतक श्री कृष्णगोपाल की मां श्रीमती रामवती बाई अहिरवार को पांच लाख रूपए का चेक प्रदाय किया गया और हितग्राही द्वारा भारतीय स्टेट बैंक कलेक्ट्रेट शाखा विदिशा के अपने खाते में जमा कराया गया है।  लाल पठार के कुएं दुर्घटना में घायल श्री मोहन पिता श्री प्रदीप जाति योगी को पूर्व प्रदाय चेक में त्रुटिवश जाति सोनी अंकित हो गई थी जिसे सुधार कर नवीन चेक श्री मोहन पिता प्रदीप के नाम से जारी किया गया है। 


खण्ड स्तरीय लंबित आवेदनों की समीक्षा व्हीसी से 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने आज अनुविभाग स्तर पर लंबित आवेदनों की समीक्षा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से की। उन्होंने समीक्षा बैठक के पूर्व समस्त एसडीएम, तहसीलदार सहित अनुविभाग क्षेत्र के अन्य अधिकारियों को विभिन्न मुद्दो पर आवश्यक मार्गदर्शन सहित दिशा निर्देश दिए है।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि टीएल बैठक की तर्ज पर खण्ड स्तर पर बैठक आयोजित कर उसका पालन प्रतिवेदन जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने किसी भी प्रकार की आपदा आने पर राहत कार्यो में आवश्यक उपकरणों की महत्वता पर प्रकाश डालते हुए सभी अनुविभागीय अधिकारी अपने-अपने कार्यक्षेत्रो में ऐसे व्यक्ति जिनके पास जेसीव्ही, हाइड्रा, पोकलेन मशीने है कि सूची संपर्क नम्बर सहित संधारित करें ताकि आवश्यकता पडने पर इन उपकरणों की सहायता से राहत कार्य अविलम्ब शुरू हो सकें। कलेक्टर डॉ जैन ने पुल-पुलियों पर वर्षाकाल के दौरान जल बहाव होने पर आवागमन पूर्णतः प्रतिबंधित हो इसके लिए दोनो छोरो पर लोहे के बेरिकेट लगाने और वहां तैनात सुरक्षाकर्मी की समुचित जानकारी व सम्पर्क नम्बर से अवगत हो।  कलेक्टर डॉ जैन ने नटेरन क्षेत्र में गत दिवस हुई वर्षा से नहर में जलभराव और टूट फूट होने के कारणो की जांच करने के निर्देश देते हुए कहा कि किसने नहर के गेट बंद किए थे कि जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें।  कलेक्टर डॉ जैन ने वर्षाकाल के दौरान हुई क्षति का सर्वे कर पीडितो को नियमानुसार राहत राशि के प्रकरण तैयार कर त्वरित मदद कराने के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। घटना के दूसरे दिन तक सर्वे कार्य पूर्ण करा लिया जाए ताकि आवश्यकता पडने पर मदद अविलम्ब मुहैया हो सकें।  कलेक्टर डॉ जैन ने कोविड 19 टीकाकरण अभियान के तहत जिले के सभी विकासखण्डो में वैक्सीनेशन कार्य किया जा रहा है। अतः टीकाकरण सत्र स्थल ऐसे चयनित करें जहां हितग्राही सुगमता से आ जा सकें। यदि कही बारिश होने लगती है तो हितग्राही भवन में रूक सकें। को ध्यानगत रखते हुए सत्र स्थल चिन्हित करें। कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि खुले कुंए पर तार फेसिंग करने तथा अन्य सुरक्षा प्रबंध सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए थे किन्तु कुरवाई जनपद सीईओ को छोडकर शेष अन्य किसी भी सीईओ के द्वारा इस कार्य के प्रति गंभीरता प्रदर्शित नही की है और ना ही कार्य पूर्ण कराने हेतु पहल नही की गई है। अतः शेष जनपद सीईओ शोकॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने समस्त एसडीएमो को इस कार्य की मानिटरिंग करने के निर्देश देते हुए कहा कि खुले कुंए के चारो ओर तार फेसिंग अनिवार्यत कराई जाए ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी, दुर्घटना होने की संभावनाओं को रोका जा सकें।  कलेक्टर डॉ जैन ने कहा कि बाढ का पानी उतरने के उपरांत आवश्यक सडको का निरीक्षण, परीक्षण कराने के उपरांत ही भारी वाहनो का आवागमन शुरू कराएं। ऐसी सडके जहां मरम्मत की आवश्यकता है तो पहले मरम्मत कार्य पूरा कराया जाए इसके पश्चात यातायात शुरू करें। वीडियो कांफ्रेसिंग के दौरान अनुविभाग स्तर पर लंबित आवेदनों पर की गई कार्यवाही से संबंधित एसडीएम के द्वारा जानकारियों प्रस्तुत की गई है। नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में व्हीसी समीक्षा के दौरान अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, डिप्टी कलेक्टर श्री अमृता गर्ग के अलावा लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री श्री हेमंत राजपूत, एमपीआरडीसी के जनरल मैनेजर मोहम्मद हासिफ रिजवी, जल संसाधन विभाग, मुख्य नगरपालिका अधिकारी, वन विभाग के अधिकारी मौजूद रहें।   


क्षतिग्रस्त सड़कों का जायजा 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो पर आज एमपीआरडीसी के जनरल मैनेजर मोहम्मद हासिफ रिजवी, लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन श्री हेमंत राजपूत तथा विदिशा नगरपालिका के मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने संयुक्त रूप से भ्रमण कर वर्षा से क्षतिग्रस्त हुई सडको का भ्रमण कर जायजा लिया है। खासकर एमपीआरडीसी के द्वारा बनाई गई सड़क जो बेतवा और बैस नदी के पुल को जोडती है इन सडको पर गडढो की मरम्मत कार्य शीघ्र ही शुरू कराया जाएगा ततसंबंध में लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री को निगरानी और मानिटरिंग का दायित्व सौंपा गया है। जनरल मैनेजर श्री रिजवी ने बताया कि बेतवा और बैस नदी के पुल पर हुए गडढो की मरम्मत कार्य दो दिवस में पूरा करा दिया जाएगा। 


सफलता की कहानी  : टीके के महत्व ने लगवाने की जिज्ञासा बढाई 


vidisha news
जिले में कोविड 19 टीकाकरण वैक्सीनेशन कार्य जारी है। ग्रामीणजनों को कोरोना से बचाव की जानकारी में टीके की महत्वता से भी अवगत कराया जा रहा है। जनजागरूकता के सापेक्ष परिणाम है कि जितने डोज प्राप्त हो रहे है उन सबका उपयोग उसी दिन हो जा रहा है और निर्धारित संख्या से अधिक हितग्राही टीके लगवाने हेतु सत्र स्थलों पर पहुंच रहे है।  ग्राम करारिया की 86 वर्षीय प्यारीबाई पति श्री रामभगत अहिरवार और 76 वर्षीय सब्बोबाई पति श्री सुम्मा अहिरवार अपने पोतो का सहारा लेकर टीका लगवाने केन्द्र पर पहुंची तो उनका जोश इस उम्र में भी देखने लायक था। चर्चा में प्यारी बाई ने बताया कि जा नई बीमारी आई है जेमे जो टीका लगवावो जरूरी है ऐसी बात हमारे गांव की आंगनबाडी बाई ने बताई और हम दोई जने जो सोच रहे थे के कब हमें टीका लगजाए कोरोना जा कौन से बीमारी से से बचे रहें। ई काम में हमारे घर के अलावा स्वास्थ्य विभाग की बाईयो ने भारी मदद करी जैसे ही हम पहुंचे तो हमें सबसे पहले बुला लयों और आधार कार्ड, वोटर आइडी देखकर टीका लगाओ है टीका लगवावो सबको जरूरी है जा बात हमारे सरपंच परमलाल सिंह जादौन, आशा फूलवती साहू, उर्मिला साहू, एएनएम विजय मालवीय सबई को बता रहे है। 


सोमवार को 64.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज


जिले की तहसीलो में स्थापित वर्षामापी यंत्रो पर सोमवार 26 जुलाई को दर्ज की गई वर्षा की जानकारी देते हुए अधीक्षक भू-अभिलेख श्री राजेश राम ने बताया कि जिले में 64.1 मिमी औसत वर्षा दर्ज हुई है। जबकि अब तक 487.7 मिमी औसत वर्षा हो चुकी है।  सोमवार को तहसीलवार दर्ज की गई वर्षा तदानुसार विदिशा में 31 मिमी, बासौदा में 23.8 मिमी, कुरवाई में 11 मिमी, सिरोंज में 23 मिमी, लटेरी में 101 मिमी, ग्यारसपुर में 71 मिमी, गुलाबगंज में 75 मिमी, नटेरन में 152 मिमी, शमशाबाद में 127.1 मिमी, तथा पठारी तहसील में 26.4 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। 


सिकमी किराएदारों को नोटिस जारी


कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री सुधीर सिंह ने बताया कि विदिशा नगरपालिका क्षेत्र में निकाय की कुल 850 दुकाने किराए पर आवंटित की गई है किन्तु संबंधितों के द्वारा अन्य किसी व्यवसाय करने वालो को किराए पर दे रखी है अतः ऐसे सभी सिकमी किराएदारो को नोटिस देने की प्रक्रिया निकाय द्वारा क्रियान्वित की जा रही है। अब तक 170 सिकमी किराएदारो को नोटिस दिए गए है। गौरतलब हो कि नगरपालिका क्षेत्र की दुकानों को किराए पर लेने वाले व्यक्तियों के द्वारा निकाय के किराए से कई गुना अधिक किराया राशि पर अन्यत्र व्यवसाय संचालको को दी गई है जो आवंटित दुकान प्रक्रिया नियमों का पालन के विपरीत है। अतः ततसंबंध में कार्यवाही प्रस्तावित की गई है।


रात्रि में रेस्क्यू कर 18 लोगो को सुरक्षित निकाला गया


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन और पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा के संयुक्त मार्गदर्शन में गत रात्रि में रेस्क्यू कर बाढ में फंसे 18 लोगो को सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाने का कार्य संपादित किया गया है।  विदिशा एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा ने बताया कि रात में सूचना प्राप्त होने पर ग्राम लश्करपुर क्षेत्र के 18 श्रमिको को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थलों पर पहुंचाया गया है। सायं छह बजे जिला मुख्यालय पर सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम लश्करपुर में सहोदरा नदी में अचानक बाढ का पानी आ जाने से खेतो में काम कर रहे श्रमिक बाढ के पानी में फंस जाने के कारण बाहर नही निकल पा रहे है।  जिला प्रशासन को प्राप्त सूचनाओं पर त्वरित कार्यवाही की गई। होमगार्ड के 13 सदस्यीय दल के साथ एसडीएम श्री गोपाल सिंह वर्मा, सीएसपी श्री विकास पांडे, तहसीलदार श्रीमती सरोज अग्निवंशी तथा कोतवाली थाना प्रभारी मौके पर पहुंचे और रेस्क्यू कर फंसे हुए सभी 18 श्रमिकों को एक घंटे में सुरक्षित बाहर निकालकर उन्हें अपने-अपने घरों तक पहुंचाने का कार्य किया है। 


नवीन पशुधन बीमा योजनांतर्गत बीमा कराने की अपील


पशुपालक अपने पशुधन का बीमा करायें। राष्ट्रीय पशुधन मिशन अंतर्गत नवीन पशुधन बीमा योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। योजना में पशुपालकों को पशु की मृत्यु होने पर हुई आर्थिक हानि में राहत मिलती है। योजना में समस्त पशुधन जैसे गाय, भैंस, घोड़ा, बकरी आदि को शामिल किया गया है। योजनांतर्गत प्रति परिवार अधिकतम पांच पशुओं का बीमा करा सकते हैं। बीमे की अधिकतम राशि 55 हजार रूपये तक हो सकती है तथा प्रीमियम दर एक वर्ष के लिए 2.92 प्रतिशत है जिसमें सामान्य वर्ग के लिए 50 प्रतिशत अनुदान तथा बीपीएल, एससी, एसटी के लिए 70 प्रतिशत अनुदान शासन द्वारा दिया जाता है। पशुपालक अधिक जानकारी के लिए अपने निकटतम पशु चिकित्सालय प्रभारी से संपर्क कर सकते हैं।


स्वयं रीडिंग भेजकर प्राप्त करें बिजली का बिल, लकी ड्रा के माध्यम से स्मार्ट फोन मिलने का मौका भी पाएं


म.प्र. पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा उपभोक्ताओं को सेल्फ फोटो रीडिंग की सुविधा प्रदान की गई है। कुछ बिजली उपभोक्ता घर बैठे अपने मीटर की रीडिंग स्मार्ट बिजली एप के माध्यम से स्वयं अपलोड कर वास्तविक रीडिंग का बिजली बिल प्राप्त कर रहे हैं। बिजली उपभोक्ताओं द्वारा 27 जुलाई तकफोटो रीडिंग अपलोड करना अनिवार्य है। सेल्फ फोटो रीडिंग के प्रति उपभोक्ताओं को प्रोत्साहित करने के लिए कंपनी द्वारा एक ईनामी योजना भी लागू की गई है जिसके तहत उपभोक्ता द्वारा अपलोड की गई फोटो रीडिंग स्पष्ट एवं मान्य होने पर लकी ड्रा निकाला जाएगा तथा चयनित उपभोक्ताओं को स्मार्ट फोन ईनाम में दिया जाएगा। कोविड -19 महामारी के कारण, संक्रमण से बचाव के लिए मीटर रीडर को उपभोक्ता के परिसर के बाहर स्थापित मीटर की रीडिंग करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि उपभोक्ता एवं मीटर रीडर दोनों ही सुरक्षित रहें। ऐसे उपभोक्ता जो सेल्फ फोटो रीडिंग का उपयोग कर रहे हैं उन्हें अपलोड की गई रीडिंग का बिल भेजा जा रहा है।


कैसे भेजे सेल्फ फोटो रीडिंग

स्मार्ट बिजली एप डाउनलोड करने के लिए कंपनी द्वारा बिजली उपभोक्ताओं के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर मैसेज के माध्यम से लिंक भेजी गई है। एप को डाउनलोड करने के बाद पहली बार मोबाइल नंबर एवं ईमेल आईडी के साथ रजिस्टर्ड करना होगा। नए उपभोक्ता ‘‘गेस्ट यूजर’’ विकल्प का उपयोग कर भी रीडिंग अपलोड कर सकते हैं। रीडिंग अपलोड करने के लिए स्मार्ट बिजली एप के ‘‘मीटर रीडिंग-अपलोड फोटो’’ विकल्प को चुनें। अपना आईवीआरएस नंबर दर्ज करने पर उपभोक्ता का विवरण डिस्प्ले होगा। मीटर में दिखाई दे रही क्रं. वाली रीडिंग को टाइप करें तथा फोटो विकल्प के माध्यम से फोटो लेकर उसे सबमिट करें। स्पष्ट फोटो की रीडिंग मान्य होने पर उपभोक्ता का बिजली बिल जनरेट होगा। अधिक जानकारी के लिए 1912 पर संपर्क किया जा सकता है। बिजली उपभोक्ता स्मार्ट बिजली एप को गूगल प्ले स्टोर से भी डाउनलोड कर सकते हैं तथा एप में उपलब्ध अन्य सुविधाओं का उपयोग कर बिजली संबंधी किसी भी समस्या का निराकरण भी करवा सकते हैं। 


मलेरिया के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल खून की जांच करायें

 

लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा एडवाइजरी में लोगों से सतर्क रहने की अपील की गई है कि वर्षा ऋतु के आगमन के साथ मच्छर जनित रोग मलेरिया की भी संभावनाएँ होने लगी हैं। मलेरिया परजीवी का संक्रमण संक्रमित मादा एनाफिलीज मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर रुके हुए साफ पानी में पैदा होता है, अतः घर के आस-पास कहीं भी खुले स्थान पर पानी एकत्रित न होने दें।  एडवाइजरी में कहा गया है कि हर सप्ताह कूलर, पानी की टंकी आदि को खाली कर सफाई करें। ऐसे स्थान जहाँ पानी की निकासी संभव न हो और अनावश्यक जल भराव हो वहाँ केरोसिन या जला हुआ तेल डालें। मच्छरदानी लगाकर सोएं। खिडकियों और दरवाजों पर मच्छरों को रोकने के लिये जाली लगायें। पूरी बाँह के कपड़े पहनें। मलेरिया के लक्षणों में ठंड लगकर तेज बुखार आना, पसीना आकर बुखार उतर जाना, रुक-रुक कर बुखार आना, सिर दर्द और उल्टी होना तथा बैचेनी, कमजोरी, सुस्ती महसूस होना शामिल है। मलेरिया के लक्षण दिखाई देने पर तत्काल शासकीय स्वास्थ्य संस्था अथवा आशा कार्यकर्ता से संपर्क कर खून की जांच करायें।

कोई टिप्पणी नहीं: