बिहार : सर, अभी तक 50% भी टीकाकरण नहीं हो पाया है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 5 जुलाई 2021

बिहार : सर, अभी तक 50% भी टीकाकरण नहीं हो पाया है

50-percent-vaccination-bihar
मोतिहारी. बिहार में एक मंत्री हैं,जो बयान देकर अपने ही बयान में बुरी तरह से फंसते जा रहे हैं.उन्होंने अपना पहला बयान 17 जून को दिया, कि देश में सबसे ज्यादा 6.62 लाख टीके लगाने का रिकॉर्ड कायम करने वाला राज्य बिहार है. द्वितीय बयान 27 जून को दिया कि पूर्वी चंपारण का बनकटवा प्रखंड बिहार का पहला प्रखंड बन गया है जहां 18 वर्ष के शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है.दोनों बयान में टॉल हो गये.आप समझ गए होंगे कि वह स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय हैं. बिहार के स्वास्थ्य मंत्री ने 17 जून को ट्वीट कर कहा था कि एक दिन में देश में सबसे ज्यादा 6.62 लाख टीके लगाने का रिकॉर्ड उनके राज्य में बन गया है.हालांकि, उन्हीं के विभाग की तरफ से जो प्रेस रिलीज जारी हुई, उसके मुताबिक सिर्फ 1 लाख 23 हजार 745 लोगों को ही वैक्सीन की डोज दी जा सकी. यानी स्वास्थ्य मंत्री और उनके विभाग के आंकड़ों में करीब पांच गुना का अंतर था. इसके 10 दिन के बाद रविवार को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि पूर्वी चंपारण का बनकटवा प्रखंड बिहार का पहला प्रखंड बन गया है जहां 18 वर्ष के शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है. पूर्वी चंपारण का बनकटवा प्रखंड बिहार का पहला प्रखंड बन गया है जहां 18 वर्ष के शत-प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है.यह जानकारी स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने 27 जून रविवार को दी. मंत्री पांडेय ने कहा कि बिहार न सिर्फ संक्रमण रोकने और टीकाकरण के मामले में कई राज्यों से आगे है, बल्कि बनकटवा प्रखंड में 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों ने उल्लासपूर्वक शत-प्रतिशत टीका लगवा राज्यवासियों को प्रेरित किया है.यह पहला प्रखंड है, जहां शत-प्रतिशत टीकाकरण हुआ.आने वाले दिनों में ऐसे और भी प्रखंड होंगे, जहां शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन होगा. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को इससे अवगत करा दिया गया है.यहां पर अनुमानित आबादी 7038416, इसमें 18+ 3307251 है.2020 की मतदाता सूची में 18+ आयु वर्ग की यही संख्या दर्ज है.जिले में 27 जून तक 7,28,955 लोगों को टीका लग चुका है. इसमें 660858 को पहली और 68097 को दोनों डोज लगी है.पूर्वी चंपारण का बनकटवा पहला प्रखंड जहां 18 प्लस के 100% लोगों को लगे कोरोना के टीके. इस संदर्भ में अभिनय यादव का कहना है कि अपने पार्टी की तरह आप भी झूठे हो.आपने कभी धरातल पर जाने का काम ही नही किया है, जिस प्रखण्ड का 100℅ टीके लगने की बात कर रहे हैं आप.हम उसी प्रखण्ड के निवासी है और अभी तक मेरा कोरोना टीकाकरण ही नहीं हो पाया है,तो फिर आपने किस आधार पर 100 ℅ की सफलता कह सकते हैं? उसी तरह रंजन पांडेय कहते हैं कि माननीय मंत्री महोदय सच्चाई ये है,कि बनकटवा में टीका उपलब्ध नहीं हैं. मै पिछले 20 दिनों से स्लॉट बुकिंग कर रहा हूं. लेकिन वैक्सिन नहीं होने के कारण बुकिंग नहीं हो पा रहा है. सिर्फ कागज पर पूरा हुआ है धरातल पर नहीं हुआ. संतोष कुमार का कहना है कि यह बिल्कुल गलत न्यूज है सर. अभी तक 50% भी टीकाकरण नहीं हो पाया है. वहीं आज स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि पूर्वी चम्पारण (मोतिहारी) जिले के पीपराकोठी प्रखंड में 18 वर्ष से ऊपर के रहने वाले सभी व्यक्तियों को कोरोना का टीका दिया गया है. पूर्वी चंपारण का बनकटवा पहला प्रखंड के बाद पीपराकोठी राज्य का दूसरा प्रखंड बना है, जहाँ सभी का टीकाकरण हुआ है. वहीं पूर्वी चम्पारण(मोतिहारी) जिले के रक्सौल नगर परिषद में 18 वर्ष से ऊपर के रहने वाले सभी व्यक्तियों को दिया गया कोरोना का टीका.रक्सौल नगर परिषद राज्य का पहला नगर परिषद बना जहाँ सभी का हुआ टीकाकरण.

कोई टिप्पणी नहीं: