आनंद को खिताब के लिये अंतिम बाजी में ड्रा की जरूरत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 19 जुलाई 2021

आनंद को खिताब के लिये अंतिम बाजी में ड्रा की जरूरत

anand-need-draw
डोर्टमंड, 18 जुलाई, पूर्व विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद ने स्पार्कसन शतरंज ट्राफी की चार बाजियों के मैच में रूस के व्लादीमीर क्रैमनिक के खिलाफ तीसरी बाजी ड्रा खेली। भारतीय स्टार ने 61 चाल तक चली बाजी में अंक बांटकर 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है। इससे वह आखिरी बाजी में बेहतर स्थिति के साथ उतरेंगे जिसमें उन्हें केवल ड्रा की जरूरत है। इस इंग्लिश डिफेन्स बाजी में आनंद सफेद मोहरों से खेल रहे थे। एक बार वह बेहतर स्थिति में भी थे और उन्होंने रूसी खिलाड़ी पर दबाव बना रखा था। क्रैमनिक ने हालांकि हार नहीं मानी और आखिर में बाजी ड्रा कराने में सफल रहे। इन दोनों पूर्व विश्व चैंपियन के बीच बुधवार को दूसरी बाजी भी ड्रा रही थी। भारतीय दिग्गज ने मंगलवार को पहली बाजी में जीत दर्ज की थी। इस मुकाबले में खिलाड़ी ‘कैसलिंग’ नहीं कर सकते हैं। क्रैमनिक ने खेल को अधिक रोचक बनाने के लिये इस तरह का प्रारूप तैयार किया है। ‘कैसलिंग’ राजा को बचाने और हाथी को सक्रिय खेल में शामिल करने के लिये एक विशेष चाल होती है। शतरंज में केवल ‘कैसलिंग’ करते समय ही खिलाड़ी एक चाल में दो मोहरों को चल सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: