थाने में विकास मित्रों को प्रतिनियुक्त करने लाभ मिलेगा पीड़ितो को : संजय - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 20 जुलाई 2021

थाने में विकास मित्रों को प्रतिनियुक्त करने लाभ मिलेगा पीड़ितो को : संजय

vikas-mitr-in-thana
पटना. सभी राज्य सरकार के पास लोगों के विकास और कल्याण करने के लिये योजना और कार्यकर्म है.इसके लिए सरकार ने विकास मित्रों को नियोजित किया है.अब विकास मित्रों को नया दायित्व देने की खबर है. खबर है कि अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग, बिहार पटना के निदेशक के ने पटना जिले में स्थित सभी थानों(ओपी) के लिए एक-एक विकास मित्र को चिन्हित किया है. ये चयनित विकास मित्र अपने-अपने पंचायत/वार्ड में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत थाने में दर्ज होने वाले वादों के संबंध में दैनिक जानकारी प्राप्त कर प्रखंड कल्याण पदाधिकारी के माध्यम से यथाशीघ्र सूचना प्राप्त प्रदान करेंगे.जिससे पीड़ित को मुआवजा राहत भुगतान की कार्रवाई ससमय की जा सके. इस संदर्भ में विकास मित्र संजय कुमार कहते है कि पटना जिले में कार्यरत विकास मित्र को वैक्सीन सेंटरों में टीकाकरण में योगदान करने के लिए लगाया है.उन्होंने कहा कि जो विकास मित्र बच गये हैं,उनको पटना जिले के 76 थाने और ओपी में प्रतिनियुक्त किया गया है.आगे उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति के लोग थाने मे जाने से डरते थे. वह अपनी बातों को डर के मारे अधिकारियों के सामने व्यक्त नहीं कर पाते हैं. इसके आलोक में सरकार के द्वारा विकास मित्र को थाने में प्रतिनियुक्त कर देने से अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से बिना भय के पीड़ित व्यक्ति अपनी बातों को कह सकते में समर्थ हो जाएंगे. वहीं विकास मित्र को थाने में प्रतिनियुक्ति कर देने से पीड़ित व्यक्ति को मुआवजा मिलने में आसानी होने लगी.विकास मित्र को और अधिक अधिकार मिलना चाहिए ताकि अनुसूचित जाति के लोगों को सरकारी योजना का लाभ आसानी से मिल सके.

कोई टिप्पणी नहीं: