मधुबनी : निर्माण एवं संवर्धन योजना की जिला स्तरीय अनुप्रवर्तन समिति की बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 20 जुलाई 2021

मधुबनी : निर्माण एवं संवर्धन योजना की जिला स्तरीय अनुप्रवर्तन समिति की बैठक

madhubani-dm-meeting
मधुबनी : 20 जुलाई, आज दिनांक 20.07.2021 को जिला पदाधिकारी, मधुबनी श्री अमित कुमार की अध्यक्षता में केन्द्र सरकार की कृषक उत्पादक संगठन (एफपीओ) निर्माण एवं संवर्धन योजना की जिला स्तरीय अनुप्रवर्तन समिति की बैठक का आयोजन जिला पदाधिकारी, मधुबनी के कार्यालय प्रकोष्ठ में सम्पन्न हुई। बैठक के दौरान जिला कृषि पदाधिकारी, जिला मत्स्य पदाधिकारी, जिला पशुपालन पदाधिकारी, अग्रणी जिला प्रबंधक/महाप्रबंधक, जिला उद्योग केन्द्र एवं केवीके के वैज्ञानिक पदाधिकारी इत्यादि उपस्थित। जिला स्तरीय समिति का मुख्य उद्देश्य एफपीओ निर्माण हेतु प्रोडयूस क्लस्टरों के लिए सुझाव देना, कृषक उत्पादक संगठनों के विकास की प्रक्रिया और प्रगति को मॉनिटर करना तथा इस प्रक्रिया में आने आनेवाली बाधाओ को दूर करने के लिए सभी संभव प्रयास करना है। जिला पदाधिकारी, मधुबनी ने एफपीओ के गठन एवं इसके सुचारू रूप से कार्य करने के लिए सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को यह निर्देश दिया की एफपीओ के गठन एवं विकास की प्रक्रिया में सक्रिय भूमिका निभाए। 


बैठक के दौरान नाबार्ड डीडीएम श्री सुमित कुमार द्वारा जिला पदाधिकारी, महोदय को बताया कि योजना के प्रथम चरण में दो प्रखण्ड झंझारपुर एवं पण्डौल का चयन डीएमसी की प्रथम बैठक में किया गया था। झंझारपुर में मखाना एवं पण्डौल में खुशबूदार धान पर एफपीओ का गठन किया जाना है। श्री सुमित कुमार द्वारा झंझारपुर मखाना एवं पण्डौल प्रखण्ड में सुगंधित धान में एफपीओ की प्रगति से सभी उपस्थित सदस्यों को अवगत कराया गया। डीडीएम नाबार्ड द्वारा बताया गया कि नाबार्ड द्वारा इंडियन ग्रामीण सर्विस का चयन CBBO के रूप में दोनों प्रखण्डों के एफपीओ निर्माण के लिए कर लिया गया है।  जिला पदाधिकारी, महोदय द्वारा 5 प्रखंडों लखनौर, रहिका, राजनगर, हरलाखी और लदनिया में एफपीओ के उत्पाद जिसे की क्लस्टर के रूप में विकसित किया जा सके, को पहचान करने का का आदेश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं: