झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 18 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 18 जुलाई 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 18 जुलाई

योजनाओं के क्रियान्वयन में जिले का बेहतर प्रदर्शन हो-राज्य मंत्री श्री परमार

  • राष्ट्रीय शिक्षा नीति से करेंगे नये भारत का निर्माण
  • प्रभारी मंत्री श्री परमार ने झाबुआ जिले की योजनाओं की प्रगति की मैराथन समीक्षा की

jhabua news
झाबुआ। कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए पुख्ता प्रबंध करें। सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में बेहतर प्रदर्शन करें, साथ ही पात्रों को समय पर लाभ मिले ऐसी व्यवस्था करें। यह निर्देश स्कुल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री एवं झाबुआ जिले के प्रभारी मंत्री श्री इंदरसिंह परमार ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में झाबुआ जिले में संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन की प्रगति की मैराथन समीक्षा बैठक में दिए। श्री परमार ने कहा कि शासकीय निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। गुणवत्ता में कमी या कार्य में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। नई शिक्षा नीति से नये भारत का निर्माण करेंगे, इसके लिए नवीन शिक्षा व्यवस्था पर कार्य किया जा रहा है। योजनाओं के क्रियान्वयन में जिले का बेहतर प्रदर्शन हो, यह सभी उपस्थित अधिकारियों का दायित्व है। श्री परमार ने कहा कि बिजली के बिलों संबंधी शिकायतों का विद्युत विभाग द्वारा यथोचित निराकरण किया जाए, ताकि उपभोक्ताओं को किसी तरह की कोई परेशानी न हो। बैठक में आपात स्थिति से निपटने के लिए करें समुचित प्रबंध करें। बैठक में कलेक्टर श्री  सोमेश मिश्रा ने पीपीटी के माध्यम से जिले में संचालित योजनाओं की प्रगति के बारे में जानकारी दी।


राशन वितरण व्यवस्था रहें सुचारू और दुरुस्त

प्रभारी मंत्री श्री परमार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली की समीक्षा करते हुए कहा कि जिले में राशन वितरण व्यवस्था सुचारू और दुरुस्त रहे, इससे संबंधित शिकायतों अथवा समस्याओं का गंभीरता से निराकरण किया जाए। सरकार शीघ्र ही पैकिंग बैग में राशन वितरण की व्यवस्था प्रारंभ कर रही है। मनरेगा की समीक्षा के दौरान प्रभारी मंत्री श्री परमार ने जिले में रोजगार की उपलब्धता की गहन समीक्षा की। सामाजिक सहायता योजनाओं की समीक्षा के दौरान श्री परमार ने कहा कि कोई भी हितग्राही सामाजिक सहायता योजनाओं के लाभ से वंचित न रहे। इन योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए, ताकि पात्र व्यक्तियों तक इनका लाभ पहुंच सके। स्वरोजगार एवं युवाओं के उत्थान की दिशा में जिले में विशेष प्रयास किए जाने पर प्रभारी मंत्री श्री परमार ने जोर दिया।


कायाकल्प योजना में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मान

प्रभारी मंत्री श्री परमार ने जिले में कायाकल्प योजना में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 6 चिकित्सकों को सम्मानित किया और उनकी हौसला अफजाई की। श्री परमार ने कोविड वैक्सीनेशन अभियान की समीक्षा करते हुए कहा कि शीघ्र ही जिले में पर्याप्त वैक्सीन उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि सभी के प्रयास हों कि कोई भी व्यक्ति वैक्सीनेशन से वंचित न रहे। आमजन को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के भी जिले में बेहतर प्रबंध रहें, ताकि अचानक संक्रमण की स्थिति परिलक्षित होने पर समुचित स्वास्थ्य सुविधाएं लोगों को उपलब्ध कराई जा सके। जिले में ऑक्सीजन की उपलब्धता के भी पर्याप्त प्रबंध रहें। जिले में पर्याप्त चिकित्सकों की पदस्थापना के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। 

 

पात्रों को ही मिले आवास योजना का लाभ

प्रधानमंत्री ग्रामीण एवं शहरी आवास योजना की समीक्षा करते हुए प्रभारी मंत्री श्री परमार ने कहा कि योजना के अंर्तगत सर्वेक्षण कर पात्रों को ही आवास का लाभ दिया जाए। इसके साथ ही योजना की किश्तें समय पर मिलें, यह सुनिश्चित किया जाए। प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि यह योजना गांवों को सुविधा देने के लिए है, इसलिए सडक़ें स्वीकृत करते समय ग्रामीणों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा जाए। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की समीक्षा के दौरान जिले में पेयजल की उपलब्धता के साधनों की समीक्षा की गई। साथ ही जल जीवन मिशन अंतर्गत जिले में स्वीकृत नल-जल योजनाओं की पूर्णता की स्थिति की भी प्रभारी मंत्री ने जानकारी ली। लोक निर्माण विभाग, पीआईयू एवं ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग अंतर्गत स्वीकृत निर्माण कार्यों की पूर्णता एवं गुणवत्ता पर प्रभारी मंत्री श्री परमार द्वारा बैठक में विशेष ध्यान दिया गया। वहीं सांसद, विधायक क्षेत्र विकास निधि एवं जनभागीदारी योजना में स्वीकृत राशि से समय-सीमा में कार्य निपटें, इस बात के भी जिला योजना अधिकारी को निर्देश दिए गए। शिक्षा एवं आदिम जाति कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान छात्रों को निःशुल्क गणवेश वितरण व्यवस्था की समुचित मॉनिटरिंग करने के प्रभारी मंत्री श्री परमार द्वारा निर्देश दिए गए। उन्होंने कहा कि स्कूल खुलने की स्थिति में शिक्षण व्यवस्था तत्काल प्रारंभ हों, ऐसी व्यवस्थाएं अभी से सुनिश्चित की जाए। बैठक में विधायक झाबुआ श्री कांतिलाल जी भूरिया, विधायक थांदला श्री वीरसिंह जी भूरिया, विधायक पेटलावद श्री वालसिंह जी मेडा, अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती शांति राजेश डामोर, जिला भाजपा अध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह जी नायक, उपाध्यक्ष श्री चंद्रविरसिंह राठौर, जिला योजना समिति के सदस्य, कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन,अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री सोहन कनाश, डिप्टी कलेक्टर एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास श्री अभय सिंह खराडी, डिप्टी कलेक्टर श्री अनिल भाना, डिप्टी कलेक्टर सुश्री अंकिता प्रजापति एवं जिला अधिकारी उपस्थिति थे।


प्रभारी मंत्री श्री परमार ने पुलिस आनंद वाटिका का किया शुभारंभ


jhabua news
झाबुआ। स्कुल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री इन्दर सिंह परमार ने पुलिस लाइन में पुलिस कल्याण कार्यों के तहत तैयार किए गए पुलिस आनंदवाटिका का शुभारंभ किया। शुभारंभ अवसर पर प्रभारी मंत्री श्री परमार ने सभी पुलिसकर्मियों को वाटिका की सुविधा उपलब्ध होने की बधाई दी। इस दौरान उन्होंने यहां पर बच्चों को चॉकलेट का वितरण किया। इस दौरान जिलाध्यक्ष भाजपा श्री लक्ष्मणसिंह जी नायक, पूर्व भाजपा अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश शर्मा, भाजपा महामंत्री एवं जिला योजना समिति के सदस्य श्री सोमसिंह सोलंकी, कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आनंद सिंह वास्कले, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री सोहन कनाश, डीएसपी श्री इडला मौर्य, तहसीलदार श्री प्रवीण अहोरिया, उप निरीक्षक श्री प्रकाश चैहान एवं बडी संख्या में गणमान्य नागरिक एवं पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।


प्रभारी मंत्री माननीय श्री इन्दर सिंह परमार ने किया पौधरोपण


jhabua news
झाबुआ। स्कुल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) और सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री इन्दर सिंह परमार ने कलेक्टर कार्यालय के गार्डन में अशोक का पौधारोपण किया। इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष श्री लक्ष्मणसिंह जी नायक, पूर्व भाजपा अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश शर्मा, भाजपा महामंत्री एवं जिला योजना समिति के सदस्य श्री सोमसिंह सोलंकी, कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष  गुप्ता, अपर कलेक्टर श्री जे.एस.बघेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आनंद सिंह वास्कले,  अनुविभागीय अधिकारी राजस्व श्री सोहन कनाश, तहसीलदार श्री प्रवीण अहोरिया, उपस्थित थे।


विधायक कांतिलाल भूरिया ने जिला योजना बैठक में उठाये जनहित के मुद्वे

  • शिक्षा पर विशेष घ्यान की जरूरत ,जिला योजना की बैठक मात्र ओपचारिकता थी- भूरिया

झाबुआ । जिला योजना समिति की बैठक मात्र औपचारिकता साबित हुई, अधिकारीयों द्वारा जो कागज पर जानकारी प्रस्तुत की गयी उसे सर्वपरी व सही मान लिया गया, जबकि वास्तविक स्थिति जिले में कागजी जानकारी से भिन्न है। उक्त बात पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही है। विधायक भूरिया ने जिला योजना समिति की बैठक में जनहित के मुद्वों पर चर्चा  हेतु उठाये गये। जिसके अन्तर्गत भूरिया ने आगामी तीसरी लहर चलते झाबुआ में आक्सिजन प्लांट सीटीस्क्रीन मशीन आज तक जिला चिकित्सालय में उपलब्ध नहीं हुई एवं कोविड गाइड लाईन का पालन नहीं किया जा रहा है हर सार्वजनिक स्थानों पर भीड लगी हुई है लेकिन आम जनता को कोई समझाने वाला नहीं है।  श्री भूरिया ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली का मुद्वा भी मंत्रीजी के सामने रखा जिसके अन्तर्गत मुखिया बहार मजदुरी जाने पर उसके परिवार को अलग सूची बद्व कर उचित मूल्य एवं निशुल्क राशन देने सबंधी बात रखी गयी । मनरेगा अन्तर्गत निर्माण कार्यो के सबंध में जल सर्वधन के कार्यो पर जोर देने की बात कही एवं सूदुर सडक एवं तालाब निर्माण की मांग की गयी ।ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को कार्य पर लगाया जावे तथा वर्तमान में केवल कागजों पर ही कार्य हो रहे है ।  महिला बाल विकास विभाग के मुद्वें को भी भूरिया द्वारा उठाया गया जिसके अन्तर्गत आंगनवाडीयों में पोषण आहार नहीं पहुचने एवं कुपोषित बच्चों पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान देने की बात कही। श्री भूरिया ने जिले में शिक्षकों की कमी का मुद्वा भी उठाया तथा शिक्षकों की भत्र्ती शीघ्र करने की बात पर जोर दिया साथ भूरिया ने कहा कि एकलव्य स्कूल, माडल स्कूल में जो शिक्षक अपनी सेवाएं दे रहे है वह विषयवार रखे जावे साथ ही उन शिक्षकों के चयन हेतु एक परिक्षा आयोजित कि जावे एवं योग्य शिक्षकों को माडल एवं एकलव्य स्कूलों में रखा जावे । श्री भूरिया ने विशेषकर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की कार्यशैली पर नाराजगी व्यक्त की गयी ,मंत्रीजी से ये सवाल भी किया गया कि क्या भोपाल से ऐसे आदेश है कि विधायकद्वय द्वारा दिये गये हेण्डपंप खनन के प्रस्तावों को विभाग द्वारा नजरअंदाज किया जावे इस बात का समर्थन पेटलावद विधायक वालसिंह मेडा एवं थांदला विधायक वीरसिंह भूरिया ने भी किया एवं बताया कि कार्यपालन यंत्री की कार्यशैली पर सवाल उठाये , लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग अपनी मनमानी से कार्य कर रहा है एवं एक ओर जहां पीने के पानी की समस्या विकराल रूप ले चुकी है  सम्पूर्ण जिला त्रस्त है वहीं विभाग अपनी मनमानी कर रहा है। ऐसे महत्वपूर्ण जनहित के मुद्वों पर चर्चा नहीं की गयी जिससे जिला योजना समिति के सदस्य श्रीमति शांतिराजेश डामोर,रूपसिंह डामोर, चन्द्रवीरसिंह राठौर आदि ने नाराजगी जाहिर की ।  जिला योजना समिति के सदस्यों ने यह भी कहा कि केवल ओपचारिक एवं कागजी बैठक है अधिकारी केवल कागज पर कार्य बताये जा रहे है जबकि धरातल पर कुछ नहीं है। उक्त जानकारी प्रेसनोट  के माध्यम से दी।


मि़श्रा विश्व हिन्दू महासंघ प्रदेश सह संगठन मंत्री मनोनीत होने पर हर्ष व्याप्त।


jhabua news
झाबुआ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय विश्व हिन्दू महासंघ के अध्यक्ष पूज्य महंत योगी आदित्यनाथजी महाराज की तथा राष्ट्रीय विश्व हिन्दू महासंघ के अंतरीम अध्यक्ष महतं अवधुत सुरेन्द्रनाथजी महाराज कालकापिठाधीश्वर की अनुशंसा से प्रदेश अध्यक्ष महंत राजनाथजी योगी द्वारा झाबुआ के महामंडलेश्वर योगी लोकेशनाथ (लोकेश मिश्रा) को विश्व हिन्दू महासंघ का प्रदेश सह संगठन मंत्री मनोनीत होने पर झाबुआ के विभिन्न धार्मिक संस्थाओं ने बधाई प्रेषीत की एवं काली कल्याणी धाम आश्रम व पूर्व नपा अध्यक्ष पर्वत मकवाना ने उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। योगी लोकेश मिश्रा द्वारा अमेठी में कई वर्षो से समय-समय पर आमजनों के बीच रहकर जरूरतमंदों को औषधीय उपचार सेवा देकर स्वास्थ्य के क्षेत्र में योगदान दिया है जिसके चलते सिद्धयोग मठ अखाड़ा द्वारा लोकेश मिश्रा को महामंडलेश्वर की उपाधी जनवरी 2021 को प्रदान की गई।


प्रभारी मंत्री के झाबुआ आगमन पर जिले के पटवारियों ने किया स्वागत एवं अपनी मांगों को सौंपा ज्ञापन’


jhabua news
झाबुआ। जिले के प्रभारी मंत्री इंदर सिंह परमार के प्रथम झाबुआ आगमन पर जिले के पटवारियों ने प्रांतीय उपाध्यक्ष अखिलेश मुलेवा के नेतृत्व में स्थानीय सर्किट हाउस पर उनका स्वागत किया और पटवारी संघ की 3 सूत्री मांगों को लेकर चल रहे चरणबद्ध आंदोलन के संबंध में उन से चर्चा कर मांगों के समर्थन में एक ज्ञापन भी सौंपा। श्री मुलेवा ने बताया कि मध्य प्रदेश पटवारी संघ के आह्वान पर प्रदेश के पटवारी तीन सूत्रीय माँगो को लेकर विगत 22 जून से चरणबद्ध आंदोलन कर रहे हैं जिसमें तहसील एवं जिला स्तर पर ज्ञापन सौंपा गए  सारा एप सहित समस्त शासकीय ग्रूप  का बहिष्कार किया गया है इसके तहत सभी पटवारी शासकीय ग्रुप से रिमूव हो गए हैं एवं काली पट्टी एवं काला मास्क लगाकर सिर्फ़ भू- अभिलेख का  कार्य कर रहे हैं । श्री मुलेवा ने प्रभारीमंत्री से निवेदन किया कि वर्ष 2007 में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने सनावद में पटवारी संघ के प्रांतीय सम्मेलन में यह घोषणा की थी कि पटवारियों के वेतनमान मे सुधारकर उनको 2800 ग्रेड पे दी जायेगी, किंतु इतने समय पश्चात भी आज दिनांक तक यह मांग पूरी नहीं की गई वहीं नवीन पटवारियों की भर्ती के समय उनकी नियुक्तियां उनके गृह जिले से अत्यंत दूर की गई है कुछ पटवारी अपने ग्रह ज़िले से  800 किलोमीटर की दूरी पर कार्य कर रहे हैं इससे उन्हें अपने पारिवारिक दायित्वों के निर्वहन में अत्यधिक कठिनाई हो रही है इसके चलते अत्यधिक तनाव के कारण हमारे 15 पटवारी साथी असमय ही कालकवलित हो गये वही दो दिन पूर्व ही ईंटारसी में पटवारी बहन से गहन अवसाद के चलते काल के ग्रास में समा गई पटवारी संघ ने मांग की है कि इन पटवारियों को अपने ग्रह जिलों में स्थानांतरित किया जाए जिससे वे तनाव मुक्त होकर शासकीय सेवा के साथ अपने सामाजिक और पारिवारिक दायित्वों का निर्वहन कर सके। श्री मूलेवा ने बताया कि विगत दो वर्ष से कोरोना काल के चलते सीपीसीटी की परीक्षा आयोजित नही हुई है नवीन पटवारियों को  सीपींसीटी उत्तीर्ण करने कि अनिवार्यता को समाप्त की जाए इसके कारण नवीन पटवारीयो का नियमितीकरण नहीं हो सका है पटवारी संघ ने मांग की है कि सीपीसीटी की अनिवार्यता को समाप्त कर इन समस्त नवीन पटवारियों को नियमित किया ।जाए एवं उनके इंक्रीमेंट लगाए जाएं । श्री मूलेवा ने बताया कि 3 सूत्री मांगों को लेकर चरणबद्ध आंदोलन चल रहा है इसी कड़ी में आज जिले के प्रभारी मंत्री श्री इंदर सिंह परमार को एक ज्ञापन सौंपा गया है और प्रभारी  मंत्री जी ने उनकी बातों को गंभीरता से सुना एवं उनकी समस्याओं और माँगो के निराकरण हेतु आश्वस्त किया है । इस अवसर पर पटवारी संघ के प्रवक्ता ठाकुरसिंह भूरिया तहसील अध्यक्ष नानूराम मेरावत,संघर्ष समिति के मलजी डामोर ,हिम्मत सिंह देवलिया, गोविन्द हाड़ा,पूजा ओसारी, सुनील चैहान, निलेश पाटीदार जालम सिंह अमिलियार, प्रेमसिंह गौड़, निलेश अखाड़े ,जगदीश चैहान अंजलि कटारा, रिंकू ठाकुर,अनीता मुजाल्दा,फतेह सिंह , लाल सिंह गणावा , सहित बड़ी संख्या में ज़िले के पटवारी गण उपस्थित रहे।


पूण्य से अनुकुलता एवं पाप से प्रतिकूलता उत्पन्न होती है- आचार्य श्री सुयषसूरीष्वरजी मसा

  • देवझिरी तीर्थ पर ज्ञात इतिहास का प्रथम जेन चातर्मास का हुआ शुभारंभ
  • आचार्यश्री पूर्णिमा से 108 दिन की करेगें मौन आराधना

jhabua news
झाबुआ । रविवार को पवित्र देवझिरी तीर्थ पर पूज्य आचार्य सुयश सूरिश्वरजी मसा एवं पूज्य सिद्धीरत्न विजय जी मसा का चातुर्मास के लिये मंगल प्रवेश हुआ । पूज्य आचार्यजी एवं मुनिजी को इन्दौर अहमदाबाद राजमार्ग से बेण्डबाजों के साथं मंगल कलश उठाये महिलाओं एवं श्रावकजनों ने जयघोष के साथ स्वागत किया तथा देवझिरी स्थित श्री आदिनाथ माणिभद्र मंदिर में  उनका विधिविधान एवं शास्त्रोक्त मंत्रों के साथ स्वागत किया गया । आयोजन समिति के अध्यक्ष निर्मल मेहता द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार पूज्य आचार्य सुयशसूरिश्वर जी मसा ने चातुर्मास के शुभारंभ के अवसर पर कहा कि देवझिरी वह पवित्र भूमि है जहां अभी तक के इतिहास में किसी भी जेैन साधु महात्मा का चातुर्मास नही हुआ है । आगामी चार महिनों तक इस पवित्र भूमि पर प्रतिदिन ज्ञान गंगा का प्रवाह होगा । आचार्य श्री सुयश विजय जीे का कि पूण्य से अनुकुलता एवं पाप से प्रतिकूलता उत्पन्न होती है । अनुकुलता होना ही पूण्य का होना तािा प्रतिकुलता का होना पाप का उदय होता है । धन दौलत सभी भ्रम है। एक अरबनति को रात भर निन्द नही आती है और एक गरीब जमीन पर भी आराम से निंद लेता है। चातुर्मास में हम पूण्य कमाने का मौका मिला है। देवझिरी  एक साधना भूमि है । उन्होने कहा कि निकटवर्ती गा्रम हडमतिया में जैन मंदिरों के अवशेष मिलना ही इस पूण्य भूमि का प्रमाण है । आचार्य सुयशसूरीश्वर ने  श्रावको को संबोधित करते हुए कहा कि पूण्य के पांच प्रकार होते है, आवास पूण्य, भोजन पूण्य, जल पूण्य, पात्र पूझय एवं वस्त्र पूण्य । पांचों पूण्यों की विस्तार से व्याख्या करते हुए कहा कि भगवान श्री आदीनाथजी की छत्रछाया में यहां चातुर्माय का आयोजन भगवान माणिभद्रजी के सानिध्य में होना एक दुर्लभ अवसर है । उन्होने कहा कि समाज की व्यवस्था समय के साथ बदलती रही है। गुरू महाराज के आशीर्वाद से चातुर्माण के अवसर पर हम सभी में स्थिरता का भाव होना चाहिये । आचार्य श्री ने आगे कहा कि चार महीने तक चैमासा के दौरान भगवान आदीनाथ ने तप किया तािा उन्हे आवास दान दिया था । अन्नदान, पानी दान,पात्र दान आदि का चातुर्मास में लाभ मिलना पूण्य का कार्य होता हे । उन्होने बताया कि देवझिरी तीर्थ स्थल पर आसरढ पूर्णिमा से उनके द्वारा 108 दिनों की तपस्या की जावेगी इस अवसर पर दीप प्रज्वलित होगा जो अखण्ड प्रकाश रहेगा । आचार्य सुयश सूरीश्वर जी ने कहा कि देवझिरी में उनका 44 वां चातुर्मास है । चातुर्मास में भावपूर्वक आराधना होना चाहिये । मानव जीवन दुर्लभ है इसलिये 84 लाख योनी के बाद हमे जो अवसर मिला है वह साधु सेवा में व्यतित करना चाहिये । उनहोने कहा कि हमारी जेसी प्रवृर्ति होती है वेसा ही हमे अगल जन्म मिलता है । मानव  जीवन अमूल्य है इसलिये इसे खुला रखना जरूरी है तािा जीवन में सदभाव होना चाहिये ।  जैन दर्शन कहता है कि आदत से जुड गये तो आसक्ति हो जाती है। किसी के साथ स्थायी रूप् से जुडे ऐसे प्रयास नही होना चाहिये । आचार्यश्री ने कहा कि  जीवन की उपलब्धियों को जोड लेना चाहिये । सदपुरूषो के जाने से विचार भी परिवर्तित होते हे । हमे जीवन में जो कुछ भी मिला है वह पूण्य से ही मिला है । पूण्य से कमाई गइ्र राशि के छः हिस्से करना चाहिये  इसमें से एक भाग जहां वापस होने की गारंटी नही होती है अर्थाद सद उपयोग में खर्च करना चाहिये  पूण्य के बीज बोने पर अंकुरित होने पर वे वटवृक्ष की तरह बनना ही है । पूज्य आचार्य सुयशसूरीश्वरजी ने बताया कि 24 जुलाइ्र पूर्णिमा से ज्ञान पंचमी तक 108 दिन की वे साधना देवझिरी स्थल पर करेगें । इसके लिये ट्रस्ट की ओर व्यापक तेयारिया की गई है । इस अवसर पर निर्मल मेहता, मनोहर भंडारी, जय भंडारी, बाबुलाल कोठारी, नितेश कोठारी, भल्ला कोठारी, विशाल कोठारी, प्रकराश कटारिया, विशाल कोठारी, रिंकू रूनवाल, सूर्या कांठी, महेन्द्र भाई मुंबई, नैनेस भाई दाहोद,जयन्तीलाल रानापुर, धर्मचन्द्र जी लिमडी,पोपट भाई मुंबई, राकेशभाई दाहोद, संजय मेहता रतलाम, जीतेन्द्र मालवी, सुनील कटकानी सहित बडी संख्या में श्रावक एवं श्राविकाओं ने चातुर्मास के प्रथम दिन का लाभ लिया । इस अवसर पर  विधिकारक अनील हरड लिमडी द्वारा सफल संचालन किया गया ।


मांग को लेकर राज्यपाल को विधायक भूरिया ने लिखा पत्र 


मेघनगर । विश्व आदिवासी दिवस 9 अगस्त से आयोजित होने वाले मध्य प्रदेश के विधानसभा सत्र की तिथि आगे बढ़ाने और इस दिन शासकीय अवकाश घोषित करने की महामहिम राज्यपाल से थांदला विधायक वीर सिंह भूरिया ने मांग की है। इस संबंध में उन्होने एक पत्र भी राज्यपाल को भेजा है। महामहिम राज्यपाल को भेजे गए पत्र में विधायक वीर सिंह भूरिया ने बताया कि हमारा मध्यप्रदेश आदिवासी बाहुल्य वाला राज्य है। जहाँ आदिवासी समाज अनादिकाल से ही अपनी अभिन्न संस्कृति, परंपराओं और रीति-रिवाजों को सवंर्धित एवं संरक्षित करने के लिए जाना जाता है। विश्व पटल पर आदिवासी मूल निवासी को एक विषिष्ट स्थान संवैधानिक तौर पर भारत के संविधान में एक अलग पहचान मिली है। 9 अगस्त को विश्व आदिवासी दिवस मनाए जाने हेतु संयुक्त राष्ट्रसंघ द्वारा पूरे विश्व में आदिवासियों की संस्कृति, रीति-रिवाज, परंपराओं और संवैधानिक अधिकारों को संरक्षित करने के लिए प्रतिवर्ष विश्व स्तर पर आदिवासी दिवस मनाए जाने की घोषणा दिसंबर 1994 में की गई। गत दो वर्ष से प्रदेश में 9 अगस्त को शासकीय अवकाश भी घोषित नहीं किया गया है जिसके कारण हमारा आदिवासी मूल निवासी समाज अत्यंत आक्रोशित है। इसी क्रम में मध्यप्रदेश विधानसभा का सत्र भी 9 अगस्त से आहूत किया गया है जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि प्रदेश के आदिवासियों की मूल भावनाओं पर प्रत्यक्ष कुठाराघात किया जा रहा है।वर्तमान में मध्यप्रदेश विधानसभा में आदिवासी समाज से कुल 48 विधानसभा सदस्य प्रतिनिधित्व कर रहें हैं।थांदला विधायक वीर सिंह भूरिया  ने राज्यपाल को लिखा कि मध्यप्रदेश राज्य के संवैधानिक संरक्षक होने के नाते हम आपसे आग्रह करते है कि 9 अगस्त 2021 को शासकीय अवकाश घोषित करवाते हुए 9 अगस्त से आहूत विधानसभा सत्र की तिथि परिवर्तित करने के लिए मध्यप्रदेश शासन को निर्देशित करे। उक्त जानकारी विधायक मीडिया प्रतिनिधि अली असगर बोहरा द्वारा दी गई है ।


 सहायक कलेक्टर श्री आकाश सिंह का स्थानान्तरण होने पर दि विदाई 

     

jhabua news
झाबुआ ।  जिले में पदस्थ सहायक कलेक्टर श्री आकाश सिंह आईएएस का स्थानांतरण देवसर जिला सिंगरौली, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व के रूप में हुआ है । शनिवार को  होटल में श्री आकाश सिंह को भव्य समारोह के साथ बदाई दी गई प् विदाई समारोह में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री सिद्धार्थ जैन  द्वारा शाल ,श्रीफल , पुष्पहार  से सम्मानित किया एवं श्री आकाश सिंह के द्वारा जिले में किए गए कार्यों की प्रशंसा की प् श्री मिश्रा ने कहा कि भौतिक रूप से हम जरूर दूर हुए हैं किंतु कभी भी मेरी आवश्यकता हो तो आप सीनियर होने के नाते , बड़े भाई होने के नाते आप संपर्क कर सकते हैं स हमें खुशी है कि आपको नया दायित्व मिला है इसे पूरी निष्ठा, लगन से  करेंगे प् हमारी शुभकामनाएं निरंतर आपके साथ है प् सभी जिला अधिकारियों द्वारा अपने उद्बोधन में श्री आकाश सिंह के कार्यों की प्रशंसा की  प् श्री आकाश सिंह द्वारा सभी को धन्यवाद दिया और कहा कि मुझे आप सब का अमूल्य  सहयोग मिला है, उसके लिए मैं हृदय से आपको धन्यवाद देता हूं  इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आनंद सिंह वास्कले , एसडीओपी श्री  इडला मौर्य  , अनुविभागीय अधिकारी राजस्व झाबुआ श्री सोहन कनाश  , अनुविभागीय अधिकारी राजस्व थांदला  सुश्री ज्योति परस्ते , अनुविभागीय  अधिकारी राजस्व मेघनगर श्री एल एन गर्ग , तहसीलदार श्री प्रवीण अहोरिया ,  श्री शक्ति सिंह चैहान ,  श्री आशीष राठौर  ,श्री रविंद्र सिंह चैहान  ,अजय चैहान, जगदीश वर्मा,  श्री हर्षल बेहरानी , मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत से जोशुआ पीटर  ,मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत श्री रामचंद्र हालु , प्रभारी पीआरओ सुधीर कुशवाह उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं: