बिहार : पारस ने नियुक्त किए 7 प्रदेश में नए अध्यक्ष, बिहार प्रिंस के हवाले - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 15 जुलाई 2021

बिहार : पारस ने नियुक्त किए 7 प्रदेश में नए अध्यक्ष, बिहार प्रिंस के हवाले

paras-appoint-seven-state-president
पटना : पार्टी में बगावत करने के बाद से ही केंद्रीय मंत्री व रामविलास पासवान के असली राजनीतिक वारिस का दावा करने वाले पशुपति कुमार पारस अपने गुट को मजबूत करने में जुटे हुए हैं। इस कड़ी में आज उन्होंने बिहार समेत 7 राज्यों में नए प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किये हैं। बिहार में यह जिम्मेदारी समस्तीपुर के सांसद व लोजपा दोनों गुट यानी अविभाजित लोजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रिंस राज को जिम्मेदारी दी गई है। सूची के मुताबिक प्रिंस राज को बिहार, विकास रंजन उर्फ पप्पू सिंह को झारखंड, ललित नारायण चौधरी को उत्तर प्रदेश, रवि गरुड़ को महाराष्ट्र, डॉ वीरेंद्र कुमार वैंग को उड़ीसा, रूपमकर को त्रिपुरा व अमित नरेश राठी को दादर नागर हवेली व दमन दीव का प्रदेश अध्यक्ष मनोनीत किया गया है। चिराग से बगावत करने के बाद से पशुपति सबसे पहले लोजपा कोटे से केंद्र में मंत्रीपद ग्रहण किया। इसके बाद वे धीरे-धीरे सभी राज्यों में अपने लोगों को बतौर संगठन में जगह दे रही हैं। हालांकि, आगे चलकर लोजपा किसकी होगी, यह भविष्य के गर्भ में है। लेकिन, दोनों गुटों की तरफ से लगातार लोजपा के सिम्बल पर दावा किया जा रहा है। वहीं, अपने आप को राजनीति में हनुमान बता मोदी को कथित रूप से राम मानने वाले चिराग इस समय अच्छी स्थिति में नहीं दिख रहे हैं। उनके व उनके पिता रामविलास पासवान द्वारा नियुक्त संगठन के लोगों का समर्थन तो प्राप्त है, लेकिन सहयोगी दल व केंद्र सरकार का समर्थन पारस गुट को प्राप्त है।

कोई टिप्पणी नहीं: