बिहार : चिराग भी वही कर रहे हैं, जो मैं कर रहा : पारस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 2 जुलाई 2021

बिहार : चिराग भी वही कर रहे हैं, जो मैं कर रहा : पारस

paras-soft-on-chirag
पटना : लोक जनशक्ति पार्टी के 4 विधायकों के साथ मिलकर खुद को लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष बता रहे पशुपति कुमार पारस के तेवर अब धीरे -धीरे नरम होते नजर आ रहे हैं। वहीं इस बीच उन्होंने कहा है कि चिराग पासवान भी वही कर रहे हैं, जो मैं कर रहा हूं। दोनों का उद्देश्य एक है। दरअसल, पशुपति कुमार पारस आज पटना पहुंचे। जहां उन्होंने स्वर्गीय रामविलास पासवान की जयंती को लेकर सवाल पूछे जाने पर कहा है कि दिवंगत नेता रामविलास पासवान जी की जयंती मनाने को लेकर कोई विवाद नहीं है। चिराग पासवान भी वही कर रहे हैं, जो मैं कर रहा हूं। दोनों का उद्देश्य एक है कि स्वर्गीय रामविलास पासवान को श्रद्धांजलि दी जाए। इसके साथ ही पारस ने चिराग पासवान को सलाह दिया कि वे आशीर्वाद यात्रा नहीं निकालें। इसको लेकर पशुपति ने कहा कि चिराग पासवान को आशीर्वाद यात्रा नहीं निकालनी चाहिए। उन्होंने आशीर्वाद यात्रा को गलत बताते हुए कहा कि किस बात का आशीर्वाद यात्रा। रामविलास पासवान तो अब इस दुनिया में हैं ही नहीं। उन्होंने कहा कि श्रद्धांजलि सभा जरूर होना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि चिराग पासवान का कर्मभूमि जमुई है। इसलिए चिराग पासवान को जमुई से यात्रा निकालना चाहिए। पशुपति ने बताया कि उनकी ओर से लोजपा पार्टी कार्यालय में रामविलास पासवान जयंती मनाई जाएगी। मालूम हो कि 5 जुलाई को पटना स्थित प्रदेश लोजपा कार्यालय में स्वर्गीय रामविलास पासवान की जयंती पारस खेमे की तरफ से मनाई जाएगी। जिसमें उनका दावा है कि कम से कम 10 हजार लोग शामिल होगें।

कोई टिप्पणी नहीं: