बिहार : पुलिसवालों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत कर सकते हैं लोग - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शनिवार, 31 जुलाई 2021

बिहार : पुलिसवालों के खिलाफ ऑनलाइन शिकायत कर सकते हैं लोग

people-in-bihar-can-complain-against-police-online
पटना : बिहार में आम लोगों की सुविधा को देखते हुए बिहार पुलीस ने अपने वेबसाइट में कई बदलाब किए हैं। नई वेबसाइट में कई ऐसे बदलाब किए गए हैं, जिससे लोगों की परेशानी थोड़ी कम होगी। नई वेबसाइट के जरिये लोग बिना परेशान हुए अब ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते हैं। वहीं पुलिस के काम से नाराज लोग भी उनके खिलाफ ऑनलाइन शिकायत दर्ज करा सकते हैं। इसके लिए अलग-अलग पांच सबकैटेगरी भी तैयार की गई है। वहीं पूरे राज्य के थाने और एसपी का फोन नंबर भी अब आसानी से हासिल कर सकेंगे। बिहार सरकार ने नये तरीके से अपनी वेबसाइट http://biharpolice.in तैयार की है। आम जनता की सहूलियत को ध्यान में रखकर इसे तैयार किया गया है। कई सेवाओं को सुलभ बनाया गया है। इस वेबसाइट में ऑनलाइन शिकायत के लिए भी अलग सेक्शन तैयार किया गया है। आम लोगों को अब शिकायत दर्ज कराने में सहूलियत होगी। इसे नजर में रखते हुए शिकायत वाले कॉलम को नौ कैटेगरी के साथ तैयार किया गया है। वहीं अब पुलिस से जुड़ी शिकायतों को भी ऑनलाइन दर्ज करा सकेंगे। इसे भी पांच सब-कैटेगरी में बांटा गया है। अगर पुलिस के किसी एक्शन से शिकायत हो, काम करने में अगर पैसे की मांग की गई हो, पुलिस का व्यवहार अगर खराब हो, किसी मामले में अगर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की हो, ये तमाम कैटेगरी को पुलिस की शिकायत वाले सेक्शन में जोड़ा गया है। ऑनलाइन शिकायत के लिए होम पेज पर दायीं तरफ नीचे और ऊपर अलग सेक्शन भी तैयार किया गया है। जिसपर क्लिक करके सीधा शिकायत वाले पेज पर जा सकते हैं। आम लोगों की शिकायतों को नौ भागों में बांटा गया है। सांप्रदायिक मुद्दे, पुलिस की शिकायत, मद्य निषेध के मामले, विविध क्राइम, नक्सल संबंधी शिकायत, शारीरिक हिंसा, संपत्ति से जुड़े मामले, ट्रैफिक और महिला से जुड़े मामले को अलग कैटेगरी में तैयार किया गया है।

कोई टिप्पणी नहीं: