अब दिल्ली में भी पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंचा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 8 जुलाई 2021

अब दिल्ली में भी पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंचा

petrol-reach-100-in-delhi
नयी दिल्ली, सात जुलाई, अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम में तेजी के साथ एक बार फिर देश में बुधवार को ईंधन के दाम बढ़ाये गये। इससे दिल्ली में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर के पार पहुंच गया। सार्वजनिक क्षेत्र की पेट्रोलियम कंपनियों की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, पेट्रोल के दाम 35 पैसे प्रति लीटर और डीजल के दाम 17 पैसे प्रति लीटर बढ़ाए गए हैं। इसके साथ दिल्ली में पेट्रोल की कीमत अब 100.21 रुपये प्रति लीटर और डीजल 89.53 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गया है। दिल्ली अंतिम महानगर है जहां पेट्रोल 100 रुपये के पार पहुंचा है। इससे पहले मुंबई, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु और पुणे में इस ईंधन की कीमत 100 रुपये को पार कर चुकी है। कोलकाता में भी बुधवार को पेट्रोल 100 रुपये लीटर से अधिक हो गया। शहर में पेट्रोल की कीमत अब 100.23 रुपये लीटर हो गयी है। अंतरराष्ट्रीय मानक ब्रेंट क्रूड तेल 78 डॉलर प्रति बैरल पहुंच गया है। इसका कारण तेल निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) और सहयोगी देशों द्वारा अगले महीने से मासिक उत्पादन में 4,00,000 बैरल प्रतिदिन की वृद्धि के प्रस्ताव को फिलहाल टाल दिया जाना है। वहीं ईरान से निर्यात पर अमेरिका की पाबंदी फिलहाल हटती नहीं दिख रही। अंतररराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम में तेजी का असर भारत पर भी हुआ जो अपनी कुल तेल जरूरत का 85 प्रतिशत आयात के जरिये पूरा करता है। ईंधन के दाम राज्य-दर-राज्य अलग हैं। इसका कारण माल ढुलाई शुल्क और मूल्य वर्धित कर (वैट) जैसे स्थानीय करों का अलग-अलग होना है। मुंबई में पेट्रोल 106.25 रुपये लीटर जबकि चेन्नई में यह 101.06 रुपये लीटर पहुंच गया है। दिल्ली में पेट्रोल की खुदरा बिक्री मूल्य में 55 प्रतिशत हिस्सेदारी करों की है। इसमें 32.90 रुपये लीटर उत्पाद शुल्क है जिसे केंद्र सरकार लेती है। जबकि 22.80 रुपये वैट राज्य सरकार लगाती है। वहीं डीजल के खुदरा मूल्य में करों की हिस्सेदारी 50 प्रतिशत है। इसमें 31.80 रुपये उत्पाद शुल्क, जबकि वैट 13.04 रुपये है। राजस्थान, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक, जम्मू-कश्मीर, ओड़िशा, तमिलनाडु, केरल, बिहार, पंजाब, लद्दाख, सिक्किम और पुडुचेरी में पेट्रोल 100 रुपये प्रति लीटर से ऊपर पहुंच गया है। देश में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ईंधन डीजल राजस्थान, ओड़िशा और मध्य प्रदेश में कुछ जगहों पर 100 रुपये से ऊपर है। चार मई के बाद बुधवार को 36वीं बार पेट्रोल के दाम बढ़ाये गये। उससे पहले पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों में विधानसभा चुनाव के कारण 18 दिनों तक दाम नहीं बढ़े थे। इस 36 बार में पेट्रोल 9.81 रुपये लीटर जबकि डीजल 34 बार की वृद्धि में 8.80 रुपये प्रति लीटर महंगे हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं: