गया : रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का निर्माण तथा जल संरक्षण पर परिचर्चा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

गया : रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का निर्माण तथा जल संरक्षण पर परिचर्चा

seminar-on-roof-top-water-harvesting
गया। जल जीवन हरियाली अभियान अंतर्गत माह के प्रथम मंगलवार को जल जीवन हरियाली दिवस के अवसर पर शिक्षा विभाग द्वारा परिचर्चा कार्यक्रम आयोजित किया गया। परिचर्चा का विषय रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम का निर्माण तथा जल संरक्षण पर विभिन्न पदाधिकारियों एवं अभियंताओं द्वारा चर्चा किया गया। परिचर्चा में श्री आई०सी० ठाकुर निदेशक वाल्मी पटना द्वारा बताया गया कि जलवायु परिवर्तन का सबसे अधिक प्रभाव पानी पर पड़ रहा है। इसी पानी को संरक्षित करने तथा पर्यावरण को सुरक्षित करने के लिए माननीय मुख्यमंत्री बिहार द्वारा जल जीवन हरियाली अभियान प्रारंभ किया गया है। उन्होंने कहा कि रूप टॉप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के माध्यम से वर्षा के पानी को जमीन के अंदर सुरक्षित रखा जा सकता है तथा संरक्षित पानी के कारण भूगर्भ जल स्तर संतुलित रह पाता है। 


मुख्य अभियंता लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग श्री संजय कुमार ने कहा कि छत वर्षा के पानी को रूफटॉप वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के माध्यम से एक स्थान पर एकत्रित कर लेने से हमारे  दैनिक कार्यों का निष्पादन हो सकता है साथ ही इस वर्षा जल को  कृषि, सिंचाई इत्यादि कार्य में प्रयोग के लिए किया जा सकता है। वन विभाग के पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि हरित आवरण के वृद्धि करने हेतु जल जीवन हरियाली अभियान शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि 5 करोड़ पौधा लगाने का लक्ष्य बिहार सरकार द्वारा इस वर्ष रखा गया है, जिसमें 2.76 करोड़ पौधे अब तक लगाए जा चुके हैं। वन विभाग द्वारा 1.8 करोड़, जीविका द्वारा 75 लाख 50 हजार, मनरेगा द्वारा 90 लाख, उद्यान द्वारा 1 करोड़ 46 लाख पौधे तथा अन्य गैर सरकारी संस्थानों एवं जन सहयोग से पौधे लगाए जा रहे हैं। अब तक पूरे बिहार में 55.2% उपलब्धि प्राप्त की गई है। जल जीवन हरियाली दिवस के अवसर पर अपर समाहर्ता गया श्री मनोज कुमार की अध्यक्षता में कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें निदेशक डीआरडीए श्री संतोष कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, डीपीओ मनरेगा सहित अन्य पदाधिकारी शामिल थे।

कोई टिप्पणी नहीं: