पीएम मटेरियल को सृजन की जांच करानी चाहिए : चिराग - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

मंगलवार, 3 अगस्त 2021

पीएम मटेरियल को सृजन की जांच करानी चाहिए : चिराग

chirag-attack-nitish
पटना : लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान इन दिनों बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लागातार हमलावर हैं। चिराग मुख्यमंत्री के गृह जिले में जाकर भी हमला बोल रहे हैं, और बाकी की कसर वह सोशल मीडिया के जरिए भी निकाल रहें हैं। लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान अपने आशीर्वाद यात्रा के बाद पटना पहुंचे और बिहार की कानून व्यवस्था को लेकर राज्यपाल से मिलने पहुंचे। वहीं, इसके बाद उन्होंने अपने सोशल मीडिया एकाउंट के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘पीएम मटेरियल’ को लगता है पेगासस मामले की जांच होनी चाहिए और सृजन घोटाले का क्या होना चाहिए ? जांच ठंडे बस्ते में पड़े रहना चाहिए। नल-जल घोटाले की जांच और दोषियों को दंडित नहीं होना चाहिए ? पर उपदेश कुशल बहुतेरे….


गौरतलब है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कल ही पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि केंद्र सरकार को पेगासस मामले में जांच करवानी चाहिए। नीतीश कुमार ने कहा, ” ये पूरा मामला क्या है इस बात की हमें पूरे तौर पर जानकारी नहीं है। जो बात सामने आ रही है, वो ही हमलोग पढ़ और देख रहे हैं। लेकिन मेरे हिसाब से अगर ऐसा हुआ है तो गलत है। केंद्र सरकार अगर नकार रही है, तो उसे पूरे मामले को सामने रखना चाहिए।” वहीं, इसके बाद अब भाजपा के नेता चिराग पासवान उन पर तंज कसते हुए कहा कि पेगासस मामले के साथ ही साथ सृजन घोटाला मामले की जांच होनी चाहिए। साथ उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार द्वारा चलाए जा रहे नल जल योजना की भी जांच करवानी चाहिए। मालूम हो कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा चलाए जा रहे हैं नल जल योजना को लेकर तमाम तरह के घोटले के आरोप लगाए जाते हैं। वहीं, अब इस मामले को लेकर चिराग ने एक बार फिर से नीतीश कुमार के लिए नई मुसीबत खड़ी कर दी है। बहरहाल, देखना यह है कि नीतीश कुमार की पार्टी चिराग के इस तंज का जवाब इस अंदाज में देती है और क्या केंद्र सरकार नीतीश कुमार की मांग पूरा कर पाती है या नहीं।

कोई टिप्पणी नहीं: