बिहार : तटबंध मरम्मती में ब्लैक लिस्टेड कम्पनी पर रोक लगाये सरकार : राजेश राठौड़ - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

गुरुवार, 19 अगस्त 2021

बिहार : तटबंध मरम्मती में ब्लैक लिस्टेड कम्पनी पर रोक लगाये सरकार : राजेश राठौड़

  • * ब्लैक लिस्टेड कम्पनी को तटबन्ध मरम्मती कार्य सौंपने पर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

congress-demand-stop-black-listed-company
पटना। बिहार प्रदेश कांग्रेस मीडिया कमेटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने सीएम नीतीश कुमार को पत्र लिखकर खगड़िया जिले में बदला-नगरपारा तटबंध के उन्नयन तथा सुदृढ़ीकरण के कार्य में बढ़ती करोड़ों की वित्तीय अनियमितता पर सवाल उठाया है।  कांग्रेस मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने सीएम को लिखे पत्र में खुलासा किया है कि हैदराबाद की एक कंपनी बीएससीपीएल के द्वारा सिंचाई विभाग को करोड़ों का चूना लगाया जा रहा है। उन्होंने पत्र में आरोप लगाया है कि हैदराबाद की कंपनी के द्वारा निविदा शर्तों को दरकिनार करते हुए पूरे 650 करोड़ रुपए के कार्य को एक अन्य कंपनी को बतौर पेटी कांट्रेक्ट दे दिया गया है जो नियम विरुद्ध भी है। उन्होंने लिखा है कि पूरी परियोजना को बतौर पेटी कांट्रेक्ट लेने वाली कंपनी पहले से ब्लैक लिस्टेड हो चुकी कंपनी का ही एक नया रूप है। इतना ही नहीं इस परियोजना में दो दर्जन से अधिक ऐसे छोटे संवेदक कार्य कर रहे हैं जिनके पास ना तो संसाधन है, ना मशीनरी, ना अनुभव है। हैदराबाद के कंपनी के द्वारा जिस कंपनी फ्रंटलाइन इन्नोवेशन प्राइवेट लिमिटेड को पूरा परियोजना सौंपे जाने की जानकारी मिली है, उस कंपनी के द्वारा छोटे-छोटे संवेदको से कार्य कराया जा रहा है। 


उन्होंने आरोप लगाया है कि 650 करोड़ के परियोजना में लगभग आधी राशि 325 करोड़ तक का ही कार्य संपन्न हो रहा है।मुख्यमंत्री को जांच करवाना चाहिए कि शेष राशि किस के खाते में जा रही है। सीएम को लिखे पत्र में राजेश राठौड़ ने पंजाब के एक ब्लैक लिस्टेड प्रमुख पन्नू एंड एसोसिएट का भी उल्लेख किया है। वित्तीय अनियमितता के साथ-साथ गुणवत्ता से भी बहुत समझौता किया जा रहा है। तटबंध के उन्नयन तथा सुदृढ़ीकरण का कार्य भ्रष्टाचार के बलिवेदी पर चढ़ता जा रहा है। बिहार प्रदेश कांग्रेस मीडिया कमेटी के मीडिया विभाग के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने पूरे मामले की निष्पक्ष कमेटी से जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अगर मेरे पत्र पर संज्ञान लेते हुए सीएम नीतीश कुमार इस पूरे प्रकरण की जांच करवाएंगे। तब उनकी आंखों में बंधी पट्टी स्वयं खुल जाएगी। उन्होंने कहा कि सीएम आंखों में पट्टी बांधे बैठे हैं उधर उनके नाक के नीचे करोड़ों-अरबों के वारे- न्यारे हो रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: