मधुबनी : राजन के प्रतीक चिन्ह को डीएम ने किया चयनित - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

रविवार, 15 अगस्त 2021

मधुबनी : राजन के प्रतीक चिन्ह को डीएम ने किया चयनित

मधुबनी (फ़िरोज़ आलम), जिला प्रशासन, मधुबनी द्वारा जिले के प्रतीक चिन्ह अर्थात लोगो के लिए खुले पत्र के माध्यम से डिजाइन आमंत्रित किए गए थे। इस लोगो डिजाइन प्रतियोगिता में जिले से कोई भी अपनी प्रविष्टि समर्पित कर सकते थे। इसमें एक व्यक्ति अधिक से अधिक पांच प्रविष्टियां भेज सकते थे। इस प्रतियोगिता में बड़ा बाजार मधुबनी के आयुष्मान राजन सिंह द्वारा बनाए लोगो को विद्वानों की समिति द्वारा सर्वसम्मति से चयनित किया गया है। इनकी उपलब्धि पर पिता डॉक्टर अभिषेक कुमार समेत परिवार के सभी सदस्य गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। आयुष्मान के बनाए लोगो का सूत्र वाक्य "ज्ञानवानेव जीवति" है, जिसका अर्थ है कि "ज्ञानी ही सच्चे अर्थों में जीता है"। नीले रंग का अर्ध गोला अखिलविश्व में हमारे उदय का प्रतीक है। इसमें एक पुस्तक भी दर्शाया गया है, जो जिले में ज्ञान परंपरा का प्रतीक है। इसमें मिथिलाक्षर लिपि में "एक" लिखा हुआ है, जो सामाजिक एकत्व और समरसता को दर्शाता है। इसमें जननी का चित्र है, जो जूट पर बनाया गया है, जिसके आपस में गूथे हुए रेशे जन जन के आपसी समन्वय को प्रतिबिंबित करते हैं। जननी के आंचल में तिरंगा दिखाता है, जो देश के गौरव में मधुबनी के योगदान को रेखांकित करता है। आयुष्मान वर्तमान में स्थानीय पोलस्टर स्कूल में कक्षा दस के छात्र हैं। ये इस उपलब्धि को समस्त जिला वासियों को समर्पित करते हैं और इस आयोजन के लिए जिला प्रशासन, मधुबनी विशेष रूप से श्री अमित कुमार, जिला पदाधिकारी मधुबनी का आभार प्रकट करते हैं। बताते चलें की इन्हें अपने परिवार से आईटी के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए पूरी सहूलियत दी जाती रही है। इनका सपना एनडीए के माध्यम से भारतीय सेना में भर्ती होना है और जिले का मान बढ़ाना है।

कोई टिप्पणी नहीं: