झांसी : आरटीआई कार्यकर्ता को मिली जान से मरने की धमकी - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

शुक्रवार, 13 अगस्त 2021

झांसी : आरटीआई कार्यकर्ता को मिली जान से मरने की धमकी

rti-activist-threatened-for-death
झांसी। आरटीआई एवं सामाजिक कार्यकर्ता नरेन्द्र कुशवाहा ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक झांसी को पत्र देते हुए बताया कि झांसी महानगर के पर्यावरण को स्वच्छ रखने हेतु लक्ष्मीताल के निकट झांसी महायोजना 2021 में प्रस्तावित नगर पार्क की भूमि पर झांसी विकास प्राधिकरण (जेडीए) के कर्मचारियों-अधिकारियों की मिलीभगत से अवैध निर्माण किये जा रहे है। इन अवैध निर्माणों के संबंध में कई शिकायतें आरटीआई कार्यकर्ता ने नगर के कई व्यक्तियों के साथ मिलकर जेडीए व शासन-प्रशासन स्तर पर प्रस्तुत की हैं। उपरोक्त शिकायतों पर कार्यवाही नहीं किये जाने के कारण एवं जानबूझकर पर्यावरण को छति पहुंचाने के उद्देश्य से नियम-कानून की अवहेलना कर किये जा रहे इन अवैध निर्माणों से क्षुब्ध होकर आरटीआई कार्यकर्ता के साथ मिलकर अन्य व्यक्तियों द्वारा मा. राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण के समक्ष शिकायती पत्र (याचिका) दिये गये थे। उक्त शिकायती पत्रों पर मा. राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण नई दिल्ली में दर्ज ओ.ए. संख्या 83/2021 व 114/2021 व 165/2021 में आदेश पारित कर इन अवैध निर्माणों/अतिक्रमणों के विरुद्ध कार्यवाही करने हेतु शासन प्रशासन को दिशा-निर्देश दिये गये है।

         

जिसके कारण नगर पार्क की भूमि पर नियम विरुद्ध प्लाटिंग और अवैध निर्माण/अतिक्रमण करने वाले व्यक्ति और अवैध निर्माण कराने वाले जेडीए के अधिकारी-कर्मचारी आरटीआई कार्यकर्ता से रंजिश रखने लगे है। नगर पार्क की भूमि पर अवैध निर्माण कर रहे सुदीप कुमार दीक्षित उर्फ महाराज जो सदर विधायक रवि शर्मा का खास व्यक्ति बताता है, इसने नगर पार्क की भूमि पर पूर्व में जेडीए के अधिकारियों से सांठगांठ कर अवैध निर्माण कर लिया था और अब उसी निर्माण के प्रथम तल पर निर्माण कर रहा है। जिसकी शिकायत की गई तो कई बार मिलने के लिए मुझे कॉल किया और जब दिनांक 10 अगस्त 2021 को कलेक्टर परिसर मैं मुलाकात हुई तो धमकी देकर कहने लगा कि हमारे निर्माण की शिकायत करना बंद कर दो नहीं तो गंभीर अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो, मुझे सदर विधायक रवि शर्मा जी अपना छोटा भाई मानते है, उन्ही के द्वारा मैने बसाई जा रही अवैध कॉलोनी में रोड़ डलवाया है और अपना निर्माण किया है और अब प्रथम तल पर नया निर्माण और कर रहा हूं जो नगर पार्क की भूमि में है। जब मैंने कहा कि नगर पार्क के सभी अवैध निर्माणों के विरुद्ध कार्यवाही करने के लिए एनजीटी का आदेश आया है, तो कहने लगा कि कुछ नहीं होता, तुम्हारे निर्माणों पर एनजीटी के आदेश पर जेडीए और झांसी प्रशासन कुछ नहीं करने वाला मेरी विधायक जी से बात हुई थी उन्होंने कहा है, तुम शिकायतें बंद करदो वरना विधायक जी से कहकर तुमको ठिकाने लगवा देंगे।


दिनांक को 12 अगस्त को सुदीप कुमार के साथ कई व्यक्ति आरटीआई कार्यकर्ता के घर में घुस आए और धमकी देते हुए आरटीआई कार्यकर्ता से कहा की जेडीए सचिव ने हम सभी लोगों से 30000-30000 तीस-तीस हजार रुपये निर्माण करने के और 50000-50000 हजार रुपये छत डालने के लिये है। और जेडीए सचिव ने हमसे कहा है की हमारी सेटिंग्स जेडीए उपाध्यक्ष और कमिश्नर से है जिनको में अवैध निर्माण कराने से मिलने वाले रुपयों में से हिस्सा देता हूं अवैध निर्माणों से मिलने वाला रुपया उपाध्यक्ष और कमिश्नर तक पहुंचता है, तुम लोग निश्चित रहो तुम्हारे निर्माणों को ना तो सील किया जाएगा और नाही तोड़ा जाएगा। केवल दिखावट के लिये पूर्व की भांति नोटिस दिये जा रहे जिन पर जेडीए द्वारा कोई कार्यवाही नहीं होनी है। तुम लोग सिर्फ नरेन्द्र कुशवाहा को शिकायत करने से रोके बाकी सब हम देख लेगें। तुम लोगों के निर्माण कार्य रोकने जो भी आये उसको मार मार कर भगा देना और अगर नरेन्द्र कुशवाहा शिकायत करना बंद नहीं करता है तो तुम सब मिलकर नरेन्द्र कुशवाहा और नरेन्द्र कुशवाहा के परिवार के खिलाफ 8-10 झूठे मुकदमे लगा दो या किसी गुंडे को पैसा देकर नरेन्द्र को या नरेन्द्र के परिवार में किसी को किसी भी तरह से जानसे मरवा दो फिर तुम लोगों के निर्माणों की कोई शिकायत नहीं करेगा। तुझे आखिरी बार समझा रहे अगर तूने शिकायत करना बंद नहीं किया तो हम सब निर्माण करने वाले मिलकर विधायक जी को रुपया देकर विधायक जी के गुन्ड़ो से कहीं रास्ते में मरवा देगें। पिछले कुछ दिनों से अज्ञात व्यक्ति आरटीआई कार्यकर्ता को आते जाते पीछा कर रहे है और कई बार उन अज्ञात व्यक्तियों द्वारा मेरी बाईक के सामने आकर कट मारकर भाग गये है। आरटीआई कार्यकर्ता ने कहा कि यदि मेरे या मेरे के परिवार के साथ कोई अप्रिय घटना घटित होती है तो इसकी समस्त जिम्मेदारी उपरोक्त व्यक्तियों और विधायक के साथ साथ अवैध निर्माण कराने में संलिप्त जेडीए के अधिकारियों कर्मचारियों की होगी। आरटीआई कार्यकर्ता ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से नगर पार्क की भूमि पर करने वाले उपरोक्त व्यक्तियों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही करने की मांग की है।

कोई टिप्पणी नहीं: