मधुबनी : 6 माह में 6 करोड लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 30 अगस्त 2021

मधुबनी : 6 माह में 6 करोड लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य

target-6-crore-vaccine-in-madhubani
मधुबनी, 30 अगस्त, राज्य सरकार द्वारा सभी 18 वर्ष एवं इससे अधिक आयु वर्ग के लाभार्थियों को कोविड-19 के टीकाकरण से आच्छादित करने के लिए 6 माह में 6 करोड लोगों को टीकाकृत करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। लक्ष्य को देखते हुए 31 अगस्त 2021 को महा अभियान चलाकर जिले में कोविड-19 टीकाकरण करने का लक्ष्य निर्धारित किया है, अभियान के सफल संचालन के लिए जिला एवं प्रखंड स्तर पर सभी स्टेकहोल्डर तथा जीविका, ग्रामीण विकास विभाग, शिक्षा विभाग, पंचायती राज विभाग के साथ-साथ संस्थाओं द्वारा, यूनिसेफ, WHO, केयर इंडिया आदि के द्वारा सहयोग प्रदान किया जायेगा। महाअभियान के सफल संचालन के लिए टीकाकरण कार्य में लगाए जाने वाले नए टीका कर्मी, पर्यवेक्षक एवं वेरीफायर को अभियान के पूर्व प्रशिक्षित किया गया है। महाअभियान के दिन सत्र का आयोजन प्रातः 7ः00 बजे से प्रारंभ किया जाएगा तथा आच्छादित लाभार्थियों का कोविन पोर्टल पर वेरीफायर द्वारा संध्या 6ः00 बजे तक प्रविष्टि करना सुनिश्चित किया जाएगा। प्रत्येक टीकाकरण सत्र पर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन, सिरिंज एवं अन्य लॉजिस्टिक की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। महाअभियान के दिन कोविड-19 टीकाकरण सत्र स्थलों पर कोविड-19 के अनुरूप बिहेवियर के अनुपालन के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल उपलब्ध प्रदान करने हेतु स्थानीय थानों को आवश्यक निर्देश निर्गत किया जाए। 


जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, मधुबनी डॉ. एस.के. विश्वकर्मा द्वारा बताया गया कि जिले में 400 सत्र स्थलों पर टीकाकरण किया जाएगा। महाअभियान के लिए अधिक से अधिक लाभार्थियों को कोविड-19 टीका से आच्छादित किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके लिए लाभार्थियों की संख्या का आकलन करते हुए पर्याप्त संख्या में सत्रों का आयोजन करते हुए प्रति सत्र कम से कम 150 लाभार्थियों को कोविड-19 टीका से आच्छादित किया जाने का लक्ष्य रखा गया है तथा इसके लिए पर्याप्त संख्या में एएनएम, जीएनएम एवं वेरीफायर की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है।  डी. आई. ओ. द्वारा बताया गया कि जिले में काफी लोग सेकेंड डोज से वंचित हैं । ऐसे में सेकेंड डोज से वंचित लोगों का टीकाकरण किया जाना आवश्यक है। इसको लेकर टीकाकरण केंद्रों पर सेकेंड डोज के लिए भी अलग से काउंटर बनाया जायेगा तथा प्रत्येक पीएचसी में दूसरे डोज के टीकाकरण के लिए डेडीकेटेड कोविड टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। सिविल सर्जन, मधुबनी डॉ. सुनील कुमार झा द्वारा बताया गया कि जिले में सभी स्तर पर संचालित किए जा रहे सत्र स्थल पर प्रत्येक स्तर पर सघन अनुश्रवण किया जाना अति आवश्यक है। इसके लिए प्रति 03 सत्र पर एक पर्यवेक्षक तथा 10 सत्र स्थलों पर एक सेक्टर ऑफिसर को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया गया है। आशा, आंगनबाड़ी सेविका, जीवका दीदी, पंचायत सदस्य शिक्षकों द्वारा लक्षित लाभार्थियों को महा अभियान के संबंध में जानकारी प्रदान तथा उन के माध्यम से लाभार्थियों का उत्प्रेरण कर टीकाकरण कराना सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है। महाअभियान के आयोजन के लिए सूक्ष्म कार्य योजना इस प्रकार तैयार की जाएगी। ताकि अधिक से अधिक संख्या में द्वितीय खुराक के लिए वंचित लाभार्थियों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण सुनिश्चित हो सके।

कोई टिप्पणी नहीं: