हममें बचे हुए अमेरिकियों को अफगानिस्तान से निकालने की क्षमता है : अमेरिका - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा , झंडा ऊँचा रहे हमारा। देश की आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर सभी देशवासियों को अनेकानेक शुभकामनाएं व बधाई। 'लाइव आर्यावर्त' परिवार आज़ादी के उन तमाम वीर शहीदों और सेनानियों को कृतज्ञता पूर्ण श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए नमन करता है। आइए , मिल कर एक समृद्ध भारत के निर्माण में अपनी भूमिका निभाएं। भारत माता की जय। जय हिन्द।

सोमवार, 30 अगस्त 2021

हममें बचे हुए अमेरिकियों को अफगानिस्तान से निकालने की क्षमता है : अमेरिका

usa-will-carry-their-citizan-from-afganistan
वाशिंगटन, 30 अगस्त, राष्ट्रपति जो बाइडन प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों ने कहा कि अमेरिका में अफगानिस्तान में अब भी फंसे करीब 300 अमेरिकियों को वहां से निकालने की क्षमता है और वे राष्ट्रपति द्वारा निकासी अभियान खत्म करने के लिए तय समय-सीमा से पहले यह काम कर लेंगे। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में हवाई हमले की पुष्टि करने से कुछ समय पहले अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने कहा था, ‘‘ इस आसाधारण अभियान में यह आखिरी के कुछ दिन बेहद खतरनाक होने वाले हैं।’’ बाइडन के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) जेक सुलिवन ने कहा कि समय-सीमा से पहले जो अमेरिकी नागरिक अफगानिस्तान से निकलना चाहते हैं..., ‘‘ हमें पता चला है कि करीब 300 अमेरिकी वहां बाकी हैं, वे हवाईअड्डे पहुंचें और जल्द उड़ानें पकड़ें। हमने इससे अधिक लोगों कल वहां से निकाला था। इसलिए हमें लगता है कि उन अमेरिकी नागरिकों के पास वहां से निकलने का मौका है....।’’ सुलिवन ने कहा कि अमेरिकी बलों की पूरी तरह वापसी के बाद अमेरिका की वहां दूतावास कायम रखने की कोई योजना नहीं है। उन्होंने कहा कि अमेरिका मंगलवार के बाद भी ‘‘ हर एक अमेरिकी नागरिक, हर एक वैध स्थायी निवासी के साथ साथ उन अफगान लोगों की भी सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करेगा, जिन्होंने हमारी मदद की।’’ वहीं, ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका मंगलवार के बाद भी हवाईअड्डे को खुला रखने के लिए क्षेत्र में अन्य देशों के साथ काम कर रहा है। गौरतलब है कि बाइडन ने अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की पूर्ण वापसी की अंतिम तारीख 31 अगस्त तय की है। इससे करीब दो सप्ताह पहले 14 अगस्त को ही तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह कब्जा कर लिया था और तब से अभी तक अमेरिका ने करीब 114,000 लोगों को वहां से निकाला है।

कोई टिप्पणी नहीं: