बिहार : अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस 21 सितंबर को - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 18 सितंबर 2021

बिहार : अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस 21 सितंबर को

world-peace-day
पटना. अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस 21 सितंबर से लेकर अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस 2 अक्टूबर 2021 तक भारत के 100 जिलों में न्याय एवं शांति के लिए पदयात्रा का आयोजन एकता परिषद की ओर से किया जा रहा है. एकता परिषद के राष्ट्रीय समिति के सदस्य प्रदीप प्रियदर्शी ने कहा कि एकता परिषद के संस्थापक पीवी राजगोपाल जी के मार्गदर्शन और नेतृत्व में पूरी दुनिया में हिंसा प्रतिहिंसा के खिलाफ जय जगत यात्रा के समर्थन में न्याय और शांति यात्रा का आयोजन हो रहा है. बिहार में यह यात्रा 15 जिलों में होगी. यह जिले हैं पटना,भोजपुर, बक्सर, अरवल, जहानाबाद, गया, नालंदा, नवादा, जमुई ,बक्सर, मधेपुरा, सहरसा,कटिहार, पश्चिम चंपारण, मुजफ्फरपुर, बांका इत्यादि. इस अवसर पर पीवी राजगोपाल जी 21 सितंबर को विधान परिषद सभागार में आयोजित अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस कार्यक्रम में शामिल होंगे और पटना जिले के नौबतपुर में शांति न्याय पदयात्रा का हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ करेंगे.न्याय शांति पदयात्रा देश में हिंसा प्रतिहिंसा संप्रदायवाद के खिलाफ शांति और न्याय के लिए आम लोगों में जागरूकता चेतना पैदा करने के लिए पदयात्रा के माध्यम से आम लोगों तक पहुंच बनाने का प्रयास है. इस अवसर पर कई बुनियादी मुद्दों पर गांव में चर्चा होगी जैसे जल वायु प्रदूषण परिवर्तन और उसके प्रभाव से बचने के उपाय जलवायु नीति पर चर्चा शांति के लिए पहल जो संवैधानिक अधिकार है. उसको पाने के लिए सामूहिक प्रयास जात पात मिटाने के लिए सामूहिक भोज. ऐसी वस्तुओं का बहिष्कार इससे गांव के वातावरण को दूषित करता हो.शुद्ध पेयजल के लिए चर्चा, शिक्षा और खेल को बढ़ावा देने के लिए लोगों पर लोगों के साथ चर्चा. पलायन को रोकने के लिए स्थानीय स्तर पर उद्योगों का युवाओं में अहिंसा का विचार उत्पन्न करना और इस प्रकार 2 अक्टूबर को आयोजित कार्यक्रम में अभियान चलाने का निर्णय लिया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं: