बिहार : कैंसर मरीज के लिए 30 बेड के अत्याधुनिक आईसीयू बेड - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 10 सितंबर 2021

बिहार : कैंसर मरीज के लिए 30 बेड के अत्याधुनिक आईसीयू बेड

mahavir-cancer-hospital
पटना : बिहार में कैंसर मरीजों के लिए महावीर स्थान न्यास समिति ने एक और बड़ी सुविधा बहाल की है। महावीर स्थान न्यास समिति ने बिहारवासियों के लिए 30 बेड के अत्याधुनिक आईसीयू बेड की सुविधा बहाल की है। जिसका लोकार्पण बिहार के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय एवं श्री महावीर स्थान न्यास समिति के सचिव आचार्य किशोर कुणाल ने संयुक्त रूप से किया। वहीं इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री प्रसाद ने कहा कि बौद्ध धर्म गुरु दलाई लामा ने जो पौधे का करीब 22 वर्ष पूर्व वीजारोपण किया था, वह आज वट वृ़क्ष का स्वरूप ले चुका है। इस संस्थान द्वारा बिहार के गरीब मरीजों का ना सिर्फ इलाज होता है, बल्कि उनका देखभाल भी सही तरीके से होता है। इसके लिए संस्थान के अज्ञात दानदाता धन्यवाद के पात्र हैं, जिनकी वजह से बिहार के गरीबों का कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का इलाज संभव हो पाता है।


वहीं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री पांडेय ने कहा कि राज्य के अंदर गरीब कैंसर मरीजों की इलाज के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर मरीजों को हर संभव सहायता प्रदान की जाती है। मुख्यमंत्री की रूची भी इस संस्थान के प्रति अधिक रहती है। यहां इलाज कराने वाले लोगों को मुख्यमंत्री चिकित्सा अनुदान राशि भी 15 दिनों के अंदर भेजा जाता है, ताकि राशि के अभाव में किसी मरीज का इलाज बाधित न हो सके। इसके लिए संस्थान का भी सहयोग समय-समय पर मिलता रहता है। राज्य सरकार की सोच है कि कैंसर जैसी बीमारी के लिए मुंबई या अन्य जगहों पर जाना नहीं पड़े, इसके लिए सभी व्यवस्थाएं राज्य में की जा रही हैं पांडेय ने कहा कि 130 करोड़ की लागत से आईजीआईएमएस में कैंसर संस्थान का निर्माण किया गया है। एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर में 200 करोड़ की लागत से एटोमिक रिसर्च सेंटर के सहयोग से कैंसर अस्पताल का निर्माण होना है। इसके अलावे टाटा कैंसर इंस्टीच्यूट के सहयोग से इसी वर्ष 4 फरवरी ‘कैंसर डे’ के अवसर पर 13 जिलों में डिटेक्शन सेंटर खोले गये हैं। इसके अलावा संस्थान के सचिव कुणाल ने कहा कि बिहार के गरीब मरीजों के लिए इस कैंसर संस्थान द्वारा अन्य जगहों पर कैंसर अस्पताल खोले जाने हैं। बेगूसराय के अलावे अयोध्या में राघव आरोग्य मंदिर के नाम से अस्पताल का निर्माण किया जाना है। इस कार्यक्रम का संचालन डॉ ऋचा चौहान ने किया एवं स्वागत भाषण संस्थान के चिकित्सा अधीक्षक डॉ एल.बी. सिंह ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन डॉ विनिता त्रिपाठी ने किया। इस अवसर पर पटना की सिविल सर्जन विभा सिंह, संस्थान की निदेशक डॉ मनीषा सिंह, डॉ अमूल्या, राज्य सरकार के पूर्व गृह सचिव जिया लाल आर्य, पूर्व डीजीपी नीलमणि एवं डॉ अशोक कुमार घोष आदि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: