अवनि मिश्रित 10 मीटर एयर राइफल प्रोन के क्वालीफिकेशन से ही बाहर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 सितंबर 2021

अवनि मिश्रित 10 मीटर एयर राइफल प्रोन के क्वालीफिकेशन से ही बाहर

avani-out-from-10-meter-air-rifel
तोक्यो, एक सितंबर, दो दिन पहले पैरालंपिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी निशानेबाज अवनि लेखरा बुधवार को यहां मिश्रित 10 मीटर एयर राइफल प्रोन एसएच1 स्पर्धा के क्वालीफिकेशन दौर से ही बाहर हो गई। एसएच1 (राइफल) वर्ग में वे खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं जिनके ऊपरी अंगों में कोई समस्या नहीं होती लेकिन नीचे के एक या दोनों अंगों में समस्या होती है। अवनि बिलकुल भी लय में नहीं दिखी और 629.7 अंक के साथ निराशाजनक 27वें स्थान पर रहते हुए तीसरे दौर में बाहर हो गई। पुरुष वर्ग में हिस्सा ले रहे अन्य भारतीय पैरा निशानेबाज सिद्धार्थ बाबू और दीपक कुमार का असाका निशानेबाजी रेंज पर प्रदर्शन और भी अधिक लचर रहा। सिद्धार्थ 625.5 अंक के साथ 40वें जबकि दीपक 624.9 अंक के साथ 43वें स्थान पर रहे। इस स्पर्धा का स्वर्ण पदक जर्मनी की नताशा हिल्ट्रॉप ने जीता जबकि रजत पदक दक्षिण कोरिया के पार्क जिन्हो और कांस्य पदक युक्रेन की इरिना शेटनिक के खाते में गया। पैरालंपिक में पदार्पण कर रही 19 साल की अवनि ने इतिहास रचते हुए आर2 महिला 10 मीटर एयर राइफल स्टैंडिंग एसएच1 में स्वर्ण पदक के साथ भारत को पैरालंपिक में निशानेबाजी का पहला पदक दिलाया था। उन्होंने 249.6 अंक के साथ विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की थी। अवनि की रीढ़ की हड्डी में 2012 में कार दुर्घटना के दौरान चोट लगी थी।

कोई टिप्पणी नहीं: