प्रयोगशाला प्रदर्शकों को 65 वर्ष की सेवा उपरांत ही अवकाश ग्रहण कराया जाए - Live Aaryaavart (लाईव आर्यावर्त)

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 26 सितंबर 2021

प्रयोगशाला प्रदर्शकों को 65 वर्ष की सेवा उपरांत ही अवकाश ग्रहण कराया जाए

demand-retirement-age-65
दरभंगा 25 सितंबर, बिहार विधान परिषद के पूर्व सदस्य प्रोफेसर विनोद कुमार चौधरी ने विश्वविद्यालय प्रशासन से अनुरोध किया है कि विश्वविद्यालय द्वारा पूर्व में जारी अधिसूचना के अनुरूप ही पदनामित प्रयोग-प्रदर्शको  को सेवानिवृत्त कराया जाए। प्रोफ़ेसर चौधरी ने कहा है कि विश्वविद्यालय के ज्ञापांक संख्या 44 02-4515/11 दिनांक 64 2011 एवं ज्ञापांक संख्या 7298-537/11 दिनांक 28/5/2011 के आलोक में इनकी 65 वर्ष की आयु की सेवा के बाद ही सेवानिवृत्ति तय हो। उन्होंने कहा कि न्यायालय द्वारा भी ऐसा ही आदेश जारी है फिर उन्हें 65 वर्ष से पूर्व सेवानिवृत्त कराना दुखद है। ज्ञात है कि सिंडिकेट के 5 सदस्यों ने भी इससे संबंधित श्री निगम नारायण झा एवं अन्य के स्मार-पत्र को विश्वविद्यालय प्रशासन को उचित कार्रवाई हेतु अग्रसारित किया है। स्मार-पत्र को अग्रसारित करने वाले सिंडिकेट सदस्यों में प्रोफेसर हरिनारायण सिंह, डॉक्टर बैद्यनाथ चौधरी बैजू, मीना झा, प्रेम मोहन मिश्रा एवं डॉ विनोद  चौधरी शामिल हैं। सिंडिकेट सदस्य डॉ विनोद चौधरी ने विश्वविद्यालय को भेजे अपने पत्र में तत्काल इस पर निर्णय करने की अपील की है।

कोई टिप्पणी नहीं: