बेतिया : लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाली मशीनों से ज्यादा से ज्यादा करें प्रोडक्शन : DM - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 सितंबर 2021

बेतिया : लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाली मशीनों से ज्यादा से ज्यादा करें प्रोडक्शन : DM

  • * क्वालिटी के साथ किसी भी प्रकार का समझौता नहीं करने की सलाह
  • * 26 नए उद्यमियों को नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन चनपटिया में शीघ्र भूमि उपलब्ध कराने का निर्देश

improve-production-dm-betiya
बेतिया। पश्चिम चम्पारण के जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार ने कहा कि अधिकारियों एवं उद्यमियों के दृढ़ संकल्प, सकारात्मक सोच एवं समन्वित प्रयास से जिले में नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन चनपटिया को डेवलप करने का ऐतिहासिक कार्य किया गया है, जो अत्यंत ही सराहनीय और प्रशंसनीय है। इसे और अधिक डेवलप करने की आवश्यकता है। लेटेस्ट टेक्नोलॉजी वाली मशीनों के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्शन कर देश-विदेशों में बिक्री करें तथा पश्चिम चम्पारण प्रोडक्शन का हब बनाने की दिशा में अपनी सहभागिता दें।  उन्होंने कहा कि सभी ने यह दिखाया है कि विपरित परिस्थितियों में कोई कैसे खड़ा हो सकता है। सभी के अथक प्रयास की बदौलत जिले में नया कीर्तिमान स्थापित हुआ है, जिसकी ख्याति देश-विदेशों में निरंतर फैल रही है। जिलाधिकारी जिले में अपना उद्यम शुरू करने के इच्छुक 26 नए उद्यमियों तथा चनपटिया स्टार्टअप जोन में अपना उद्यम संचालित करने वाले 41 उद्यमियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ियों को बेहतर भविष्य देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। यहां के लोग काम की तलाश में अन्यत्र नहीं जाय। बल्कि बेहतर कार्य करते हुए अन्य लोगों को इसी जगह पर रोजगार उपलब्ध करायें। वैसे युवा जो बेहतर उद्यमी बनना चाहते हैं, जिले के लिए कुछ बेहतर करना चाहते हैं, उनको जिला प्रशासन हरसंभव मदद करेगी।  उन्होंने कहा कि सभी उद्यमियों को आपस में मिलजुल कर कार्य करना होगा। बिना किसी लालच, द्वेष, ईष्या के एक-दूसरे का साथ देते हुए जिले के विकास का पहिया तेजी के साथ आगे बढ़ाना है ताकि पश्चिम चम्पारण जिला का नाम देश-विदेशों में प्रोडक्शन हब के रूप में और विख्यात हो सके। जिला प्रशासन हमेशा आपके साथ है। आने वाली हर समस्याओं का समुचित समाधान किया जायेगा।


जिलाधिकारी ने कहा कि जिला औद्योगिक नव प्रवर्तन योजना सरकार की अत्यंत ही महत्वाकांक्षी योजना है। चनपटिया स्टार्टअप जोन को जिस तरह डेवलप कराया गया है उसी तरह हरनाटांड़ एवं रामनगर में भी स्टार्टअप जोन बनाकर डेवलप कराया जाना है। इस योजना के तहत हरनाटांड एवं रामगनर में अलग स्टार्टअप जोन बनाने के लिए कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है तथा इस पर संबंधित अधिकारियों द्वारा तेजी से कार्य भी किया जा रहा है। उद्यमी श्री आनंद कुमार ने बताया गया कि जिला प्रशासन के सहयोग की बदौलत वह स्टार्टअप जोन में स्टेनलेस बर्तन यथा-टिफिन बॉक्स, थाली, कटोरा आदि का निर्माण कर रहा है। शीघ्र ही प्रेशर कुकर का निर्माण भी स्टार्टअप जोन में कराया जायेगा। इसके लिए कुछ लेटेस्ट उपकरणों का सेटअप कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उनके पास डिमांड बहुत ही ज्यादा है। डिमांड के अनुरूप प्रोडक्शन नहीं हो पा रहा है। प्रयास किया जा रहा है कि कुछ और लेटेस्ट मशीनों का अधिष्ठापन कराया जाय। उन्होंने बताया कि भूटान के कई व्यापारियों से इनकी बात हुयी है, शीघ्र ही जिले के बने स्टेनलेस स्टील के विभिन्न प्रोडक्ट्स भूटान में बिक्री किये जायेंगे। श्री मृत्युंजय कुमार ने बताया कि जितना भी प्रोडक्शन हो रहा है सभी बिक जा रहा है। हाल ही में पुणे के एक एक्सपोर्टर से बातचीत हुयी है। उन्होंने लोअर, हाफ पैंट आदि का ऑर्डर भी दिया है। श्री नंदकिशोर कुशवाहा ने बताया कि हर महीने एक हजार साड़ी का निर्माण किया जा रहा है, सभी की बिक्री आसानी से अररिया एवं वैशाली जिले में हो जा रही है। श्री नवीन राज ने बताया कि वे अभी स्टॉल, शर्ट आदि का निर्माण कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि जिले के जो व्यापारी पहले अगस्त माह में खरीदारी करने लुधियाना, सूरत, दिल्ली आदि जगहों पर जाया करते थे, अब वे उनके संपर्क में हैं और शीघ्र ही ऑर्डर देंगे। इस दौरान अपना उद्यम शुरू करने वाले फलिन्द्र कुमार, विनय कुमार, संजय कुमार, इन्द्राशन प्रसाद, ओमप्रकाश पटेल, जय प्रकाश पटेल आदि के फाइनेंस से संबंधित मामलों को जिलाधिकारी द्वारा सुना गया तथा उपस्थित संबंधित बैंक प्रबंधकों/प्रतिनिधियों को त्वरित गति से ऋण उपलब्ध कराने को कहा गया। बैंक प्रतिनिधियों/प्रबंधकों द्वारा बताया गया कि शीघ्र ही ऋण उपलब्ध करा दिया जायेगा। जिलाधिकारी द्वारा एलडीएम को निर्देश दिया गया कि एक-एक मामले का निष्पादन वे स्वयं करायेंगे।


स्टार्टअप जोन चनपटिया के कुछ उद्यमियों द्वारा विद्युत कनेक्शन, साफ-सफाई, शौचालय, पेयजल, मरम्मति आदि की बात कही गयी। जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता, विद्युत विभाग को निर्देश  दिया कि कल स्टार्टअप जोन में कैम्प लगाकर विद्युत कनेक्शन, बिल आदि से संबंधित मामलों का लॉगबुक संधारण करते हुए त्वरित निष्पादन कराना सुनिश्चित करेंगे। साथ ही मामलों का निष्पादन होने के पश्चात की गयी कार्रवाई से अवगत भी करायेंगे। कार्यपालक पदाधिकारी, नगर निकाय, चनपटिया को निर्देश दिया गया कि स्टार्टअप जोन की अच्छे तरीके से साफ-सफाई, शौचालय आदि की व्यवस्था अपडेट रखेंगे। कार्यपालक अभियंता, पीएचईडी को निर्देश दिया गया कि पेयजल की समुचित व्यवस्था करेंगे। कार्यपालक अभियंता, पथ निर्माण विभाग को बड़ी मशीनों को सुगमतापूर्वक अधिष्ठापन कराने के लिए आवश्यकतानुसार पथों की मरम्मति, चौड़ीकरण आदि कार्य अविलंब कराने को कहा गया। डीएम, एसएफसी को ट्रकों के सुव्यवस्थित आवागमन एवं ठहराव की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया ताकि बेजवह जाम अथवा आवागमन में परेशानियां उत्पन्न नहीं हो। साथ ही सुरक्षा के दृष्टिकोण से स्टार्टअप जोन में पर्याप्त संख्या में होमगार्ड जवान की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश जिलाधिकारी द्वारा दिया गया। समीक्षा के क्रम में वरीय उप समाहर्ता, श्री रवि प्रकाश द्वारा बताया गया कि नवप्रवर्तन स्टार्टअप जोन, चनपटिया में अभी तक कुल 48 उद्यमियों को स्थान आवंटित किया जा चुका है। इसमें से 41 उद्यमियों द्वारा प्रोडक्शन चालू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि नए उद्यम स्थापित करने के लिए अभी तक 141 उद्यमियों द्वारा स्थान आवंटन के लिए आवेदन दिया गया है। उन्होंने बताया कि उद्यम स्थापित किए गए उद्यमियों द्वारा अभी तक लगभग 11.50 करोड़ रूपये की बिक्री किया गया है। साथ ही उद्यमियों द्वारा लगभग 06 करोड़ रूपये का मशीन खरीदा गया है। जिसमें 355 छोटी तथा 44 बड़ी मशीनें शामिल हैं। उन्होंने बताया कि उद्यमियों द्वारा खरीदे गये मशीन पर कुल 65 लाख 40 हजार रूपये का टैक्स जमा किया गया है।  श्री प्रकाश ने बताया कि चनपटिया स्टार्टअप जोन में उद्यम स्थापित होने से अभी तक 750 से अधिक कामगारों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार उपलब्ध हो सका है। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के माध्यम से 08 करोड़ रूपये की राशि हस्तगत करायी गयी है।  इस अवसर पर उप विकास आयुक्त, श्री रवीन्द्र नाथ प्रसाद सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

कोई टिप्पणी नहीं: