सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 3 सितंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 03 सितम्बर

  • मंदिर के सामने बैठकर थूनाखुर्द के आक्रोशित किसानों ने किया  बीमा  नीति के खिलाफ प्रदर्शन
  • नुकसान 70 प्रतिशत,प्रति एकड़ खर्चा हुआ 15 हजार रू, बैंक ने प्रीमियम काटा 15 सौ रू, बीमा मिला कुल 8 सौ रू
  • किसानों ने भगवान के समक्ष पारित किया सरकार के द्वारा दिया गया बीमाधन को वापस करने का महत्वपुर्ण प्रस्ताव

sehore news
सीहोर। गुरूवार की रात आठ बजे मंदिर के सामने बैठकर थूनाखुर्द के आक्रोशित किसानों ने किया प्रदेश सरकार की बीमा नीति के खिलाफ धरना देकर प्रदर्शन। थूनाखुर्द के किसानों ने सरकार की बीमा नीति को लेकर भगवान के सामने जमकर विरोध जताया। किसानों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कृषि मंत्री कमल पटेल को सद्धबुद्धी देने की प्रार्थना भगवान हुनमान जी महाराज से की। किसानों ने सरकार के द्वारा दिए गए भेदभावपूर्ण बीमा धन को सरकार को हीं वापस करने का प्रस्ताव भगवान के सामने पारित किया। प्रदेश सरकार ने जमानिया ग्राम पंचायत सहित थूनाखुर्द के हल्का नम्बर 21 के 6 सौ से अधिक किसानों को वर्ष 2019 का प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रति एकड़ कुल 8 सौ रूपये का बीमाधन दिया है। किसानों के जिला सहकारी बैंक मंडी और पचामा बैंक ऑफ इंडिया के खातों से बीमा कंपनी ने 15 सौ रूपये का प्रीमियम काटा है।नुकसान 70 प्रतिशत हुए है। किसानों का प्रति एकड़ सोयाबीन की फसल बोवनी करने में लगभग 15 हजार रूपये का खर्चा आया है। सरकार के द्वारा अधिकृत बीमा कंपनी ने फसल खराब होने के बाद कुल बीमित राशि 8 सौ रू प्रति एकड दी है। जबकी क्षेत्र की अन्य ग्राम पंचायतों में 5 से 10 हजार रूपये तक बीमा दिया गया है। कम बीमाधन मिलने से किसानों में सरकार के प्रति कड़ी नाराजगी है। क्योंकी किसानों को वर्ष 2018 का बीमाधन अबतक नहीं मिला है और इस वर्ष भी सोयाबीन की फसल बांझ हो गई है जिस का अबतक सर्वे भी नहीं कराया गया है। किसानों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है। गुरूवार की रात किसान गांव के मंदिर के समक्ष एकत्रित हुए और भगवान से प्रदेश सरकार के द्वारा उनके साथ की गई धोकाधड़ी मनमानी मजाक की शिकायत की और सरकार को बीमित राशि वापस करने का सर्वसहमति से प्रस्ताव पारित किया। प्रदर्शन के दौरान रमेशचंद्र शर्मा, कांताराम विश्वकर्मा, वीर सिंह यादव, गोरवर्धन माली, दीपक मेवाड़ा, लक्ष्मण मेवाड़ा गजराज विश्वकर्मा, कमलेश यादव, श्रीमति नर्मदी शर्मा, अयोध्या बाई, रेवाराम बागवान, रामचंद्र मेवाड़ा, प्रेम शर्मा, कन्हैयालाल विश्वकर्मा, मदनलाल शर्मा सहित बड़ी संख्या में किसान मौजूद रहे। 


नेत्रहीन महिला को नहीं मिल रहा योजना का लाभ


sehore news
सीहोर। असहाय गरीबों को किस कदर सरकारी योजना का लाभ मिल रहा है इसकी बानगी शहर के कस्बा स्थित वार्ड में देखने को मिल रही है। गरीबी की जिंदगी गुजर बसर करने वाली कलाबाई ने सभी से गुहार लगाई लेकिन सिर्फ आश्वासन ही मिला. कच्चे टूटे-फूटे मकान में प्लास्टिक की चादर बिछकर ये गरीब परिवार अपनी जिंदगी गुजर बसर कर रहे हैं। इतना ही नहीं बारिश के समय तो झोपड़ी में से पानी टपकता रहता है, जिसमें पूरा परिवार रहने को विवश है। नेत्रहीन महिला कला बाई ने लगातार अपनी समस्या सभी अधिकारियों को बताई है, लेकिन न तो उनको आवास मिला और पट्टा। जिसके कारण उनकी यह मुसीबत का सामना करना पड़ता है। गरीब के कहर का सामना करने वाली इस महिला को आंखों से भी नहीं दिखाई देता और चलने में भी असमर्थ है। इसके बाद भी उसको शासन की योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। इस संबंध में उन्होंने बताया कि उनके द्वारा तीन बार जिला प्रशासन को भूमि के पट्टे के लिए आवेदन दिया है, लेकिन अभी तक उनको पट्टे का भाल नहीं मिला और जिसके कारण उनको आवास योजना का लाभ भी नहीं मिल सका है। केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजना के जरिए प्रधानमंत्री का हर गरीब को पक्का घर देने का वादा शहर में सफेद हाथी साबित हो रहा है। शहर में पिछले कई वर्षों से अत्यंत गरीब परिवार के लोग अपने घर के लिए दर-दर भटक रहे हैं लेकिन उन्हें आज तक पक्का घर नहीं मिल पाया है।


पच्चीस सालों से छोटे-छोटे बच्चों के साथ रहने को विवश

इनके पास गरीबी रेखा का कार्ड लोगों की मदद से तो बन गया है, लेकिन अब तक उनको पीएम आवास योजना का लाभ नहीं मिल रहा है। इस संबंध में जानकारी देते हुए 42 वर्षीय कला बाई ने बताया कि वह करीब 25-30 सालों से यहां पर टूटे-फूटे झोपड़ी में रह रही हूं, लेकिन अभी तक मुझे आवास योजना का लाभ नहीं मिला है। मेरे छोटे-छोटे पांच बच्चे भी है। हमारी मदद स्थानीय पार्षद कपिल कुशवाहा ने बहुत की है, लेकिन अभी तक भूमि का पट्टा नहीं मिला है, बारिश के दिनों में झोपड़ी से पानी टपक रहा है। भूमि के पट्टे के लिए कई बार आवेदन दिया। मगर उसे इसका लाभ दिलाने की पहल नहीं की गई।


जनहितैशी नेता गौरव सन्नी महाजन ने फिर लिखा मुख्यमंत्री को पत्र

  • आर्थिक रूप से परेशान उपभोक्ताओं पर बिजली चोरी के झूठे प्रकरण बना रही है विद्युत कंपनी
  • सर्वे शीघ्र कराकर सोयाबीन की फसल खराब होने से पीडि़त किसानों को दी जाए बीमा राशि,

sehore news
सीहोर। जनहितैशी नेता गौरव सन्नी महाजन ने विद्युत वितरण कंपनी की मनमर्जी से तंग नागरिकों की परेशानियों और सोयाबीन खराब होने से आर्थिक संकट से जूझ रहे किसानों की समस्याओं से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पत्र प्रेषित कर अवगत कराया है। महाजन ने कहा की कोरोनाकाल और लॉकडाउन से आर्थिक तंगी से जूझ रहे शहर और ग्रामीण क्षेत्र के बिजली उपभोक्ताओं के द्वारा भारी भरकम बकाया बिजली बिल नहीं चुकाने पर कंपनी के द्वारा झूठे बिजली चोरी के प्रकरण बनाकर उपभोक्ताओं को परेशान किया जा रहा है। कंपनी के कर्मचारी बिना पूर्व सूचना के बिजली कनेक्शन काट  रहे है। अनेक घरों दुकानों के बाहर लगे बिजली के मीटर भी उखाड़े जा रहे है। बिजली उपभोक्ताओं से जबरिए नये मीटर के 15 सौ रूपये जमा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।  महाजन ने कहा की विद्युत वितरण कंपनी नियम कानून को तांक पर रखकर जहां उपभोक्तओं से पुलिस के साथ वसूली कर रही है वहीं शहर और ग्रामीण अंचलों मेंंं अघोषित रूप से बिजली कटौती भी की जा रही है। जिस कारण बिजली उपभोक्ताओं को दोहरी मार का सामना करना पड़ रहा है।  महाजन ने कहा की शहर के 15 हजार से अधिक बिजली उपभोक्ताओं ने हस्ताक्षर कर कोरोनाकाल और लॉकडाउन को ध्यान में रखते हुए मार्च से जुलाई तक के बिजली बिल माफ करने और बिजली बिल जमा कर चुके उपभोक्ताओं की जमा राशि को आगामी माह में समायोजित करने की मांग की थी लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया।  महाजन ने कहा की किसानों की सोयाबील की फसल बीते तीन सालों से खराब हो रहीं है। सैकड़ों किसानों को वर्ष 2018 का बीमा अबतक नहीं मिला है तो हाल हीं में जारी वर्ष 2019 का बीमा लाभ भी आधे अधुरे किसानों को दिया गया है कुछ ग्राम पंचायतों में तो प्रति एकड़ कुल 8 सौ रूपये हीं बीमाधन दिया गया है जबकी किसानों का 70 प्रतिशत तक नुक सान फसल में हुआ है और बोवनी बक्खर बीज सहित अन्य कायों में किसानों के लगभग 15 हजार रूप से अधिक राशि प्रति एकड खर्च हुई है। इस साल भी किसानों की सोयाबीन की फसल बर्बाद हो गई है बावजूद अबतक जिला प्रशासन ने सर्वे कार्य शुरू नहीं किया है। महाजन ने कहा की जनहित को ध्यान में रखते हुए खराब हुई फसल का शीघ्र खेतों में कर्मचारियों को भेंजकर किसानों की उपस्थिति में सर्वे कराने और पीडि़त किसानों को पर्याप्त मुआवजा और बीमा राशि उपलब्ध कराने सहित बिजली उपभोक्ताओं को राहत प्रदान करने के लिए मार्च से जुलाई तक के बिजली बिल माफ करने एवं बिजली बिलों की राशि इस दौरान जमा कर चुके उपभोक्ताओं की राशि आगामी महिनों में समायोजित कराने के ओदश जारी करने की मांग मुख्यमंत्री से की है।


जगदीश मंदिर का किया जाएगा सौंदर्यीकरण


sehore news
सीहोर। जगदीश मंदिर टाट बाबा परमार क्षत्रिय समाज ट्रस्ट के तत्वावधान में सौंदर्यीकरण का काम किया जा रहा है। शीघ्र ही इस मंदिर की सुरक्षा के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाएगा। इस संबंध में युवा परमार समाज के अध्यक्ष तुलसीराम पटेल और चल समारोह के अध्यक्ष विष्णु परमार के तत्वाधान में समाजजनों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान श्री पटेल ने बताया कि छावनी स्थित शहर के मध्य में प्राचीन जगदीश मंदिर सालों से क्षेत्र सहित आस-पास के लोगों की आस्था का केन्द्र है। यहां पर हर साल रथ यात्रा सहित अन्य धार्मिक का आयोजन भव्य रूप से किया जा रहा है। 1961 में मंदिर के जीर्णोद्धार के साथ शुरु की थी।  परमार समाज के राज गुरु 232 मंदिरों के जीर्णोद्धार व अखिल भारतीय धर्म संघ के अध्यक्ष ब्रह्मलीन श्री 1008 पंडित काशीप्रसाद कटारे की प्रेरणा से इस मंदिर का जीर्णोद्धार सन 1961 में परमार समाज ने किया था। मंदिर में सौंदर्यीकरण के लिए गत दिनों पौधारोपण सहित अन्य कार्य भी किए जा रहे है। आने वालों दिनों में मंदिर की सुरक्षा के लिए बाउंड्रीवाल का निर्माण कार्य पूर्ण किया जाएगा। इसके पश्चात अन्य धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। बैठक के दौरान चंदर सिंह मंडलोई, सूरज सिंह परमार, नंद किशोर परमार, बने सिंह, विक्रम, लखन परमार, विजेन्द्र परमार, गब्बर परमार, अनार सिंह, रामनारायण परमार, देव नारायण परमार, सुरेश परमार आदि शामिल थे। 


आज किया जाएगा राधा कृष्ण मंदिर में छठी पर्व का आयोजन


sehore news
सीहोर। भगवान कृष्ण की जन्माष्टमी का पर्व गत दिनों शहर के गाड़ी अड्डा स्थित राधा-कृष्ण मंदिर में आस्था और उत्साह के साथ विधि-विधान से मनाया गया है। भगवान कृष्ण का पूजन परंपरा के अनुसार किया जाता है। इसी परंपरा के अनुसार भगवान कृष्ण के जन्म के छठे दिन उनकी छठी मनाई जाने की भी परंपरा है। इस साल कृष्ण जी की छठी का पूजन शनिवार को मनाया जाएगा। जो भी लोंग जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण का जन्म करवाते हैं और विधि पूर्वक लड्डू गोपाल का पूजन करते हैं वो जन्माष्टमी के छठे दिन कृष्ण छठी का भी पूजन करते हैं। पिछले पचास सालों से राधा कृष्ण मंदिर में धार्मिक आयोजन किया जा रहा है। कृष्ण जन्माष्टमी की पूजा के छठे दिन भगवान कृष्ण की छठी का पूजन किया जाता है। इस दिन सबेर स्नान आदि से निवृत्त होकर लड्डू गोपाल का को पंचामृत से स्नान करना चाहिए। इसके लिए लड्डू गोपाल को एक पात्र में रख कर बारी-बारी से दूध, दही, घी, शहद और गंगा जल से स्नान कराया जाता है। इसके बाद उन्हें नये वस्त्र पहनाकर लाल रंग के आसन पर स्थापित करें। इसके बाद भगवान को रोली या पीले चंदन से टीका लगा कर, धूप, दीप और नैवेद्य अर्पित करें। भगवान कृष्ण को माखन मिश्री का भोग लगाएं और तुलसी दल जरूर चढ़ाएं। गत दिनों राधा कृष्ण मंदिर में इसको लेकर आयोजन किया गया था। जिसमें पंडित मनोहर शर्मा, मनोज दीक्षित मामा और पंडित मयंक शर्मा आदि की उपस्थिति में श्रद्धालुओं द्वारा बैठक की गई थी। जिसमें शनिवार को भगवान कृष्ण का नामकरण छठी के दिन किया जाता है। परंपरा है कि भगवान कृष्ण के अंनत नामों कृष्ण, मोहन, नंदलाल, यशोदानंदन, देवकीनंदन, मुरारी आदि में से कोई एक प्रिय नाम चुन कर इस नाम से ही उन्हें बुलाना चाहिए। इस दिन घर में खाने के लिए कढ़ी चावल खाना शुभ माना जाता है। इस दिन आपको भी पीले वस्त्र ही पहनने चाहिए, भगवान कृष्ण को पीला रंग विशेष रूप से प्रिय है। भगवान कृष्ण की छठी का पूजन करने से जन्माष्टमी की पूजा पूरी होती है तथा आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। 


जिले में अब तक 714.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 03 सितम्‍बर, 2021 तक 714.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 1288.9 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 03 सितम्‍बर, 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 701.5 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 663.9, आष्टा में 667.0 जावर में 630.0,   इछावर में 719.3, नसरूल्लागंज में 661.0,  बुधनी में 852.0, रेहटी में 817.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 0.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 0.0, आष्टा में 0.0 जावर में 0.0, इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 0.0, बुधनी में 0.0, रेहटी में 0.0 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


आबकारी विभाग ने छापामार कार्रवाई कर अवैध मदिरा जप्त की


sehore news
जिले में अवैध मदिरा के विरुद्ध कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देशन पर आबकारी विभाग द्वारा निरंतर कार्रवाई की जा रही है। आबकारी अमले ने सीहोर, दोराहा, आष्टा, बुदनी तथा नसरूल्लागंज में की गई छापामार कार्यवाही के तहत 01 अगस्‍त से 31 अगस्‍त 2021 तक 48 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए ड्रम, कुप्पों,व भट्टी से कुल 156.92 ली. देशी मदिरा, वि‍देशी मदिरा, हाथ भट्टी कच्ची मदिरा और 12880 किलोग्राम महुआ लाहन जप्त किया है। आबकारी अधिकारी कीर्ति दुबे ने बताया कि इन 48 प्रकरणों में कार्रवाई करते हुए मप्र आबकारी अधिनियम 1915 की विभिन्न धाराओं में 48 प्रकरण दर्ज कर 156.92 लीटर देशी मदिरा, वि‍देशी मदिरा, हाथ भट्टी कच्ची मदिरा तथा 12880 किग्रा महुआ लाहन जप्त किया है जिसकी अनुमानित कीमत 6 लाख 67 हजार 680 रुपये है।


7 सितंबर तक मातृ वंदना सप्ताह


गर्भवती माताओं को पर्याप्त पोषण आहार तथा शिशु के जन्म के बाद पोषण आहार की उचित व्यवस्था के लिये प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना लागू की गई है। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित इस योजना में पहली बार गर्भधारण करने वाली पात्र महिलाओं को 5 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि उनके बैंक खाते में दी जाती है। जिले भर में एक सितम्बर से 7 सितम्बर तक मातृ वंदना सप्ताह का आयोजन करके महिलाओं को योजना के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। महिला एवं बाल विकास विभाग ने बताया कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत पहली बार गर्भ धारण करने वाली महिलाओं को मजदूरी की हानि की आंशिक क्षतिपूर्ति के रूप में 5 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। इस राशि का भुगतान तीन किश्तों में किया जाता है। मातृ वंदना सप्ताह में स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य परीक्षण के शिविर लगाये जा रहे हैं। सप्ताह के दौरान माताओं को साफ-सफाई का ध्यान रखने, शिशु के समय पर टीकाकरण, उचित पोषण आहार प्रदान करने के संबंध में जागरूक किया जायेगा। गर्भवती माताओं से गृह भेंट करके आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उन्हें योजना के संबंध में जानकारी देंगी।


दिव्यांग छात्रवृत्ति के आनलाइन पंजीयन प्रारंभ


जिले के शत-प्रतिशत दिव्यांग छात्र, छात्राओं को भारत सरकार की दिव्यांग छात्रवृत्ति की योजना से लाभान्वित किये जाने का लक्ष्य अनुरूप आन लाइन आवेदन प्रक्रिया प्रारम्भ हो गई है। सामाजिक न्याय विभाग ने बताया कि सत्र 2021-22 हेतु जिले के समस्त शासकीय, अशासकीय विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में अध्ययनरत दिव्यांग छात्र/छात्राओं को प्राप्त होने वाली प्री-मैट्रिक (कक्षा 9वीं एवं 10वीं), पोस्ट  मैट्रिक (कक्षा 11वीं एवं 12वीं) एवं स्नातक, स्नातकोत्तर एवं अन्य सभी उच्च शिक्षा पाठयक्रम के छात्र, छात्राऐं के छात्रवृत्ति आवेदन  के लिए ऑनलाइन पंजीयन गत 18 अगस्त 2021 से प्रांरभ कर दिये गये है।  आवेदक एवं शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा भारत सरकार सामाजिक न्यागय एवं आधिकारिता मंत्रालय के राष्ट्रीय छात्रवृत्ति के http:www.scholarships.gov.in पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन किये जाने की अंतिम तिथि प्री-मैट्रिक हेतु 15 नवम्बर 2021 तथा पोस्ट मैट्रिक एवं स्नातक, स्नातकोत्तर एंव अन्य सभी उच्च शिक्षा पाठयक्रम हेतु 30 नवम्बर 2021 निर्धारित की गई है। संबंधित संस्था द्वारा ऑनलाइन आवेदन सत्यापन करने की अंतिम तिथि 15 दिसम्बर 2021 निर्धारित है।


बिजली कार्मिकों को बिना अनुमति मुख्यालय नहीं छोड़ने के निर्देश


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा निरंतर विद्युत आपूर्ति की सुचारू व्यवस्था हेतु कंपनी कायक्षेत्र के 16 जिलों के बिजली कार्मिकों को मुख्यालय पर रहने एवं 24X7 दिवस अपने फोन चालू रखने के निर्देश जारी किए हैं। गौरतलब है कि कंपनी के संज्ञान में आया है कि बारिश, ऑंधी, तूफान एवं अन्य आकस्मिक परिस्थितियों आदि के कारण विद्युत लाइनों में खराबी आने के कारण विद्युत आपूर्ति बाधित होने की संभावना होती है। इस दौरान आई खराबी एवं विद्युत लाइनों को दुरूस्त करने में काफी समय लग जाता है, जिसके कारण उपभोक्ताओं को निरंतर विद्युत आपूर्ति किए जाने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है इस दौरान उपभोक्ता शिकायतों की संख्या बढ़ने एवं उपभोक्ता असंतोष की स्थिति से निपटने के लिए मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा अपने कार्यक्षेत्र के 16 जिलों के मैदानी अमले के साथ-साथ विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था से जुड़े नियमित/संविदा/सेवाप्रदाता कार्मिकों को डयूटी समाप्ति के उपरांत भी अपने मुख्यालय पर रहने एवं 24X7 दिवस तथा अवकाश के दौरान भी अपना मोबाइल फोन चालू रखने के निर्देश जारी किए हैं। कंपनी ने बताया है कि किसी भी अधिकारी कर्मचारी का मोबाइल यदि विशेष कारणों से बंद भी होता है तो वे अन्य संपर्क सूत्र से अपने नियन्त्रणकर्ता अधिकारी को अवगत करायेंगे तथा नियन्त्रणकर्ता अधिकारी की अनुमति के बिना कोई भी कार्मिक मुख्यालय नहीं छोड़ सकेंगे। कंपनी ने कहा है कि यदि कोई भी कर्मचारी निर्देशों का पालन नहीं करता है तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी साथ ही उन्हें गृह भाड़े भत्ते का भी भुगतान नहीं किया जाएगा। 


माह के प्रथम मंगलवार को हेलो आशा फोन इन कार्यक्रम का प्रसारण


स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी दी कि माह के प्रथम मंगलवार को हेलो आशा फोन इन कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी, भोपाल से विभाग द्वारा निंरतर चलाया जा रहा है। राष्ट्रीय मातृ स्वास्थ विषय पर 7 सितम्बर मंगलवार को दोपहर 1:15 से 2:15 बजे तक आकाशवाणी, भोपाल से प्रसारित किया जायेगा।  स्वास्थ्य विभाग ने समस्त जन समुदाय से अपील की है की इसका लाभ अधिक से अधिक लोग उठाएं एवं जानकारी प्राप्त करें। कार्यक्रम प्रसारण के दौरान श्रोता आकाशवाणी के फोन नंबर 0755-2660902-2660903 पर सवाल पूछ कर अपनी शंका समाधान कर सकते हैं।


सभी स्वास्थ्य केन्द्रों में चलाया जा रहा है निरोगी काया अभियान, 30 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों की स्क्रीनिंग कर असंचारी रोगों की पहचान


 जिले में 30 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों की समुदाय आधारित स्क्रीनिंग के माध्यम से मुख्य असंचारी रोग की प्रारंभिक स्थिति में पहचान कर उपचार हेतु निरोगी काया अभियान एक सितम्बर से प्रारंभ हो गया है। निरोगी काया अभियान के साथ फिट हैल्थ वर्कर अभियान प्राथमिकता में संचालित करते हुए सभी स्वास्थ्य अधिकारियों और कार्यकर्ताओं की स्क्रीनिंग की जा रही है।  स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि सभी ग्रामीण प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा उपस्वास्थ्य केन्द्रों पर निरोगी काया अभियान संचालित किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार स्वास्थ्य अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की स्क्रीनिंग के साथ ही हेल्थ एण्ड वैलनेस केन्द्रों के माध्यम से 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की स्क्रीनिंग कर मुख्य असंचारी रोग ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और कैंसर सहित अन्य गंभीर बीमारियों की पहचान की जा रही है। किसी भी व्यक्ति में गंभीर रोगों की पहचान होने पर त्वरित रूप से आवश्यकतानुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं जिला चिकित्सालय में उपचार प्रारंभ किया जाएगा। निरोगी काया अभियान के दौरान स्क्रीनिंग के साथ-साथ लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करते हुए विभिन्न बीमारियों के लक्षण, उससे बचाव एवं उपचार के संबंध में जानकारी दी जा रही इसके साथ ही लोगों को संतुलित आहार, बेहतर खानपान, नियमित योग, प्राणायाम तथा व्यायाम करने की सलाह भी दी जा रही है।


जल जीवन मिशन में 2521 करोड़ से अधिक की योजनायें स्वीकृत, ग्रामीण आबादी को नल कनेक्शन से जल प्रदाय के लिए खर्च होगी राशि


लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीण जल प्रदाय योजनाओं के लिए 2521 करोड़ 23 लाख 44 हजार रुपये की स्वीकृति जारी गई है। विभाग के मैदानी अमले द्वारा जल जीवन मिशन के मापदण्डों के अनुसार प्रक्रिया प्रारम्भ की जा रही है। प्रदेश की ग्रामीण आबादी शुद्ध पेयजल के लिए परेशान न हो, इसके लिए जल जीवन मिशन में तेजी से कार्य जारी हैं। जहाँ जलस्त्रोत हैं, वहाँ उनका समुचित उपयोग कर आसपास के ग्रामीण रहवासियों को पेयजल प्रदाय किया जायेगा। जिन ग्रामीण क्षेत्रों में जलस्त्रोत नहीं हैं वहाँ नये जल स्त्रोत निर्मित किए जायेंगे। ग्रामीण परिवारों के लिए पेयजल की व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य है। राष्ट्रीय जल जीवन मिशन के अन्तर्गत प्रदेश की समग्र ग्रामीण आबादी को घरेलू नल कनेक्शन से पेयजल की आपूर्ति किए जाने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा जल संरचनाओं की स्थापना एवं विस्तार के कार्य किए जा रहे हैं। स्वीकृत 2521 करोड़ रूपये से अधिक की राशि में 45 जिलों की जलप्रदाय योजनायें शामिल हैं। इन जिलों के लिए नवीन योजनाओं के साथ ही विभिन्न ग्रामों में पूर्व से निर्मित पेयजल अधोसंरचनाओं को नये सिरे से तैयार कर रेट्रोफिटिंग के अन्तर्गत भी कार्य किया जा रहा है।


ग्रीन गणेश अभियान तहत कार्यक्रम


पर्यावरण नियोजन एवं समन्वय संगठन (एप्को) द्वारा आगामी गणेश चतुर्थी को दृष्टिगत रखते हुए 4 से 8 सितम्बर, 2021 तक प्रतिदिन दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक नि:शुल्क शिविर का आयोजन किया जा रहा है। ग्रीन गणेश अभियान के तहत एप्को, पर्यावरण परिसर ई-5, अरेरा कॉलोनी में होने वाले शिविर में प्रतिभागियों को अपने हाथों से अपने लिये मिट्टी से गणेश प्रतिमा निर्माण का अवसर मिलेगा। प्रतिभागी अपने द्वारा निर्मित प्रतिमाओं को अपने साथ घर भी ले जा सकेंगे। विशेषज्ञों द्वारा शिविर में गणेश सीड प्रतिमा निर्माण और उन्हें प्राकृतिक रंगों से सजावट की तकनीक का भी प्रशिक्षण दिया जायेगा। ये प्रतिमाएँ घर पर ही विसर्जित की जा सकेंगी। इससे पर्यावरण संरक्षण में लोगों का वैयक्तिक योगदान सुनिश्चित हो सकेगा। पीओपी से बनी मूर्तियों में रासायनिक रंगों का प्रयोग किया जाता है। विसर्जन में न तो ये मूर्तियाँ गलती हैं और रासायनिक रंग नदी-तालाब के जल को विषाक्त बनाते हैं। यह जल मानव स्वास्थ्य सहित जलीय जीव-जंतु और पेड़-पौधों के लिये अति हानिकारक होता है। 


आयुष आपके द्वार योजना का विधायक श्री राय ने किया शुभारंभ


sehore news
जिले में आजादी अमृत महोत्सव के अंतर्गत ‘‘आयुष आपके द्वार‘‘ कार्यक्रम का शुभारंभ स्‍थानीय विधायक श्री सुदेश राय ने जिला आयुष कार्यालय में किया। कार्यक्रम में औषधीय पौंधों का वितरण करते हुए श्री राय ने कहा कि औषधीय पौंधो का हमारे जीवन बडा महत्‍व है। सभी लोगों को औषधीय पौधें लगाना चाहिए। इस कार्यक्रम के अंतर्गत लोगों को अपने घरों औषधीय पौंधों लगाने के लिए पौधे उद्यानिकी विभाग द्वारा उपलब्‍ध कराये जायेंगे।  इस अभियान के तहत देशभर में एक साल में 75 लाख औषधीय पौधे लगाने का लक्ष्य रखा निर्धारित किया है। इस कार्यक्रम के माध्यम से अभियान चलाकर सामान्य औषधीय पौंधों का रोपण तथा उनका उपयोग के प्रति आमजन में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। जिससे आवश्‍यकता पड़ने पर व्यक्ति आसानी से इसका उपयोग कर स्वास्थ्य लाभ ले सकेंगे। इस योजना से पर्यावरण संरक्षण में भी लाभ होगा। कार्यक्रम में उपसंचालक उद्यानिकी श्री राजकुमार सगर, श्री नागेन्द्र मिश्रा आईटीसी, जिला आयुष अधिकारी डॉ. नरेन्द्र सिह लोधी, चिकित्सक सहित पैरामेडीकल स्टाफ के कर्मचारी, गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 


राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़े पर आयोजित भाषण प्रतियोगिता में प्रेरणा यादव को मिला प्रथम स्थान, प्रतिभागियों ने रखे नेत्रदान और अंगदान पर विचार


sehore news
राष्ट्रीय नेत्रदान पखवाड़ा के तहत स्कूल स्तरीय भाषण प्रतियोगिता नेत्रदान और अंगदान का महत्व कानूनी प्रावधान विषय पर उत्कृष्ट उच्‍चतर माध्‍यमिक विद्वयालय में आयोजित की गई। प्रतियोगिता में प्रथम कस्तूरबा स्कूल की छात्रा कुमारी प्रेरणा यादव, द्वित्तीय कुमारी मिनाक्षी उत्कृष्ट विद्यालय, तृतीय कुमारी महक विश्‍वकर्मा कस्तूरबा कन्या विद्यालय तथा प्रोत्साहन पुरस्कार कुमारी सिमरन लोधी, कुमारी छाया लोधी, मन कुमार दोहरे, साधना ठाकुर एवं गगन राठौर को दिया गया। इस अवसर पर जिला अंधत्व नियंत्रण अधिकारी डॉ. यूके श्रीवास्तव ने कहा कि नेत्रदान एवं अंगदान से अन्य जरूरत मंद को नया जीवन मिलता है। उन्होंने कहा कि नेत्रदान कीजिए ताकि आपकी आंखों से कोई देख सकें। उत्कृष्ट स्कूल के प्राचार्य श्री रवीन्द्र कुमार बांगरे ने कहा कि आपकी आंखों दूसरों के जीवन में हुए अंधेंरे को समाप्‍त कर सकती है। इस अवसर पर चिकित्‍सक, शिक्षक-शिक्षिकाएं सहित स्‍कूली बच्‍चें उपस्थित थे।  


धान ज्‍वार एवं बाजरा खरीदी के लिए ई पंजीयन 15 सितंबर से प्रारंभ


उपार्जन योजना अन्‍तर्गत खरीफ मौसम में समर्थन मूल्‍य पर धान एवं मोटे अनाज की खरीदी की जाती रही है। खरीफ विपणन 2021-22 में न्‍यूतम समर्थन मूल्‍य धान-1940, ज्‍वार-2738 तथा बाजरा-2250 रूपये प्रति क्विटल निर्धारित किया गया है। समर्थन मूल्‍य पर कृषक पंजीयन 15 सितंबर से प्रारंभ होकर 14 अक्‍टूबर तक किया जा सकता है। उपार्जन केन्‍द्रों पर पंजीयन प्रात: 7 बजे से सायंकाल 9 बजे तक समस्‍त कार्य दिवसों में अवकाश के दिन को छोडकर किया जाएगा।


पंजीयन केन्‍द्र का निर्धारण

समर्थन मूल्‍य का पंजीयन भू-स्‍वामि एमपी किसान ऐप एवं समिति एफपीओ महिला स्‍व सहायता समूह द्वारा संचालित किया जाएगा। सिकमीदार, वनाधिकार पटटाधारी समिति एफपीओ महिला स्‍व सहायता समूह द्वारा संचालित स्‍थानों पर जिला सहकारी बैंक से संबंधित सहकारी समितियां, पंजीकृत प्राथमिक कृषि साख सहकारी संस्‍थाएं, वहत्‍ताकार कृषि साख सहकारी संस्‍थाएं,आदि जाति सहकारी संस्‍थाएं तथा ब्‍लाक स्‍तरीय विपणन सहकारी संस्‍था किया जाएगा।


पंजीयन के लिए आवश्‍यक दस्‍तावेज

विगत खरीफ एवं रबी मौसम में जिन किसानों द्वारा समर्थन मूल्‍य पर खाद्यान्‍न के विक्रय करने ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराया गया था। ऐसे किसानोंको व खरीफ 2021-22 में पंजीजन के लिए दस्‍तावेज देने की आवश्‍यकता नही है। किसान के विगत वर्ष के पंजीयन में आधार नंबर, बैंकखाता, मोबाइल नंबर में किसीभी प्रकार के परिवर्तन या संसोधन की आवश्‍यकता होने पर संबंधित दस्‍ता वेज प्रमाण स्‍वरूप पंजीयन केन्‍द्र पर लाना होगा। जिन किसानों को विगतवर्ष उपार्जन में जेआईटी से भुगतान विफल होने के कारण ऑफलाइन भुगतान किया है ऐसे किसानों के सही बैंक खाता दर्जकरने के लिए बैंक पासबुक की छायाप्रति उपलब्‍ध कराना होगी। वनाधिकार पटटाधारी, सिकमीदार किसानों को वन पटटा एवं सिकमी अनुबंध की प्रति उपलब्‍ध कराना होगी। जिन किसानों द्वारा विगत खरीफ और रबी फसल में पंजीयन नहीं कराया था। जिन किसानों ई उपार्जन पोर्टलपर डाटा बेस उपलब्‍ध नही है ऐसे किसानों को पंजीयन केन्‍द्र पर आधार नंबर, बैंक खाता नंबर, मोबाइल नंबर की जानकारी पंजीयन केन्‍द्र पर उपलब्‍ध करानी होगी।


किसानों को भुगतान जेआईटी के माध्‍यम से बैंक खाते में

किसानों को भुगतान प्रक्रिया जेआईटी के माध्‍यम से सीधे बैंक खातों में किया जाना है। किसान पंजीयन में केवल राष्‍ट्रीयकृत बैंक एवं जिला केन्‍द्रीय सहकारी बैंक के खाते ही मान्‍य होंगे। जन धन ऋण नाबालिग, बंद एवं अस्‍थाई रूप से रोके गये खाते जो विगत 6 माह से क्रियाशील नहीं है। ऐसे खाते मान्‍य नहीं होंगे। किसान पंजीयन में बैंकखांता में संसोधन एवं नवीन खाते की प्रविष्टि की कार्रवाही ओटीपी आधारित e-authentication प्रक्रिया के माध्‍यम से किया जा सकेगा।


नवीन किसान पंजीयन जानकारी

नवीन किसानों के पंजीयन की प्रक्रिया के तहत किसान का नाम, बैंक खाता, आईएफएससी कोड,बैंक की शाखा का नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबर देना होगा। किसान की समग्र आईडी, किसान पंजीयन यूनिक आई होगी। गिरदावरी में उल्‍लेखित भूमि के रकबे से सहमत होने पर ही पंजीयन किया जा सकेगा।


टैंलेंट सर्च में किया जा रहा है प्रतिभाशाली खिलाडियों का चयन


sehore news
स्कूल प्रतिभाओं एवं खिलाडियों को प्रदेश की अकादमियों में चयन के लिए जिला स्तर पर टेलेन्ट सर्च कार्यक्रम के तहत चर्च ग्राउंड सीहोर में सुबह से पुलिस अधीक्षक श्री एसएस चौहान के निर्देशन में एवं खेल और युवा कल्याण विभाग, स्कूल शिक्षा विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग के संयुक्त सहयोग से चयन किया जा रहा है। छटवें दिन 157 खिलाडी शामिल हुए। अभी तक 841 खिलाडियों ने टैलेंट सर्च में शामिल हुए है। शुक्रवार को टैलेंट सर्च में शामिल बच्‍चों का आरटीचीसीआर टेस्‍ट भी किया गया। कार्यक्रम में जिला खेल और युवा कल्याण अधिकारी, प्रशिक्षक युवा समन्वयक एवं विभागीय कर्मचारी उपस्थित रहें।  


जिले में आज कोई भी व्‍यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना  एक्टिव  पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 987 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 261, श्यामपुर से 185,  नसरूल्‍लागंज 162, आष्टा से 200,  बुधनी से 58 तथा  इछावर से 121 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 248648  हैं। जिनमें से 236596  सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 515 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1839 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।   


उपभोक्ता की संतुष्टि पर ध्यान दें- प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा

  • प्रबंध संचालक द्वारा मैदानी स्तर पर विद्युत वितरण व्यवस्था की समीक्षा

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक श्री गणेश शंकर मिश्रा ने कहा कि राजस्व संग्रह के साथ.साथ उपभोक्ता की संतुष्टि पर भी ध्यान दिया जाए। उपभोक्ताओं की बिल संबंधी या अन्य शिकायतों का निराकरण तत्काल सुनिश्चित किया जाए। जनप्रतिनिधियों से सतत् संवाद रखा जाए। जिला प्रशासन के अधिकारियों को विश्वास में लेकर बिजली आपूर्ति और वितरण व्यवस्था को मजबूत बनाने के काम में निरंतरता बनाई रखी जाए। उन्होंने कहा कि नये कनेक्शन प्रदान करने में विलंब नहीं होना चाहिए। नये कनेक्शन का ऑनलाइन आवेदन रजिस्टर होने की तिथि से सर्वे इनवाइस जारी करने और उपभोक्ताओं की समस्त औपचारिकताएं पूर्ण होते ही तुरंत दिया जाए। यदि नये कनेक्शन देने में लाइनों का विस्तार कार्य आवश्यक न हो तो 15 दिनों में उपभोक्ता को नया कनेक्शन प्रदान कर उसके घर आंगन को रोशन किया जाए। प्रबंध संचालक श्री मिश्रा ने कहा कि दीपावली का त्‍यौहार आ रही है लोग नये.नये मकान बनाते हैं और कनेक्शन के लिए आवेदन करते हैं। त्यौहारों के इस सीजन में नये कनेक्शन तत्काल सुनिश्चित करें और घरों को रोशन कर खुशियां प्रदान करें। यह बात कंपनी मुख्यालय स्थित पावर डिस्ट्रीब्यूशन ट्रेनिंग सेन्टर के सभागार में आयोजित भोपाल, नर्मदापुरम्, ग्वालियर एवं चंबल संभाग की समीक्षा बैठक में कही। प्रबंध संचालक ने बीते अगस्त माह में रिकार्ड राजस्व संग्रह के लिए अधिकारियों और कर्मचारियों की सराहना की और मुख्य महाप्रबंधक से लेकर महाप्रबंधक तक को प्रशस्ति पत्र वितरित किये। उन्होंने निर्देशित किया कि उपमहाप्रबंधक से लेकर लाईन स्टाफ तक बेहतर कामकाज करने वाले कार्मिकों को इसी प्रकार से प्रशस्ति पत्र प्रदान किये जाएं। उन्होंने राजस्व वसूली के लिए एडवांस प्लानिंग करने के लिए कहा ताकि मांग के अनुरूप प्रतिदिन राजस्व संग्रह किया जाएगा तो माह के अन्य दिनों में वितरण क्षेत्र के अन्य कार्य भी सुगमता से किये जा सकेंगे। प्रबंध संचालक ने मीटर रीडरों के काम पर निगरानी रखने के साथ कहा कि प्रतिमाह मीटर रीडरों द्वारा ली गई मीटर रीडिंग की फोटो का सत्यापन सुनिश्चित किया जाए ताकि मीटर रीडिंग से उपजी शिकायतें कम होंगी वहीं दूसरी ओर इससे बिल संबंधी शिकायतें अपने आप कम हो जाएंगी। प्रबंध संचालक श्री मिश्रा ने कहा कि विक्रित यूनिट बढ़ाने के लिए कार्य योजना तैयार करें और उसे अमल में लाएं। उन्होंने गैर घरेलू कनेक्शनों में भार वृद्धि के लिए चालू माह में कम से कम 15 दिन चेकिंग अभियान चलाये जाने की जरूरत बताई और कहा कि आवर्ती राजस्व वृद्धि का यह एक उत्तम उपाय साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि बकायादार उपभोक्ताओं को यह एहसास होना चाहिए कि बिजली का बिल समय पर जमा करें नहीं तो कनेक्शन कटने की अप्रिय कार्यवाही से बच नहीं पाएंगे। यह एहसास ही उनको सही समय पर बिजली बिल जमा करने के लिए प्रेरित करेगा। उन्होंने गत माहों में ऐसे नॉन पेयी उपभोक्ताओं की सूची तैयार करने के निर्देश दिए जो बिजली बिल जमा तो करते हैं लेकिन तीन चार माह में एक बार करते हैं। उन्हें भी यह एहसास कराना होगा कि यदि वे समय पर नियमित बिजली बिल का भुगतान करेंगे तो सरचार्ज के रूप में अधिक राशि का भुगतान नहीं करना होगा।


रबी सीजन की तैयारियों पर जोर

प्रबंध संचालक श्री मिश्रा ने निर्देशित किया कि मैदानी स्तर पर खराब तथा जले ट्रांसफार्मरों को तत्काल एरिया स्टोर में जमा करायें ताकि उन्हें समय सीमा में सुधार कर रबी सीजन में उपयोग किया जा सके। मैदानी अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि पात्रता वाले खराब तथा जले ट्रांसफार्मरों को तत्काल बदला जाए और यह कार्यवाही सितंबर के पहले पखवाड़े में पूरी कर ली जाए। 33/11 के०व्‍ही० उपकेन्द्रों के केपेसिटर बैंक क्रियाशील होना सुनिश्चित किया जाए तथा लाइनों के मैन्टीनेन्स पर विशेष ध्यान दिया जाए। जिन ट्रांसफार्मरों के बारम्बार जलने या खराब होने की घटनाएं होती हैं उन्हें चिन्हित किया जाए और उन वितरण ट्रांसफार्मर का तकनीकी और वाणिज्यिक रूप से विश्लेषण किया जाए कि ऐसा क्यों हो रहा है। यदि ट्रांसफार्मर ओवरलोडेड हैं तो संयोजित लोड के अनुरूप चेकिंग अभियान चलायें और लोड बैलेंस किया जाए। रबी सीजन में अस्थाई कनेक्शन आसानी से उपलब्ध हो सकें ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। आंकलित खपत के देयक जारी ही नहीं किये जाएं। इसके लिए खराब तथा जले मीटरों को बदलने का अभियान चलाया जाए। उन्होंने ऐसे स्थानोंए कस्बों एवं जिला मुख्यालयों जहॉं ट्रिपिंग ज्यादा है वहॉं प्रभावी रख.रखाव के निर्देश दिए ताकि ट्रिपिंग न हो और उपभोक्ता की संतुष्टि में वृद्धि हो। इस अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक भोपाल क्षेत्र श्री डी०पी०अहिरवार, मुख्य महाप्रबंधक ग्वालियर क्षेत्र श्री राजीव गुप्ता, कंपनी मुख्यालय की मुख्य महाप्रबंधक ;मानव संसाधन एवं प्रशासन श्रीमती स्वाति सिंह, निदेशक ;वित्त श्री संजीव सक्सेना, मुख्य महाप्रबंधक श्री अनिल कुमार खत्री, उपमुख्य महाप्रबंधक ;वाणिज्य श्री आनंद श्रीवास्तव सहित सभी मैदानी अधिकारी उपस्थित थे। 


सीईओ जिला पंचायत ने सांसद आदर्श मनाशा में विभागीय अधिकारियों  की समीक्षा बैठक, गुणवत्तापूर्ण एवं समय सीमा में कार्य पूर्ण करने के दिए निर्देश


नसरूल्‍लागंज जनपद पंचायत में सांसद आदर्श ग्राम मनाशा में जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह ने विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक आयोजित कर निर्माण एवं विकास कार्यों की समीक्षा की। श्री सिंह ने समीक्षा बैठक में कहा कि सभी कार्य समय-सीमा पर पूरी गुणवत्‍ता के साथ पूर्ण किये जाये। समीक्षा बैठक में सभी कार्यो को समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।


आष्‍टा रोजगार मेले में 70 का प्रारंभिक चयन


sehore news
बेरोजगार युवक युवतियों को रोजगार उपलब्‍ध कराने के उददेश्‍य से कलेक्‍टर श्री चन्‍द्र मोहन ठाकुर के निर्देशानुसार सीईओ जिला पंचायत के निर्देशन में जिले में प्रत्‍येक विकासखंड स्‍तर पर निरंतर रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है। रोजगार मेले में विभिन्‍न कंपनियों को आंमत्रित कर बेरोजगारों को योग्‍यता अनुसार रोजगार उपलब्‍ध क‍राया जा रहा है। जनपद पंचायत आष्‍टा परिसर में रोजगार मेला आयोजित किया। मेले में कैप्सटन सिक्युरिटी कंपनी द्वारा 96 आवेदकों का पंजीयन कर 70 आवेदकों का सिक्‍युरिटी गार्ड के लिए प्रारंभिक चयन किया गया। रोजगार मेला 4 सितंबर को सीहोर जनपद पंचायत परिसर में आयोजित किया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं: