बिहार : चिट्ठी पर जगदानंद पर भड़के नीतीश - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 3 सितंबर 2021

बिहार : चिट्ठी पर जगदानंद पर भड़के नीतीश

nitish-angry-on-jagdanand
पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर हत्थे से उखड गये। पत्रकारों से कहा-उ क्या बोलता है उ जाने, वहीं पूछिये। दरअसल, जगदानंद सिंह का पत्र आज सार्वजनिक हुआ है। इसके बाद नीतीश कुमार से सवाल पूछा तो वो गर्म हो गए। गौरतलब हो कि, विधायकों और विधानसभा चुनाव के वोट के लिहाज से बिहार में सबसे बड़ी पार्टी राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह नीतीश कुमार इसलिए नाराज हैं क्योंकि सरकार राजद कार्यालय के विस्तार के लिए जमीन नहीं दे रही है। जिसके बाद उन्होंने जदयू दफ्तर की सारी कहानी नीतीश कुमार को पत्र लिख कर सार्वजनिक कर दिया है। उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि सूबे में तीन बड़ी पार्टियां हैं। सरकार ने तीनों पार्टियों को ऑफिस दिया है, जो वीरचंद पटेल रोड में अगल बगल में ही है। लेकिन तीनों पार्टियों के ऑफिस के लिए जमीन के आवंटन में सरकार ने भारी बेइमानी कर दी। जगदानंद ने अपने पत्र में कहा है कि बिहार विधानसभा में RJD के 75, BJP के 74 और JDU के 43 विधायक हैं। इस लिहाज से राजद पहले, बीजेपी दूसरे और जेडीयू तीसरे नंबर की पार्टी है।


जगदानंद सिंह ने कहा कि बिहार सरकार ने जेडीयू को अपने ऑफिस के लिए 66000 वर्ग फीट जमीन दे दिया है। पटना के हिसाब से ये लगभग ढाई बीघा जमीन है। सरकार में शामिल पार्टी BJP को ऑफिस के लिए 52000 वर्ग फीट जमीन दी गयी है। यानि लगभग दो बीघा जमीन। लेकिन इसी सरकार ने विधानसभा में सबसे बड़ी पार्टी राजद को पार्टी ऑफिस चलाने के लिए सिर्फ 19842 वर्ग फीट जमीन दी है। सामान्य बोलचाल की भाषा में समझिये तो राजद ऑफिस का रकबा लगभग 15 कट्ठा का है। एक बीघा भी नहीं। इसके बाद अब जगदानंद सिंह का पत्र आज सार्वजनिक हुआ है। इसके बाद नीतीश कुमार से जब सवाल पूछा गया तो गुस्साये नीतीश ने कहा कि “क्या बात करते हैं आपलोग। सब पार्टी को दफ्तर मिला हुआ है। अब उ क्या बोलता है उ जाने। वहीं पूछिये। इ नहीं मालूम है कि 2006 के बाद सभी पार्टियों को ऑफिस के लिए जगह दिया गया। सारी जो मान्यता प्राप्त पार्टी है उसको जगह दिया है कभी ई लोग जमीन तो हमही लोग न दिये औऱ जो च्वायस किया वही न मिला हुआ है। आसमान से लाकर दे दें जमीन। इ सब कोई बोले त पूछ लिया कीजिये।” दरअसल जगदानंद सिंह ने इंची टेप से नाप कर नीतीश कुमार की पोल खोली है। बिहार सरकार कैसे तीसरे नंबर की पार्टी जेडीयू पर मेहरबान है। पटना में छोटे से जेडीयू दफ्तर को कैसे आस-पास की जमीन,विधायकों का फ्लैट औऱ सड़क की जमीन तक दे दी गयी। जगदा बाबू ने जब पोल खोली तो नीतीश जमकर भड़क गए।

कोई टिप्पणी नहीं: