सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 15 सितंबर 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 सितम्बर

जिले के स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों को सर्वसुविधा युक्त बनाने में उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका - कलेक्टर श्री ठाकुर

  • आंगनबाड़ी केन्द्रों एवं स्कूलों में आवशयक संसाधन उपलब्ध कराने कम्पनियों की बैठक

sehore news
जिले में संचालित आंगनबाड़ी केन्द्रों तथा स्कूलों में विद्युत तथा फर्नीचर जैसी आवश्यक सामग्री उपलब्घ कराने के उद्देश्य से जिले में संचालित अनेक उद्योगों एवं कम्पनियों के प्रतिनिधियों के साथ कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि आगनबाडी एवं स्कूलों में आने वाले बच्चों को बेहतर परिवेश उपलब्ध कराने के लिए फर्नीचर, विद्युत एवं अन्य सामग्रियों-उपकरणों की व्यवस्था की जाना है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि उद्योंगों द्वारा सीएसआर मद से अनेक सामाजिक कल्याण के कार्य संचालित किए जाते हैं। जिले की आंगनबाड़ी तथा स्कूलों को सर्व सुविधायुक्त एवं आदर्श बनाने में उद्योगों की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है। श्री ठाकुर से प्रतिनिधियों से सीएसआर मद से आंगनबाड़ी एवं स्कूलों में व्यवस्था करने के लिए कहा है। डीपीसी श्री अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि वर्तमान में 26 स्कूलों में निजी स्कूलों की तरह व्यवस्थाएं की जाना प्रस्तावित है। बैठक में जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्री प्रफुल्ल खत्री ने जानकारी दी कि 458 आंगनबाड़ी कन्द्रों मे व्यवस्था की जाना है। इसमें फर्नीचर पर 45 लाख 80 हजार रूपये तथा विद्यत व्यवस्था पर 22 लाख 83 हजार रूपये का खर्च आएगा। बैठक में जिला पंचायत सीईओ श्री हर्ष सिंह तथा अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर सहित संबंधित जिला अधिकारी उपस्थित थे।


सीहोर में सिविल सेवा तैयारी के लिए निःशुल्क कोचिंग आज से


मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग एवं संघ लोक सेवा आयोग की प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे सीहोर जिले के युवाओं के लिए कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर की पहल पर नि:शुल्क कोचिंग की व्यवस्था की गई है । नि:शुल्क कोचिंग 15 सितंबर से प्रारंभ की जा रही है। यह कोचिंग प्रातः 8:00 से 10:00 तक टाउन हॉल के पास स्थित लाइब्रेरी में संचालित होगी। कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर के प्रयासों से श्योपुर की आदर्श परिवार नि:शुल्क कोचिंग संस्था द्वारा जिले के युवाओं को नि:शुल्क कोचिंग दी जाएगी। संस्था के संचालक एवं समन्वयक श्री परीक्षित भारती द्वारा निशुल्क कोचिंग उपलब्ध कराई जा रही है। मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग तथा संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं की तैयारी कर रहे जिले के छात्रों से नि:शुल्क कोचिंग सुविधा का लाभ लेने का आग्रह किया गया है।


जिले में अब तक 812.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में 6.8 मिलीमीटर औसत वर्षा


जिले में 01 जून से 14 सितंबर, 2021 तक 812.6 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा 1298.0 मिलीमीटर थी। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 14 सितंबर, 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 781.5 मिलीमीटर,  श्यामपुर में 759.9, आष्टा में 711.0 जावर में 704.7,  इछावर में 822.3, नसरूल्लागंज में 820.0,  बुधनी में 948.0, रेहटी में 953.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में 6.8 मिलीमीटर औसत वर्षा

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 6.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0 मिलीमीटर, श्यामपुर में 12.0, आष्टा में 0.0,  जावर में 3.3, इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 9.0, बुधनी में 21.0, रेहटी में 9.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


जिला न्यायालय परिसर में वेक्सीनेशन शिविर आज


जिला स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से जिला न्यायालय परिसर एडीआर सेंटर भवन में 15 सितंबर को प्रातः 10.30 बजे से कोविड-19 वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन किया गया है। प्रधान जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री आरएन चंद द्वारा वैक्सीनेशन शिविर का शुभारंभ करेगें। शिविर में सभी समस्त अधिकारियों, कर्मचारियों, अधिवक्ताओं, पैनल अधिवक्ताओं एवं पैरालीगल वालंटियर्स को उनके परिवार के सदस्यों सहित और न्यायालय परिसर में आ रहे समस्त पक्षकारों को पूर्णतः वेक्सीनेट करना है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मुकेश कुमार दांगी द्वारा समस्त न्यायिक अधिकारियों, कर्मचारियों, अधिवक्ताओं, पैनल अधिवक्ताओं एवं पैरालीगल वालंटियर्स सहित सीहोर के समस्त समाजसेवी संगठनों से आग्रह किया है, कि वैक्सीनेशन के लिए सभी पात्र लोग शिविर में आंमत्रित कर वेक्सीनेशन शिविर में अवश्य वैक्सीन लगवाएं।


खादी के वस्त्रों को डिजाइन करने की प्रतियोगिता, 3 अक्टूबर तक दे सकेंगे प्रविष्टियां


मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड भोपाल द्वारा खादी वस्त्रों के प्रचार-प्रसार एवं युवा वर्ग को खादी के प्रति आकर्षित करने के लिए व्यापक प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में नवीन और खूबसूरत डिजाइन्स के खादी वस्त्रों को बाजार में लांच करने की योजना है। इसके लिए बोर्ड द्वारा mp.mygonv.in  पोर्टल पर खादी वस्त्रों की डिजाइनिंग के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। प्रविष्टियाँ 3 अक्टूबर 2021 सायं 5 बजे तक प्राप्त की जाएंगी। प्रतियोगिता का आयोजन महिलाओं और युवाओं के लिए भारतीय और पश्चिमी परिधानों की डिजाइनों का सम्मिश्रण करते हुए नवीन डिजाइन तैयार करने के लिए किया जा रहा है। इसके लिए दोनों संवंर्गो में दो-दो उत्कृष्ट डिजाइनों का चयन कर प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया जाएगा। प्रथम पुरस्कार में प्रमाण-पत्र एवं खादी सिल्क साड़ी/ सिल्क कुर्ता, द्वितीय पुरस्कार में प्रमाण-पत्र एवं खादी कुर्ता-पायजामा सेट और  तृतीय पुरस्कार में प्रमाण-पत्र एवं खादी कुर्ता जैकेट दिया जायेगा। प्रविष्टि केवल jpg.png और pdf फार्मेट में ही स्वीकार की जाएगी। प्रतियोगिता में कोई भी नागरिक भाग ले सकता है। डिजाइन तैयार करते समय रंगों के संयोजन और सिलाई का विशेष ध्यान रखना जरूरी है। डिजाइन में जहाँ तक संभव हो खादी के कपड़े का ही प्रयोग किया जाए।


श्रेष्ठ प्रविष्टि का चयन

प्रबंध संचालक, मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा श्रेष्ठ प्रविष्टि के लिये मापदण्ड निर्धारित किए गये हैं, जिनमें भारतीय तथा पश्चिमी परिधानों का सम्मिश्रण, सिलाई में सुविधाजनक, कपड़े का अनुकूलतम उपयोग, देश-प्रदेश की रंगाई, छपाई, संस्कृति को दर्शाने वाली डिजाइन का प्रयोग, विजेताओं द्वारा तैयार किए गए डिजाइन का स्केच तथा अन्य आवश्यक जानकारी शामिल है।


राष्ट्रीय पोषण माह अभियान जारी


जिले में राष्ट्रीय पोषण माह अभियान के तहत सतत रूप से गतिविधियां जारी है। कोविड -19 गाइड लाइन  के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए द्वितीय सप्ताह की गतिविधियां "थीम -2 पोषण के लिये योग एवं आयुष का उपयोग  8-15 सितम्बर पोषण मटका द्वारा सामग्री संचयन "संचालित की जा रही है। जिसमें योगाभ्यास, पोषण रैली, व्हीएचएसएनडी आयोजित किया गया। महिलाओं एवं बच्चों के लिये योगा एवं हाट बाजार की गतिविधियां आयोजित की गई। गर्भावस्था के दौरान एनीमिया के लिये आयुष आगनवाडी कार्यकर्ता का प्रशिक्षण आयोजित किया गया।  हितग्राहियों से पोषण संवाद किया एवं गर्भवती एवं धात्री महिलाओं को पोषण,स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दी गई। कार्यक्रम में गर्भवती, धात्री महिलाओं की स्वास्थ्य जांच की गई। किशोरियों एवं बच्चों के लिए योगाभ्यास एवं पोषण संवाद का आयोजन किया गया।  समस्त आंगनवाडी केंद्रों पर संपन्न कराई जा रहीं हैं। इससे पूर्व प्रथम सप्ताह हेतु "थीम -1 पोषण बाटिका एवं पौधा रोपण 1 से 7 सितम्बर  पोषण मटका द्वारा सामग्री संचयन के आधार पर की गई। जिसमें समस्त आंनगवाडी केंद्रों पर जागरूकता हेतु शुभारंभ रैली, पोषण बाटिकायें स्थापित किया जाना, आंगनवाडी केंद्रों के साथ - साथ हितग्राहियों जैसे - गर्भवती, धात्री माताओं, कुपोषित बच्चों, किशोरी बालिकाओं , शौर्यदल सदस्यो, मातृ सहयोगिनी दल के सदस्यो के घरों पर पौधारोपण, न्यूट्री गार्डन को बढावा देने हेतु गतिविधियों अंतर्गत हर्बल गार्डन बनाये जाने हेतु औषिधीय पौधारोपण, पोषण वॉक आयोजित किया जाना स्लोगन प्रतियोगितायें, पोषण वाटिका प्रतियोगिता का आयोजन, कोविड टीकाकरण का आयोजन किया गया। प्रथम प्रसव हेतु लाभान्वित किये जाने हेतु मातृ वदना योजना सप्ताह का संयुक्त रूप से पोषण माह के साथ आयोजन किया गया। आंगनवाडी केंद्रो पर पोषण थाली प्रदर्शन , एवं पोषण संवाद आयोजित किये गये।


मुख्यमंत्री श्री चौहान की वैक्सीनेशन महाअभियान संबंधी वीडियो कांफ्रेंस


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीनेशन महा अभियान के तहत 30 सितम्बर तक  प्रथम डोज के शतप्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य प्राप्त करने के संबंध में जिला स्तरीय, विकासखंड स्तरीय, वार्ड स्तरीय तथा ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों  के सदस्यों को सोमवार को संबोधित किया। कलेक्ट्रेट के एनआईसी कक्ष में क्राइसिस मैनेजमेंट समिति के सदस्यों ने मुख्यमंत्री के संबोधन को सुना।  मुख्यमंत्री जी की वीडियो कान्फ्रेंसिंग के दौरान जिले के जिला स्तरीय, विकासखंड स्तरीय, वार्ड स्तरीय तथा ग्राम स्तरीय क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों  के सदस्य, सभी  क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों के सदस्य उपस्थित थे। शेष सदस्यों ने वर्चुअल रूप से जुड़कर मुख्यमंत्री श्री चौहान का संबोधन सुना।  मुख्यमंत्री का संबोधन दूरदर्शन के साथ ही वेबकास्‍ट लिंक, फेसबुक लाइव, यू ट्यूब, ट्विटर पर भी देखा  और सुना गया।


राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम प्रारंभ - 23 सितम्बर तक चलेगा अभियान


जिले में "राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम" का अभियान जारी है जिसमें विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केन्द्र के माध्यम से 01 से 19 वर्ष के बच्चों, किशोर, किशोरियों को एल्बेंडाजॉल गोली का सेवन कराया जा रहा है। विगत वर्ष कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत प्रदेश में ‘‘राष्ट्रीय कृमिमुक्ति कार्यक्रम‘‘ समुदाय आधारित गृह भ्रमण रणनीति के माध्यम से किया गया है।     मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस कार्यक्रम का आयोजन 23 सितंबर तक ग्राम स्तर पर किया जाएगा।  कोविड-19 के कारण जिले में विद्यालयों एवं आंगनवाड़ी केन्द्रों का संचालन पूर्णत: न होने की दशा में  राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम का क्रियान्वयन समुदाय आधारित गृह भ्रमण रणनीति के माध्यम से किया जायेगा, जिसमें स्वास्थ्य विभाग एवं महिला बाल विकास विभाग तथा शिक्षा विभाग द्वारा समन्वय स्थापित कर एवं रणनीति बनाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, ए.एन.एम., आशा, आशा सहयोगिनी द्वारा घर-घर जाकर 01 से 19 वर्षीय बच्चों को उम्र के अनुसार एल्बेंडाजॉल गोली का सेवन कराया जायेगा। उल्लेखनीय है कि बच्चों में कृमि संक्रमण व्यकित्गत अस्वच्छता तथा संक्रममित दूषित मिट्टी के सम्पर्क से संभावित होता है, कृमि संक्रमण से बच्चों को शरीर में प्रतिकूल प्रभाव पड़ते है, कृमि होने से बच्चों के शारीरिक, मानसिक विकास में वृद्धि अवरूद्ध हो जाती है, कृमि कई कारणों से बच्चों के पेट में पहुँच सकते है नगे पैर खेलने, बिना हाथ धोये खाना खाने, खुले में शौच करने, साफ-सफाई ना रखने से होते है। कृमि होने से खून की कमी (एनीमिया) कुपोषण, भूख न लगना थकान और बेचैनी,  पेट में दर्द मिलती, उल्टी और दस्त आना, मल से खून आना आदि हानिकारक प्रभाव हो सकते है। बच्चों को कृमि नाशक गोली खिलाने से कई तरह के लाभ होते है खून कमी में सुधार आना, बेहतर पोषण स्तर, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ना, स्कूल और आंगनवाड़ी केन्द्रों में उपस्थिति बढ़ना तथा सीखने की क्षमता में सुधार लाने में मदद करती है।


राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रोजगार – मुख्यमंत्री श्री चौहान


मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता रोजगार है। राज्य सरकार कुछ ही दिनों में 01 लाख पदों पर भर्ती प्रक्रिया आरंभ कर रही है। केवल राज्य सरकार ही रोजगार के अवसर सृजित नहीं कर सकती निजी क्षेत्र में रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। इसे देखते हुए प्रदेश में औद्योगिक विकास और औद्योगिक निवेश की गति को तेज किया गया है। पिछले 17 महीने में कोरोना महामारी के बावजूद 384 इकाइयों को कुल 840 एकड़ भूमि आवंटित की गई है। जिससे 11 हजार करोड़ पूंजी निवेश और 22 हजार व्यक्तियों को रोजगार मिलेगा। प्रदेश में कोरोना संकट की परिस्थितियों के बाजवूद औद्योगिक इकाइयों की संख्या में 48 प्रतिशत, भूमि आवंटन में 32 प्रतिशत, पूंजी निवेश में 33 प्रतिशत और रोजगार सृजन में 38 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान भोपाल के अचारपुरा औद्योगिक क्षेत्र में गोकुलदास एक्सपोर्ट्स लिमिटेड की रेडीमेड गारमेंट्स इकाई के भूमि पूजन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने टेक्सटाईल पार्क अचारपुरा और विशेष शिक्षा क्षेत्र तथा औद्योगिक क्षेत्र अचारपुरा में जल आपूर्ति परियोजना कार्य का भी भूमिपूजन किया।


"स्थानीय व्यक्तियों को मिलेगा रोजगार : तीन चौथाई से अधिक महिलाएं करेंगी कार्य"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गोकुलदास एक्सपोर्टस द्वारा प्रस्तावित इकाई 10 एकड़ भूमि पर बनेगी। कंपनी द्वारा 110 करोड़ का पूंजी निवेश किया जाएगा, जिसमें 4 हजार से अधिक स्थानीय व्यक्तियों को रोज़गार उपलब्ध हो सकेगा। साथ ही प्लांट में तीन चौथाई से अधिक महिलाएं कार्य करेंगी। इस इकाई से ही लगभग 10,000 लोगों को रोज़गार मिलेगा। अचारपुरा औद्योगिक क्षेत्र 146 हेक्टेयर भूमि पर विकसित है। टेक्सटाइल पार्क,अचारपुरा में 154 भूखण्ड हैं, जिनमें उद्योग स्थापना उपरांत 800 करोड़ पूंजी निवेश की संभावनाएं हैं।


"उद्योगों को मिलेगा पर्याप्त जल"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अचारपुरा औद्योगिक क्षेत्र में उद्योगों को जल प्रदाय के लिए 16 करोड़ 81 लाख रुपए की लागत से नर्मदा जल प्रदाय पाइप लाइन योजना का लोकार्पण हुआ है। जिससे लगभग 300 इकाइयों को जल प्रदाय किया जा सकेगा। उद्योगों को पर्याप्त जल की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।


"बैरिसया के बंदीखेड़ी और पातलपुर में भी लगेंगे उद्योग"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अचारपुरा के साथ-साथ यहां से 10 किलोमीटर पर स्थित बंदीखेड़ी ग्राम में उपलब्‍ध 200 एकड़ भूमि पर उद्योग विकसित किए जाएंगे। इसी प्रकार बैरसिया के निकट पातलपुर में उपलब्ध भूमि को कृषि आधारित उद्योगों के लिए चिन्हित किया गया है। स्थानीय युवाओं, माताओं-बहनों को बेहतर रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना है।


"ईज ऑफ डूईंग बिजनेस में प्रदेश ने लगाई लम्बी छलांग"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश ने ईज ऑफ डूईंग बिजनेस में लम्बी छलांग लगाई है। प्रदेश अब देश में चौथे स्थान पर है। हमारा प्रयास यह है कि अगली रैकिंग में मध्यप्रदेश का नाम टॉप तीन में हो। प्रदेश में उद्योगों की स्थापना को प्रोत्साहित करने के लिए स्टार्ट योर बिजनेस इन थर्टी डेज जैसे कदम उठाए गए हैं। उद्योग स्थापना से संबंधित सभी गतिविधियां सिंगल विंडो से संचालित की जा रही हैं।


"अधिक रोजगार की संभावनाओं वाले उद्योगों को प्राथमिकता"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अधिक से अधिक रोजगार की संभावनाएं निर्मित करने के लिए प्रदेश में श्रम आधारित उद्योगों को बढ़ावा दिया जा रहा। फार्मा, ऑटो, टेक्सटाईल एण्ड गार्मेंटस, फूडप्रोसेसिंग, इंजीनियरिंग प्रोडक्टस इत्यादि सेक्टर के उद्योगों को निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।


"उद्यम की इच्छा और सरकार के सहयोग की शक्ति से होगा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का निर्माण"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में निवेश के लिए औद्योगिक इकाइयों को आमंत्रित करते हुए कहा कि आपके पास उद्यम की इच्छा है और सरकार के पास इस सपने को पूरा करने में सहयोग की शक्ति। आपकी इच्छा और सरकार की शक्ति से नयी इच्छा-शक्ति के साथ हम आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की रचना करेंगे। आपको हर संभव सहायता देने में प्रदेश सरकार कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगी। सिंगल विण्डो सिस्टम के माध्यम से उद्योगों के निवेश प्रस्तावों को स्वीकृति के लिए सुगम आधारित पोर्टल तैयार किया गया है। भूमि आवंटन की प्रक्रिया को सरल और कम समय में करते हुए डीम्ड अप्रूवल के प्रावधान लागू किए गए हैं। बारह विभागों की 45 सेवाओं को प्रदेश के सिंगल विण्डो सिस्टम से इंटीग्रेट कर लिया गया है।


"व्यापार को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयास जारी"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि व्यापार को सरल बनाने की दिशा में हम तेजी से कार्य कर रहे हैं। एक जिला- एक उत्पाद योजना के अंतर्गत सभी जिलों के 64 विशिष्ट उत्पादों का चयन कर लिया गया है। "अटल प्रोग्रेस वे" और "नर्मदा एक्सप्रेस वे" के दोनों ओर औद्योगिक कॉरिडोर को विकसित किया जाएगा। ये दोनों कॉरिडोर, आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के निर्माण को नयी गति और नई दिशा देंगे ।


"प्रदेश में विकसित होंगे 13 क्लस्टर : ग्रामोद्योग उत्पादों की ब्रांडिंग का कार्य जारी"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों के क्लस्टर आधारित विस्तार को प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके अंतर्गत प्रदेश में फर्नीचर, खिलौना, टेक्सटाईल, फूड प्रोसेसिंग, एग्रीकल्चर, इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, नमकीन, इंजीनियरिंग आदि विभिन्न क्षेत्रों में 13 क्लस्टर विकसित किए जायेंगे। ग्रामोद्योग उत्पादों की राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग और मार्केटिंग का कार्य निरंतर जारी है ।


"प्रदेश में विशाल लेण्डबैंक उपलब्ध"

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उद्योगों को देने के लिए एक विशाल लेण्डबैंक उपलब्ध है। जिसमें 30 हजार एकड़ औद्योगिक क्षेत्रों के लिए विकसित भूमि है। 33 हजार 664 एकड़ अविकसित भूमि भी उपलब्ध है।


"औद्योगिक निवेश और‍ विकास के लिए मध्यप्रदेश जैसा वातावरण कहीं नहीं"

कार्यक्रम को औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव ने भी संबोधित किया। गोकुलदास एक्सपोर्ट के प्रबंध संचालक श्री शिवराम कृष्ण गणपति ने बताया कि उनके उत्पाद अमेरिका, ब्रिटेन, जापान सहित कई देशों में निर्यात किए जाते हैं। श्री गणपति ने कहा कि उद्योग विस्तार की योजना के संदर्भ में कई राज्यों से बातचीत की, पर मध्यप्रदेश जैसा वातावरण कहीं नहीं मिला। मध्यप्रदेश में राज्य शासन द्वारा दिए गए सहयोग और विकसित हुए परस्पर विश्वास के आधार पर ही यहां निवेश किया जा रहा है। हमें यह भरोसा है कि मध्यप्रदेश में औद्योगिक गतिविधियों को विस्तार मिलेगा। 


दर-दर भटक रहे गरीब, नहीं मिल रहा पीएम आवास योजना का लाभ


sehore news
सीहोर। केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री आवास योजनाके जरिए प्रधानमंत्री  का हर गरीब को पक्का घर देने का वादा चतरा में सफेद हाथी साबित हो रहा है. यहां पिछले 30 वर्षों से अत्यंत गरीब परिवार के लोग अपने घर के लिए दर-दर भटक रहे हैं लेकिन उन्हें आज तक पक्का घर नहीं मिल पाया है। यह कहानी है सुशीलनगर ग्राम पंचायत सिद्दीकगंज तहसील जावर के सैकड़ों निवासियों की जो आज तक झोपडिय़ों में बसर कर रहे है। पीएम आवास योजना का लाभ लेने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीण ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर प्रगति वर्मा को सौंपा है। ग्रामीणों का आरोप है कि वर्ष 1992 से सिद्दिकगंज के ग्राम सुशीलनगर में निवास करते है। आज करीब तीस साल हो गए है, लेकिन हम लोगों को योजना का लाभ नहीं मिला है। मंगलवार को पहुंचे मांगीलाल, ज्ञान सिंह, अनिस खां, नवाब खां, संजय सोहन आदि ने बताया कि रोजगार सहायक और सरपंच के पुत्र ने आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए ग्रामीणों से एक-एक हजार रुपए भी वसूल किए है। इसकी भी जांच कराई जाए। ग्रामीणों का आरोप है कि यहां पर करीब पांच सौ से अधिक की आबादी है, लेकिन मात्र तीन लोगों को ही पीएम आवास योजना का लाभ मिला है। हालात यह है कि अब इन गरीब परिवारों के घरों मे शहनाई भी नहीं बज रही है. गरीबी की जिंदगी गुजर बसर करनेवाले इन परिवारों ने सभी से गुहार लगाई लेकिन सिर्फ आश्वासन ही मिला। कच्चे टूटे-फूटे मकान में प्लास्टिक की चादर बिछकर ये गरीब परिवार अपनी जिंदगी गुजर बसर कर रहे हैं।


सालों से लाभ से वंचित ग्रामीणों ने लगाई गुहार

ग्रामीणों का कहना है कि सन 1992 विस्थापित ग्राम है यहां पर रहने वाले मेहनत मजदूरी कर अपना जीवन यापन करते है। ग्रामीणों के पास आय का कोई भी जरिया नहीं है। सालों से पीएम योजना का लाभ नहीं मिलने के कारण अनेक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। मंगलवार को ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से योजना का लाभ दिलाए जाने और योजना के नाम पर जो राशि ली गई है उनके खिलाफ कार्रवाई कराए जाने की मांग की है। 


सामाजिक शैक्षणिक रूप से अत्यंत पिछड़ी अवस्था में है रघुवंशी समाज, अभा रघुवंशी क्षत्रिय महासभा ने की पिछड़ा वर्ग में शामिल करने की मांग


sehore news
सीहोर। रघुवंशी समाज सामाजिक एवं शैक्षणिक रूप से अत्यंत पिछड़ी अवस्था में है। रघुवंशी जाति को पिछड़ा वर्ग में सम्मिलित कराने के लिए समाजजन संघर्षरत है। रघुवंशी समाज लम्बे समय से समाज को पिछड़ा वर्ग जातियों की सूची में शामिल करने की मांग कर रहा है। अखिल भारतीय रघुवंशी क्षत्रिय महासभा जिलाध्यक्ष सालगाराम राम रघुवंशी के नेतृत्व में मंगलवार को समाजजनों के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नाम का ज्ञापन डिप्टी कलेक्टर आदित्य जैन को दिया गाया है। जिला महामंत्री जगदीश रघुवंशी ने बताया की प्रदेश के सभी जिलों में अखिल भारतीय रघुवंशी क्षत्रिय महासभा के द्वारा मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिए गए है। रघुवंशी जाति मे साक्षरता कम है। शासकीय सेवाओं में विशेषकर तकनीकि एंव ऐकेडमिक सेवाओं में प्रतिशत नगण्य है तथा अखिल भारतीय सेवाओं में प्रतिशत शून्य है। ग्रामीण इलाको मे अधिकांश लघु और सीमांत कृषक एंव खेतीहर मजदुर है तथा शहरों में भी मिल मजदुर एंव प्रायवेट फर्मों में वर्कर है या निम्न आय वर्ग से है ऐकेडमिक एवं तकनीकि शिक्षण संस्थाओं में समाज के विद्यार्थियों की संख्या भी नगण्य है। निजी व्यवसाय मे भी समाज का प्रतिनिधित्व नगण्य है अर्थात रघुवंशी जाति अत्यंत पिछड़ी अवस्था में है। रघुवंशी जाति की सामाजिक एवं शैक्षणिक स्थिति को देखते हुए रघुवंशी जाति को पिछड़ा वर्ग में शामिल किया जाना चाहिए। मांग करने वालों में डॉ कुमार सिंह रघुवंशी,देवनारायण रघुवंशी,रामेश्वर रघुवंशी,अनार सिंह रघुवंशी, सुधीर रघुवंशी,रामेश्वर रघुवंशी, दिनेश रघुवंशी,हरिओम रघुवंशी, पंकज रघुवंशी, रोहित रघुवंशी, सुभाष रघुवंशी, हरि सिंह रघुवंशी, रामस्वरूप रघुवंशी, ओमप्रकाश रघुवंशी, मांगीलाल रघुवंशी, रामचंद्र रघुवंशी, मोहन रघुवंशी आदि समाजजन शामिल है।


सिददीकगंज सरपंच के बेटे ने सुशीलनगर में पिटवाई थी डोंड़ी, जो भी एक हजार रूपये जमा करेगा उस को मिलेगी पीएम कूटी

  • विस्थापित सुशील नगर के रहवासियों से पीएम आवास, दिलाने के नाम पर की गई हजारों रूपये की अवैधवसूली
  • कलेक्ट्रेट पहुंचकर ग्रामीण महिलाओं ने की सरपंच के बेटे और रोजगार सहायक की शिकायत सख्त कार्रवाहीं की मांग

sehore news
सीहोर। सरपंच के बेटे ने गांव में डोंड़ी पिटवाई जो भी एक हजार रूपये जमा करेगा उस को कूटी मिलेगी। सरकार का फरमान जो नहीं मानेगा उस को पीएम आवास नहीं मिलेगा। मामला वर्ष 2020 में रामपुरा डेम से विस्थापित ग्राम पंचायत सिददीकगंज तह जावर के सुशीलनगर में घटित हुआ है। सैकड़ों मजदूरी पर निर्भर है व मजदूरी से ही परिवार परिवाजनों का पालन पौषण करने वाले परिवारों से एक एक हजार रूपये पीएम आवास योजना का लाभ दिलाने के नाम पर सरपंच के बेटे और रोजगार सहायक ने वसूल लिए। सुशीलनगर गांव के मात्र 3 परिवार को ही अबतक आवास मिला। जिलाधीश कार्यालय पहुंची महिलाओं ने बताया की सन् 1992 में रामपुरा डेम से विस्थापित कर सुशीलनगर बसाया गया था यह रहने वाले अधिकांश लोग केवल मेहनत मजदूरी कर जीवन यापन करते है सरपंच को लगभग 7 वर्ष होने वाले है लेकिन प्रधानमंत्री आवास नहीं दिया गया है। रोजगार सहायक व सरपंच के पुत्र द्वारा सन् 2020 में कहा था जो 1000 हजार रुपए देगा उन्हें आवास दिया जाएगा परन्तु रुपए देने के बाद भी आज तक आवास नहीं मिल पाया है। महिलाओं ने बताया की वर्षो से कच्चे मकानों में निवारसरत है।  प्रधानमंत्री आवास सूची में नाम होने के बाद भी लाभ नहीं दिया जा रहा है। अभी तक सुशीलनगर में जो विस्थापित ग्राम है ग्राम में सूची के आधार पर आवास नहीं मिल पाया है। सुशील नगर की गंगाबाई, संतोष बाई, ललता तेजू भाई, मिराज वी, रहीसा वी, छनु बाई,, दीपा बाई, गीताबाई, फुलकुवर बाई, रेखा बाई, राम कल्याण, बेगम बाई, प्रेम बाई, तारा बाई, रेखा बाई, सुनीता बाई आदि ने जिला प्रशासन से सरकारी योजना का लाभ दिलाने के नाम पर वसूली करने वाले सरपंच के बेटे और रोजगार सहायक पर कार्यवाही करने सहित प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने के लिए सर्वे करने की मांग कलेक्ट्रेट पहुंचकर की है।


17 सितंबर से 7 अक्टूबर तक मनाया जाने वाला सेवा समर्पण अभियान को लेकर सीहोर जिले के सभी 19 मंडलों में बैठक हुई संपन्न, बैठकों में प्रदेश द्वारा दिए गए कार्यक्रमों की बनी रूपरेखा 


sehore news
सीहोर। भाजपा संभाग प्रभारी सुश्री कविता पाटीदार के निर्देश एवं सीहोर जिला भारतीय जनता पार्टी की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार आज सीहोर जिले के सभी 19 मंडलों में सीहोर जिला भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवी द्वारा मंडलों की बैठकों के लिए बनाए गए मंडल प्रभारियों द्वारा आज सीहोर जिले के सभी 19 मंडलों में बैठकों का आयोजन किया गया। बैठकों में पहुंचे मंडल प्रभारियों द्वारा देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 71 वे जन्मदिवस 17 सितंबर से लेकर 7 अक्टूबर तक जो विभिन्न कार्यक्रम प्रदेश भाजपा द्वारा दिए गए हैं उन कार्यक्रमों को आयोजित करने हेतु कार्यक्रमो की रूपरेखा तैयार की गई तथा मंडल स्तर पर भी प्रभारियों की नियुक्ति की गई है। आज सीहोर जिले के आष्टा नगर,आष्टा ग्रामीण, जावर, मैना, कोठरी, मगरदा, सीहोर, अहमदपुर, श्यामपुर, इछावर, बिलकिसगंज, बरखेड़ी, शाहगंज, बुधनी, सलकनपुर, नसरुल्लागंज, लाडकुई एवं गोपालपुर मंडलों में सीहोर जिला भाजपा द्वारा मंडलों की बैठकों के लिये नियुक्त किये  प्रभारी श्री बहादुर सिंह मुकाती जिला प्रभारी, रघुनाथ सिंह मालवीय विधायक, धारा सिंह पटेल, धर्म सिंह आर्य, ललित नागौरी, गजराज मेवाड़ा, बाबूलाल पटेल, कल्याण सिंह ठाकुर, सुदेश राय विधायक, श्रीमती रीना मिश्रा, मायाराम गोर, मांगीलाल मझेड़ा, सीताराम यादव, कमलेश कटारे, करण सिंह वर्मा विधायक, कैलाश सुराना, भूपेंद्र सिंह सिसोदिया, पंकज गुप्ता, सुहाग मल मेवाड़ा, बलवंत सिंह परमार, विष्णु वर्मा, महेश उपाध्याय, महेंद्र शर्मा, राजेंद्र सिंह राजपूत पूर्व विधायक, अर्जुन मालवीय, गुरु प्रसाद शर्मा पूर्व निगम अध्यक्ष, श्रीमती सुनीता चौहान, श्रीमती निर्मला बारेला, ओम पटेल, श्रीमती सूर्या चौहान, रामभरोसे खेरवा, मारुति शिशिर, रघुनाथ सिंह भाटी, जितेंद्र गौड़ ने अपने अपने प्रभार के मंडलों में पहुंचकर मंडलों की बैठक ली तथा सभी मंडल के पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं को 17 सितंबर से लेकर 7 अक्टूबर तक जो कार्यक्रम आयोजित होना है उसके बारे में विस्तार से जानकारी दी एवं सभी कार्यक्रम व्यवस्थित रूप से संपन्न हो इसकी रूपरेखा तैयार की गई।


अग्रवाल महिला मंडल के तत्वाधान में किया जा रहा 22 सालों से भागवत कथा का आयोजन, सादगी से निकाली कलश यात्रा, पहले दिन गोकर्ण चरित्र का किया गया वर्णन


sehore news
सीहोर। शहर के बड़ा बाजार स्थित अग्रवाल धर्मशाला में आयोजित हुई सात दिवसीय भागवत कथा का शुभारंभ सादगी के साथ शोभा यात्रा के साथ किया गया। इस मौके पर बड़ा बाजार स्थित भगवान सत्यनारायण मंदिर से आरंभ हुई। छावनी के प्रमुख मार्ग से होते हुए कथा स्थल पर समापन की गई। भागवत कथा हर साल राधाष्टमी के पावन अवसर पर की जा रही है। लगातार 22 सालों से अग्रवाल महिला मंडल के तत्वाधान में कथा का आयोजन किया जाता है। मंगलवार को कथा के पहले दिन नगर के गौरव और भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा कि जहां पर भी भागवत कथा होती है वहां का वातावरण स्वत: ही सकारात्मक ऊर्जा से भर जाता है। इसलिए जब भी हमें भागवत कथा सुनने का अवसर मिलता है तो हमें उसे अवश्य सुनना चाहिए क्योंकि यह मन से नकारात्मक विचारों को भी दूर करती है। आज का दिन बड़ा ही गौरवशाली है। आज हिंदी दिवस है और राधाष्टमी है। उन्होंने कहा कि भारत की आत्म हिंदी है। एक भाषा के रूप में हिंदी न सिर्फ भारत की पहचान है बल्कि यह हमारे जीवन मूल्यों, संस्कृति एवं संस्कारों की सच्ची संवाहक, संप्रेषक और परिचायक भी है। बहुत सरल, सहज और सुगम भाषा होने के साथ हिंदी विश्व की संभवत: सबसे वैज्ञानिक भाषा है जिसे दुनिया भर में समझने, बोलने और चाहने वाले लोग बहुत बड़ी संख्या में मौजूद हैं। इसलिए अपनी भाषा को महत्व देना चाहिए।

भागवत कथा भक्ति, ज्ञान और वैराग्य का सार
उन्होंने धुंधकारी और गोकर्ण के चरित्र के बारे में विस्तार से बताया। भागवत कथा भक्ति, ज्ञान और वैराग्य का सार है। गोकर्ण ने भी अपने पिता आत्मदेव को श्रीमद्भागवत कथा के माध्यम से भक्ति, ज्ञान और वैराग्य का उपदेश दिया था। भागवत कथा के पहले दिन मंगलवार को सुबह साढ़े नौ बजे भागवत कथा का श्रीगणेश शोभा यात्रा के साथा किया गया। इसके पश्चात दोपहर दो बजे से गणेश वंदना के साथ श्रीमदभागवत कथा प्रारम्भ की। आज किया जाएगा शिव चरित्र का वर्णन अग्रवाल महिला मंडल की अध्यक्ष श्रीमती ज्योति अग्रवाल ने बताया कि बुधवार को कथा के दूसरे दिन शिव चरित्र का वर्णन किया जाएगा। भागवत कथा शहर के बड़ा बाजार स्थित अग्रवाल धर्मशाला में दोपहर दो बजे से शाम पांच बजे तक जारी रहती है। 


निलेश अग्रवाल बने अग्रवाल समाज के अध्यक्ष और कमलेश अग्रवाल उपाध्यक्ष


सीहोर। अग्रवाल समाज के चुनाव का आयोजन किया गया। जिसमें निलेश अग्रवाल (जयपुरिया)को अध्यक्ष चुने गए व अन्य सभी पदाधिकारी  भी निर्विरोध निर्वाचित घोषित हुए। इस संबंध में अग्रवाल समाज के चुनाव अधिकारी श्री विष्णुदयाल भरत्या द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार अध्यक्ष पद के लिए निलेश अग्रवाल, उपाध्यक्ष कमलेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष गोविंद मित्तल, सचिव उमेश गुप्ता, सहसचिव कमल अग्रवाल व संचालक राजकुमार गुप्ता और अमित अग्रवाल चुने गए। इस मौके पर नवनियुक्त अध्यक्ष निलेश ने कहा कि  संगठित होकर समाज के गौरवशाली इतिहास को प्रचारित-प्रसारित कर रही है। महापुरुषों के बलिदान को अधिक से अधिक प्रचारित प्रसारित करना चाहिए। उनके जीवन से हमें प्रेरणा मिलती है। उन्होंने समाजजनों से कहा कि अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह समाजहित में करें। संगठन की ताकत एकता से होती है और समाज के उत्थान में अपना योगदान अवश्य दें। अग्रवाल समाज को और अधिक मजबूती प्रदान करने के लिए समाज के युवाओं और प्रबुद्धजनों को जोडऩे का काम किया जाएगा। उन्हें जो जिम्मेदारी दी गई है, वह उस पर निष्ठा से खरा उतरेंगे। इस मौके पर सभी पदाधिकारियों का पुष्पहार से स्वागत व बधाईया दी गई । इस अवसर पर हरीशचन्द अग्रवाल, सुभाष अग्रवाल, द्वारका प्रसाद मित्तल, माधोप्रसाद अग्रवाल, श्यामसुन्दर मोदी, मोहित गोयल, अमित अग्रवाल, दीपक अग्रवाल आदि शामिल थे। 


लोहार महिलाओं ने कलेक्टर से कहा खुले में जाते है तो पत्थर मारते है खेत मालिक, शौचालय पीएम आवास बिजली पानी सड़क सरकारी गेंस टंकी दिला दीजीए साहब
  • ओडीएफ हो चुकी बुधनी की ग्राम पंचायत सलकनपुर के महोडिय़ा की हकीकत

सीहोर। शौच के लिए खुले में जाते है तो खेत मालिक पत्थर मारते है रोटी पकाने के लिए लकडिय़ां लेने जंगल जाते है तो वन कर्मी डंडा बंदूक दिखाते है। वर्षो से झोपड़ी नूमा कच्चे घरों में पन्नी डालकर रहते है। पीएम आवास का बोलते है तो पंचायत वाले पैसा मांगते है बिजली विभाग वाले कनेक्शन नहीं देते है। अंधेरे में जीवन बसर कर रहे है जहरीले जीवों का डर बना रहता है। भाजपा का विकास का दावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के विधानसभा क्षेत्र बुधनी  की ग्राम पंचायत सलकनपुर में हीं झूठा साबित हो रहा है। ओडीएफ हो चुकी ग्राम पंचायत सलकनपुर के महोडिय़ा की अति गरीब श्रेणी की लोहपीटा समाज की महिलाओं ने कलेक्टर के सामने मंगलवार को हकीकत बयां की है महिलाओं ने कहा की बारिश में नाले का पानी घरों में घुस रहा है। पीने का साफ पानी भी नसीब नहीं हो है। योजनाओं के लाभ से जानबूझकर वंचित रखा जा रहा है सरकारी दफतरों से हमें बेईज्जत कर भगाया जा रहा है। पीएम आवास का बोलते है तो पंचायत वाले पैसा मांगते है पट्टे भी है आधार कार्ड वोटर कार्ड राशन कार्ड भी है लेकिन सुविधा कुछ भी नहीं है। साहब क्या हम इंसान नही है कोई हमारी पुकार सुनने को तैयार नही है। कई बार तहसीलदार, सीईओ जनपद पंचायत, बुधनी एसडीएम सहित जनप्रतिनिधियों को ज्ञापन देकर निवेदन कर चके है। मकोडिय़ा की आवादी करीब पांच है सभी के पास सरकारी दस्तावेज है पर विघुत वितरण कंपनी बिजली देने को तैयार नही है। ग्रामीण प्रधानमंत्री आवास योजना, उज्जवला योजना शौचालय योजना का लाभ भी नहीं दिया जा रहा है। लोह पीट कर बच्चों को पालते है समाज के अनेक लोग बेरोजगार है। महिलाओं ने सभी योजना का लाभ दिलाने बस्ती में सड़क पानी बिजली की व्यवस्था करने की मांग प्रशासन से की है। मांग करने वालों में रमेश लोहार, राम लोहार रति भाई, मोहन लोहार, जगपाल, करण, कालूराम ,कमल ,राजकुमार, हरि सिंह जितेंद्र ,बाबूलाल ,दीपक ,संतोष ,पप्पू संतरा बाई, गंगा बाई, गुलाबो आदि शामिल है।


ग्रामीणों ने लगाया सातनबाड़ी सरंपच पर भ्रष्टाचार का आरोप, पैसा निकाला, नहीं बनाया मंडोरा में सीसी रोड, जांच की मांग


सीहोर। ग्रामीणों ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर सातनबाड़ी के सरपंच पर सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने कलेक्टर को दिए शिकायती पत्र में मामले की जांच कर दोषी सरपंच को दण्ड देने और सरकारी राशि की वसूली कर प्रस्तावति सीसी सड़क निर्माण कराने की मांग है।  ग्रामीणों ने कहा की श्यामपुर तहसील अंतर्गत ग्राम पंचायत सातन बाड़ी के ग्राम मंडोरा मैं सी सी रोड सरजन सिंह आ, किशन लाल के मकान से मेन रोड तक सीसी रोड बनाया जाना था जिस का निर्माण अबतक नहीं किया गया है। इसी प्रकार ग्राम मडोरा चौक से बावड़ी तक भी रोड नहीं बनाया गया है। इसी तरह अन्य सड़क निर्माण कार्यो में भी सरकारी राशि का गबन किया गया है। ग्रामीणों ने कहा की सरपंच द्वारा सामुदायिक भवन पर अवैध कब्जा कर लिया गया है। ग्राम के महेंद्र सिंह, लक्ष्मी नारायण, विश्राम सिंह, दिनेश, धनराज, जालम सिंह, नजाम, हरिनारायण, परसराम, दामोदर, हरिनारायण, गुलाब, जगदीश, दामोदर, परसराम, गब्बर, भागीरथ, नजम धुरी लाल ने जिला प्रशासन से सख्त कार्रवाही की मांग की है।


विरोध के बाद भी लगा रहे है जमशेद नगर में 5जी मोबाईल टॉवर, नागरिकों ने डिप्टी कलेक्टर को दिया ज्ञापन, कार्य रूकवाने की मांग


सीहोर। नागरिकों के विरोध के बाद भी जमशेद नगर में 5 जी मोबाईल टॉवर का कार्य किया जा रहा है बीतें दिनों नगर पालिका सीहोर द्वारा काम रोका गया था लेकिन एक माह बाद उक्त कार्य को पुन: चालू कर दिया गया है। जबकि 5जी टॉवर के प्रकोप से भारत देश ही नही पुरी दुनिया में लोग डरे सहमें है। इस मामले में मंगलवार को पूर्व पार्षद अशफाक खान के नेतृत्व में जमशेद नगर के नागरिकों ने डिप्टी कलेक्टर प्रगती वर्मा को ज्ञापन दिया है।   पूर्व पार्षद खान ने कहा की  5जी टॉवर की वजह से हृदय रोग जैसी बीमारी होने का खतरा बना हुआ है कुछ साल पूर्व कस्वा क्षेत्र के जूनियाबाडी क्षेत्र में टॉवर लगा था उससे आसपास क्षेत्र के लगभग 10 से 15 घर के लोग विभिन्न प्रकार की बीमाररियो से ग्रस्त हो गये थे। अभी कुछ दिन पूर्व उत्तर प्रदेश के जाफराबाद, महाराष्ट्र के नासिक के पास मीटर से पॉवर को चेक किया गया जिसमे खतरनाक किरणे निकल रही है, गुजरात में तो टॉवर में आग लग गई थी। जमशेद नगर, कस्बा में जनहित को ध्यान में रखते हुए  5जी टॉवर निर्माण  पर तत्काल रोक लगाई जाए और नागरिकों को बीमारियों से बचरया जाए। मांग करने वालों में यासीन, नदीम, शबनम ,आसमां, इरफान, शहादा, हनीफ ,रसीद, शाहरुख,  वसीम, फैजल, रिजवान शाह, अरशद, सलमान ,साहिब ,असलम, वसीम, मुलतानी फिरोज खान सलमान सलमान खान बल्लू इरफान ,गुफरान ,अतीफ , नासिर ,अहमद, एजाज, अहमद ,इमरान, जमीला, सलमान खान ,इकबाल, रईस भाई, रियाज, अनीस ,अजीज भाई ,सुल्तान भाई, रईस, इमरान लाला, राजा, मियां भाई ,नाइस ,सहावर हसमत, आरिफ खान, नफीस ,जरीना भी,सलीम जावेद, सफीक, हसीब आदि नागरिक शामिल है।


धान, ज्वार एवं बाजरा खरीदी के लिए ई पंजीयन 15 सितंबर से प्रारंभ, कलेक्टर ने सभी पंजीयन केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थाओं के दिए निर्देश


धान ज्वार एवं बाजरा खरीदी के लिए ई पंजीयन 15 सितंबर से प्रारंभ हो रहा है। पंजीयन केन्द्रों में पंजीयन के लिए समुचित व्यवस्था के संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में कलेक्टर सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री ठाकुर ने पंजीयन केन्द्रों में सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। ताकि पंजीयन के लिए आने वाले किसानों को कोई असुविधा न हो। इसके साथ ही उन्होंने संबंधित अधिकारियों को किसानों के पंजीयन की तिथि का व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने खरीदी प्रक्रिया से जुड़े विभागों के जिला अधिकारियों को निर्देश दिए हैं, कि अभी से उपार्जन की तैयारियां करें। पिछले वर्ष उपार्जन प्रक्रिया में जहां कहीं समस्या आई थी या जिन केंद्रों पर कोई अव्यवस्था थी उनकी समीक्षा कर कमियां दूर करें। उन्होंने कहा है कि खरीदी केंद्रों पर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाएं। सहकारिता विभाग, कृषि, खाद्य नागरिक आपूर्ति तथा किसान आदि में बेहतर समन्वय होना चाहिए। उपार्जन योजना अन्तर्गत खरीफ मौसम में समर्थन मूल्य पर धान एवं मोटे अनाज की खरीदी की जाती रही है। खरीफ विपणन 2021-22 में न्यूतम समर्थन मूल्य धान-1940, ज्वार-2738 तथा बाजरा-2250 रूपये प्रति क्विटल निर्धारित किया गया है।


इन केन्द्रों पर होगा पंजीयन
समर्थन मूल्य पर कृषक पंजीयन 15 सितंबर से प्रारंभ होकर 14 अक्टूबर तक किया जा सकता है। उपार्जन केन्द्रों पर पंजीयन प्रातर: 7 बजे से सायंकाल 9 बजे तक समस्त कार्य दिवसों में अवकाश के दिन को छोडकर किया जाएगा। जिले में पंजीयन के लिए 12 पंजीयन केन्द्र बनाए गए हैं। बुदनी तहसील में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बुदनी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित शाहगंज, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बनेटा प्लाट, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित सरदारपुर, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित कुसुमखेडा, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित आमोन, रेहटी तहसील में प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित रेहटी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बोरदी, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित बायां, प्राथमिक कृषि साख सहकारी समिति मर्यादित माथनी, सीहोर नगर में सहकारी विपणन एवं प्रक्रिया संस्था मर्यादित सीहोर तथा नसरूल्लागंज में सहकारी विपणन एवं प्रक्रिया संस्था मर्यादित नसरूल्लागंज को पंजीयन केन्द्र बनाया गया है।


किसान स्वयं कर सकते पंजीयन
किसान इन केन्द्रों के अलावा कियोस्क सेंटर या लोक सेवा केन्द्रों पर जाकर भी अपना पंजीयन करा सकते है। इसके अलावा वे वेवसाईट पर या अपने एंड्रायड मोबाईल पर एमपी किसान एप या ई-उपार्जन पंजीयन एप से भी पंजीयन कर सकते है। जिन किसानों ने विगत खरीफ एवं रबी विपणन मौसम में समर्थन मूल्य पर खाद्यान्न विक्रय के लिए ई-उपार्जन में पंजीयन कराया था, ऐसे किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में पंजीयन के लिए दस्तावेज/आवेदन देने की आवश्यकता नहीं है।


पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज
विगत खरीफ एवं रबी मौसम में जिन किसानों द्वारा समर्थन मूल्य पर खाद्यान्न के विक्रय करने ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराया गया था। ऐसे किसानोंको व खरीफ 2021-22 में पंजीजन के लिए दस्तावेज देने की आवश्यकता नही है। किसान के विगत वर्ष के पंजीयन में आधार नंबर, बैंकखाता, मोबाइल नंबर में किसीभी प्रकार के परिवर्तन या संसोधन की आवश्यकता होने पर संबंधित दस्ता वेज प्रमाण स्वरूप पंजीयन केन्द्र पर लाना होगा। जिन किसानों को विगतवर्ष उपार्जन में जेआईटी से भुगतान विफल होने के कारण ऑफलाइन भुगतान किया है ऐसे किसानों के सही बैंक खाता दर्जकरने के लिए बैंक पासबुक की छायाप्रति उपलब्ध कराना होगी। वनाधिकार पटटाधारी, सिकमीदार किसानों को वन पटटा एवं सिकमी अनुबंध की प्रति उपलब्ध कराना होगी। जिन किसानों द्वारा विगत खरीफ और रबी फसल में पंजीयन नहीं कराया था। जिन किसानों ई उपार्जन पोर्टलपर डाटा बेस उपलब्ध नही है ऐसे किसानों को पंजीयन केन्द्र पर आधार नंबर, बैंक खाता नंबर, मोबाइल नंबर की जानकारी पंजीयन केन्द्र पर उपलब्ध करानी होगी।


किसानों को भुगतान जेआईटी के माध्यम से बैंक खाते में
किसानों को भुगतान प्रक्रिया जेआईटी के माध्यम से सीधे बैंक खातों में किया जाना है। किसान पंजीयन में केवल राष्ट्रीयकृत बैंक एवं जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक के खाते ही मान्य होंगे। जन धन ऋण नाबालिग, बंद एवं अस्थाई रूप से रोके गये खाते जो विगत 6 माह से क्रियाशील नहीं है। ऐसे खाते मान्य नहीं होंगे। किसान पंजीयन में बैंकखांता में संसोधन एवं नवीन खाते की प्रविष्टि की कार्रवाही ओटीपी आधारित प्रक्रिया के माध्यम से किया जा सकेगा।


नवीन किसान पंजीयन  की जानकारी
नवीन किसानों के पंजीयन की प्रक्रिया के तहत किसान का नाम, बैंक खाता, आईएफएससी कोड,बैंक की शाखा का नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबर देना होगा। किसान की समग्र आईडी, किसान पंजीयन यूनिक आई होगी। गिरदावरी में उल्लेखित भूमि के रकबे से सहमत होने पर ही पंजीयन किया जा सकेगा।


अमृत महोत्सव के अंतर्गत फ्रीडम रन के माध्यम से दिया फिट रहने का संदेश


नेहरू युवा केंद्र सीहोर द्वारा जिला युवा अधिकारी श्रीमती निक्की राठौर के निर्देशन में आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत फ्रीडम रन 2.0 का आयोजन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक पवन पंसारी और मेघा महेश्वरी के नेतृत्व में ग्राम बकतल में किया गया। सरपंच श्री महेंद्र पटेल ने दौड़ को हरी झंडी दिखाई। बड़ी संख्या में उत्साह के साथ बच्चों और युवाओं ने दौड़कर फिट रहने का संदेश दिया। बबली परमार, सलोनी परमार, जयंती शेर सिंह, ऋतु, महेंद्र खुराना, यश परमार, लकी वर्मा दौड़ प्रतियोगिता के विजेता रहे और प्रमाण पत्र का वितरण कर उन्हें सम्मानित किया गया। सचिव श्री मुकेश वर्मा, एन. पी. उपमन्यु, पंकज कुमार कश्यप, मोर अली, राजेश परमार, वृजेन्द्र, शिवनारायण गौर, राजीव गुप्ता के पूर्ण सहयोग से कार्यक्रम सफल हुआ।


गांव के कांकड रास्ते पर किया अतिक्रमण, ग्रामीणों ने की प्रशासन से सीमांकन की मांग


सीहोर। सेमरा दांगी के काकड पर दबंग किसानों ने अतिक्रमण कर लिया है जिस से गांव के अन्य किसानों का खेत पर जाने आने का सस्ता बंद हो गया है। दबंग किसानों ने कांकड कच्चे रास्ते पर पाल बना दी है। जिस कारण रास्ते में बारिश का पानी भरा रहा है। रास्ते पर दोनों तरफ से अतिक्रमण और पानी भरा होने से किसानों का खेतों तक जाना मुश्किल हो गया है। ग्रामवासियों ने बताया की रास्ता बंद होने से 700 एकड़ भूमि प्रभावित हो रही है। अतिक्रमण के कारण रास्ता केवल सिर्फ  6 फिट बचा है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से अतिकमण हटवाकर 25 फिट का रास्ता एवं शेष भूमि पर ग्राम के आवासहीन गरीबों को आवास दिलाने और खामलिया सस्ते से पारुआ तक अतिक्रमण हटवाकर रास्ता दिलवाने और सीमांकन कराने की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में हराज सिंह राधेश्याम, हरिप्रसाद चंदूजीत, पहलाद, राहुल,घनश्याम, सीताराम, बटर लाल बटन लाल विनोद ज्ञान सिंह सुनील सुरेश यादव मोर सिंह सुरेंद्र बाबूलाल रामस्वरूप कमल सुनील संदीप आदि शामिल है।


आयुष विभाग ने किया हेल्थ एवं वैलनेस सेंटरों का शुभारंभ


आयुष विभाग (स्वतंत्र प्रभार) जल संसाधन विभाग मंत्री श्री रामकिशोर नानो कावरे एवं सचिव आयुष विभाग ने आयुष हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर का वर्चुअल शुभारंभ किया। जिले में 7 आयुष हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर ग्राम झरखेड़ा, बसंतपुर, पांगरी, डेबी, हथनोरा, कुरावर, गिल्लोर, सरदार नगर का शुभारंभ किया गया। जिला आयुष अधिकारी डॉ. नरेन्द्र सिंह लोधी ने कार्यक्रम में उपस्थित जनों को आयुष विभाग की योजनाओं, हेल्थ एन्ड वैलनेस सेंटर की व औषधीय पौधों की उपयोग की जानकारी दी गई।


एनएसएस के छात्र-छात्राऐं कर रहे है सराहनीय कार्य


चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय के एनएसएस के स्वंय सेवक महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ. सुमन रोहिला की प्रेरणा और जिला मलेरिया अधिकारी सीहोर श्रीमति क्षमा वर्वे के निर्देश पर मलेरिया के विरूद्ध लार्वा सर्विलांस एवं लार्वा विनिष्टीकरण प्रशिक्षण प्राप्त करने के पश्चात जिले में लार्वा सर्विलांसर एवं लार्वा विनिष्टीकरण कार्य में सराहनीय कार्य कर रहे है। महाविद्वालय के एनएसएस के सक्रिय छात्र-छात्राऐं द्वारा मलेरिया लार्वा विनिष्टीकरण कार्य में भाग लेकर जिले में मलेरिया के विरूद्ध जनजागरूकता फैलाकर समाज उपयोगी बहुत महत्वपूण कार्य कर रही है।

 

जिले में आज कोई भी व्‍यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना  एक्टिव  पॉजिटिव की संख्या शून्य


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10142 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव शून्य हो गई हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10020 हैं। आज 965 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 287, श्यामपुर से 181,  नसरूल्‍लागंज 120, आष्टा से 242,  बुधनी से 78  तथा  इछावर से 57 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 257121 हैं। जिनमें से 245530 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 513 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 1378 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है।


तीन ग्राम पंचायतों में मेले 21 सितंबर से


ग्रामीण कौशल उन्नयन एवं रोजगार मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के सहयोग से ग्राम पंचायत श्यामपुर, दोराहा, अहमदपुर में भारतीय जीवन बीमा निगम सीहोर द्वारा बेरोजगार युवक-युवतियों की भर्ती के लिए रोजगार मेले आयोजित किए जायेंगे। ग्राम पंचायत अहमदपुर में 21 सितंबर को, ग्राम पंचायत श्यामपुर में 24 सितंबर को, ग्राम पंचायत दोराहा में 27 सितंबर को रोजगार मेला लगाया जाएगा। रोजगार मेले में कक्षा 10 वीं उत्तीर्ण एवं आयु सीमा 23 वर्ष से 40 वर्ष रखी गई है। साथ ही मेले में कोरोना गाइडलाइन के दिशा निर्देशों का पालन करने की सलाह भी दी है।


15 सितंबर से प्रारंभ होगा डेंगू पर प्रहार महाअभियान

  • प्रत्येक ग्राम, शहरी वार्ड में डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण की गतिविधियां आयोजित की जाएगी, सीहोर में विधायक श्री राय करेंगे गतिविधियों का शुभारंभ

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह के निर्देशानुसार प्रदेश सहित सीहोर जिले में 15 सितंबर से डेंगू पर प्रहार महाअभियान का शुभारंभ सीहोर में विधायक श्री सुदेश राय द्वारा बडा बाजार क्षेत्र से किया जाएगा। इस दौरान जनजागरूकता अंतर्गत नुक्कड़ नाटक, रैली आयोजित की जाएगी साथ ही डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण से संबंधित जानकारी नागरिकों दी जाएगी। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि जिले के ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक ग्राम एवं शहरी क्षेत्र में प्रत्येक वार्ड में डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण गतिविधियां संचालित की जाएगी। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने बताया कि प्रत्येक घरों में लार्वा सर्वे, स्पेस स्प्रे, फागिंग, जल जमाव हटाने हेतु दल सक्रिय रहेंगे। इन दलों में आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ता, पंचायत कर्मी, एमपीडब्ल्यू, नॉन मेडिकल सहायक, मलेरिया निरीक्षक, व्हीबीडी तकनीकी सुपरवाईजर जैसे मैदानी कार्यकर्ता होंगे। समस्त बीएमओ को डेंगू से बचाव एवं नियंत्रण के उपयों की जानकारी जन-जन तक पहुंचाने के लिए विशेष जागरूकता अभियान संचालित करने के निर्देश दिए। एंटीलार्वा गतिविधि अंतर्गत लार्वा नियंत्रण हेतु टेमीफोस 50 प्रतिषत का घोल, बीटीआई पाउडर, बीटीआई लिक्विड, जैसे एंटीलार्वल रसायन का उपयोग किया जाएं। प्रभावित क्षेत्रों में रसायन साइफेनोथ्रिन 5 प्रतिशत के द्वारा आउटडोर फागिंग कार्य करने के निर्देश दिए गए। सात दिनों से अधिक समय तक किसी भी स्थान पर जलजमाव ने हो। कूलर, टंकी, गमले, फूलदान, पुराने टायर, बेकार डब्बे, सकोरे, खाली प्लॉट, गड्डों की सफाई की जाएं। किसी भी क्षेत्र में लार्वा पाए जाने पर सबसे पहले लार्वा वाले पानी को खाली कराया जाएं।


आज होगा डेंगू पर प्रहार अभियान का शुभारंभ


डेंगू के नियंत्रण एंव रोकथाम के लिए 15 सितंबर से डेंगू पर प्रहार अभियान प्रारंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान प्रात: 10 बजे शुभारंभ करेंगे। जिले में विधायक तथा जनप्रतिनिधी शुभारंभ करेंगे। कलेक्टर श्री चन्द्र महोन ठाकुर ने जिले में नियंत्रण गतिविधिया संचालित किये जाने हेतु कार्ययोजना तैयार की जाए। प्रत्येक घरों में लार्वा सर्वे, स्पेस स्प्रे, फागिंग, जल जमाव हटाने हेतु दल गठित किये। जाए इन दलों में गुख्तयः आशा कार्यकर्ताओं, आगनवाडी कार्यकर्ता, पंचायत कर्मी, बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ता, नॉन मेडिकल असिस्टेंट, मलेरिया निरीक्षक, इत्यादि जैसे मैदानी कार्यकर्ताओं को सम्मिलित किया जाये। अभियान के दौरान जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में वाहक मच्छरों की वृद्धि के स्त्रोत में कमी लाने हेतु निम्न गतिविधियां प्रारंभ की जायेगी। सात दिनों से अधिक समय तक किसी भी स्थान पर जलजमाव न हो (कूलर टकी, गमले, फूलदान, पुराने टायर, बेकार डब्बे, सकोरे, खाली प्लाट, गड्डों इत्यादि की सफाई की जाए) किसी क्षेत्र में लार्वा पाए जाने पर सर्वप्रथम लार्वा वाले पानी को खाली कराया जाए। यदि पानी खाली न काराया जा सकता हो तो पानी को छान कर उसमें से लावों पृथक किये जा सकते हैं। यदि तत्काल पानी खाली न किया जा सकता हो, जिनमें ला हो तो उसमें सही मात्रा में टेमीफोस लार्वानाशक का घोल डाले, सूची तैयार करें तथा 24 घंटे के भीतर खाली कराकर लाव नष्ट करने की व्यवस्था की जाये। उक्त क्षेत्र में मच्छर के लार्वा शून्य होने तक एंटीलार्बल गतिविधियां सम्पादित करने के निर्देश दिए।


अमृत महोत्सव के अंतर्गत फ्रीडम रन के माध्यम से दिया फिट रहने का संदेश


नेहरू युवा केंद्र सीहोर द्वारा जिला युवा अधिकारी श्रीमती निक्की राठौर के निर्देश पर आजादी का अमृत महोत्सव के तहत फ्रीडम रन का आयोजन राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवक द्वारा ग्राम बकतल में किया गया। ग्राम पंचायत के श्री महेंद्र पटेल ने दौड़ कार्यक्रम में हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। बड़ी संख्या में उत्साह के साथ बच्चों और युवाओं ने दौड़कर फिट रहने का संदेश दिया।

कोई टिप्पणी नहीं: