बिहार : हर्षिता ने SXCMT वाद-विवाद प्रतियोगिता जीती - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 21 सितंबर 2021

बिहार : हर्षिता ने SXCMT वाद-विवाद प्रतियोगिता जीती

harshita-win-sxcmt-compitition
पटना। मास कम्युनिकेशन विभाग की द्वितीय  वर्ष की छात्रा हर्षिता प्रताप सिंह ने मंगलवार, 21 सितंबर, 2021 को पटना के सेंट जेवियर्स कॉलेज ऑफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी में आयोजित एक वाद-विवाद प्रतियोगिता जीती। 'एक असमान समाज अपने लोगों को सामाजिक न्याय की गारंटी नहीं दे सकता', विषय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता जेवियर डिबेट क्लब द्वारा आयोजित किया गया था। विजेता ने प्रस्ताव के पक्ष में अपनी बात रखी । बिज़नेस इकोनॉमिक्स विभाग की राजवी प्रभाकर को दूसरा सर्वश्रेष्ठ वक्ता चुना गया। उन्होंने भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया। प्रस्ताव के विरोध में बोलते हुए बिज़नेस इकोनॉमिक्स विभाग की रितिका बरवा ने तीसरा स्थान हासिल किया। आयोजन में भाग लेने वाले अन्य छात्र पूजा रंजन, रितिका (दोनों प्रस्ताव के लिए) और आयुष भार्गव, अमन कुमार शर्मा और अमीषा सहाय (सभी प्रस्ताव के खिलाफ) थे। सहायक प्रोफेसर, श्री मारियो मार्टिन, ने वाद-विवाद का संचालन किया, जबकि फादर सुशील बिलुंग एसजे, फादर सिजो चेरियन एसजे और श्री फ्रैंक क्रिश्नर ने इस कार्यक्रम को जज किया। बिहार मानवाधिकार आयोग के निजी सचिव श्री रविशंकर कुमार मुख्य अतिथि थे। इस अवसर पर बोलते हुए सहायक प्रोफेसर और जेवियर डिबेट क्लब के संरक्षक, श्री बीएन चौधरी, ने एक समावेशी और जागरूक समाज की आवश्यकता पर जोर दिया। एक असमान समाज को बोझ बताते हुए उन्होंने एक ऐसी व्यवस्था का आह्वान किया जहां हर कोई उत्पादन गतिविधियों में योगदान दे सके। एसएक्ससीएमटी के कार्यवाहक रेक्टर, फादर मार्टिन पोरस एसजे एवं प्रिंसिपल फादर टी निशांत एसजे इस अवसर पर उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन जेवियर डिबेट क्लब की अध्यक्ष कुमारी स्नेहा ने किया। जेवियर डिबेट क्लब के उपाध्यक्ष दीपू डेनिस ने धन्यवाद प्रस्ताव रखा।

कोई टिप्पणी नहीं: